Menu

Nigerian Mathematics Queen Competition

1.नाइजीरियाई गणित रानी प्रतियोगिता का परिचय (Introduction to Nigerian Mathematics Queen Competition)-

  • नाइजीरियाई गणित रानी प्रतियोगिता (Nigerian Mathematics Queen Competition) का उद्देश्य नाइजीरिया में गणित शिक्षा में बालिकाओं का भागीदारी बढ़ानी है।यह प्रतियोगिता नाइजीरियाई गणित रानी प्रतियोगिता (Nigerian Mathematics Queen Competition) के नाम से आयोजित होती है।
  • प्राचीनकाल में पुरुष और महिला को समान रूप से शिक्षा दी जाती थी। कई विदुषी महिलाओं जैसे गार्गी, मैत्रेयी, घोषा, लोपा मुद्रा, विश्ववारा, अपाला आदि ने गौरव बढ़ाया। परन्तु कालांतर में धीरे-धीरे समाज पुरुष प्रधान होता गया और महिला को दोयम दर्जा दे दिया जिससे महिलाओं की प्रतिभा दम तोड़ने लगी। पुरुषों ने हर कहीं अपना वर्चस्व स्थापित कर लिया, उसका प्रभाव गणित पर भी पड़ा। गणित में महिलाओं का योगदान नगण्य हो गया। महिलाओं को घर-गृहस्थी, पत्नी, माँ का दायित्व व बच्चों के पालन-पोषण का कार्य सौंप दिया गया।
  • इस प्रकार पारम्परिक सोच यह हो गई कि महिलाएं पुरुषों की तरह सक्षम नहीं है परन्तु उनको अवसर ही नहीं दिया गया तो उनकी अपनी प्रतिभा सुप्त ही रह गई। हर मनुष्य में अन्तर्निहित क्षमताएं होती है। अन्तर्निहित क्षमताओं को विकसित, पल्लवित करने तथा अपना कैरियर बनाने के लिए कुछ महिलाओं ने संघर्ष किया। आज हर क्षेत्र में महिलाओं का योगदान बढ़ता जा रहा है जो किसी भी दृष्टिकोण से पुरुषों से कम नहीं है। महिलाओं को पुरुषों का प्रतिस्पर्धी माना गया। परन्तु महिलाएं तथा पुरुष आपस में प्रतिस्पर्धी न होकर एक दूसरे के पूरक हैं। महिलाओं का पिछड़ने का दूसरा कारण है गणित का फोबिया। गणित के लिए यह प्रचारित किया गया कि गणित बहुत कठिन विषय है उसको हल करना हर किसी के वश में नहीं है। महिलाओं को मदद और समर्थन करने के बजाय गणित का डर उनके दिमाग में भर दिया गया। परिणामस्वरूप महिलाएं गणित विषय को लेने से कतराने लगी। इस प्रकार गणित के क्षेत्र में महिलाओं का अभाव सा हो गया।
  • गणित में महिलाओं की भागीदारी कम होने का तीसरा है कि गणित के क्षेत्र में माता-पिता ,अभिभावक तथा लोग महिलाओं को आने से रोकते थे।गणित के क्षेत्र में महिलाओं के साथ भेदभाव किया जाता था परंतु विश्व इतिहास की पांच महिलाओं क्रमशः हाइपेटिया,सोफी जर्मेन ,एडा लवलेस, सोफिया कोवालेवस्काया और एमी नोथेर ने गणित के क्षेत्र में कार्य करके महिलाओं के लिए न केवल प्रवेश का द्वार खोला बल्कि एक क्रांति ला दी। महिलाओं का गणित के क्षेत्र में प्रवेश करने तथा महिलाओं का गणित में किए गए कार्य का अधिकार दिलवाने में इन महिलाओं ने बहुत संघर्ष किया तथा समस्याओं का सामना किया।
  • उक्त उदाहरणों तथा नाइजीरियाई गणित रानी प्रतियोगिता ( Nigerian Mathematics Queen Competition) से बहुत कुछ सीखा जा सकता है।महिलाओं को अबला, कमजोर और बुद्धि में पुरुष से कमतर आंका जाता है।परंतु इन महिलाओं ने गणित विषय में अपना मुकाम किसी के सहारे से नहीं बल्कि अपने बलबूते और अपनी प्रतिभा के द्वारा हासिल किया।गणित में अन्य महिलाओं के लिए ये महिलाएं प्रेरणा के रूप में स्मरण की जाती है।आगे आने वाली महिलाओं को गणित में आने के लिए कठिन संघर्ष व प्रतिभा के द्वारा रास्ता बनाने की दिशा प्रदान की ।आज महिलाओं का गणित में प्रवेश है तो इन महिलाओं की त्याग और तपस्या का फल है। आगे आने वाली महिलाओं के लिए ये प्रेरक का कार्य करती है।
  • आधुनिक युग में प्रजातन्त्रत्मक शासन प्रणाली का उद्भव हुआ और महिलाओं को शिक्षा का समान अवसर प्रदान किया गया तो उन्होंने अपने ज्ञान और बुद्धि का प्रयोग करके अपना स्थान हर क्षेत्र में बढ़ाया और अपने विवेक, बुद्धि और अनुभव का लोहा मनवाया। आज गणित ही नहीं बल्कि हर क्षेत्र में जैसे विज्ञान, भौतिकशास्त्र, रसायनशास्त्र, खेलकूद, राजनीति, व्यवसाय इत्यादि में बढ़चढ़कर अपना अद्वितीय योगदान दिया है। विभिन्न क्षेत्रों में उनके विशिष्ट योगदान के लिए उन्होंने सम्मान अर्जित किया है और पदक प्राप्त किये हैं।नाइजीरियाई गणित रानी प्रतियोगिता ( Nigerian Mathematics Queen Competition) भी इसका एक उदाहरण है।
  • शुरु में माता-पिता व अभिभावक लड़कियों की शिक्षा को शादी से जोड़कर देखते थे अर्थात् शिक्षा को शादी का सर्टिफिकेट मानते थे परन्तु लड़कियों ने इस धारणा को गलत साबित कर दिया है।
  • वस्तुतः लड़कियों को गणित फोबिया रखने की जरूरत नहीं है। हर विषय चाहे कोई भी हो अपना विशिष्ट योगदान देने के लिए आपको कठिन परिश्रम, आत्मविश्वास, विवेक, धैर्य, सूझबूझ और संयम इत्यादि गुणों की आवश्यकता होगी। गणित को भी धैर्यपूर्वक तथा बार-बार अभ्यास करने से यह सरल होता जाएगा। कोई भी विषय अथवा कार्य कठिन तभी होता है जब तक हम उसका अभ्यास नहीं करते हैं। ज्यों-ज्यों हमारी रूचि, जिज्ञासा बढ़ती जाती है और हम सतत अभ्यास करते जाते हैं तो वह विषय हमारे लिए सरल होता जाता है। अब जो विषय जितना कठिन होता है उसके लिए लम्बे समय तक धैर्य और विवेक को बनाए रखने की आवश्यकता है।

Also Read This Article:-Chamok Hasan makes mathematics fun

  • नाइजीरियाई गणित रानी प्रतियोगिता ( Nigerian Mathematics Queen Competition) से अन्य देशों को भी सीख लेने की आवश्यकता है जहां अभी महिलाओं को पुरुषों के बराबर अधिकार प्रदान नहीं किए गए हैं तथा जहां नाइजीरियाई गणित रानी प्रतियोगिता (Nigerian Mathematics Queen Competition) की तरह कोई प्रतियोगिता आयोजित नहीं की जाती है।
  • आपको यह जानकारी रोचक व ज्ञानवर्धक लगे तो अपने मित्रों के साथ इस गणित के आर्टिकल को शेयर करें ।यदि आप इस वेबसाइट पर पहली बार आए हैं तो वेबसाइट को फॉलो करें और ईमेल सब्सक्रिप्शन को भी फॉलो करें जिससे नए आर्टिकल का नोटिफिकेशन आपको मिल सके ।यदि आर्टिकल पसन्द आए तो अपने मित्रों के साथ शेयर और लाईक करें जिससे वे भी लाभ उठाए ।आपकी कोई समस्या हो या कोई सुझाव देना चाहते हैं तो कमेंट करके बताएं। इस आर्टिकल को पूरा पढ़ें।

2.नाइजीरियाई गणित रानी प्रतियोगिता (Nigerian Mathematics Queen Competition)-

  • 13 साल पुरानी लड़कियों के लिए राष्ट्रीय गणित प्रतियोगिता जीतती है। बुची ओबिची (Buchi Obichie) एक 13 वर्षीय, Tochukwu Ndukwe, नाइजीरियाई गणित रानी प्रतियोगिता (Nigerian Mathematics Queen Competition) 2018 की समग्र विजेता के रूप में उभरी है – जूनियर माध्यमिक की 115 महिला छात्र देश भर के स्कूलों ने प्रतियोगिता में भाग लिया – प्रतियोगिता का एक उद्देश्य संघीय सरकारी गर्ल्स कॉलेज (FGGC) लीजा, न्सुक्का, से 13 वर्षीया युवा नाइजीरियाई लड़कियों A Tochukwu Ndukwe, 13 के बीच गणित विज्ञान की शिक्षा में उत्साह को प्रोत्साहित करना था। एनुगु राज्य बुधवार को 10 अप्रैल को 2018 के लिए नाइजीरियाई गणित क्वीन प्रतियोगिता (Nigerian Mathematics Queen Competition) के समग्र विजेता के रूप में उभरा। फेस्टैक कॉलेज, लागोस के साइबू मदीना ने दूसरा स्थान हासिल किया, जबकि ओलयिवोला एडेडागुन, एफजीजीसी, केतु, ओसुन प्रतियोगिता में तीसरे स्थान पर रहे, एनएएन रिपोर्ट।
  • सतत विकास लक्ष्यों (SDG) द्वारा आयोजित लड़कियों की गणित ओलंपियाड प्रतियोगिता में देश भर के जूनियर माध्यमिक विद्यालयों की 115 महिला छात्रों ने भाग लिया। समारोह में, एनएमसी के निदेशक प्रो स्टीफन ओनाह ने कहा कि प्रतियोगिता का उद्देश्य देश में गणित के शिक्षण और शिक्षण में पुरुषों और महिलाओं के बीच अंतर को प्रोत्साहित करना और संबोधित करना था। ओनाह ने कहा कि नाइजीरिया गणित क्वीन की ताजपोशी के लिए एसडीजी गणित प्रतियोगिता और पुरस्कार समारोह के ‘लीविंग नो वन बिहाइंड’ के नारे के साथ पहला संस्करण एसडीजी 4 को प्राप्त करने के लिए तैयार किया गया था। ” नाइजीरियाई छात्रा को विशेष रूप से वंचित स्थिति में रखा गया है। शिक्षा का क्षेत्र जिसने चीजों की सामान्य योजना में उसे फिर से शामिल किया है। A a भेदभाव और पुरुषवाद के शिकार होने के कारण, बालिका शायद ही अपने पुरुष समकक्ष के साथ शैक्षिक प्रतिस्पर्धा कर सके। Attitude attitude इस रवैये ने स्कूल में नामांकन के क्षेत्र में बालिका शिक्षा, कक्षा में प्रदर्शन और शैक्षिक रूप से प्रगति के लिए उसकी खोज को बुरी तरह प्रभावित किया है।

Also Read This Article:-12-year Nigerian has won TruLittle Hero Award in maths

  • ‘‘ गणित में बालिकाओं की कम दिलचस्पी एनएमसी के लिए एक गंभीर चिंता का विषय है और यह इस बात पर है कि हम गणित में छात्राओं के हित को प्रोत्साहित और बढ़ावा देते हैं, ” उन्होंने कहा। उन्होंने कहा कि प्रतियोगिता का एक उद्देश्य युवा नाइजीरियाई लड़कियों के बीच गणित विज्ञान की शिक्षा में उत्साह को प्रोत्साहित करना था।चार नाइजीरियाई छात्रों ने ट्यूनीशिया में होने वाले इंटरनेशनल फेस्टिवल ऑफ इंजीनियरिंग, साइंस एंड टेक्नोलॉजी में कांस्य जीता। उगविश ओगोना, चूका-उमेरा एंथोनी, केवाचुव्यू डैनियल और माची डोमिनिक के रूप में पहचाने जाने वाले युवा विद्वान सेंट जॉन्स साइंस एंड टेक्निकल कॉलेज, अनंबरा राज्य के छात्र हैं।
  • उपर्युक्त विवरण में नाइजीरियाई गणित रानी प्रतियोगिता (Nigerian Mathematics Queen Competition) के बारे में बताया गया है।

No. Social Media Url
1. Facebook click here
2. you tube click here
3. Twitter click here
4. Instagram click here
5. Linkedin click here
6. Facebook Page click here

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *