Menu

Mathematics Education Archive

Laboratory of Mathematics

1.गणित की प्रयोगशाला (Laboratory of Mathematics),गणित प्रयोगशाला (Laboratory Mathematics): गणित की प्रयोगशाला (Laboratory of Mathematics):गणित विषय की विषयवस्तु अन्य विषयों से अलग हटकर है।इसलिए इसे पढ़ने और पढ़ाने का तरीका भी सब विषयों से अलग है।अन्य विषयों को आप पढ़कर तथा याद करके सफल हो सकते हैं।गणित में अभ्यास का महत्त्व सबसे अधिक है।जितना अधिक

Logarithms

1.लघुगणक (Logarithms): लघुगणक (Logarithms) का आविष्कारक स्कॉटलैंड निवासी जॉन नेपियर (John Napier) था।1612 ईसवी में नेपियर की एक पुस्तक जिसका नाम था ‘Mirificilogarithmorum Canons Description’था,एडिनबर्ग में प्रकाशित हुई।इस पुस्तक में लघुगणको के आविष्कार का मार्मिक विवेचन दिया हुआ है।उक्त पुस्तक में पहली बार लघुगणकों की परिभाषा एवं लघुगणक सारणी उपलब्ध होती है।पुस्तक के प्रकाश में

Concept of Zero in hindi

1.शून्य की अवधारणा (Concept of Zero in hindi): शून्य की अवधारणा (Concept of Zero in hindi):शून्य एक संख्या है और अन्य अंकों के साथ शून्य का प्रयोग करके संख्यात्मक अंकों को संख्या के रूप में प्रदर्शित किया जाता है।यह पूर्णांकों,वास्तविक संख्याओं और कई अन्य बीजीय संक्रियाओं की योगात्मक संक्रिया में महत्त्वपूर्ण भूमिका अर्थात् केन्द्रीय भूमिका

Statistical Mathematics

1.सांख्यिकीय गणित (Statistical Mathematics): सांख्यिकीय गणित (Statistical Mathematics) की रचना मैक्सवेल और वोल्ट्जमैन ने की थी।सांख्यिकीय गणित (Statistical Mathematics) का भौतिकी में प्रयोग किया जाता है। न्यूटन ने ग्रहों की गतियों के बारे में नए सिद्धांत स्थापित किए थे।न्यूटन ने बताया कि संसार की हर वस्तु दूसरी वस्तु को आकर्षित करती है।जैसे सूर्य ग्रह को

Sulvasutra and Geometry

 1.शुल्वसूत्र और रेखागणित का परिचय (Introduction to Sulvasutra and Geometry),शुल्वसूत्र और रेखागणित का आपस में क्या संबंध है?(What is the relation between Sulvasutra and Geometry?): शुल्वसूत्र और रेखागणित (Sulvasutra and Geometry) जानने के लिए हमें भारत में गणित के इतिहास पर दृष्टिपात करना होगा।असल में गणित उतना ही प्राचीन है जितना की मनुष्य।आज से लगभग

Qualities of Good Mathematics Teacher

1.अच्छे गणित शिक्षक के गुण (Qualities of Good Mathematics Teacher)- अच्छे गणित शिक्षक के गुणों (Qualities of Good Mathematics Teacher) का छात्र-छात्राओं के सीखने की क्रिया पर सकारात्मक प्रभाव पड़ता है।आधुनिक युग में छात्र-छात्राओं के सीखने के लिए पाठ्यपुस्तक,छात्र तथा अध्यापक तीनों का महत्त्वपूर्ण स्थान है।इनका अपना-अपना महत्त्व है।ये तीनों ही महत्त्वपूर्ण भूमिका निभाते हैं।सीखने

Lab work in mathematics

1.गणित में प्रयोगशाला कार्य, गणित प्रयोगशाला (Lab work in mathematics, Mathematics Laboratory)- गणित में प्रयोगशाला कार्य,गणित प्रयोगशाला (Lab work in mathematics, Mathematics Laboratory) विश्वविद्यालयी तथा विद्यालयी शिक्षा में कुछ समय पूर्व तक शामिल नहीं था। लेकिन तकनीकी के विकास तथा छात्रों द्वारा गणित में कठिनाइयों का सामना करने के कारण गणित में प्रयोगशाला कार्य,गणित प्रयोगशाला

Oral Mathematics

1.मौखिक गणित (Oral Mathematics)- मौखिक गणित (Oral Mathematics) क्या है? मौखिक गणित (Oral Mathematics) के लाभ तथा मौखिक गणित (Oral Mathematics) का अभ्यास कराते समय ध्यान रखने योग्य बातों का अध्ययन करेंगे। गणित में मौखिक कार्य अत्यन्त महत्त्वपूर्ण है।खेद का विषय है कि वर्तमान शिक्षा पद्धति में मौखिक गणित तथा मौखिक कार्य को महत्त्वपूर्ण स्थान

Use of models in mathematics

1.गणित में माॅडल्स का प्रयोग का परिचय (Introduction to Use of models in mathematics)- गणित  में माॅडल्स का प्रयोग (Use of models in mathematics) करके गणित को रोचक बनाया जा सकता है। विद्यार्थियों में गणित के अध्ययन में रुचि उत्पन्न करने व ज्ञान को स्थायी बनाने हेतु अध्यापक को अनेक प्रकार के साधनों का प्रयोग

Expectations from mathematics teacher

1.गणितअध्यापक से अपेक्षाएं ( Expectations from mathematics teacher) गणितअध्यापक से अपेक्षाएं ( Expectations from mathematics teacher) वर्तमान समय में बहुत अधिक है क्योंकि वर्तमान समय में गणित की हर कहीं आवश्यकता है।इस आर्टिकल में गणित अध्यापक से अपेक्षाओं( Expectations from mathematics teacher) के बारे में बताया गया है।गणित अध्यापक का वर्तमान वैज्ञानिक एवं तकनीकी प्रगति