Menu

RKSrivastav demanded education channel

1.आरकेश्रीवास्तव ने शिक्षा चैनल की मांग की का परिचय (Introduction to RKSrivastav demanded education channel)-

  • आरके श्रीवास्तव ने शिक्षा चैनल की मांग की (RKSrivastav demanded education channel) । मैथमेटिक्स गुरु आरके श्रीवास्तव ने दूरदर्शन पर शैक्षणिक चैनल शुरू करने की मांग की।आरके श्रीवास्तव (रांची) ने मानव संसाधन विकास मंत्रालय से समाज के विभिन्न छात्रों के लिए दूरदर्शन पर शिक्षा चैनल शुरू करने का आग्रह किया है।
  • कोरोनावायरस महामारी के कारण सम्पूर्ण देश में लाॅकडाउन के कारण सभी शिक्षण संस्थान बन्द हैं।स्कूल तथा कॉलेज के छात्रों की परीक्षा भी पूरी नहीं हो पाई है।ऐसी स्थिति में छात्रों को नुकसान उठाना पड़ रहा है। नियमित रूप से कक्षाएं न लेने के कारण उनकी पढ़ाई प्रभावित हो रही है।सबसे बड़ा प्रश्न यही है कि लाॅकडाउन के कारण शिक्षा को नियमित कैसे रखा जाए। कुछ छात्र तथा शिक्षकों ने आनलाईन पढ़ाई शुरू कर दी है।
  • परन्तु ग्रामीण क्षेत्र तथा शहरी क्षेत्र में कुछ छात्र ऐसे भी हैं जो आनलाईन पढ़ाई का उपयोग नहीं कर सकते हैं।
    ऐसी स्थिति में आरके श्रीवास्तव मैथमेटिक्स गुरु द्वारा यह मांग करना जायज है कि दूरदर्शन पर भी शैक्षिक चैनल प्रारम्भ किया जाए जिससे शिक्षा से वंचित छात्रों को लाभ मिल सके। दूरदर्शन पर शैक्षिक चैनल प्रारम्भ करने में कोई व्यावहारिक परेशानी नहीं होनी चाहिए।आरके श्रीवास्तव की मांग छात्रों के हित में उचित है। इसलिए मानव संसाधन विकास मंत्रालय यदि इस पर गौर करें तो इसे प्रारम्भ करने में कोई व्यावहारिक समस्या नहीं आनी चाहिए।क्योंकि लाॉकडाउन को लगभग 40 दिन से ऊपर हो गए हैं और आगे भी पता नहीं कितने दिन लाॅकडाउन रहनेवाला है।
  • कोरोनावायरस महामारी का प्रकोप बढ़ता ही जा रहा है।भारत में भी कोरोनावायरस बीमारी के मरीज बढ़ते ही जा रहे हैं।ऐसी स्थिति में आरके श्रीवास्तव ने शिक्षा चैनल की मांग की (RKSrivastav demanded education channel)।
  • आपको यह जानकारी रोचक व ज्ञानवर्धक लगे तो अपने मित्रों के साथ इस गणित के आर्टिकल को शेयर करें ।यदि आप इस वेबसाइट पर पहली बार आए हैं तो वेबसाइट को फॉलो करें और ईमेल सब्सक्रिप्शन को भी फॉलो करें जिससे नए आर्टिकल का नोटिफिकेशन आपको मिल सके ।यदि आर्टिकल पसन्द आए तो अपने मित्रों के साथ शेयर और लाईक करें जिससे वे भी लाभ उठाए ।आपकी कोई समस्या हो या कोई सुझाव देना चाहते हैं तो कमेंट करके बताएं। इस आर्टिकल को पूरा पढ़ें।

Also Read This Article:-7 Tips to write best study notes

2.आरकेश्रीवास्तव ने शिक्षा चैनल की मांग की (RKSrivastav demanded education channel)-

  • आरके श्रीवास्तव अपनी शैक्षणिक कार्यशैली के लिए लोकप्रिय हैं।वे केवल एक रुपया गुरु दक्षिणा लेकर पिछले 10 वर्षों से छात्रों को गणित के गुर सिखाते आ रहे हैं।आरके श्रीवास्तव ने मानव संसाधन विकास मंत्री रमेश पोखरियाल निशंक से आग्रह किया है कि दूरदर्शन पर छात्रों के लिए एक विशेष शिक्षा चैनल शुरू किया जाए। इससे सम्पूर्ण देश के छात्र लाभान्वित हो सकेंगे।
  • आरके श्रीवास्तव ने 100 से अधिक आर्थिक रूप से गरीब छात्रों को आइआइटी, एनआइटी,बीसीइसीइ जैसी इंजीनियरिंग प्रवेश परीक्षा में सफलता दिलाकर उनके सपनों को पंख लगाया है।वर्ल्ड बुक आफ रिकाॅर्ड और इंडिया बुक आफ रिकाॅर्ड में भी आरके श्रीवास्तव का नाम दर्ज हो चुका है।
  • आरके श्रीवास्तव ने कहा है कि भारत कोविद- 19 महामारी के कारण स्वास्थ्य संकट के बीच फंसा हुआ है।लाॅकडाउन जीवन को बचाने के लिए बहुत महत्त्वपूर्ण है। सरकार का यह कदम प्रशंसनीय है।
  • कई संस्थान आनलाईन शिक्षा उपलब्ध करा रहे हैं। लेकिन हमारे देश के छात्रों के एक बड़े हिस्से की सामाजिक-आर्थिक स्थिति में भारी भिन्नता को ध्यान में रखते हुए आरके श्रीवास्तव ने शिक्षा चैनल की मांग की ( RKSrivastav demanded education channel)।क्योंकि बड़ी संख्या में छात्र और अभिभावक चाहते हैं कि एक सस्ती शिक्षा प्रणाली का लाभ बच्चों को मिले।
  • मानव संसाधन विकास मंत्री से डीडी किसान की तर्ज पर दूरदर्शन के 24×7 शिक्षा चैनल को आरके श्रीवास्तव ने शिक्षा चैनल की मांग की।
  • आरके श्रीवास्तव सोशल मीडिया के माध्यम से छात्र से जुड़े हुए हैं ताकि उनकी पढ़ाई जारी रह सके। मानव संसाधन विकास मंत्रालय अपने चैनल स्वयं प्रभा के माध्यम से छात्रों तक पहुंच रहा है।आरके श्रीवास्तव के अनुसार यदि 24 घंटो शिक्षा चैनल प्रारम्भ होता है तो सभी छात्रों को सस्ती एवं बेहतर शिक्षा मिल पाएगी।इस प्रकार आरके श्रीवास्तव ने शिक्षा चैनल की मांग की (RKSrivastav demanded education channel)।

Also Read This Article:-What are 7 benefits of reading books?

No.Social MediaUrl
1.Facebookclick here
2.you tubeclick here
3.Twitterclick here
4.Instagramclick here
5.Linkedinclick here
6.Facebook Pageclick here

No Responses

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *