Menu

CBSE 12th Board Exam 2021 Cancelled

Contents hide
2 2.CISCE ने ISC कक्षा 12 की बोर्ड परीक्षा 2021 रद्द की (CISCE cancels ISC Class 12 board exams 2021):

1.सीबीएसई 12वीं बोर्ड परीक्षा 2021 रद्द (CBSE 12th Board Exam 2021 Cancelled),सीबीएसई कक्षा 12 बोर्ड परीक्षा 2021 रद्द (CBSE Class 12 Board Exam 2021 Cancelled):

  • सीबीएसई 12वीं बोर्ड परीक्षा 2021 रद्द (CBSE 12th Board Exam 2021 Cancelled) कर दी गई है।दिनांक 1 जून,2021 मंगलवार को ट्वेल्थ (12th) बोर्ड परीक्षा का निर्णय करने के लिए प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की अध्यक्षता में बैठक हुई जिसमें यह निर्णय लिया गया कि 12वीं बोर्ड परीक्षा को रद्द कर दिया जाए।
  • कोविड-19 महामारी की दूसरी लहर में वृद्धि को देखते हुए तथा कोविड-19 संक्रमण के इस दौर में परीक्षार्थियों का बोर्ड परीक्षा केंद्रों तक नियमित रूप से परीक्षा देना खतरे से खाली नहीं है।
  • बोर्ड 12वीं की परीक्षा रद्द होने की खबर मिलते ही परीक्षार्थियों तथा अभिभावकों ने खुशी और संतोष व्यक्त किया।
  • यह फैसला छात्रों तथा शिक्षकों के स्वास्थ्य व सुरक्षा को ध्यान में रखकर किया गया है।सरकार को छात्रों के भविष्य और उनके स्वास्थ्य तथा सुरक्षा में से किसी एक पक्ष का चुनाव करना था।आखिर सभी राज्यों के शिक्षामंत्रियों,मुख्यमंत्री तथा विभिन्न रायशुमारी के आधार पर छात्रों के भविष्य के बजाय छात्र-छात्राओं के स्वास्थ्य व सुरक्षा को प्राथमिकता दी गई है।
  • सरकार के इस फैसले से बच्चों,अभिभावकों और शिक्षकों में जो बेचैनी थी वह खत्म हो गई है।सुप्रीम कोर्ट में भी इस संबंध में परीक्षा को रद्द करने के लिए याचिका पेश की गई है जिसमें सरकार ने 2 दिन का समय मांगा था और उसके बाद कोर्ट में सुनवाई 3 जून तक स्थगित हो गई थी।
  • विपक्ष के मुख्यमंत्रियों तथा विपक्षी नेताओं ने भी इस फैसले का स्वागत किया है और कहा है कि अब छात्र-छात्राएं आराम करने और जश्न मनाने के हकदार हैं। उन्होंने छात्र-छात्राओ के उज्जवल भविष्य और स्वस्थ तथा खुशहाल जीवन के लिए शुभकामनाएं दी हैं।
  • देशभर के छात्र-छात्राओं ने इस फैसले के बाद अपनी प्रतिक्रिया देते हुए इस फैसले पर खुशी और संतोष व्यक्त किया है।छात्र-छात्राओं के साथ-साथ अभिभावकों ने भी इस फैसले को उचित ठहराया है।
  • इससे पहले केंद्रीय शिक्षा मंत्री तथा अन्य कैबिनेट मंत्रियों की राज्य के शिक्षा मंत्रियों के साथ बैठक तथा विभिन्न रायशुमारी के आधार पर 12वीं बोर्ड परीक्षा कराने के पक्ष-विपक्ष में निम्नलिखित तर्क दिए गए थे।

(1.)सीबीएसई 12वीं बोर्ड परीक्षा कराने के पक्ष में तर्क (Arguments in favor of conducting CBSE 12th board exams):

  • केंद्रीय माध्यमिक शिक्षा बोर्ड ने यह तर्क दिया था कि परीक्षा 15 जुलाई से 26 अगस्त के बीच आयोजित करवा ली जाए और सितंबर तक परिणाम घोषित कर दिया जाए। दूसरा विकल्प यह दिया था कि परीक्षा दो चरणों में आयोजित की जाए।जो छात्र-छात्राएं प्रथम चरण की परीक्षा में न बैठ पाएं ,वे दूसरे चरण में परीक्षा में बैठ सकेंगे जिससे परीक्षा देने से कोई छात्र-छात्रा वंचित नहीं रहेगा।यह सुझाव देने के पीछे यही तर्क था कि तब तक कोरोनावायरस से संक्रमण की रफ्तार धीमी पड़ जाएगी।
  • दिल्ली के स्कूलों के प्रधानाचार्यों का तर्क था कि 12वीं बोर्ड की भविष्य अर्थात् कैरियर तथा कॉलेज के एडमिशन के लिए लिहाज़ से अवश्य होनी चाहिए।परीक्षा को रद्द करना कोई बेहतर विकल्प नहीं हो सकता है क्योंकि इससे छात्र-छात्राओं का उचित मूल्यांकन नहीं हो सकता है।
  • कोरोना संक्रमण की वृद्धि केवल छात्र-छात्राओं के मूवमेन्ट से ही नहीं बढ़ रहा है।बल्कि इसका असली कारण है लोगों का मूवमेंट तथा सोशल डिस्टेंसिंग का पालन न करना। इसलिए यदि कोरोनावायरस संक्रमण की वृद्धि को रोकना ही है तो लोगों के मूवमेंट पर सख्ती से रोक लगाई जाए तथा सोशल डिस्टेंसिंग का पालन कराया जावे।लोगों के मूवमेंट को रोका जा सके तथा छात्र-छात्राओं से आवश्यक कोरोना गाइडलाइंस का पालन कराया जा सके तो परीक्षा आयोजित कराई जा सकती है।
  • 12वीं बोर्ड परीक्षा छात्र छात्राओं के लिए बहुत अहम है। 12वीं बोर्ड परीक्षा परिणाम के आधार पर छात्र-छात्राएं अपने करियर तथा आगे उच्च शिक्षण संस्थानों में प्रवेश संबंधी निर्णय ले पाने में समर्थ होते हैं।इसलिए बोर्ड परीक्षा आयोजित की जानी चाहिए।
  • बोर्ड परीक्षा कराने के पक्ष में पांचवा तर्क है कि जीवन में बड़े उद्देश्यों के लिए जोखिम उठाना भी जरूरी है।जीवन में आगे बढ़ने और प्रगति करने के लिए हमारे सभी प्रयास किसी न किसी जोखिम से भरे रहते हैं।अतएव हमें कदम-कदम पर जोखिम उठाने तथा चुनौतियों से जूझने के लिए तैयार रहना चाहिए।यदि हम जोखिम नहीं उठाते तो आगे बढ़ने में असफल रहते हैं।ऐसे निर्णय से प्रगति नहीं की जा सकती है।जोखिम से बचकर रहना नकारात्मक मार्ग है जो हमें असफलताओं तक ही पहुंचाता है।जीवन में विकट परिस्थितियों का सामना करने की हिम्मत रखते हुए जोखिम उठाने तथा खतरों से खेलने के लिए तैयार रहने से इस जीवन का सही रूप से आनंद लेते हुए जीने का तरीका है।
  • जीवन में जोखिम उठाने से हम कई नई बातें सीखते हैं,नए अनुभव प्राप्त करते हैं,अपने में महत्वपूर्ण परिवर्तन लाते हैं। जीवन में जोखिम न उठाने से कुछ सीखने तथा अनुभव प्राप्त करने से वंचित रहते हैं।हमारा विकास नहीं हो पाता है।हालांकि जोखिम लेने से तात्कालिक लाभ यह है कि हमें जीवन में किसी कष्ट या दु:ख का सामना नहीं करना पड़ता है।
  • छठा तर्क है कि हमारी तरह ही पाश्चात्य देशों में कोरोना संक्रमण की स्थिति है।परन्तु फिर भी अमेरिका जैसे विकसित देशों में ‌परीक्षा ऑनलाइन या ऑफलाइन या मौखिक रूप से आयोजित की जा रही है तो हम आयोजित क्यों नहीं कर सकते हैं।
  • सातवां तर्क बेहद ठोस तथा मौजूं है कि 60 फीसदी बच्चे परीक्षाएं देकर 12वीं कक्षा पास करना चाहते हैं।क्योंकि 12वीं की मार्कशीट सभी छात्रों के लिए बहुत ही अहम डॉक्यूमेंट होती है।कॉलेज और यूनिवर्सिटी में दाखिले के लिए इसकी बहुत अहमियत रहती है।इसका महत्व इस बात पर भी निर्भर करता है कि इसे कैसे प्राप्त किया गया और योग्यता का पैमाना क्या था। कई छात्रों और अभिवावकों ने भी इस बात पर चिंता जताई है।शिक्षक भी इस बात के पक्ष में हैं कि यह छात्र-छात्राओं के करियर का अहम समय है और वो सही तरीके से अपनी बोर्ड परीक्षा की अंकसूची हासिल करना चाहते हैं।कक्षा 12 की बोर्ड परीक्षा एक छात्र के जीवन का अभिन्न अंग है और उच्च शिक्षण संस्थानों में प्रवेश के लिए बेहद महत्वपूर्ण है।इसलिए इसे कैंसल नहीं किया जाना चाहिए।उनमें से कई अच्छी गुणवत्ता वाले पेशेवर संस्थानों में प्रवेश का बेसब्री से इंतजार कर रहे है।
  • अन्तिम तर्क है कि पिछले वर्ष भी कुछ परीक्षाएं रद्द कर दी गई थी।इस बार भी रद्द कर दी गई है तो क्या आगे भी यही स्थिति बनी रहती है तो परीक्षाएं रद्द की जाती रहेंगी?यदि नहीं तो फिर अब से ही परीक्षा लेने की तैयारी क्यों न कर ली जाए?
  • आपको यह जानकारी रोचक व ज्ञानवर्धक लगे तो अपने मित्रों के साथ इस गणित के आर्टिकल को शेयर करें।यदि आप इस वेबसाइट पर पहली बार आए हैं तो वेबसाइट को फॉलो करें और ईमेल सब्सक्रिप्शन को भी फॉलो करें।जिससे नए आर्टिकल का नोटिफिकेशन आपको मिल सके ।यदि आर्टिकल पसन्द आए तो अपने मित्रों के साथ शेयर और लाईक करें जिससे वे भी लाभ उठाए ।आपकी कोई समस्या हो या कोई सुझाव देना चाहते हैं तो कमेंट करके बताएं।इस आर्टिकल को पूरा पढ़ें।

Also Read This Article-CBSE Class 10 Board Exams 2021 Result

(2.)सीबीएसई 12वीं बोर्ड कराए जाने के विपक्ष में तर्क (Arguments in opposition to CBSE 12th board):

  • कोविड-19 के मामलों की वृद्धि को देखते हुए ऑनलाइन या ऑफलाइन परीक्षा कराना संभव नहीं है।
  • 12वीं की मार्कशीट सभी छात्रों के लिए बहुत ही अहम डॉक्यूमेंट होता है।कैरियर,कॉलेज तथा विदेशों में बड़े शिक्षा संस्थानों में दाखिला लेने के लिए 12वीं की मार्कशीट अहम होती है परंतु 12वीं की मार्कशीट आंतरिक मूल्यांकन के आधार पर तैयार करने पर वह भी महत्वपूर्ण डॉक्यूमेंट हो जाएगी।कैरियर का चुनाव केवल 12वीं की मार्कशीट ही नहीं करती है बल्कि छात्र-छात्राओं के अभिभावक,छात्र-छात्राओं के मित्र,छात्र-छात्रा स्वयं तथा छात्र-छात्राओं के शिक्षक मिलकर कैरियर का चुनाव करते हैं।क्योंकि छात्र-छात्राओं को वे ही बेहतर तरीके से जानते हैं।इसलिए कैरियर काउंसलर (छात्र-छात्रा स्वयं,छात्र-छात्रा के अभिभावक,छात्र-छात्रा के मित्र,छात्र-छात्रा के शिक्षक) से करियर के बारे में अब भी परामर्श लेकर उचित निर्णय लिया जा सकता है।
  • विदेशी बड़े गुणवत्तापूर्ण शिक्षा संस्थानों में एंट्रेंस टेस्ट लगता है इसलिए 12वीं की मार्कशीट का इतना महत्त्व नहीं है।
  • कुछ राज्यों जैसे दिल्ली,महाराष्ट्र और केरल ने 12वीं बोर्ड परीक्षा आयोजित करने से पहले छात्र-छात्राओं के टीकाकरण कराने पर सुझाव दिया है।चूंकि टीकाकरण में लम्बा समय लगेगा,इसलिए बारहवीं बोर्ड परीक्षा को रद्द कर दिया जाए।उनका तर्क था कि छात्र छात्राओं को स्वास्थ्य और सुरक्षित वातावरण प्रदान करना प्रथम दायित्व है।
  • अन्तिम तर्क है कि 12वीं बोर्ड परीक्षाएं महत्त्वपूर्ण है परन्तु छात्र-छात्राओं के जीवन से बढ़कर नहीं है।
  • उपर्युक्त विवरण में सीबीएसई 12वीं बोर्ड परीक्षा 2021 रद्द (CBSE 12th Board Exam 2021 Cancelled),सीबीएसई कक्षा 12 बोर्ड परीक्षा 2021 रद्द (CBSE Class 12 Board Exam 2021 Cancelled) के बारे में बताया गया है।

2.CISCE ने ISC कक्षा 12 की बोर्ड परीक्षा 2021 रद्द की (CISCE cancels ISC Class 12 board exams 2021):

  • केन्द्रीय बोर्ड CISCE अर्थात् Council For Indian School of Certificate Examination ने ISC अर्थात् Indian School Certificate Class 12 की बोर्ड परीक्षाएं रद्द कर दी हैं।
  • सीबीएसई की 12वीं की बोर्ड परीक्षाओं को 1जून,2021 को रद्द करने की घोषणा के कुछ ही देर बाद काउंसिल फाॅर द इंडियन स्कूल सर्टिफिकेट एग्जामिनेशंस (सीआईएससीई) ने भी आईएससी परीक्षाओं को रद्द करने की घोषणा कर दी है।
  • सीआईएससीई की कक्षा 12वीं बोर्ड की परीक्षा कोविड-19 के संक्रमण की वृद्धि को देखते हुए काउंसिल के प्रमुख गैरी अराथून द्वारा रद्द करने की आधिकारिक रूप से घोषणा की गई।
  • साथ ही काउंसिल प्रमुख ने यह भी घोषणा की कि कक्षा 12 के छात्र-छात्राओं के आईएससी रिजल्ट 2021 तैयार की जाने के लिए मूल्यांकन पद्धति पर भी जल्दी ही फैसला किया जाएगा।
  • इस प्रकार सीबीएसई कक्षा 12 बोर्ड व ISC कक्षा 12 की परीक्षाएं दोनों को रद्द कर दिया गया है।
  • उपर्युक्त विवरण में CISCE ने ISC कक्षा 12 की बोर्ड परीक्षा 2021 रद्द की (CISCE cancels ISC Class 12 board exams 2021) के बारे में बताया गया है।

Also Read This Article-Basic Math Student Can Take Math in 11

3.सीबीएसई कक्षा 12 मूल्यांकन 2021 (CBSE Class 12 Evaluation 2021),सीबीएसई कक्षा 12 मूल्यांकन मानदंड (CBSE Class 12 Evaluation Criteria):

  • सीबीएसई का आकलन फार्मूला जल्द आएगा,जुलाई तक रिजल्ट आएगा; मूल्यांकन इस तरह हो सकता है।
    अब सीबीएसई अधिकारियों ने इन्फोर्म किया है कि परिणाम अच्छी तरह से वस्तुनिस्ट मानदंड के अनुसार समयबद्ध तरीके से बनाए जाएंगे।
  • 12वीं की बोर्ड परीक्षा रद्द होने के बाद छात्रों की निगाहें अब सेन्ट्रल बोर्ड ऑफ सेकेंडरी एजुकेशन (सीबीएसई) के आकलन के फार्मूले और रिजल्ट घोषित होने की तारीख पर टिकी हैं। हालांकि इस बीच सीबीएसई ने जो संकेत दिए हैं, उसके तहत 12वीं के छात्रों के आकलन का फार्मूला 10वीं के फार्मूले से ज्यादा व्यापक होगा।यह फार्मूला अगले एक-दो दिनों दिनों में घोषित हो सकता है।वहीं रिजल्ट भी जुलाई तक आने की संभावना है।
  • केंद्र सरकार की ओर से मंगलवार को सेन्ट्रल बोर्ड ऑफ सेकेंडरी एजुकेशन (सीबीएसई) की 12वीं की परीक्षाएं रद्द करने की घोषणा के साथ ही बोर्ड से मूल्यांकन के लिए समयबद्ध तरीके से बेहतर मानदंड तैयार करने को कहा है, जिसके आधार पर परिणाम जारी किया जा सके।सूत्रों के मुताबिक सीबीएसई 12वीं के मूल्यांकन के लिए 10वीं के परिणामों और 12वीं की प्री-बोर्ड,अर्धवार्षिक और यूनिट परीक्षाओं को आधार बनाया जा सकता है।12वीं की तीन प्री-बोर्ड परीक्षाओं में, जिसमें सबसे बेहतर अंक होंगे उसे ही आधार माना जाएगा।
  • इस तरह हो सकता मूल्यांकन
  • -100 अंकों के आधार पर होगा प्रत्येक विषय का मूल्यांकन
  • -80 अंकों का मूल्यांकन बोर्ड के मापदंडों के आधार पर होगा
  • -20 अंक का मूल्यांकन आंतरिक आधार पर
  • -50 फीसद अंकों के लिए 10वीं बोर्ड परीक्षा को आधार बनाया जाएगा
  • -शेष 50 फीसद अंक 12वीं की प्री बोर्ड, छमाही व यूनिट परीक्षाओं के होंगे।
  • संभावित फार्मूला
  • 80 अंक बोर्ड द्वारा तय मानदंड (50 फीसद अंक 10वीं की बोर्ड परीक्षा के आधार पर व 50 फीसद अंक 12वीं की प्री-बोर्ड व अर्धवार्षिक व यूनिट टेस्ट के आधार पर) +20 अंक आंतरिक मूल्यांकन के आधार पर = 100 अंक
  • नौवीं-11वीं के परिणाम शामिल करने पर असमंजस
  • मूल्यांकन में कक्षा नौ और 11वीं के परिणामों को शामिल करने को लेकर फिलहाल असमंजस की स्थिति है। सीबीएसई के एक वरिष्ठ अधिकारी के मुताबिक बोर्ड के पास केवल 10वीं के परिणामों का ही डाटा है।ऐसे में नौवीं और 11वीं के अंकों को 12वीं के मूल्यांकन में शामिल करने में परेशानी हो रही है।जल्द जारी हो सकता है मूल्यांकन को लेकर आधिकारिक परिपत्र अतः सीबीएसई की तरफ से मूल्यांकन को लेकर तैयार किए जा रहे मापदंडों को अगले सप्ताह तक सार्वजनिक किया जा सकता है। इसके बाद सभी स्कूल 12वीं के छात्रों का परिणाम तैयार करने में जुट जाएंगे।जिन छात्रों को सीबीएसई के फार्मूले पर तैयार किए जा रहे परिणाम से संतुष्टि नहीं होगी,उन्हें परीक्षा में बैठने का विकल्प भी दिया जाएगा।
  • सीबीएसई कक्षा 12 के मूल्यांकन के लिए मानदंड तैयार करने की प्रक्रिया में हैं।इसे पूरा होने के बाद हम इसे सार्वजनिक डोमेन में डाल देंगे।निर्णय अभी बाकी है। सीबीएसई के वरिष्ठ अधिकारी ने कहा है कि माता-पिता, शिक्षकों, प्राचार्यों और छात्रों को इसके लिए थोड़ा इंतजार करने की जरूरत है।साथ ही,सभी से अनुरोध है कि घबराएं नहीं।
  • उपर्युक्त विवरण में सीबीएसई 12वीं बोर्ड परीक्षा 2021 रद्द (CBSE 12th Board Exam 2021 Cancelled) तथा मूल्यांकन के बारे में बताया गया है।

4.सीबीएसई 12वीं बोर्ड परीक्षा 2021 रद्द (CBSE 12th Board Exam 2021 Cancelled),सीबीएसई कक्षा 12 बोर्ड परीक्षा 2021 रद्द (CBSE Class 12 Board Exam 2021 Cancelled) के बारे में अक्सर पूछे जाने वाले प्रश्न:

प्रश्न:1.सीबीएसई कक्षा 12 बोर्ड परीक्षा 2021 नवीनतम समाचार हिंदी में (cbse class 12 board exam 2021 latest news),सीबीएसई नवीनतम समाचार हिन्दी में (cbse latest news in hindi):

उत्तर-सीबीएसई कक्षा 12 परिणाम की तारीख: यहां देखें कि कब उम्मीद की जाए
चूंकि सीबीएसई कक्षा 12 की परीक्षा रद्द कर दी गई है, इसलिए छात्र परिणाम की तारीख का इंतजार कर रहे हैं। सुप्रीम कोर्ट में छात्रों का प्रतिनिधित्व कर रही अधिवक्ता ने कहा कि वह अदालत से कहेंगी कि वे बोर्ड को 15 जुलाई तक परिणाम घोषित करने का निर्देश दें ताकि उनकी भविष्य की शैक्षणिक योजना प्रभावित न हो।SC कल याचिका पर सुनवाई करेगा.साल 2020 में भी सीबीएसई ने 15 जुलाई को नतीजे घोषित किए थे।
यदि बारहवीं कक्षा के परिणाम (बोर्डों में) के प्रकाशन की समय सीमा 15 जुलाई निर्धारित कर दी जाए तो छात्रों का प्रवेश दांव पर न लगेगा।सीबीएसई की तरह ही यह तर्क दिया जा रहा है कि इस महामारी की स्थिति में सीबीएसई और राज्य बोर्ड के छात्रों के बीच भेदभाव नहीं किया जा सकता है इसलिए राज्य बोर्डों की परीक्षाएं रद्द कर दी जाए।

प्रश्न:2.12वीं बोर्ड परीक्षा 2021 एचएससी (12th board exam 2021 HSC):

उत्तर-महाराष्ट्र एचएससी परीक्षा 2021 पर निर्णय जल्द होने की उम्मीद है।कक्षा 12 की बोर्ड परीक्षाओं को रद्द करने के सीबीएसई के फैसले के बाद अन्य राज्य बोर्ड परीक्षाओं के रद्द होने की संभावनाएं बढ़ गई है।
12वीं की परीक्षा प्रत्येक राज्य में उनके बोर्ड द्वारा अलग-अलग राज्यों के अनुसार आयोजित की जाती है।

प्रश्न:3.क्या ISC बोर्ड परीक्षा 2021 को रद्द कर दिया जाएगा? (Will ISC boards Exam be Cancelled 2021?):

उत्तर-काउंसिल ऑफ इंडियन स्कूल ऑफ सर्टिफिकेट एग्जामिनेशन, सीआईएससीई ने अपनी आईएससी 12वीं बोर्ड परीक्षा 2021 को रद्द कर दिया है।
विशेष रूप से, सीबीएसई, सीआईएससीई और विभिन्न राज्य बोर्डों ने कक्षा 10 की बोर्ड परीक्षा 2021 को रद्द कर दिया है और कक्षा 12 की बोर्ड परीक्षा 2021 को सीबीएसई तथा सीआईएससीई कर 12वीं बोर्ड परीक्षा को भी 1जून,2021 को रद्द कर दिया है।
सीआईएससीई ने चल रही महामारी के कारण आईएससी 12वीं की परीक्षा 2021 को रद्द कर दिया है,इसकी पुष्टि सीआईएससीई के सचिव गेरी अराथून ने की है।

प्रश्न:4.क्या 12वीं की परीक्षा 2021 रद्द कर दी गई है? (Is 12th class exam Cancelled 2021?):

उत्तर-सुप्रीम कोर्ट को सोमवार को बताया गया कि सरकार अगले दो दिनों में अंतिम फैसला लेगी।
तब केंद्रीय माध्यमिक शिक्षा बोर्ड,सीबीएसई 12वीं बोर्ड की परीक्षा 2021 रद्द कर दी गई है।उच्च स्तरीय बैठक में यह फैसला लिया गया है।

प्रश्न:5.बोर्ड परीक्षा 2021 किसने रद्द की? (Who Cancelled the board exam 2021?):

उत्तर-नवीनतम सीबीएसई समाचार और आधिकारिक अपडेट के अनुसार, सीबीएसई कक्षा 12 बोर्ड परीक्षा 2021 रद्द (CBSE 12th Board Exam 2021 Cancelled )कर दी गई है।कक्षा 12 सीबीएसई बोर्ड परीक्षा रद्द करने का निर्णय पीएम नरेंद्र मोदी की बैठक की अध्यक्षता के बाद लिया गया था।

उपर्युक्त प्रश्नों के उत्तर द्वारा सीबीएसई 12वीं बोर्ड परीक्षा 2021 रद्द (CBSE 12th Board Exam 2021 Cancelled),सीबीएसई कक्षा 12 बोर्ड परीक्षा 2021 रद्द (CBSE Class 12 Board Exam 2021 Cancelled) के बारे में जानकारी प्राप्त कर सकते हैं।

No.Social MediaUrl
1.Facebookclick here
2.you tubeclick here
3.Instagramclick here
4.Linkedinclick here
5.Facebook Pageclick here

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *