Menu

Mathematicians have solved traffic jam

1.गणितज्ञों ने ट्रैफिक जाम को हल कर दिया है(Mathematicians have solved traffic jam)-

ज्यों-ज्यों शहरों की आबादी बढ़ती जा रही है त्यों-त्यों ट्रैफिक जाम की समस्या बढ़ती जा रही है। ट्रैफिक जाम से निजात पाने के लिए सरकारों तथा प्रशासन द्वारा काफी प्रयास किया जाता है।इस समाधान में पार्किंग की व्यवस्था भी की जाती है।परंतु रास्तों को चौड़ा नहीं किया जा सकता है,इसलिए जब एक जगह किसी ट्रैफिक जाम का समाधान किया जाता है तो दूसरी जगह ट्रैफिक जाम लग जाता है।
सेंट पिट्सबर्ग विश्वविद्यालय के गणित के प्रोफेसर अलेक्जेंडर क्रिल्लतोव ने ट्रैफिक जाम का समाधान करने का तरीका बताया है। इसके लिए उन्होंने एक पुस्तक भी लिखी है उन्होंने उसमें लिखा है कि ट्रैफिक जाम को एक नेवीगेशन सिस्टम द्वारा हल किया जा सकता है।यदि यह निर्देश सिस्टम एक केंद्र से आयोजित किया जाता है।
ट्रैफिक से संबंधित गणित की एक शाखा भी है जिसे ट्रैफिक मॉडलिंग के नाम से जाना जाता है।दरअसल कोई भी विषय हो जब तक उस विषय को जनहित में काम नहीं लिया जाता है,लोगों की समस्याओं का समाधान नहीं किया जाता है तो ऐसे विषय के होने का फायदा क्या है?केवल मानसिक संतुष्टि प्रदान करने के लिए ऐसे विषय का होना न होना बराबर है।

Also Read This Article-Why are students leaving large institutions like IITs?
गणित विषय अमूर्त व उच्च बौद्धिक क्षमता के लोगों का विषय माना व समझा जाता है।परंतु धीरे-धीरे इसका क्षेत्र बढ़ता जा रहा है।गणित विषय अन्य विषयों के विकास में तो मदद कर रहा है साथ ही इस तरह से आम लोगों की समस्याओं का समाधान करने में भी सहायक हो रहा है। लोगों की आम समस्याओं का समाधान करने से गणित विषय लोकप्रिय तो होगा ही ,साथ ही लोगों के जीवन का अंग भी बनता जाएगा।
ट्रैफिक नियमों में गणित का प्रयोग सुनकर एकदम से हमें विश्वास नहीं होता है कि ट्रैफिक जाम का समाधान करने के लिए गणित का उपयोग किया जा सकता है।
प्रोफेसर क्रिल्लतोव ने ऐसा करके संभव कर दिया है। प्रोफेसर क्रिल्लतोव ने बताया है कि ट्रैफिक रास्ते के बगल में पार्किंग की व्यवस्था न करके गलियों में जहां कहीं भी स्थान मिलें वहां पार्किंग की व्यवस्था की जानी चाहिए।क्योंकि जिस हिसाब से आबादी बढ़ रही है उस हिसाब से रास्ते तो चौड़े हो नहीं सकते हैं।इसके लिए ओर भी कई गणितीय तकनीक उन्होंने बतायी है जिनका पालन करके ट्रैफिक जाम को सुलझाया जा सकता है‌।
ट्रैफिक जाम किसी एक शहर या देश की समस्या नहीं है बल्कि यह एक विश्वव्यापी समस्या है।इसलिए इसे हल करने की अत्यंत आवश्यकता है।यदि प्रोफेसर क्रिल्लतोव द्वारा बताए गए ट्रैफिक जाम के समाधान का पालन किया जाए तो सम्भव है कि विश्वव्यापी समस्या का समाधान हो सकता है।ट्रैफिक जाम के कारण बहुत से लोगों का कीमती समय नष्ट हो जाता है।कई दुर्घटनाएं हो जाती है। कुछ गंभीर मरीज ट्रैफिक जाम में फंसकर दम तोड़ देते हैं।कई विद्यार्थी परीक्षाओं में दाखिल होने से वंचित हो जाते हैं।कई लोगों के आवश्यक कार्य समय पर नहीं पहुंचने से नहीं हो पाते हैं।इस प्रकार देखा जाए तो ट्रैफिक जाम से काफी जनहानि उठानी पड़ती है।
इस आर्टिकल में ट्रैफिक जाम के बारे में संक्षेप में बताया गया है‌।ट्रैफिक जाम का प्रोफेसर क्रिल्लतोव ने किस प्रकार समाधान किया है इसका वर्णन किया गया है।प्रोफेसर एलेग्जेंडर क्रिल्लतोव का यह आइडिया नवीन तथा प्रगतिशील है।हमें उनके बताए हुए इस आइडिया का प्रयोग करके देखना चाहिए।यदि यह आइडिया पालन करने योग्य हो तो इसे सभी जगह लागू किया जा सकता है।सर्वप्रथम परीक्षण के तौर पर एक-दो शहरों में लागू करके देखना चाहिए। व्यावहारिक रूप से लागू करने पर ही इसकी उपादेयता का मालूम पड़ सकता है।
आपको यह जानकारी रोचक व ज्ञानवर्धक लगे तो अपने मित्रों के साथ इस गणित के आर्टिकल को शेयर करें ।यदि आप इस वेबसाइट पर पहली बार आए हैं तो वेबसाइट को फॉलो करें और ईमेल सब्सक्रिप्शन को भी फॉलो करें जिससे नए आर्टिकल का नोटिफिकेशन आपको मिल सके ।यदि आर्टिकल पसन्द आए तो अपने मित्रों के साथ शेयर और लाईक करें जिससे वे भी लाभ उठाए ।आपकी कोई समस्या हो या कोई सुझाव देना चाहते हैं तो कमेंट करके बताएं। इस आर्टिकल को पूरा पढ़ें।

2.गणितज्ञों ने ट्रैफिक जाम को हल कर दिया है, और वे सुनने के लिए शहरों से भीख मांग रहे हैं(Mathematicians have solved traffic jams, and they are begging cities to listen)-

गणितज्ञों ने ट्रैफिक जाम को हल कर दिया है, और वे सुनने के लिए शहरों से भीख मांग रहे हैं
अधिकांश ट्रैफिक जाम अनावश्यक हैं, और यह गणितज्ञों को बहुत प्रभावित करता है जो ट्रैफ़िक के प्रवाह में विशेषज्ञ हैं। वे स्थानीय परिवहन इंजीनियरों के लिए विशेष रूप से विट्रियल को आरक्षित करते हैं। सेंट पीटर्सबर्ग विश्वविद्यालय के गणित के प्रोफेसर अलेक्जेंडर क्रिल्लतोव कहते हैं, “ट्रैफ़िक प्रदर्शन में सिस्टम-संबंधी वृद्धि के क्षेत्र में उनकी दक्षता नहीं है।” “यदि इंजीनियर स्थानीय सुधारों को प्राप्त करने का प्रबंधन करते हैं, तो थोड़ी देर बाद प्रवाह फिर से व्यवस्थित हो जाता है और वही ट्रैफ़िक जाम अन्य स्थानों पर दिखाई देते हैं।” जला!
Krylatov शहरी ट्रैफ़िक जाम को हमेशा के लिए हल करना चाहते हैं, इतना ही नहीं उन्होंने ट्रैफ़िक के नए गणित दृष्टिकोण और उन्हें लागू करने के तरीकों की एक पुस्तक का सह-संग्रह किया है। (अनुवाद: इंजीनियर, हमें इसे संभालने दो।) चार रास्ते ले लो:
सिस्टम-सभी ड्राइवरों को एक ही नेविगेशन सिस्टम पर होना चाहिए। यदि केवल एक केंद्र हब से निर्देश आते हैं तो कारों को केवल कुशलता से फिर से चालू किया जा सकता है। कुछ ड्राइवरों को पुन: व्यवस्थित करने वाला एक नेविगेशन सिस्टम ट्रैफ़िक जाम को हल नहीं करता है।
पार्किंग पर प्रतिबंध-कई शहरी सड़कें बहुत संकीर्ण हैं और उन्हें शारीरिक रूप से चौड़ा नहीं किया जा सकता है। ट्रैफ़िक-फ़्लो मॉडल इंगित कर सकते हैं कि पार्किंग स्थलों को गलियों में कहाँ बदलना चाहिए।
हरी गलियाँ-उन शहरों के लिए जो इलेक्ट्रिक कार का उपयोग बढ़ाना चाहते हैं, इलेक्ट्रिक कारों के लिए विशेष लेन बनाई जानी चाहिए, जिससे उनके उपयोग के लिए प्रोत्साहन मिल सके।

Also Read This Article-Make math interesting,help of carveNiche Technologies
डिजिटल जुड़वाँ-ट्रैफ़िक की माँग और उपलब्ध अवसंरचना को केवल डिजिटल मॉडलिंग के साथ संतुलित किया जा सकता है जो मौजूदा रोडवेज का एक “ट्विन” बनाता है। सॉफ्टवेयर “परिवहन इंजीनियरों के हाथों में एक अत्यंत उपयोगी विचार उपकरण होगा।”
ट्रैफ़िक मॉडलिंग आंशिक रूप से लागू गणित की एक जटिल शाखा है, क्योंकि यह मानता है कि ड्राइवर स्वार्थी हैं और किसी भी पूर्वानुमान या साझा प्रयासों के बजाय अपने स्वयं के लक्ष्यों का पीछा कर रहे हैं। “हर साल सड़कों में सुधार के लिए काफी बजट आवंटित किया जाता है। [हमारे मॉडल] इन फंडों के कुशल प्रबंधन के लिए समाधान का एक सेट सुझाते हैं। “
और बस अगर आप सोच रहे थे, “इस मामले में गणितीय दृष्टिकोण इंजीनियरिंग और आर्थिक से बेहतर है।”

No. Social Media Url
1. Facebook click here
2. you tube click here
3. Twitter click here
4. Instagram click here
5. Linkedin click here
6. Facebook Page click here

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *