Menu

Differential Equation Archive

PI and CF of Differential Equation

1.अवकल समीकरण का PI और CF (PI and CF of Differential Equation),अवकल समीकरण का विशिष्ट समाकल तथा पूरक फलन ज्ञात करना (To Find out Particular Integral and Complementary Function of Differential Equation): अवकल समीकरण का PI और CF (PI and CF of Differential Equation) ज्ञात करेंगे।ये ऐसे रैखिक अवकल समीकरण हैं जिनमें आश्रित चर (Dependent

Particular Integral of DE

1.अवकल समीकरण का विशिष्ट समाकल (Particular Integral of DE),पूरक फलन और विशिष्ट समाकल (Complementary Function and Particular Integral): अवकल समीकरण का विशिष्ट समाकल (Particular Integral of DE) की यह विधि प्रयोग में लाना कठिन है।अतः इस अवस्था में पिछली विधियों से भी विशिष्ट समाकल ज्ञात किया जा सकता है।(x,v) का मान ज्ञात करना जहाँ V,

CF and PI of Differential Equation

1.अवकल समीकरण का CF और PI (CF and PI of Differential Equation),अवकल समीकरण का विशिष्ट समाकल ज्ञात करना (To find out Particular Integral of Differential Equation): अवकल समीकरण का CF और PI (CF and PI of Differential Equation)ज्ञात करने की कई विधियां हैं। इस समीकरण में विशिष्ट समाकल ज्ञात करने की एक ओर विधि का

Particular Integral in Special Cases

1.विशेष स्थितियों में विशिष्ट समाकल (Particular Integral in Special Cases),अवकल समीकरण में विशेष स्थितियों में विशिष्ट समाकल (Particular Integral in Special Cases in Differential Equations): विशेष स्थितियों में विशिष्ट समाकल (Particular Integral in Special Cases) ज्ञात करनेवाले के दो आर्टिकल पूर्व में पोस्ट कर चुके हैं।सर्वप्रथम जिसका विशिष्ट समाकल ज्ञात करना है D वाले पदों

Singular Solution of Differential Equation

1.अवकल समीकरण का विचित्र हल (Singular Solution of Differential Equation),अवकल समीकरण का व्यापक तथा विचित्र हल (General Solution and Singular Solution of Differential Equation): अवकल समीकरण का विचित्र हल (Singular Solution of Differential Equation):किसी अवकल समीकरण का वह हल जो उसके व्यापक हल में स्वेच्छ अचर को विशिष्ट मान देने पर प्राप्त नहीं होता, उसकों

Separation of Variables Method

1.चरों के पृथक्करण की विधि (Separation of Variables Method),चरों का पृथक्करण (Separation of Variables),अवकल समीकरणों में चरों का पृथक्करण (Separation of Variables in Differential Equations)- चरों के पृथक्करण की विधि (Separation of Variables Method)-समीकरण जिनमें चर पृथक किए जा सकें,वे समीकरण हैं जो ऐसे रूप में प्रदर्शित किए जा सकें,जिनमें dx का गुणांक (Coefficient of

How to Find Integrating Factor?

1.समाकलन गुणक कैसे ज्ञात करें? (How to Find Integrating Factor?)- समाकलन गुणक कैसे ज्ञात करें? (How to Find Integrating Factor?),इसके लिए हम पूर्व में भी कुछ विधियों का उल्लेख कर चुके हैं।इस आर्टिकल में समाकलन गुणक ज्ञात करने की अलग विधि के बारे में जानेंगे।समाकलन गुणक (Integrating Factor)-जो समीकरण यथातथ (यथार्थ) अवकल समीकरण नहीं होते

Reduction Exact Differential Equation

1.यथातथ (यथार्थ) अवकल समीकरण में समानयन वाले समीकरण (Reduction Exact Differential Equation)- यथातथ (यथार्थ) अवकल समीकरण में समानयन वाले समीकरण (Reduction Exact Differential Equation) में जो समीकरण यथातथ (यथार्थ) अवकल समीकरण नहीं होते उन्हें साधारणतः x तथा y के विशेष फलनों द्वारा गुणा करके यथातथ (यथार्थ) अवकल समीकरण बनाया जा सकता है।ऐसे विशेष फलनों को

Equations Reducible to Exact Differential Equation

1.यथातथ (यथार्थ) अवकल समीकरण में समानयन वाले समीकरण (Equations Reducible to Exact Differential Equation),समाकलन गुणक ज्ञात करने की विधि (Methods of Finding out Integrating Factor)- यथातथ (यथार्थ) अवकल समीकरण में समानयन वाले समीकरण (Equations Reducible to Exact Differential Equation)-जो अवकल समीकरण यथातथ (यथार्थ) अवकल समीकरण नहीं होते हैं उन्हें साधारणतः x तथा y के विशेष

Reducible Exact Differential Equation

1.यथातथ (यथार्थ) अवकल समीकरण में समानयन वाले समीकरण (Reducible Exact Differential Equation),यतातथ अवकल समीकरण में समानयन वाले समीकरण (Equation Reducible to an Exact Differential Equation)- यथातथ (यथार्थ) अवकल समीकरण में समानयन वाले समीकरण (Reducible Exact Differential Equation) के लिए समाकलन-गुणक (Integrating Factor) की विधि प्रयोग की जाती है।जो समीकरण यथातथ (यथार्थ) अवकल समीकरण नहीं होते