Menu

Who became first black to do PhD in mathematics?

1.गणित में पीएचडी करने वाले पहले अश्वेत कौन बने?(Who became first black to do PhD in mathematics?)-

अल्बर्ट एफ. काॅक्स सभी बाधाओं को पार करके गणित में पीएचडी(PhD in mathematics) करने वाले पहले अश्वेत थे। उन्होंने1925 में पीएचडी की थी।1925 सन् में गणित तथा शिक्षा का इतना प्रचार-प्रसार नहीं था।1925 में गणित तथा शिक्षा का इतना प्रचार प्रसार नहीं था 1925 के समय में पीएचडी करना इतना मामूली तथा सामान्य बात नहीं थी। अश्वेत लोगों के लिए तो पीएचडी करना और भी कठिन कार्य था।एल्बर्ट एफ. काॅक्स ने इन सभी धारणाओं को मिथ्या सिद्ध करते हुए पीएचडी तो की ही साथ ही प्रथम अश्वेत होने का तमगा भी हासिल किया।

पीएचडी करने के लिए उनके सामने बहुत सी बाधाएं थी परंतु अपनी संकल्प शक्ति,आत्मविश्वास,कठोर परिश्रम तथा विवेक व बुद्धि के बल पर पीएचडी की डिग्री हासिल की।

बहुत से लोगों में कोई विशिष्ट प्रतिभा दिखाई नहीं देती फिर भी वे इस प्रकार की उपलब्धि कैसे हासिल कर पाते हैं जबकि गणित में विशेष बौद्धिक क्षमता की आवश्यकता होती है।दरअसल गणित में कठिनाई तथा समस्याएं अन्य विषयों की तुलना में अधिक होती है।जब किसी भी मनुष्य के सामने कोई गणित की कठिनाई उपस्थित होती है तो हर मनुष्य के सोचने का दृष्टिकोण अलग अलग होता है।एक प्रकार के व्यक्ति तो वे होते हैं जो गणित की समस्याओं को देखकर अपना कार्यक्षेत्र परिवर्तित कर लेते हैं अर्थात् वे सोचते हैं कि गणित विषय को हल करना उनके बस की बात नहीं है।दूसरे प्रकार के मनुष्य वे होते हैं जो गणित की समस्याओं को एक चुनौती मानकर उसका डटकर मुकाबला करते हैं जब तक कि वह समस्या हल नहीं होती है।गणित में दूसरे प्रकार के व्यक्ति ही आगे बढ़ सकते हैं।गणित में पीएचडी करने का तात्पर्य है कि पीएचडी में आपको गणित में कोई नया अनुसंधान, नई खोज प्रस्तुत करके उसका समाधान प्रस्तुत करना होता है।

Also Read This Article-Vashishtha Narayan Singh was Given Fame by Challenging Einstein’s Theory

गणित में पीएचडी करना 1925 में कोई छोटी सी बात नहीं थी। गणित में पहले तो वह समस्या चुननी होती है जिस पर रिसर्च अर्थात् पीएचडी करनी होती है।समस्या चुनने के बाद उससे संबंधित गणित की विषयवस्तु के लिए स्रोत ढूंढने होते हैं।अपने विवेक व बुद्धि का प्रयोग करते हुए उस पर लगातार कार्य करते रहना होता है।गणित में एक आर्टिकल लिखना ही बहुत मुश्किल है जबकि गणित में आर्टिकल लिखने के लिए तमाम तरह के साधन सोशल मीडिया,यूट्यूब वीडियो, पुस्तकें,शिक्षक आदि उपलब्ध है। गणित में पीएचडी करने के लिए नए विषय पर अपनी रिसर्च, विचार प्रस्तुत करना होता है।गणित में पीएचडी लिखने के लिए बेसिक बातें तो सीखी जा सकती है और वे यत्र-तत्र मिल भी जाती है परंतु रिसर्च के लिए नया आईडिया तथा प्रामाणिक विषयवस्तु के लिए तो अपने खुद के विवेक,बुद्धि से मनन,चिंतन करना होता है।जो भी सिद्धांत मनन, चिंतन करके प्रस्तुत किया जाता है उसको प्रमाणित करके बताना होता है।आज तो फिर भी गणित के लिए बहुत सी विषय सामग्री उपलब्ध हो जाती है परंतु सोचने वाली बात तो यह है कि 1925 में पीएचडी करने के लिए आज की तरह किस प्रकार के न तो साधन-सुविधाएं थी ऐसी स्थिति में पीएचडी करना महत्त्व रखता है।

एल्बर्ट एफ.काॅक्स द्वारा गणित में ऐसी विकट परिस्थितियों में पीएचडी करने पर युवा वर्ग उनसे बहुत कुछ सीख ले सकते हैं।पहली बात तो यह कि किस प्रकार विपरीत बाधाओं और परिस्थितियों के होते हुए भी पीएचडी की जा सकती है। आज का युवा वर्ग गणित में पीएचडी करने के लिए कई तरह के बहाने बनाते हुए मिल जायेंगे। परन्तु यदि वे लगन,उत्साह तथा कुछ नया करने का मादा रखते हैं तो वे विकट परिस्थितियों में पीएचडी कर सकते हैं।यदि आपका दिमाग मजबूत है तो गणित में कितनी भी जटिल समस्याएं आएंगी तो आपका दिमाग अधिक सक्रिय हो जाता है जिससे समस्या का समाधान आप कर पाते हैं।गणित में पीएचडी करने का यही सबसे अच्छा मंत्र है जिसका पालन करके आप आसानी से गणित में पीएचडी कर सकते हैं।

आपको यह जानकारी रोचक व ज्ञानवर्धक लगे तो अपने मित्रों के साथ इस गणित के आर्टिकल को शेयर करें ।यदि आप इस वेबसाइट पर पहली बार आए हैं तो वेबसाइट को फॉलो करें और ईमेल सब्सक्रिप्शन को भी फॉलो करें जिससे नए आर्टिकल का नोटिफिकेशन आपको मिल सके ।यदि आर्टिकल पसन्द आए तो अपने मित्रों के साथ शेयर और लाईक करें जिससे वे भी लाभ उठाए ।आपकी कोई समस्या हो या कोई सुझाव देना चाहते हैं तो कमेंट करके बताएं। इस आर्टिकल को पूरा पढ़ें।

Also Read This Article-Simmons Became the World’s Successful Investor on the Basis of Maths

2.बाधाओं को हराकर, एलबर्ट एफ.कॉक्स1925 में गणित में पीएचडी अर्जित करने वाले पहले अश्वेत व्यक्ति बने(By defeating the odds, Albert F. Cox became the first black person to earn a PhD in mathematics in 1925)-

10 फरवरी, 2020

गणित में डॉक्टरेट प्राप्त करने वाला इतिहास का पहला अश्वेत व्यक्ति बनना और ऐसा करने वाले पहले अफ्रीकी अमेरिकी एल्बर्ट फ्रैंक कॉक्स के लिए एक असाधारण उपलब्धि थी।
1925 में, उन्होंने अपनी पीएच.डी. कॉर्नेल विश्वविद्यालय से गणित में प्राप्त की, अमेरिका में गणित में केवल 28 डॉक्टरेट की डिग्री प्रदान की गई थी।

No. Social Media Url
1. Facebook click here
2. you tube click here
3. Twitter click here
4. Instagram click here
5. Linkedin click here
6. Facebook Page click here

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *