Menu

Discrete Mathematics Archive

Finding Complementary Function of Linear Recurrence Relation

1.रैखिक पुनरावृत्ति संबंध का पूरक फलन ज्ञात करना (Finding Complementary Function of Linear Recurrence Relation)- रैखिक पुनरावृत्ति संबंध का पूरक फलन ज्ञात करने (Finding Complementary Function of Linear Recurrence Relation) से पूर्व पुनरावृत्ति सम्बन्ध,अचर गुणांकों वाले रैखिक पुनरावृत्ति सम्बन्ध,रैखिक पुनरावृत्ति सम्बन्ध को समझना आवश्यक है।(1.)पुनरावृत्ति सम्बन्ध (Recurrence Relation)-संख्यांक फलन (Numeric Function) के लिए एक समीकरण

Inclusion-Exclusion Principle

1.आविष्टि-अपवर्जन सिद्धान्त (Inclusion-Exclusion Principle )- आविष्टि-अपवर्जन सिद्धान्त (Inclusion-Exclusion Principle ) का उपयोग संयुक्त समुच्चयों की समस्याओं को हल करने में किया जाता है।यदि समुच्चय असंयुक्त है तब इन असंयुक्त समुच्चयों के संघ में उपस्थित अवयवों की गणना,योग नियम (Sum rule) द्वारा आसानी से की जा सकती है। परन्तु यदि समुच्चय असंयुक्त नहीं है तो योग

Mathematical Induction

1.गणितीय आगमन (Mathematical Induction), गणितीय आगमन सिद्धान्त (Principle of Mathematical Induction)- गणितीय आगमन (Mathematical Induction) को समझने के लिए हमें आगमन और निगमन को समझना होगा। (1.)आगमन (Induction)- आगणन सामान्यतः अनुमान की वह विधि है जिसके द्वारा विज्ञानों में पाए जाने वाले सामान्य वाक्यों (Universal or General prepositions) की स्थापना होती है। ऐसे वाक्यों की

Generating Functions

1.जनक फलन (Generating Functions)- (1.)जनक फलन (Generating Functions)- जनक फलन (Generating Functions) -वह फलन F है जिसे किसी प्रकार की अनन्त श्रेणी के रूप में निरूपित करने पर प्राप्त गुणांकों का अनुक्रम किसी विशेष अचर या फलन का अनुक्रम होता है।उदाहरणार्थ: को के रूप में प्रसार करने पर लेजांद्रे बहुपद के क्रमागत पदों का अनुक्रम

Discrete Numeric Function

1.विविक्त संख्यांक फलन (Discrete Numeric Function)- विविक्त संख्यांक फलन  (Discrete Numeric Function) का अध्ययन विविक्त गणित में किया जाता है।विविक्त संख्यांक फलन (Discrete Numeric Function) उसे कहते हैं जिनका प्रान्त पूर्ण संख्याओं का समुच्चय तथा परिसर वास्तविक संख्याओं का कोई समुच्चय है।इसे संख्यांक फलन भी कहते हैं।आपको यह जानकारी रोचक व ज्ञानवर्धक लगे तो अपने