Menu

Msc Std Rashmi Samant Oxford President

1.एमएससी स्टूडेंट रश्मि सामंत ऑक्सफोर्ड यूनिवर्सिटी स्टूडेंट यूनियन की अध्यक्ष (Msc Std Rashmi Samant Oxford President),Msc स्टूडेंट रश्मि सामंत ऑक्सफ़ोर्ड यूनिवर्सिटी स्टूडेंट यूनियन की पहली भारतीय महिला अध्यक्ष (Msc Student Rashmi Samant First Indian female president of Oxford University Student Union)-

  • एमएससी स्टूडेंट रश्मि सामंत ऑक्सफोर्ड यूनिवर्सिटी स्टूडेंट यूनियन की अध्यक्ष (Msc Std Rashmi Samant Oxford President) जिसे की प्रथम भारतीय महिला अध्यक्ष चुने जाने का गौरव हासिल हुआ है।
  • पहली भारतीय महिला ऑक्सफोर्ड यूनिवर्सिटी स्टूडेंट्स यूनियन अध्यक्ष एमएससीी स्टूडेंट्स सामंत के बारे में जाने।
  • रश्मि सावंत के पिता दिनेश सामंत उडुपी के नजदीक परकाला (कर्नाटक) में अपना कारोबार करते हैं जबकि मां वत्सला सावंत गृहिणी है।
  • कर्नाटक की रहने वाली छात्रा रश्मि सावंत ने कभी सोचा भी नहीं होगा कि जनवरी 2020 में जिस दुनिया के प्रतिष्ठित शिक्षण संस्थान ऑक्सफोर्ड यूनिवर्सिटी में प्रवेश के लिए आवेदन कर रही थी इस वर्ष फरवरी,2021 के छात्र संघ का चुनाव जीतकर सुर्खियों में छा जाएगी।
  • महिपाल इंस्टिट्यूट ऑफ टेक्नोलॉजी से इंजीनियरिंग में चार वर्ष का स्नातक पाठ्यक्रम पूरा करने वाली रश्मि सामंत को ऑक्सफोर्ड यूनिवर्सिटी में प्रवेश मिला तो जैसे उसके सपनों को पंख मिल गए।
  • ऑक्सफोर्ड यूनिवर्सिटी छात्रसंघ चुनाव में हजारों छात्रों ने उसे वोट देकर अध्यक्ष पद के चुनाव में विजयी बना दिया और उसकी आंखों को कुछ ओर सपने देखने की वजह दे दी।
  • यह प्रथम अवसर है जब भारत की किसी महिला ने ऑक्सफोर्ड यूनिवर्सिटी के छात्र संघ के अध्यक्ष पद पर कब्जा किया है।
  • रश्मि सावंत के अनुसार विदेश में पढ़ाई करने तथा अच्छी यूनिवर्सिटी में प्रवेश लेने के बाद छात्र-छात्राओं को अपने लक्ष्य पर केंद्रित रहना चाहिए। अर्थात् अपने लक्ष्य से ध्यान भटकने नहीं देना चाहिए।
  • रश्मि सावंत के अनुसार अपने लक्ष्य पर फोकस करने का अर्थ यह नहीं है कि उसके लिए सब कुछ त्याग देना चाहिए और रात दिन अर्थात् 24 घंटे पढ़ाई करते रहना चाहिए।
  • रश्मि सावंत के अनुसार अपनी रुचि की तमाम गतिविधियों में हिस्सा लेना और जीवन के हर क्षेत्र में कुछ बेहतर करने की चाहत रखना आपको अपनी मंजिल के करीब ले जाता है।
  • अन्य विषयों के स्टूडेंट्स इंजीनियरिंग और साइंस के स्टूडेंट्स को पढ़ाकू समझते हैं तथा अन्य गतिविधियों में उनके भाग लेने को नकारते हैं।
  • परंतु एमएससी स्टूडेंट रश्मि सामंत ऑक्सफोर्ड यूनिवर्सिटी स्टूडेंट यूनियन की अध्यक्ष (Msc Std Rashmi Samant Oxford President) बन कर यह साबित कर दिया है कि इंजीनियरिंग या साइंस के स्टूडेंट्स में अन्य क्षेत्रों में योगदान देने की भी प्रतिभा होती है।
  • अपने प्रचार अभियान तथा घोषणा पत्र से भी उसने अपने इरादे तथा प्रचार की शैली से साबित कर दिया है उसमें यूनिवर्सिटी स्टूडेंट्स अध्यक्ष बनने की कूवत है।
  • इससे पूर्व केरल की तिरुवंतपुरम के निकाय चुनाव में मेयर के पद पर सबसे युवा उम्मीदवार आर्या राजेंद्रन चुनी गई थी,वह भी बीएससी गणित की छात्रा थी।
  • सभी साइंस तथा गणित के स्टूडेंट्स को ध्यान रखना चाहिए कि केवल डिग्री तथा किसी एक क्षेत्र में विशेषज्ञता हासिल करना ही आज के डिजिटल युग में पर्याप्त नहीं है।
  • उसे अन्य क्षेत्रों में भी अपने हुनर का इस्तेमाल करना चाहिए।अपनी प्रतिभा को पहचान कर जिस भी अन्य क्षेत्र में उनकी रुचि है उसे पढ़ाई के साथ-साथ निखारना तथा उभारना चाहिए।
  • यदि वे ऐसा करेंगे तो कैरियर में उनकी हर जगह डिमांड रहेगी तथा वे मांग में बने रहेंगे क्योंकि तकनीकी तथा डिजिटल युग में मल्टी-टैलेंटेड युवाओं को प्राथमिकता दी जाती है।कंपनियां उन्हें ही अपने संस्थान में नियुक्त करती है।
  • आपको यह जानकारी रोचक व ज्ञानवर्धक लगे तो अपने मित्रों के साथ इस गणित के आर्टिकल को शेयर करें।यदि आप इस वेबसाइट पर पहली बार आए हैं तो वेबसाइट को फॉलो करें और ईमेल सब्सक्रिप्शन को भी फॉलो करें।जिससे नए आर्टिकल का नोटिफिकेशन आपको मिल सके ।यदि आर्टिकल पसन्द आए तो अपने मित्रों के साथ शेयर और लाईक करें जिससे वे भी लाभ उठाए ।आपकी कोई समस्या हो या कोई सुझाव देना चाहते हैं तो कमेंट करके बताएं।इस आर्टिकल को पूरा पढ़ें।

Also Read This Article-Mathematics Student Arya Rajendran Becomes Youngest Mayor of India

2.एमएससी स्टूडेंट रश्मि सामंत प्रथम भारतीय महिला ऑक्सफोर्ड यूनीवर्सिटी छात्रसंघ की अध्यक्ष (MSc Student Rashmi Samant First Indian Woman Oxford University Students Union President),एमएससी स्टूडेंट रश्मि सामंत ऑक्सफोर्ड यूनिवर्सिटी स्टूडेंट यूनियन की अध्यक्ष (Msc Std Rashmi Samant Oxford President)-

  • रश्मि के पिता दिनेश सामंत उडुपी के नजदीक परकाला में अपना कारोबार करते हैं, जबकि मां वत्सला सावंत गृहिणी हैं. रश्मि की प्रारंभिक शिक्षा मणिपाल और उडुपी में ही हुई और उन्होंने 2016-2020 के बीच एमआईटी से मैकेनिकल इंजीनियरिंग में ग्रेजुएशन किया.इस दौरान वह छात्र परिषद की तकनीकी सचिव रहीं और मणिपाल हैकेथान की शुरुआत में उनका बड़ा योगदान रहा, जिसमें सामाजिक चुनौतियों से निपटने के लिए डिजिटल समाधान की हिमायत की गई है.
  • ऑक्सफोर्ड यूनीवर्सिटी के लिनाकर कॉलेज में एनर्जी सिस्टम्स में एमएससी की पढ़ाई कर रही रश्मि ने छात्र हित को सर्वोपरि रखते हुए अपना प्रचार अभियान चलाया और उन्हें जितने वोट मिले उनके तीन प्रतिद्वंद्वी मिलकर भी उतने वोट हासिल नहीं कर पाए.
  • रश्मि सामंत से मिलिए, ऑक्सफ़ोर्ड यूनिवर्सिटी स्टूडेंट यूनियन की पहली भारतीय महिला अध्यक्ष
  • ऊर्जा प्रणालियों में एमएससी के लिए पढ़ने वाले एक स्नातक छात्र सामंत ने इस सप्ताह के शुरू में चुनावों में एक शानदार जीत दर्ज की, जिसमें सिलेबस के विघटन और विश्व प्रसिद्ध संस्था के विघटन का वादा किया गया था।
    एक भारतीय महिला ने ऑक्सफ़ोर्ड यूनिवर्सिटी स्टूडेंट यूनियन (SU) की अध्यक्ष चुनकर इतिहास रच दिया है।
  • लिनकेयर कॉलेज (Lincare College) में स्थिरता पर ध्यान देने के साथ ऊर्जा प्रणालियों में एमएससी के लिए पढ़ने वाली स्नातक की छात्रा रश्मि सामंत ने इस सप्ताह के शुरू में सिलेबस डिकोलोनाइजेशन और विश्व प्रसिद्ध संस्था को डिक्रिपो करने का वादा करते हुए चुनाव में शानदार जीत दर्ज की।
  • बड़े मतदान के बीच सामंत को 3,708 मतों में से 1,966 वोट मिले।
    मणिपाल इंस्टीट्यूट ऑफ टेक्नोलॉजी की एक छात्रा, भारतीय संस्कृति को अपने घोषणापत्र में संदर्भित किया गया था क्योंकि उसने गुरुवार को ऑक्सफोर्ड एसयू नेतृत्व चुनाव में कैंपस में अधिक से अधिक “उपनिवेशवाद से मुक्ति और समावेश” की आवश्यकता पर प्रकाश डाला।
  • उन्होंने अपने घोषणापत्र में कहा, “एक साथ, हम विश्वविद्यालय में लंबे समय से चली आ रही कमियों को सुधार सकते हैं, छात्रों को ऑक्सफोर्ड में फलने-फूलने और उनके समाज में अग्रणी चेंजमेकर्स बनने की जरूरत है।”
  • “दृष्टि एक अश्वेत,एशियाई और अल्पसंख्यक जातीय महिला होने के नाते, एक पूर्व ब्रिटिश उपनिवेश की महिला, रश्मि वंचितों के समूहों द्वारा सामना किए गए संघर्षों के प्रति सहानुभूतिपूर्ण है,”उसकी दृष्टि बयान पढ़ती है।
  • अध्ययन के अपने क्षेत्र से संबंधित, उनके घोषणापत्र प्रतिज्ञाएँ: “लॉबीज़ कॉलेजों के सम्मेलन को पूरे वित्तीय पोर्टफोलियो को जल्द से जल्द जीवाश्म ईंधन से विभाजित करने के लिए … [और] सभी कॉलेजों को विश्वविद्यालय-विस्तृत स्थिरता रणनीति पर हस्ताक्षर करने के लिए धक्का दें।”
  • सामंत ने यूनिवर्सिटी और कॉलेजों के सम्मेलन की पैरवी करने का वादा किया है ताकि साम्राज्यवादी साबित होने वाली सभी प्रतिमाओं को हटाया जा सके और ऑक्सफोर्ड पाठ्यक्रम ग्रंथों को छात्रों की विविध विद्वानों की आवाज़ों की उपलब्धियों के बारे में जानने और शिक्षित करने के लिए पाठ्यक्रम के विघटन पर एक व्यापक परामर्श किया जाए।
  • कोविद -19 महामारी और छात्रों पर इसके प्रभाव के संदर्भ में, उसने अपने साथी छात्रों के लिए सुरक्षा जाल और कम करने वाली परिस्थितियों की पैरवी करने का वादा किया है।
  • 2021-22 के कार्यकाल के लिए राष्ट्रपति-चुनाव भी उनकी टीम में अन्य भारतीयों द्वारा शामिल किया जाता है, जिसमें देविका उपाध्यक्ष-चुनाव के रूप में, और छात्र ट्रस्टी-चुनाव के रूप में धिते गोयल शामिल हैं।
  • इस आर्टिकल में एमएससी स्टूडेंट रश्मि सामंत ऑक्सफोर्ड यूनिवर्सिटी स्टूडेंट यूनियन की अध्यक्ष (Msc Std Rashmi Samant Oxford President),Msc स्टूडेंट रश्मि सामंत ऑक्सफ़ोर्ड यूनिवर्सिटी स्टूडेंट यूनियन की पहली भारतीय महिला अध्यक्ष (Msc Student Rashmi Samant First Indian female president of Oxford University Student Union) के बारे में बताया गया है।

Also Read This Article-Mathematics genius Nischal Narayanam

No. Social Media Url
1. Facebook click here
2. you tube click here
3. Instagram click here
4. Linkedin click here
5. Facebook Page click here

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *