Menu

Basic Math Student Can Take Math in 11

Contents hide
2 2.बेसिक मैथ स्टूडेंट्स 11वीं में मैथ ले सकते है (Basic Math Student Can Take Math in 11),सीबीएसई कक्षा 10 के बेसिक मैथमेटिक्स के छात्रों को कक्षा 11 में मैथमेटिक्स लेने की अनुमति देता है (CBSE allows Class 10 Basic Mathematics students to take Mathematics in Class 11) के बारे में अक्सर पूछे जाने वाले प्रश्न-

1.बेसिक मैथ स्टूडेंट्स 11वीं में मैथ ले सकते है (Basic Math Student Can Take Math in 11),सीबीएसई कक्षा 10 के बेसिक मैथमेटिक्स के छात्रों को कक्षा 11 में मैथमेटिक्स लेने की अनुमति देता है (CBSE allows Class 10 Basic Mathematics students to take Mathematics in Class 11)-

  • बेसिक मैथ स्टूडेंट्स 11वीं में मैथ ले सकते है (Basic Math Student Can Take Math in 11),केंद्रीय माध्यमिक शिक्षा बोर्ड (CBSE) ने ऐसी घोषणा की है।जिन छात्र-छात्राओं ने इस वर्ष दसवीं कक्षा में बेसिक गणित का विकल्प चुना है उन्हें स्टैंडर्ड मैथ्स को लिखे बिना कक्षा ग्यारहवीं में गणित विषय चुनने की अनुमति होगी।
  • वस्तुतः देश में कोरोनावायरस के संक्रमण को बढ़ते हुए देखने पर यह निर्णय लिया गया है कि इस वर्ष दसवीं कक्षा में बेसिक मैथमेटिक्स का ऑप्शन चुनने वाले छात्र-छात्राएं अब कक्षा 11वीं में मैथमेटिक्स चुन सकेंगे।केंद्रीय माध्यमिक शिक्षा बोर्ड (CBSE) ने इसकी अनुमति दे दी है,भले ही उन्होंने स्टैण्डर्ड मैथमेटिक्स की परीक्षा न दी हो।
  • सीबीएसई बोर्ड 10वीं के छात्र-छात्राओं को बेसिक मैथमेटिक्स और स्टैंडर्ड मैथमेटिक्स के दो ऑप्शन देता है।जो छात्र-छात्राएं दसवीं में बेसिक मैथमेटिक्स लेते हैं वे 11वीं में ऐच्छिक विषय के रूप में मैथमेटिक्स का विषय नहीं ले सकते हैं।लेकिन इस वर्ष कोरोनावायरस से फैली महामारी कोविड-19 के कारण सरकार ने छात्र-छात्राओं को इसमें छूट दे दी है।
  • आपको ज्ञात हो कि वर्ष 2019 में सीबीएसई ने प्रथम बार दसवीं टू लेवल मैथमेटिक्स बेसिक और स्टैंडर्ड की शुरुआत की थी।बेसिक मैथमेटिक्स उन छात्र-छात्राओं के लिए है जो मैथमेटिक्स को आगे नहीं लेना चाहते हैं और स्टैंडर्ड मैथमेटिक्स उन छात्र-छात्राओं के लिए है जो कक्षा 11वीं और 12वीं में मैथमेटिक्स ऐच्छिक विषय लेकर पढ़ाई करना चाहते हैं।
  • ये नया कांसेप्ट उन छात्र-छात्राओं पर बोझ को कम करने के लिए प्रारंभ किया गया था जो हायर क्लासेज में मैथमेटिक्स से पढ़ाई नहीं करना चाहते हैं।
  • नियम के अनुसार छात्र-छात्राएं आगे कक्षा 11वीं और 12वीं में मैथमेटिक्स का विषय रखना चाहते हैं, उन्हें 10वीं मैथमेटिक्स स्टैंडर्ड पेपर को पास करना होगा।
  • यदि किसी छात्र-छात्रा ने बाद में अपना विचार बदल लिया और निर्णय लिया कि वे कक्षा 11 में मैथमेटिक्स पढ़ना चाहते हैं तो उन्हें कक्षा दसवीं के स्टैंडर्ड मैथमेटिक्स पेपर के कंपार्टमेंट परीक्षा में उपस्थित होना था।
  • गत वर्ष भी 6 अगस्त 2020 को जारी नोटिफिकेशन में सीबीएसई ने कहा “कोविड-19 के प्रसार और इस प्रकार कंपार्टमेंट परीक्षा 2020 के संचालन में देरी के कारण यह निर्णय लिया गया है कि वे छात्र-छात्राएं कक्षा दसवीं में बेसिक मैथमेटिक्स के लिए उपस्थित हुए हैं वे कक्षा 11वीं में मैथमेटिक्स का ऑप्शन चुन सकते हैं।
  • इसी प्रकार इस वर्ष भी कोरोनावायरस के संक्रमण को बढ़ते  हुए देखकर तथा छात्रों की सुरक्षा को ध्यान में रखकर सीबीएसई बोर्ड की परीक्षा को रद्द कर दिया गया है।अब सीबीएसई बोर्ड के छात्र-छात्राओं का आंतरिक मूल्यांकन के आधार पर ही स्कूल रिजल्ट तैयार करेंगे।
  • अब दसवीं में बेसिक मैथमेटिक्स वाले छात्रा-छात्राएं 11वीं में मैथमेटिक्स ऐच्छिक विषय के रूप में चुन सकते हैं।ये छूट केवल वर्तमान शैक्षणिक सत्र अर्थात् 2021-22 के लिए है।
  • इसलिए जो छात्र छात्राएं इस संशय में थे कि बेसिक मैथमेटिक्स का ऑप्शन चुनने के कारण 11वीं में मैथमेटिक्स का चुनाव कर सकेंगे या नहीं।ऐसे छात्र-छात्राओं का सीबीएसई के इस नोटिफिकेशन से संशय खत्म हो जाएगा।
  • अब छात्र-छात्राओं को तय करना है कि उनमें मैथमेटिक्स पढ़ने की काबिलियत है तथा उनकी मैथमेटिक्स को पढ़ने में रूचि है अथवा नहीं।इसके लिए वे स्वयं घर पिछले वर्ष के बोर्ड पेपर को हल करके अपना आन्तरिक मूल्यांकन कर सकते हैं।इसके आधार पर निर्णय ले सकते हैं कि वे गणित विषय का चुनाव करें या नहीं।
  • उपर्युक्त विवरण में बेसिक मैथ स्टूडेंट्स 11वीं में मैथ ले सकते है (Basic Math Student Can Take Math in 11),सीबीएसई कक्षा 10 के बेसिक मैथमेटिक्स के छात्रों को कक्षा 11 में मैथमेटिक्स लेने की अनुमति देता है (CBSE allows Class 10 Basic Mathematics students to take Mathematics in Class 11),के बारे में बताया गया है।
  • आपको यह जानकारी रोचक व ज्ञानवर्धक लगे तो अपने मित्रों के साथ इस गणित के आर्टिकल को शेयर करें।यदि आप इस वेबसाइट पर पहली बार आए हैं तो वेबसाइट को फॉलो करें और ईमेल सब्सक्रिप्शन को भी फॉलो करें।जिससे नए आर्टिकल का नोटिफिकेशन आपको मिल सके ।यदि आर्टिकल पसन्द आए तो अपने मित्रों के साथ शेयर और लाईक करें जिससे वे भी लाभ उठाए ।आपकी कोई समस्या हो या कोई सुझाव देना चाहते हैं तो कमेंट करके बताएं।इस आर्टिकल को पूरा पढ़ें।

Also Read This Article-Students can choose basic math in 9th

2.बेसिक मैथ स्टूडेंट्स 11वीं में मैथ ले सकते है (Basic Math Student Can Take Math in 11),सीबीएसई कक्षा 10 के बेसिक मैथमेटिक्स के छात्रों को कक्षा 11 में मैथमेटिक्स लेने की अनुमति देता है (CBSE allows Class 10 Basic Mathematics students to take Mathematics in Class 11) के बारे में अक्सर पूछे जाने वाले प्रश्न-

प्रश्न:1.क्या हम गणित को बेसिक गणित के साथ ले सकते हैं? (Can we Take Maths with Basic Maths?)

उत्तर-बेसिक मैथ वाले छात्रों को कंपार्टमेंटल एक्जाम के लिए उपस्थित होने की आवश्यकता नहीं है।सीधे शब्दों में कहें, सभी छात्र सीबीएसई कक्षा 10 के बुनियादी गणित (Basic Mathematics) की परीक्षा में पास हुए हैं,अब कंपार्टमेंट परीक्षा के दौरान मानक गणित (Standard Mathematics) के पेपर के लिए फिर से प्रकट होने की आवश्यकता के बिना, कक्षा 11 में गणित लेने के लिए पात्र हैं।परन्तु यह प्रावधान वर्तमान शैक्षणिक सत्र 2021-22 के लिए ही है।

प्रश्न:2.यदि हम 10 वीं कक्षा में बेसिक गणित लेते हैं तो क्या होता है? (What Happens if We Take Basic Maths in Class 10?)

उत्तर-बुनियादी गणित के तहत छात्र समान पाठ्यक्रम का अध्ययन करेंगे लेकिन प्रश्नपत्र आसान होगा।बुनियादी गणित का विकल्प लेने वाले छात्र 11 और 12 वीं कक्षा में भौतिक विज्ञान, रसायन विज्ञान, जीव विज्ञान,कंप्यूटर विज्ञान को अपना सकते हैं और वे बाद में चिकित्सा शिक्षा ले सकते हैं और एनईईटी के लिए उपस्थित हो सकते हैं।

प्रश्न:3.क्या मैं बेसिक गणित के बाद कक्षा 11 में गणित ले सकता हूं? (Can I Take Maths in Class 11 after Basic Maths?)

उत्तर-सीबीएसई ने घोषणा की कि जिन छात्रों ने इस साल 10 वीं कक्षा में बेसिक गणित का विकल्प चुना है,उन्हें बाद में पेपर के मानक संस्करण (Standard Mathematics) को लिखे बिना कक्षा 11 में गणित विषय चुनने की अनुमति होगी।यह प्रावधान वर्तमान शैक्षणिक सत्र 2021-22 के लिए ही है।यह प्रावधान कोरोनावायरस के बढ़ते संक्रमण के कारण किया गया है।

प्रश्न:4.क्या बेसिक गणित के छात्र गणित के साथ कॉमर्स ले सकते हैं? (Can Basic Maths Student Take Commerce with Maths?),क्या हम 10 वीं कक्षा में बेसिक गणित के साथ कॉमर्स ले सकते हैं? (Can we Take Commerce with Basic Maths in Class 10?),क्या मैं गणित के साथ बेसिक गणित के साथ कॉमर्स ले सकता हूं? (Can I Take Commerce with Maths with Basic Maths?)

उत्तर-जिन छात्रों ने 10 वीं कक्षा में बुनियादी गणित (Basic Mathematics) लिया था, उन्हें वरिष्ठ माध्यमिक स्तर पर अनुप्रयुक्त गणित (Applied Mathematics) का विकल्प चुनने की अनुमति होगी।
यह देखा गया है कि गणित का मौजूदा पाठ्यक्रम विज्ञान विषयों के साथ अच्छी तरह से संरेखित करता है, लेकिन विश्वविद्यालय शिक्षा में वाणिज्य या सामाजिक विज्ञान-आधारित विषयों के साथ ऐसा नहीं है।
नियम के अनुसार बेसिक मैथमेटिक्स वाले छात्रा-छात्राएं मैथमेटिक्स के अलावा कोई भी सब्जेक्ट ले सकते हैं। लेकिन इस वर्ष कोरोनावायरस के संक्रमण के कारण 11वीं में मैथमेटिक्स भी ले सकते हैं।अतः इस वर्ष अर्थात् 2021-22 सत्र में बेसिक मैथमेटिक्स वाले छात्र मैथमेटिक्स के साथ कामर्स विषय ले सकते हैं।

प्रश्न:5. क्या मैं कक्षा 10 में स्टेण्डर्ड गणित को बेसिक में बदल सकता हूँ? (Can I Change Standard Maths to Basic in Class 10?)

उत्तर-यदि कोई छात्र सीबीएसई कक्षा 10 बोर्ड परीक्षा में मानक गणित (Basic Mathematics) में असफल रहा है, तो उसके पास कंपार्टमेंट परीक्षा में या तो बेसिक गणित या मानक गणित (Standard Mathematics) में प्रदर्शित होने का विकल्प है।बेसिक मैथमेटिक्स में प्रदर्शित होने के लिए, उसका मानक गणित पूर्व में बदल जाएगा।

प्रश्न:6.यदि हम स्टेण्डर्ड गणित लेते हैं तो कैरियर विकल्प क्या हैं‌ (If we Take Standard Maths What are the Career Options)

उत्तर-इंजीनियरिंग (Engineering),शुद्ध और भौतिक विज्ञान (Pure and Physical Sciences),मर्चेन्ट नेवी (Merchant Navy),वास्तुविद्(Architecture), अर्थशास्त्र (Economics),प्रबन्धन (Management) (At the undergraduate level)
इनके अलावा, दो और कैरियर विकल्प हैं जिन्हें मैथ्स की आवश्यकता होती है;ये एविएशन (पायलट, एयर ट्रैफिक कंट्रोलर आदि) और कंप्यूटर एप्लीकेशन (BCA) [Pilot, Air Traffic Controller and Computer Applications] हैं।

प्रश्न:7.10 वीं कक्षा में बेसिक गणित लेने के नुकसान (Disadvantages of Taking Basic Maths in Class 10)

उत्तर-नुकसान यह है कि आप अब बुनियादी पेपर (Basic Mathematics) लेने के बाद मैथ्स नहीं ले सकते हैं और इसका फायदा उन लोगों के लिए है जिनके मैथ्स वास्तव में इतने कमजोर हैं कि उन्हें मानक गणित (Standard Mathematics) की तुलना में आसान प्रश्न मिलेंगे।

प्रश्न:8.अगर हम बेसिक गणित लेते हैं तो क्या हम विज्ञान ले सकते हैं (If we Take Basic Maths Can we Take Science)

उत्तर-बुनियादी गणित (Basic Mathematics) का विकल्प लेने वाले छात्र 11 और 12 वीं कक्षा में भौतिक विज्ञान, रसायन विज्ञान, जीवविज्ञान,कंप्यूटर विज्ञान को अपना सकते हैं और वे बाद में मेडिकल शिक्षा ले सकते हैं और NEET‌ एग्जाम में एपीयर हो सकते हैं।

प्रश्न:9.कक्षा 10 में बेसिक और स्टेण्डर्ड गणित के बीच अंतर (Difference Between Basic and Standard Maths in Class 10)

उत्तर-मानक परीक्षा (Standard Mathematics) उन छात्रों के लिए है जो उच्च कक्षाओं में गणित का अध्ययन करना चाहते हैं,जबकि बेसिक गणित (Basic Mathematics) उन छात्रों द्वारा लिया जाता है जो उच्च कक्षाओं में उन्नत गणित (Advanced Mathematics) को आगे बढ़ाने की इच्छा नहीं रखते हैं।परिणामस्वरूप, मानक परीक्षा (Standard Mathematics) की कठिनाई का स्तर बेसिक परीक्षा (Basic Mathematics) की तुलना में अधिक है।

  • उपर्युक्त प्रश्नों के उत्तर द्वारा बेसिक मैथ स्टूडेंट्स 11वीं में मैथ ले सकते है (Basic Math Student Can Take Math in 11) के बारे में जान सकते हैं।

Also Read This Article-Rules changed for taking maths in 11th

  • उपर्युक्त प्रश्नों के उत्तर द्वारा बेसिक मैथ स्टूडेंट्स 11वीं में मैथ ले सकते है (Basic Math Student Can Take Math in 11),सीबीएसई कक्षा 10 के बेसिक मैथमेटिक्स के छात्रों को कक्षा 11 में मैथमेटिक्स लेने की अनुमति देता है (CBSE allows Class 10 Basic Mathematics students to take Mathematics in Class 11) के बारे में जानकारी प्राप्त कर सकते हैं।
No.Social MediaUrl
1.Facebookclick here
2.you tubeclick here
3.Instagramclick here
4.Linkedinclick here
5.Facebook Pageclick here

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *