Menu

National Reading Day 2021 in India

Contents hide
2 2.भारत में राष्ट्रीय पठन दिवस 2021 (National Reading Day 2021 in India),26वां राष्ट्रीय पठन दिवस 2021 (26th National Reading Day 2021) के. सम्बन्ध में अक्सर पूछे जाने वाले प्रश्न:

1.भारत में राष्ट्रीय पठन दिवस 2021 (National Reading Day 2021 in India),26वां राष्ट्रीय पठन दिवस 2021 (26th National Reading Day 2021):

  • भारत में राष्ट्रीय पठन दिवस 2021 (National Reading Day 2021 in India)19 जून,2021 को 26वां दिवस मनाया गया है।आज के समय में जबकि डिजिटल युग आ गया है ऐसी स्थिति में छात्र-छात्राओं तथा लोगों का अधिकांश समय पुस्तकें पढ़ने के बजाय सोशल मीडिया पर व्यतीत हो रहा है।
  • इसी बात को ध्यान में रखकर नई शिक्षा नीति में तकनीकी को प्रोत्साहन देने के प्रावधान किए गए हैं।अब छात्र-छात्राओं को कक्षा 5 और 10 वीं से तकनीकी और कंप्यूटर से जुड़े हुए विषय भी पढ़ाए जाएंगे।
  • आज के समय में लाइब्रेरी को भी डिजिटल बनाकर ही छात्र-छात्राओं को अध्ययन से जोड़ा जा सकता है।दरअसल शिक्षा में नवीनता,प्रगतिशीलता और परिवर्तनशीलता जैसे तीन गुण नहीं पाए जाएंगे तो वह शिक्षा पद्धति मृतक के समान है।उस शिक्षा पद्धति से छात्र-छात्राओं को आगे नहीं बढ़ाया जा सकता है।प्रतिस्पर्धा के इस युग में छात्र-छात्राएं अंतरराष्ट्रीय स्तर पर पिछड़ जाएंगे और वे ऐसा कोई करिश्मा नहीं कर पाएंगे जिससे भारत का,भारतीयता का,भारतीय संस्कृति का गौरव बढ़ाया जा सके।
  • सीबीएसई बोर्ड में इसीलिए स्कूलों के प्राचार्यों को पत्र लिखकर निर्देश दिया है कि नेशनल रीडिंग डे,वीक और मंथ 19 जून ,2021 से मनाया जाए।छात्र छात्राओं को इस अवसर पर ऑनलाइन कार्यक्रम का आयोजन करके मनाया जाए।सीबीएसई ने इस कार्यक्रम को ऑनलाइन मनाने के लिए इसलिए कहा है कि कोरोनावायरस के संक्रमण की दूसरी लहर को रोकने के लिए जारी की गई गाइडलाइंस का पालन किया जा सके।
  • इस अवसर पर पीएन पणिक्कर (P.N. Panicker) फाउंडेशन ने रीडिंग से संबंधित कार्यक्रम का डिजाइन तैयार किया है।
  • पीएन पणिक्कर को लाइब्रेरी आंदोलन का जनक माना जाता है।वे छात्र-छात्राओं में पढ़ने की आदत कम होने से चिंतित थे।इसलिए उन्होंने छात्र-छात्राओं में तथा लोगों को पढ़ने के प्रति जागरूक करने के लिए जन आंदोलन चलाया।
  • नीति आयोग ने भी राज्य के सभी सचिवों को ऑनलाइन तथा ऑफलाइन रीडिंग को बढ़ावा देने के लिए निर्देश जारी किया गया था।
  • 19 जून को नेशनल डे इसलिए मनाया जाता है क्योंकि 19 जून,1995 को पीएन पणिक्कर की मृत्यु हुई थी।इसलिए उनकी पुण्यतिथि को नेशनल डे घोषित किया गया।पीएन पणिक्कर ने केरल में पुस्तकालय आंदोलन चलाया था इसलिए उनकी पुण्यतिथि को इस प्रकार मनाने का इससे बेहतर तरीका नहीं हो सकता था।
  • 19 जून,2021 को नेशनल रीडिंग डे मनाने के बाद अब 19 जून से 26 जून,2021 तक वीक के रूप में मनाया जाएगा तथा 19 जून से 18 जुलाई,2021 रीडिंग मन्थ के रूप में मनाया जाएगा।
  • पीएन पणिक्कर फाउंडेशन ने वेबसाइट pnpanickerfoundation.org पर स्कूलों और काॅलेजों के लिए एक्टिविटी सूचीबद्ध किया है।
  • फाउंडेशन द्वारा वेबसाइट पर जो एक्टिविटी बताई गई है उसमें पढ़ने के महत्त्व पर वेबिनार,डिजिटल लाइब्रेरी,बौद्धिक संपदा अधिकार,कोविड-19 जागरूकता,हरित अर्थव्यवस्था आदि शामिल हैं।
  • स्कूली बच्चों के लिए फाउंडेशन ने प्रश्नोत्तरी,ओपन आर्ट और निबंध लेखन प्रतियोगिता कराने का सुझाव दिया है।
    शिक्षकों,संकाय सदस्यों और पुस्तकालयध्यक्षों के लिए फाउंडेशन ने प्रश्नोत्तरी और वीडियो बुक प्रतियोगिताओं का सुझाव दिया है।
  • पीएन.पणिक्कर (P.N. Panicker) भारत में पुस्तकालय आंदोलन के जनक थे।उन्हें केरल में पुस्तकालय आंदोलन का पिता कहा जाता है।पीएन पणिक्कर का जन्म 1 मार्च,1909 को हुआ था और मृत्यु 19 जून,1995 को हुई थी।1945 में 47 ग्रामीण पुस्तकालयों के साथ तिरुविधामकर ग्रंथशाला संगम की स्थापना हुई थी।उन्होंने 1926 में सदामाधर्मम पुस्तकालय की शुरुआत की थी।उन्होंने गांव-गांव घूम-घूमकर लोगों को पढ़ने का महत्त्व बताया और शिक्षा के प्रति जागरूक किया।1975 में ग्रंथशाला को कृपासकाय पुरस्कार (Krupsakaya Award) यूनेस्को (UNESCO) द्वारा दिया गया।पीएन पणिक्कर ने 32 सालों तक इस संगठन के सेक्रेटरी थे।शिक्षक के रूप में उनका समाज में व्यापक प्रभाव था।
  • उपर्युक्त विवरण में भारत में राष्ट्रीय पठन दिवस 2021 (National Reading Day 2021 in India) के बारे में बताया गया है।
  • आपको यह जानकारी रोचक व ज्ञानवर्धक लगे तो अपने मित्रों के साथ इस गणित के आर्टिकल को शेयर करें।यदि आप इस वेबसाइट पर पहली बार आए हैं तो वेबसाइट को फॉलो करें और ईमेल सब्सक्रिप्शन को भी फॉलो करें।जिससे नए आर्टिकल का नोटिफिकेशन आपको मिल सके ।यदि आर्टिकल पसन्द आए तो अपने मित्रों के साथ शेयर और लाईक करें जिससे वे भी लाभ उठाए ।आपकी कोई समस्या हो या कोई सुझाव देना चाहते हैं तो कमेंट करके बताएं।इस आर्टिकल को पूरा पढ़ें।

Also Read This Article:Mathematics Library 

2.भारत में राष्ट्रीय पठन दिवस 2021 (National Reading Day 2021 in India),26वां राष्ट्रीय पठन दिवस 2021 (26th National Reading Day 2021) के. सम्बन्ध में अक्सर पूछे जाने वाले प्रश्न:

उपर्युक्त प्रश्नों.के उत्तर द्वारा भारत में राष्ट्रीय पठन दिवस 2021 (National Reading Day 2021 in India),26वां राष्ट्रीय पठन दिवस 2021 (26th National Reading Day 2021) के बारे में ओर अधिक जानकारी प्राप्त कर सकते हैं।

प्रश्न:1.क्या कोई राष्ट्रीय पठन दिवस है? (Is there a national reading day?):

उत्तर:प्रत्येक वर्ष, डॉ का जन्मदिन 2 मार्च को नेशनल रीड अक्रॉस अमेरिका दिवस मनाया जाता है,क्योंकि यह कार्यक्रम बच्चों में पढ़ने को प्रोत्साहित करने के लिए डिज़ाइन किया गया है और स्कूलों के माध्यम से इसे बढ़ावा दिया जाता है,जब 2 मार्च को सप्ताहांत पर भूमि होती है, तो यह दिन मनाया जाता है  निकटतम स्कूल दिवस

प्रश्न:2.इस वर्ष राष्ट्रीय पठन दिवस की थीम क्या है? (What is the theme for the National Reading Day this year?):

उत्तर:यह कार्यक्रम युवा लोगों के बीच पठन को बढ़ावा देने के लिए शक्तिशाली उपकरणों के रूप में आधुनिक तकनीकों के उपयोग पर भी ध्यान केंद्रित करता है।यूनेस्को (UNESCO) के महानिदेशक,ऑड्रे अज़ोले (Audrey Azoulay) के अनुसार,2020 का विषय/संदेश इन शब्दों में है:”पुस्तकों में मनोरंजन और सिखाने की अद्वितीय क्षमता है (Books have the unique ability both to entertain and to teach)”।

प्रश्न:3.रीडिंग डे क्यों मनाया जाता है? (Why is Reading Day celebrated?):

उत्तर:राष्ट्रीय पठन दिवस (National Reading Day 2021 in India) ‘केरल में पुस्तकालय आंदोलन (Library Movement in Kerala)’ के पिता स्वर्गीय पीएन पनिकर (P.N. Panicker) को सम्मानित करने के लिए मनाया जाता है,जिनकी पुण्यतिथि 19 जून को है।

प्रश्न:4.क्या मार्च राष्ट्रीय पढ़ने का महीना है? (Is March national reading month?):

उत्तर:डॉ सीस (Dr. Seuss) के जन्मदिन के सम्मान में,मार्च को राष्ट्रीय पठन माह के रूप में नामित किया गया है-हर उम्र के अमेरिकियों को हर दिन पढ़ने के लिए प्रेरित करने के लिए एक महीना।पढ़ना मजेदार है और इसके कई फायदे हैं,चाहे आपकी उम्र कुछ भी हो।

प्रश्न:5.पढ़ने का दिन कौन सा है? (Which is the date of reading day?):

उत्तर:पुस्तकालय आंदोलन के जनक स्वर्गीय पी.एन.पणिक्कर (P.N.Panicker),19 जून को पठन दिवस के रूप में और अगले सप्ताह को पठन सप्ताह के रूप में मनाया जा रहा है।19 जून 1996 को एक पठन दिवस समारोह के रूप में शुरू हुआ,यह पढ़ने की संस्कृति को बढ़ावा देने के लिए एक जन आंदोलन बन गया है।

प्रश्न:6.क्या विश्व पुस्तक दिवस 2021 के लिए कोई थीम है? (Is there a theme for World Book Day 2021?):

उत्तर:विश्व पुस्तक और कॉपीराइट दिवस (World Book and Copyright Day): कोविड-19 को ध्यान में रखते हुए,इस वर्ष की थीम ‘टू शेयर ए स्टोरी (To share a story)’ है।त्बिलिसी (Tbilisi) को 2021 में विश्व पुस्तक राजधानी के रूप में चुना गया है।23 अप्रैल को विश्व स्तर पर विश्व पुस्तक दिवस के रूप में मनाया जाता है,विश्व पुस्तक और कॉपीराइट दिवस या पुस्तक के अंतर्राष्ट्रीय दिवस के रूप में भी जाना जाता है।

प्रश्न:7.विश्व 2020 का विषय क्या है? (What is the theme of the World 2020?):

उत्तर:विश्व पर्यावरण दिवस 2020 का विषय ‘प्रकृति के लिए समय (Time for Nature)’ है,जो पृथ्वी और मानव विकास पर जीवन का समर्थन करने वाले आवश्यक बुनियादी ढांचे (Essential Infrastructure) को प्रदान करने में अपनी भूमिका पर ध्यान केंद्रित करता है।

प्रश्न:8.मार्च रीडिंग मंथ क्यों है? (Why is March Reading Month?):

उत्तर:डॉ. सीस (Dr. Seuss) के जन्मदिन के उपलक्ष्य में,मार्च को राष्ट्रीय पठन माह के रूप में नामित किया गया है।वैज्ञानिक अध्ययनों ने पठन को बढ़े हुए संज्ञानात्मक कार्य (increased cognitive function),स्मृति (memory),शब्दावली (vocabulary),सहानुभूति (empathy) और तनाव (stress) के स्तर में कमी के साथ जोड़ा है।

प्रश्न:9.क्या फरवरी माह पढ़ने का प्यार है? (Is February Love of Reading Month?):

उत्तर:फरवरी पढ़ने का प्यार महीना है!प्यार की एक और स्वीकृति (acknowledgement of love) के साथ मेल खाने के हमारे प्यार का जश्न मनाने के लिए-हम वेलेंटाइन डे पर 20 से अधिक रोमांटिक/स्नेही/शीर्षक शीर्षक दे रहे हैं!

प्रश्न:10.रीडिंग डे का जनक कौन है? (Who is the father of reading day?):

उत्तर:पीएन पनिकर (P.N.Panicker)
भारत समाज सुधारक पीएन पनिकर की पुण्यतिथि (death anniversary of social reformer PN Panicker) पर ‘राष्ट्रीय वाचन दिवस’ मनाता है।भारत में पुस्तकालय आंदोलन के जनक (Father of the Library Movement in India) के रूप में जाने जाने वाले,पनिकर का 19 जून 1995 को देश में पढ़ने की प्रथा में क्रांति (revolutionising the practice of reading in the country) लाने के बाद निधन हो गया।

प्रश्न:11.रीडिंग डे 2020 का संदेश क्या है? (What is the message of Reading Day 2020?):

उत्तर:राष्ट्रीय पठन दिवस 2020।इस वर्ष राष्ट्रीय पठन दिवस की 25वीं वर्षगांठ है।आदमी और उसके ‘रीड एंड ग्रो (Read and Grow)’ के संदेश का सम्मान करने के लिए,19 जून से शुरू होने वाले सप्ताह को रीडिंग वीक के रूप में मनाया गया था।साथ ही इस वर्ष 19 जून से 18 जुलाई तक ‘पठन माह’ भी मनाया गया।जबकि National Reading Day 2021 in India 26वीं वर्षगांठ है।

प्रश्न:12.पढ़ना क्यों जरूरी है? (Why is reading is important?):

उत्तर:पढ़ना महत्वपूर्ण है क्योंकि इससे मन का विकास होता है।लिखित शब्द को समझना ही एक तरीका है जिससे मन अपनी क्षमता में बढ़ता है।छोटे बच्चों को पढ़ना सिखाना उनके भाषा कौशल को विकसित करने में मदद करता है।यह उन्हें सुनना सीखने में भी मदद करता है।

प्रश्न:13.हम राष्ट्रीय पठन माह कैसे मनाते हैं? (How do we celebrate National Reading Month?):

उत्तर:राष्ट्रीय पठन माह मनाने के 7 तरीके
डॉ सीस (Dr.Seuss}) की एक किताब पढ़ें।
अपने स्थानीय पुस्तकालय पर जाएँ।
दुनिया को खोजो (Explore the world)।
अपनी पसंदीदा फिल्म या टीवी शो के बारे में एक किताब पढ़ें (Read a book about your favorite movie or tv show)।
कुछ नया करने का प्रयास करें (Try something new)।
अपनी पसंदीदा किताब पढ़ें (Read YOUR favorite book)।
पढ़ने का प्यार साझा करें (Share the love of reading)।

प्रश्न:14.19 जून को रीडिंग डे क्यों है? (Why is Reading Day on 19th June?):

उत्तर:भारत केरल में पुस्तकालय और साक्षरता आंदोलन के जनक पी एन पनिकर (P.N. Panicker) के सम्मान में 19 जून को राष्ट्रीय पठन दिवस के रूप में मनाता है।इस वर्ष(2020) रजत जयंती वर्ष (Silver Jubilee Year) या समारोह का 25वां संस्करण है।

प्रश्न:15.केरल ग्रंथशाला के संस्थापक कौन हैं? (Who is the founder of Kerala Grandhasala?):

उत्तर:ग्रंथशाला संघम (Grandhasala Sanghom)
श्री पी.एन.पनिकर 32 वर्षों तक (1977 तक,जब संघम को राज्य सरकार द्वारा अपने अधिकार में ले लिया गया था) इस आंदोलन के संस्थापक और प्रेरक शक्ति थे।अब इसे केरल राज्य पुस्तकालय परिषद कहा जाता है,जिसमें एक अंतर्निर्मित लोकतांत्रिक संरचना और राज्य सरकार से वित्त पोषण होता है (Now it is called the Kerala State Library Council, with an in-built democratic structure and funding from the State Government)।

प्रश्न:16.पढ़ने का दिन क्या है? (What is a reading day?):

उत्तर:अमेरिकी कॉलेजों में,इस अवधि को पढ़ने की अवधि के रूप में जाना जाता है।आम तौर पर,यह अवधि एक सप्ताह लंबी होती है और कक्षाओं या मूल्यांकन से मुक्त होती है, जिससे छात्रों को अंतिम परीक्षा की तैयारी के लिए सामग्री की पुनरावृत्ति करने की अवधि व्यतीत करने की अनुमति मिलती है।ऐसी अवधि के प्रत्येक दिन को पढ़ने के दिन के रूप में संदर्भित किया जा सकता है।

प्रश्न:17.किसके जन्मदिन को पठन दिवस के रूप में मनाया जाता है? (Who birthday is celebrated as reading day?):

उत्तर:15 अक्टूबर वैज्ञानिक और भारत के पूर्व राष्ट्रपति एपीजे अब्दुल कलाम की जयंती (birth anniversary of scientist and former president of India APJ Abdul Kalam) है।महाराष्ट्र राज्य के हर स्कूल ने उनकी जयंती को वाचन (पढ़ना) प्रेरणा (प्रेरणा) दिवस (दिन) के रूप में मनाया।

प्रश्न:18.पढ़ना सफलता की कुंजी क्यों है? (Why reading is the key to success?):

उत्तर:यह एक व्यक्ति के लिए जीवन में बेहतर करने के लिए एक महान प्रेरणा है।एक व्यक्ति जितना अधिक पढ़ता है, उतना ही उसकी समझ और समझने के कौशल में सुधार होता है।एक पाठक जितना बेहतर होगा,उसके लिए एक नियत कार्य को पूरा करना उतना ही आसान हो जाएगा।  पढ़ने की आदत ज्ञान प्राप्ति के साथ-साथ चलती है।

प्रश्न:19.पढ़ने के 5 फायदे क्या हैं? (What are the 5 benefits of reading?):

उत्तर:पुस्तकें पढ़ने के लाभ: यह आपके जीवन को सकारात्मक रूप से कैसे प्रभावित कर सकता है
दिमाग को मजबूत करता है।
सहानुभूति बढ़ाता है।
शब्दावली बनाता है।
संज्ञानात्मक गिरावट को रोकता है (Prevents cognitive declin)।
तनाव कम करता है।
नींद में मदद करता है।
अवसाद को कम करता है।
आयु बढ़ाता है।

प्रश्न:20.राज्य पुस्तकालय परिषद के प्रथम अध्यक्ष कौन हैं? (Who is the first president of State Library Council?):

उत्तर:मलयालम के प्रसिद्ध कवि कदमनित्त रामकृष्णन (Kadamanitta Ramakrishnan,the famous poet of malayalam) केरल राज्य पुस्तकालय परिषद के पहले अध्यक्ष थे।

प्रश्न:21.क्या सभी विश्वविद्यालयों में पढ़ने के सप्ताह होते हैं? (Do all universities have reading weeks?):

उत्तर:जैसा कि आप पहले से ही जानते हैं,विश्वविद्यालय छठे फॉर्म या कॉलेज से काफी अलग है,जो टर्म तिथियों पर भी लागू होता है।हालाँकि, कुछ विश्वविद्यालयों में, मेरे अपने सहित,’पठन सप्ताह’ हैं,जो दूसरे शब्दों में,आधे-अवधि के विराम की तरह हैं।

प्रश्न:22.केरल में पुस्तकालयों की शुरुआत किसने की? (Who started libraries in Kerala?):

उत्तर:पुस्तकालय की स्थापना 1829 में त्रावणकोर के राजा स्वाति थिरुनल (King Swathi Thirunal of Travancore) के शासनकाल के दौरान हुई थी।  पुस्तकालय को शुरू करने और व्यवस्थित करने का काम तत्कालीन ब्रिटिश रेजिडेंट कर्नल एडवर्ड कैडोगन (Col. Edward Cadogan) को सौंपा गया था,जो ब्रिटिश संग्रहालय के संस्थापक सर हंस स्लोएन (Sir Hans Sloane) के पोते थे।

प्रश्न:23.केरल में कितने पुस्तकालय हैं? (How many libraries are there in Kerala?):

उत्तर:8,464 पुस्तकालय
राज्य में केरल राज्य पुस्तकालय परिषद से जुड़े लगभग 8,464 पुस्तकालय हैं,जो राज्य में सभी पुस्तकालयों के प्रहरी (Watchdog) के रूप में कार्य करता है।

प्रश्न:24.केरल में रीडिंग डे की शुरुआत कब हुई? (When did reading day start in Kerala?):

उत्तर:1996 में शुरू हुए रीडिंग डे की शुरुआत केरल से हुई और तब से यह देश में एक आंदोलन बन गया है।इस प्रकार यह National Reading Day 2021 in India 26वां वर्ष हैं।

प्रश्न:25.त्रावणकोर पुस्तकालय संघ को कौन सा पुरस्कार और कब प्राप्त हुआ? (Which award was received by Travancore and when?):

उत्तर:इस दौरान उन्होंने केरल के विभिन्न गांवों और अविकसित क्षेत्रों की यात्रा की और पढ़ने और शिक्षा के महत्व को बढ़ावा दिया।जब वे अभी भी राज्य में पुस्तकालय संघ के प्रभारी थे,तब ग्रंथशाला संघम को 1985 में यूनेस्को से प्रतिष्ठित ‘कृपसकाया पुरस्कार’ से सम्मानित (Granthasala Sangham was awarded the prestigious ‘Krupsakaya Award’ from UNESCO in 1985) किया गया था।

प्रश्न:26.सबसे बड़ा पुस्तकालय कौन सा है? (Which is the biggest library?):

उत्तर:कांग्रेस का पुस्तकालय
कांग्रेस का पुस्तकालय 170 मिलियन से अधिक वस्तुओं के साथ दुनिया का सबसे बड़ा पुस्तकालय है।

प्रश्न:27.केरल का पहला पुस्तकालय कौन सा है? (Which is Kerala first library?):

उत्तर:राज्य केंद्रीय पुस्तकालय (State Central library)’ केरल में ‘पहली बार पुस्तकालय’ बन गया।यह भारत के ‘सबसे पुराने’और ‘पहले सार्वजनिक पुस्तकालय’ में से एक है।यह ‘केरल की राजधानी’,तिरुवनंतपुरम (Thiruvananthapuram) के ‘दिल में’ स्थित है।

प्रश्न:28.केरल का सबसे अच्छा पुस्तकालय कौन सा है? (Which is the best library in Kerala?):

उत्तर:कोच्चि (Kochi) में जाने के लिए शीर्ष 10 पुस्तकालय 2019
एर्नाकुलम पब्लिक लाइब्रेरी (Ernakulam Public Library)।यह केरल के सबसे पुराने और सबसे बड़े पुस्तकालयों में से एक है।
एलूर पुस्तकालय (Eloor Library)।
ईएमएस सहकारी पुस्तकालय (EMS Coorperative Library)।
जस्ट बुक्स (Just Books)।
ब्लॉसम बुक हाउस (Blossom Book House)।
पंडित करुप्पन मेमोरियल लाइब्रेरी एंड रीडिंग रूम (Pandit Karuppan Memorial Library And Reading Room)।
विनोद पुस्तकालय (Vinoda Library)।
चांगमपुझा स्मारक ग्रंथशाला पुस्तकालय (Changampuzha Smaraka Grandhashala Library)।

प्रश्न:29.केरल का सबसे बड़ा पुस्तकालय भवन कौन सा है? (Which is the biggest library building in Kerala?):

उत्तर:1942 में स्थापित केरल विश्वविद्यालय पुस्तकालय (KUL),केरल का सबसे पुराना और सबसे बड़ा विश्वविद्यालय पुस्तकालय है और तिरुवनंतपुरम शहर में विश्वविद्यालय सीनेट हॉल परिसर के निकट स्थित है।

प्रश्न:30.भारत में किस राज्य में अधिक पुस्तकालय हैं? (Which state has more libraries in India?):

उत्तर:कुल 75 सार्वजनिक पुस्तकालय उत्तर प्रदेश की 20 करोड़ (200 Million) से अधिक आबादी की सेवा कर रहे हैं।इसकी तुलना तमिलनाडु के 4,028 सार्वजनिक पुस्तकालयों से करें जो इसकी 67.8 मिलियन आबादी की सेवा करते हैं और यह इसके विपरीत एक अध्ययन सामने आता है।

प्रश्न:31.भारत का पहला पुस्तकालय कौन सा है? (Which is the first library in India?):

उत्तर:भारत का राष्ट्रीय पुस्तकालय (National Library of India)
राष्ट्रीय पुस्तकालय
राष्ट्रीय पुस्तकालय टाइप करें
स्थापित 1836 (कलकत्ता पब्लिक लाइब्रेरी के रूप में (Calcutta Public Library)),30 जनवरी 1903 (इंपीरियल लाइब्रेरी के रूप में (as Imperial Library)),1 फरवरी 1953 (भारत के राष्ट्रीय पुस्तकालय के रूप में (as National Library of India))।

प्रश्न:32.मैं त्रिवेंद्रम पब्लिक लाइब्रेरी में सदस्यता कैसे प्राप्त कर सकता हूं? (How can I get membership in Trivandrum Public Library?):

उत्तर:ice पहचान पत्र के आवेदकों की सत्यापित प्रति ई श्रेणी की सदस्यता के लिए प्रदान की जानी चाहिए।कोई मासिक सदस्यता नहीं है।सदस्यता शुल्क सदस्यता वापस लेने पर वापस किया जा सकता है बशर्ते सदस्य की राज्य केंद्रीय पुस्तकालय,तिरुवनंतपुरम के लिए कोई बकाया देयता न हो। 

प्रश्न:33.भारत का सबसे लंबा पुस्तकालय कौन सा है? (Which is the longest library in India?):

उत्तर:भारत का राष्ट्रीय पुस्तकालय कोलकाता-भारत का राष्ट्रीय पुस्तकालय
यह भारत का सबसे बड़ा पुस्तकालय है और आधिकारिक सार्वजनिक अभिलेखों के पुस्तकालय में इसके संग्रह में 2.2 मिलियन से अधिक पुस्तकें हैं।

प्रश्न:34.भारत में कितने पुस्तकालय हैं? (How many libraries are in India?):

उत्तर:संख्याएं भी विरोधाभासी प्रतीत होती हैं: वर्तमान में, राष्ट्रीय पुस्तकालय मिशन के रिकॉर्ड के अनुसार,भारत में पंजीकृत पुस्तकालयों की कुल संख्या 5,478 है,लेकिन अन्य सर्वेक्षणों में यह संख्या बहुत अधिक है।

प्रश्न:35.सबसे पुराना पुस्तकालय कौन सा है? (Which is the oldest library?):

उत्तर:अल-क़रावियिन पुस्तकालय (Al-Qarawiyyin library)
Fez,मोरक्को में अल-क़रावियिन पुस्तकालय (Al-Qarawiyyin library in Fez, Morocco) 1359 C.E. में खोला गया,
अल-क़रावियिन विश्वविद्यालय (University of Al-Qarawiyyin) (यह भी दुनिया का सबसे पुराना,859 सीई में निर्मित)।

प्रश्न:36.भारत का दूसरा सबसे बड़ा पुस्तकालय कौन सा है? (Which is the second largest library in India?):

उत्तर:संसद पुस्तकालय,भारत में पुस्तकों के सबसे समृद्ध भंडारों में से एक,भारतीय विधानमंडल के सदस्यों की सहायता के लिए वर्ष 1921 में स्थापित किया गया था।  यह दिल्ली का सबसे बड़ा पुस्तकालय है और राष्ट्रीय पुस्तकालय के बाद भारत का दूसरा सबसे बड़ा पुस्तकालय है।

प्रश्न:37.सबसे बड़ा निजी पुस्तकालय किसके पास है? (Who has the largest private library?):

उत्तर:हार्वर्ड लाइब्रेरी (Harvard Library)
हार्वर्ड लाइब्रेरी तकनीकी रूप से लगभग 18 मिलियन विभिन्न पंजीकृत वस्तुओं के साथ दुनिया की सबसे बड़ी निजी लाइब्रेरी रखती है।यह दुनिया का सबसे बड़ा निजी और सबसे बड़ा विश्वविद्यालय पुस्तकालय है।

प्रश्न:38.निजी पुस्तकालयों का संस्थापक किसे कहा जाता है? (Who is called the founder of private libraries?):

उत्तर:बेंजामिन फ्रैंकलिन (Benjamin Franklin)
बेंजामिन फ्रैंकलिन,जो उत्तरी अमेरिका में पहली सदस्यता पुस्तकालय की स्थापना में सहायक थे,काफी अनुपात के एक निजी पुस्तकालय के मालिक थे।

प्रश्न:39.मैं एक निजी पुस्तकालय कैसे शुरू करूं? (How do I start a private library?):

उत्तर:उपयोगी टिप्स जो आपकी छोटी लाइब्रेरी शुरू करने में आपकी मदद कर सकते हैं
स्थान तय करें।एक पुस्तकालय शुरू करना एक व्यवसाय चलाने के समान है जहां आपको एक ग्राहक की आवश्यकता होगी।
इंटीरियर पर ध्यान दें।
कर्मचारियों की सही मात्रा में किराया।
आवश्यक सुविधाएं प्रदान करें।
जागरूकता पैदा करने के लिए मार्केटिंग करें।

प्रश्न:40.निजी पुस्तकालय का क्या कार्य है? (What is the function of private library?):

उत्तर:निजी पुस्तकालय मुख्य स्रोतों और प्रमुख पत्रिकाओं को पढ़कर ग्राहक संग्रह की निगरानी करता है,इन-हाउस पुस्तकालय संग्रह बनाने के लिए आवश्यक गहन विषय विशेषता विकसित करता है।

प्रश्न:41.निजी पुस्तकालय कैसे पैसा कमाते हैं? (How do private libraries make money?):

उत्तर:निजी पुस्तकालयों को अक्सर नींव के माध्यम से बंदोबस्ती के साथ वित्त पोषित किया जाता है।ये बदले में धनी और उदार उपकारकों के माध्यम से स्थापित किए गए थे जिनमें व्यक्ति या निगम शामिल हो सकते हैं।जहां पुस्तकालय को पैसा बनाने की आवश्यकता होगी,वह उधार शुल्क लगाकर ऐसा कर सकता है।

प्रश्न:42.राष्ट्रीय पुस्तकालय के उद्देश्य क्या हैं? (What are the objectives of National Library?):

उत्तर:एक राष्ट्रीय पुस्तकालय के मुख्य लक्ष्यों में से एक अपने देश के सार्वभौमिक ग्रंथ सूची नियंत्रण के सामान्य अंतरराष्ट्रीय लक्ष्य के हिस्से को पूरा करना है,उस विशेष देश में प्रकाशित सभी पुस्तकों या पुस्तक जैसे दस्तावेजों के ग्रंथ सूची नियंत्रण को सुनिश्चित करना या उस विशेष देश के बारे में बात करना,किसी भी तरह।

उपर्युक्त प्रश्नों.के उत्तर द्वारा भारत में राष्ट्रीय पठन दिवस 2021 (National Reading Day 2021 in India),26वां राष्ट्रीय पठन दिवस 2021 (26th National Reading Day 2021) के बारे में ओर अधिक जानकारी प्राप्त कर सकते हैं।

Also Read This Article:What is the correlation of mathematics to other subjects?

No.Social MediaUrl
1.Facebookclick here
2.you tubeclick here
3.Instagramclick here
4.Linkedinclick here
5.Facebook Pageclick here

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *