Menu

3-D Co-ordinate Geometry Archive

Equation of Sphere Through Circle

1.वृत्त से गुजरने वाले गोले का समीकरण (Equation of Sphere Through Circle),एक दिए हुए वृत्त से गुजरने वाला गोला (Equation of Sphere Through Given Circle): वृत्त से गुजरने वाले गोले का समीकरण (Equation of Sphere Through Circle): (1.)एक दिए हुए वृत्त से गुजरने वाले गोले का समीकरण ज्ञात करना (To Find Equation of Sphere Through

Equation of the Sphere

1.गोले का समीकरण (Equation of the Sphere),गोले के लिए समीकरण (Equation for Sphere): गोले का समीकरण (Equation of the Sphere) त्रिमीय निर्देशांक ज्यामिति में ज्ञात किया जाता है।गोला (Sphere):गोला उस बिन्दु का बिन्दुपथ है जो समष्टि में इस प्रकार गमन करता है कि उसकी दूरी एक स्थिर बिन्दु से सदैव अचर रहती है।स्थिर बिन्दु को

Property of Generators in 3D Geometry

1.त्रिविमीय निर्देशांक में जनकों के गुणधर्म (Property of Generators in 3D Geometry),जनक रेखाओं के गुणधर्म (Properties of Generating Lines in 3D Geometry)- त्रिविमीय निर्देशांक में जनकों के गुणधर्म (Property of Generators in 3D Geometry)-चल सरल रेखाओं से जनित पृष्ठ (ruled surface) कहा जाता है और ये चल सरल रेखाएं रेखज पृष्ठ की जनक रेखाएं (Generating

Tangency Condition of Plane to Sphere

1.समतल का गोले को स्पर्श करने का प्रतिबन्ध (Tangency Condition of Plane to Sphere),गोले के स्पर्श समतल की समीकरण (Equation of Tangent Plane to Sphere)- समतल का गोले को स्पर्श करने का प्रतिबन्ध (Tangency Condition of Plane to Sphere)।एक समतल किसी दिए गए गोले को स्पर्श करता है यदि गोले के केंद्र से समतल पर

Equation of cone whose vertex and guiding curve are given

1.शंकु का समीकरण जिसका शीर्ष तथा निर्देशक वक्र दिया हुआ है (Equation of cone whose vertex and guiding curve are given)- शंकु का समीकरण जिसका शीर्ष तथा निर्देशक वक्र दिया हुआ है (Equation of cone whose vertex and guiding curve are given),इसके लिए निम्न क्रियाविधि का पालन किया जाता है-उस शंकु का समीकरण ज्ञात करना

Pole and Polar plane respect to sphere

1.गोले के सापेक्ष ध्रुव एवं ध्रुवीय समतल (Pole and Polar plane respect to sphere)-  गोले के सापेक्ष ध्रुव एवं ध्रुवीय  समतल (Pole and Polar plane respect to sphere) के बारे मे अध्ययन करेंगे | यदि एक स्थिर बिन्दु A से गुजरने वाली एक चर रेखा किसी गोले को P तथा Q बिन्दुओं पर काटती है

Orthogonality condition of two spheres

1.दो गोलों की लाम्बिकता का प्रतिबन्ध का परिचय (Introduction to Orthogonality condition of two spheres)- दो गोलों की लाम्बिकता का प्रतिबन्ध  (Orthogonality condition of two spheres) से तात्पर्य यह है कि जब दो गोले एक दूसरे को प्रतिच्छेद करते हैं तो प्रतिच्छेद बिन्दु से गुजरने वाली त्रिज्याओं के बीच का कोण समकोण होता है।इस प्रकार

Equation of tangent-plane of sphere

1.गोले के स्पर्श समतल का समीकरण का परिचय (Introduction to Equation of tangent-plane of sphere)- गोले के स्पर्श समतल का समीकरण (Equation of tangent-plane of sphere) ज्ञात करने के लिए स्पर्श रेखा व स्पर्श समतल को समझना आवश्यक है। यहां स्पर्श समतल का समीकरण ( Equation of tangent plane) ज्ञात करने का तात्पर्य है कि

Diameter form of equation of sphere

1.व्यास रूप में गोले का समीकरण का परिचय (Introduction to Diameter form of equation of sphere): व्यास रूप में गोले का समीकरण (Diameter form of equation of sphere) ज्ञात करने का तात्पर्य यह है कि यदि किसी गोले के व्यास के सिरों के निर्देशांक दिए हुए हों तो गोले का समीकरण ज्ञात करना है।यह वस्तुत: