Menu

First supercomputer lab in IIT Jodhpur

Contents hide
1 1.आईआईटी जोधपुर में पहली सुपरकंप्यूटर लैब (First supercomputer lab in IIT Jodhpur),आईआईटी जोधपुर में देश का पहला सुपर कंप्यूटर-लैब (First supercomputer lab in country at IIT Jodhpur)-

1.आईआईटी जोधपुर में पहली सुपरकंप्यूटर लैब (First supercomputer lab in IIT Jodhpur),आईआईटी जोधपुर में देश का पहला सुपर कंप्यूटर-लैब (First supercomputer lab in country at IIT Jodhpur)-

  • आईआईटी जोधपुर में पहली सुपरकंप्यूटर लैब (First supercomputer lab in IIT Jodhpur) की स्थापना की गई है।यह आर्टिफिशियल इंटेलिजेंस रिसर्च का बड़ा केंद्र होगा।
  • इस कंप्यूटर लैब को ” आईहब दृष्टि” नाम दिया गया है। आईआईटी को आईहब के लिए 10 करोड़ का फंड केंद्र सरकार के डिपार्टमेंट ऑफ साइंस एंड टेक्नोलॉजी से मिल चुका है।केंद्र सरकार ने इस लैब के लिए 115 करोड रुपए का फंड देने की स्वीकृति जारी कर दी है।
  • देश में जोधपुर के अलावा 25 टेक्नोलॉजी हब तैयार किए जाएंगे।जोधपुर में इनोवेशन हब ऑन कंप्यूटर विजन होगा।
  • आईआईटी जोधपुर में टेक्नोलॉजी एंड इनोवेशन हब शुरू होगा।इतना ही नहीं आनेवाले समय में आईआईटी जोधपुर आर्टिफिशियल इंटेलिजेंस रिसर्च का प्रमुख केंद्र होगा।
  • जोधपुर आईआईटी में देश का प्रथम एआई अर्थात् आर्टिफिशियल इंटेलिजेंस सुपर कंप्यूटर स्थापित हो चुका है।
  • अब हब में रिसर्च वर्क के लिए 5 अलग-अलग विषयों का भी चयन किया गया है। यहां भारत विदेशी एकेडमिक एंड इंडस्ट्रियल साझेदारो के साथ प्रोडक्ट्स एंड प्रोसेस पर रिसर्च होगी।इससे स्टार्टअप इकोसिस्टम को मदद मिलेगी।
  • आईआईटी के डायरेक्टर प्रोफेसर शान्तनु चौधरी है तथा इस हब का प्रोजेक्ट डायरेक्टर प्रोफेसर मयंक वत्स को बनाया गया है।
  • यह हब‌ स्टेट ऑफ आर्ट इंफ्रास्ट्रक्चर की सुविधाएं उपलब्ध करवाएगा।5 साल में यह तकनीकी आविष्कारों, कंप्यूटर विजन और ऑगमेंटेड रियलिटी व वर्चुअल रियलिटी की प्रमुख एजेंसी बनेगा।
  • आपको यह जानकारी रोचक व ज्ञानवर्धक लगे तो अपने मित्रों के साथ इस गणित के आर्टिकल को शेयर करें।यदि आप इस वेबसाइट पर पहली बार आए हैं तो वेबसाइट को फॉलो करें और ईमेल सब्सक्रिप्शन को भी फॉलो करें।जिससे नए आर्टिकल का नोटिफिकेशन आपको मिल सके ।यदि आर्टिकल पसन्द आए तो अपने मित्रों के साथ शेयर और लाईक करें जिससे वे भी लाभ उठाए ।आपकी कोई समस्या हो या कोई सुझाव देना चाहते हैं तो कमेंट करके बताएं। इस आर्टिकल को पूरा पढ़ें।

Also Read This Article-Microsoft math solver application

2.आईआईटी जोधपुर में पहली सुपरकंप्यूटर लैब में इन पांच विषयों पर काम होगा (First supercomputer lab in IIT Jodhpur will work on these five subjects)-

(1.)बायो एंड मेडिकल इमेजिंग फॉर हैल्थकेयर (Bio & Medical Imaging for Healthcare)-

  • इसके तहत एक्सरे, रेडियोग्राफी व मेडिकल के अन्य पहलुओं से जुड़ी रिसर्च की जाएगी। उदाहरण के तौर पर रेडियोलॉजी का काम ज्यादा है, लेकिन संसाधन कम, इस लोड को कम कैसे किया जा सकता है इस पर रिसर्च होगी।

(2.)कंप्यूटर विजन फॉर ऑटोनॉमस सिस्टम (Computer vision for autonomous system)-

  • इसके तहत कैमरा बेस्ड रिसर्च वर्क किए जाएंगे। जैसे सिटी मॉनिटरिंग सिस्टम, गाड़ियों की कैमरे से मॉनिटरिंग, साइबर सिक्योरिटी आदि पर काम होगा।

(3.)इंटेलिजेंट मल्टीमीडिया फॉर डिजिटल लर्निंग (Intelligent Multimedia for Digital Learning)-

  • ऑनलाइन सिस्टम से जुड़ी रिसर्च इसका हिस्सा होगी। उदाहरण के तौर पर कोविड में एजुकेशन व अन्य काम ऑनलाइन हो रहे हैं। ऐसे में स्कैनिंग, ऑनलाइन क्लास, सर्चिंग फ्रॉम वीडियो आदि से जुड़ी रिसर्च इसके तहत की जाएगी।

(4.)एआई ड्रिवन ऑगमेंटेड एंड वर्चुअल रियलिटी एप (AI Driven Augmented and Virtual Reality App)-

  • वर्चुअल वर्ल्ड से जुड़ी कई रिसर्च इस सब्जेक्ट के तहत की जाएंगी। जैसे वर्चुअल टूर्स, किसी भी स्थान या वस्तु के पुराने स्वरूप से जुड़ा वर्चुअल रूप व ऐसी ही अन्य रिसर्च।

(5.)कंप्यूटर विजन एंड एआर,वीआर फॉर इंडस्ट्री 4.0 (Computer Vision and AR, VR for Industry 4.0)

  • इंडस्ट्री के डेवलपमेंट के लिए रिसर्च कैसे प्रोडक्शन को बढ़ा सकती है, ऑटोमैटिक विजन बेस्ड सिक्योरिटी, प्रॉडक्शन व प्रॉडक्शन प्रोसेस को आसान करने जैसे विषयों से जुड़ा रिसर्च वर्क यहां होगा।

3.सुपर कम्प्यूटर लैब लक्षणों के आधार पर एक्सरे, एमआरआई बना देगी (Supercomputer lab to create X-ray, MRI based on symptoms)-

  • एआई लैब (First supercomputer lab in IIT Jodhpur) मेडिकल क्षेत्र में नई संभावनाओं की आशा जगाती है।एआई लैब साइंस, कॉमर्स और रोजाना के कामों से लेकर विशेष कामों में उपयोगी होगी।उदाहरण के तौर पर इलाज के दौरान यदि एआई लैब के जरिए पहले ही सभी लक्षणों के अनुसार डेटा फीड कर दें तो यह मरीजों के एक्सरे, एमआरआई की रिपोर्ट तक बना कर दे देगी।

4.आईआईटी जोधपुर आर्टिफिशियल इंटेलिजेंस रिसर्च का बड़ा केंद्र (IIT Jodhpur Largest Center for Artificial Intelligence Research)-

  • आईआईटी जोधपुर में सुपरकम्प्यूटर की खासियत (A specialty of supercomputers in IIT Jodhpur) [First supercomputer lab in IIT Jodhpur ]यह है कि यह सामान्य कंप्यूटर से करीब 20 लाख गुना अधिक क्षमता वाला एआई सुपर कंप्यूटर आईआईटी में पूरी तरह से वर्किंग में आ चुका है।इसकी कीमत करीब 3 करोड़ रुपए से भी ज्यादा है। इसके लिए अमेरिकी कंपनी एन-वीडिया से आईआईटी जाेधपुर ने करार किया था।कंप्यूटर स्थापित होने के बाद संबंधित कंपनी की टीम ने आईआईटी की फैकल्टी व स्कॉलर्स को इस संबंध में ट्रेनिंग भी दी है।
  • मेडिकल, साइबर-एजुकेशन में एआई कंप्यूटर का फायदा
    एआई से जुड़ी एप्लीकेशन को रन करने से पहले उसे एक हार्डवेयर के माध्यम से प्रशिक्षित किया जाता है।इन एप्लीकेशन को प्रशिक्षित करने में दूसरे हार्डवेयर हफ्ते व महीने लगा देते हैं, लेकिन एआई सुपर कंप्यूटर चंद घंटों में ही प्रशिक्षित कर देगा।इसका उपयोग फार्मिंग, मेडिकल, एजुकेशन और साइबर के अलावा हर उस सिस्टम में होगा, जिसमें ऑटोमैटिक काम किया जाता है।वहीं इस कंप्यूटर के यहां लगने से यहां के कंप्यूटर साइंस के स्टूडेंट्स व स्कॉलर्स इस पर काम करने का अनुभव लेने लगे हैं।

5.कैंपस में शुरू की गई सैमसंग की एआर-वीआर लैब (Samsung’s AR-VR lab launched on campus)-

  • आईआईटी में हाल में सैमसंग की ऑडियो रियलिटी व वीडियो रियलिटी यानी एआर-वीआर लैब भी स्थापित की गई है।यह लैब स्टूडेंट्स को एआर-वीआर से रूबरू करवाने के साथ मौजूदा इंडस्ट्रीज की जरूरत के अनुसार संबंधित विषयों पर मदद करेगी।लैब में बीटेक, एमटेक व पीएचडी स्टूडेंट्स के लिए कोर्स संचालित होंगेे।लैब में स्टूडेंट्स को इंडस्ट्रियल डिजाइन, रोबोटिक, इंफ्रास्ट्रक्चर मैनेजमेंट आदि से जुड़ी नॉलेज मिलेगी।

6.IIT जोधपुर में देश का पहला DGX-A100 सुपर कंप्यूटर (First DGX-A100 supercomputer in Country at IIT Jodhpur),भारत का सबसे बड़ा आर्टिफिशियल इंटेलिजेंस सुपर कंप्यूटर IIT- जोधपुर में स्थापित किया गया (Largest Artificial Intelligence Supercomputer of India Set up at IIT-Jodhpur)-

  • जोधपुर देश का पहला DGX-A100 सुपर कंप्यूटर भारतीय प्रौद्योगिकी संस्थान (IIT), जोधपुर में स्थापित किया गया है।आईआईआईटी के कंप्यूटर सेंटर में एन-विडिया कंपनी का सुपर कंप्यूटर स्थापित किया गया है, जिसका उपयोग सभी विभागों के शिक्षकों और छात्रों द्वारा अनुसंधान कार्य में किया जाएगा।विशेष रूप से स्कूल ऑफ आर्टिफिशियल इंटेलिजेंस (एआई) और डेटा साइंस के छात्रों को लाभ होगा।
  • इसमें ए -100 टेंसर कोर जीपीयू है जो इसके प्रदर्शन, घनत्व और लचीलेपन को बहुत उन्नत बनाता है।यह एक 5 पेंटा फ्लॉप एआई सिस्टम है जिसकी मदद से बड़े डेटा का तेजी से विश्लेषण किया जा सकता है।यह विभिन्न रोगों पर शोध करने की अनुमति देगा।इसमें बीमारी और मरीज का डेटा डालने से इसके नतीजे तेजी से सामने आएंगे।इसके अलावा, पर्यावरण सहित अन्य मानवीय समस्याओं पर शोध से भी मदद मिलेगी।
  • सुपरकंप्यूटर सभी क्षेत्रों में काम करेगा
    IIT जोधपुर बायोसाइंस, बायो इंजीनियरिंग, हेल्थ केयर, केमिस्ट्री, कंप्यूटर साइंस एंड इंजीनियरिंग, इलेक्ट्रिकल इंजीनियरिंग, ह्यूमैनिटीज एंड सोशल साइंस, गणित, मैकेनिकल इंजीनियरिंग, मेटलर्जिकल एंड मैटेरियल्स इंजीनियरिंग, फिजिक्स और स्मार्ट हेल्थ केयर पर विशेष काम कर रहा है।वर्तमान में IIT जोधपुर में लगभग 100 अनुसंधान परियोजनाएं चल रही हैं।कंप्यूटर विजन, एमएल, इंटरनेट ऑफ थिंग्स, सेंसर कंट्रोल सिस्टम, ऑटोनॉमस सिस्टम, साइबर फिजिकल सिस्टम, रोबोटिक्स, स्मार्ट हेल्थकेयर, स्मार्ट सिटीज,बायोइनफॉरमैटिक्स, ड्रग डिस्कवरी, डेटा एनालिसिस और आर्टिफिशियल इंटेलिजेंस के अलावा कई अन्य क्षेत्रों में रिसर्च।सुपर कंप्यूटर की मदद। काम किया जा सकता है।
  • DGX-2 सुपरकंप्यूटर पिछले साल आया था
    पिछले साल IIT जोधपुर और Nividaya के बीच एक
    समझौता ज्ञापन पर हस्ताक्षर किए गए थे, जिसके तहत सुपर कंप्यूटर खरीदने और AI पर काम करने पर सहमति हुई थी। मई 2019 में, देश का पहला DGX-2 सुपर कंप्यूटर भी IIT जोधपुर में स्थापित किया गया था, जिसकी कीमत लगभग ढाई करोड़ थी।इसमें 16 जीपीयू हैं, जबकि डीजीएक्स-ए 100 में अधिक सीपीयू है।DGX-2 का उपयोग मुख्य रूप से तंत्रिका नेटवर्क प्रशिक्षण के लिए किया जाता है जबकि सभी विभाग A-100 का उपयोग करने में सक्षम होंगे।
  • IITJ इस उद्योग के अग्रणी AI सुपरकंप्यूटर के पहले भारतीय ग्राहक और प्राप्तकर्ता बने। DGX A100 बुनियादी ढांचे को IIT जोधपुर में हर विभाग और पाठ्यक्रम के साथ जोड़ा जाएगा, जिसमें मशीन लर्निंग इसका एक प्रमुख हिस्सा है।
  • उपर्युक्त विवरण में आईआईटी जोधपुर में पहली सुपरकंप्यूटर लैब (First supercomputer lab in IIT Jodhpur),आईआईटी जोधपुर में देश का पहला सुपर कंप्यूटर-लैब (First supercomputer lab in country at IIT Jodhpur),आईआईटी जोधपुर में पहली सुपरकंप्यूटर लैब में इन पांच विषयों पर काम होगा (First supercomputer lab in IIT Jodhpur will work on these five subjects),आईआईटी जोधपुर आर्टिफिशियल इंटेलिजेंस रिसर्च का बड़ा केंद्र (IIT Jodhpur Largest Center for Artificial Intelligence Research) तथा IIT जोधपुर में देश का पहला DGX-A100 सुपर कंप्यूटर (First DGX-A100 supercomputer in Country at IIT Jodhpur),भारत का सबसे बड़ा आर्टिफिशियल इंटेलिजेंस सुपर कंप्यूटर IIT- जोधपुर में स्थापित किया गया (Largest Artificial Intelligence Supercomputer of India Set up at IIT-Jodhpur) के बारे में बताया गया है।

Also Read This Article-SwayamPrabha Online Education Platform

No. Social Media Url
1. Facebook click here
2. you tube click here
3. Instagram click here
4. Linkedin click here
5. Facebook Page click here

 

One Response
  1. Neha kumawat December 27, 2020 / Reply

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *