Menu

Differential Equation Archive

Linear Differential Equation in DE

1.रैखिक समीकरण में रैखिक अवकल समीकरण (Linear Differential Equation in DE),अचर-गुणांकों वाले रैखिक अवकल समीकरण (Linear Differential Equations with Constant Coefficients): रैखिक समीकरण में रैखिक अवकल समीकरण (Linear Differential Equation in DE) के इस आर्टिकल में अचर-गुणांकों वाले रैखिक अवकल समीकरणों का पूरक फलन तथा विशिष्ट समाकल ज्ञात करके व्यापक हल ज्ञात करना सीखेंगे।आपको यह

Method to Find Out Particular Integral

1.विशिष्ट समाकल ज्ञात करने की विधि (Method to Find Out Particular Integral),अवकल समीकरण में कुछ विशेष स्थितियों में विशिष्ट समाकल ज्ञात करने की सरल विधि (Easy Method of Finding Out Particular Integral in Few Special Cases in DE): विशिष्ट समाकल ज्ञात करने की विधि (Method to Find Out Particular Integral) ऐसी सरल विधि है जिसके

How to Find Particular Integral in DE?

1.अवकल समीकरण में विशिष्ट समाकल कैसे ज्ञात करें? (How to Find Particular Integral in DE?),कुछ विशेष स्थितियों में विशिष्ट समाकल ज्ञात करने की सरल विधियाँ (Easy Methods of Finding Out Particular Integral in Few Special Cases): अवकल समीकरण में विशिष्ट समाकल कैसे ज्ञात करें? (How to Find Particular Integral in DE?) के इस आर्टिकल में

How to Find Out Particular Integral?

1.विशिष्ट समाकल कैसे ज्ञात करें? (How to Find Out Particular Integral?),अवकल समीकरण में विशिष्ट समाकल निकालने की विधि (Method of Finding out Particular Integral in DE): विशिष्ट समाकल कैसे ज्ञात करें? (How to Find Out Particular Integral?) क्योंकि विशिष्ट समाकल व पूरक फलन ज्ञात करने पर ही अवकल समीकरण का व्यापक हल ज्ञात किया जा

DE of First Order But Not 1st Degree

1.प्रथम कोटि के अवकल समीकरण जो प्रथम घात के न हों (DE of First Order But Not 1st Degree),प्रथम कोटि के अवकल समीकरण जो प्रथम घात के न हों का व्यापक हल (General Solution of Differential Equations of First Order But Not of First Degree): प्रथम कोटि के अवकल समीकरण जो प्रथम घात के न

DE of 1st Order But Not of 1st Degree

1.प्रथम कोटि के अवकल समीकरण जो प्रथम घात के न हों (DE of 1st Order But Not of 1st Degree),प्रथम कोटि के अवकल समीकरण जो प्रथम घात के न हों का व्यापक हल (Differential Equations of First Order But Not of First Degree): प्रथम कोटि के अवकल समीकरण जो प्रथम घात के न हों (DE

Complementary Function in DE

1.अवकल समीकरण में पूरक फलन (Complementary Function in DE),पूरक फलन (Complementary Function): अवकल समीकरण में पूरक फलन (Complementary Function in DE) के इस आर्टिकल में अचर-गुणांकों वाले रैखिक अवकल समीकरण का पूरक फलन ज्ञात करने के बारे में अध्ययन करेंगे।आपको यह जानकारी रोचक व ज्ञानवर्धक लगे तो अपने मित्रों के साथ इस गणित के आर्टिकल

Method of Finding Singular Solution

1.अवकल समीकरण में विचित्र हल निकालने की विधि (Method of Finding Singular Solution in DE),अवकल समीकरण में विचित्र हल (Singular Solution in DE): अवकल समीकरण में विचित्र हल निकालने की विधि (Method of Finding Singular Solution in DE) द्वारा एक अवकल समीकरण,जिसके विचित्र हल का अस्तित्व होता है,उसको पूर्ण रूप से हल किया हुआ तब

Singular Solution in DE

1.डिफरेंशियल इक्वेशन में विचित्र हल (Singular Solution in DE),अवकल समीकरण में विचित्र हल (Singular Solution in Differential Equations): डिफरेंशियल इक्वेशन में विचित्र हल (Singular Solution in DE) किसी अवकल समीकरण का वह हल जो उसके व्यापक हल में स्वेच्छ अचर को विशिष्ट मान देने पर प्राप्त नहीं होता,उसको अवकल समीकरण का विचित्र हल (singular solution)

Equations Reducible to Clairaut’s Form

1.क्लैरो के समीकरण के रूप में परिवर्तन योग्य समीकरण (Equations Reducible to Clairaut’s Form),अवकल समीकरण में क्लैरो के समीकरण में परिवर्तन योग्य समीकरण (Equations Reducible to Clairaut’s Form in DE): क्लैरो के समीकरण के रूप में परिवर्तन योग्य समीकरण (Equations Reducible to Clairaut’s Form) के सवालों को हल करके व्यापक हल ज्ञात करके समझने का