Menu

Rules changed for taking maths in 11th

Contents hide
1 1.11वीं में मैथ्‍स लेने के ल‍िये नियम बदला का परिचय (Introduction to Rules changed for taking maths in 11th)-
1.2 3.क्या मैं कक्षा 11 में अपना वैकल्पिक विषय बदल सकता हूँ? (Can I change my optional subject in class 11?)-

1.11वीं में मैथ्‍स लेने के ल‍िये नियम बदला का परिचय (Introduction to Rules changed for taking maths in 11th)-

11वीं में मैथ्‍स  लेने के ल‍िये नियम बदला (Rules changed for taking maths in 11th) और यह बदलाव सीबीएसई बोर्ड ने 10वीं में बेसिक मैथ्स से पास करनेवालों के लिए बदला है।जिन छात्रों ने 10वीं में बेसिक मैथ्स लेकर सीबीएसई बोर्ड एग्जाम पास की है,वे छात्र यदि 11वीं में मैथ्स लेना चाहते हैं तो उन्हें गणित कंपार्टमेंट परीक्षा देने की जरूरत नहीं है।
अब ऐसे विद्यार्थी जिन्होंने 10वीं सीबीएसई बोर्ड बेसिक मैथ्स से पास की है वे सीधे गणित विषय लेना चाहते हैं तो ले सकते हैं।
यह बदलाव कोरोनावायरस के कारण फैली महामारी तथा लोकडाॅउन के कारण किया गया है।

पूर्व में 10वीं बेसिक मैथ्स से पास करनेवाले विद्यार्थियों के लिए यह नियम था कि यदि ऐसे छात्र 11वीं में मैथ्स लेना चाहेंगे तो उन्हें गणित में कंपार्टमेंट परीक्षा उत्तीर्ण करनी होगी अर्थात् स्टैण्डर्ड मैथ्स से परीक्षा पास करनी होगी।
परन्तु अब 11वीं में मैथ्‍स लेने के ल‍िये नियम बदल दिया (Rules changed for taking maths in 11th) है।
बेसिक मैथ्स से 10वीं बोर्ड परीक्षा पास करने वाले छात्रों के लिए 11वीं में मैथ्‍स लेने के ल‍िये नियम बदलने (Rules changed for taking maths in 11th) से ऐच्छिक मैथ्स विषय लेने का सुअवसर प्राप्त हो गया है।
कोरोनावायरस के कारण फैली महामारी से बहुत सी परीक्षाएं स्थगित हो गई है और उनकी वैकल्पिक व्यवस्था की जा रही है। छात्रों के भविष्य को देखते हुए इस तरह के बदलाव एक शुभ संकेत है।
हालांकि ये बदलाव तात्कालिक ही है।जब कोरोनावायरस के कारण फैली महामारी का प्रभाव कम होगा तो पुनः पुरानी व्यवस्था लागू हो जाएगी।
11वीं में मैथ्‍स लेने के ल‍िये नियम बदला (Rules changed for taking maths in 11th) तथा इसी प्रकार के अन्य बदलावों से तो स्पष्ट है कि इस प्रकार का समयोचित बदलाव से यह स्पष्ट होता है कि सरकार छात्रों के भविष्य को लेकर चिन्तित,सजग और सक्रिय है।वह ऐसा कोई कदम नहीं उठा रही है जिससे छात्रों का भविष्य खराब हो जाए।
हमें इस प्रकार के प्रगतिशील और नवीन बदलावों का स्वागत करना चाहिए जो छात्रों के हित में हो।। यहां यह स्पष्ट कर देना चाहिए कि यह बदलाव सत्र 2020-2021 के लिए है।
अब छात्र-छात्राएं जो 10वीं में बेसिक मैथ्स से उत्तीर्ण हुए थे,उनके लिए संशय खत्म हो गया है।अब वे बेफ्रिक होकर 10वीं में मैथ्स विषय को ऐच्छिक विषय के रूप में चुनाव कर सकते हैं।
इसलिए जो छात्र 10वीं में बेसिक मैथ्स से उत्तीर्ण हुए हैं और 11वीं में मैथ्स लेने के लिए स्टैंडर्ड मैथ्स की तैयारी कर रहे थे। उन्हें अब स्टैंडर्ड मैथ्स कंपार्टमेंट परीक्षा की तैयारी करने की कोई आवश्यकता नहीं है।
कुछ छात्र-छात्राएं जो स्टैंडर्ड मैथ्स की तैयारी कर रहे थे उनके लिए राहत भरी खबर है।अब उन्हें उचित प्रक्रिया का पालन करके 11वीं में मैथ्स ऐच्छिक विषय का आवेदन फार्म भर देना चाहिए।
दरअसल इस भागती हुई दुनिया तथा आगे बढ़ रहे देशों के साथ भारत को आगे बढ़ने के लिए इस तरह के परिवर्तन होना आवश्यक है।अन्यथा हम बहुत पीछे रह सकते हैं, अन्य देशों की तुलना में पिछड़ सकते हैं।
11वीं में मैथ्‍स लेने के ल‍िये नियम बदला (Rules changed for taking maths in 11th),उसका संक्षिप्त विवरण नीचे आर्टिकल में दिया गया है।आपको यह जानकारी रोचक व ज्ञानवर्धक लगे तो अपने मित्रों के साथ इस गणित के आर्टिकल को शेयर करें ।यदि आप इस वेबसाइट पर पहली बार आए हैं तो वेबसाइट को फॉलो करें और ईमेल सब्सक्रिप्शन को भी फॉलो करें जिससे नए आर्टिकल का नोटिफिकेशन आपको मिल सके ।यदि आर्टिकल पसन्द आए तो अपने मित्रों के साथ शेयर और लाईक करें जिससे वे भी लाभ उठाए ।आपकी कोई समस्या हो या कोई सुझाव देना चाहते हैं तो कमेंट करके बताएं। इस आर्टिकल को पूरा पढ़ें।

Also Read This Article:-Mathematician CS Seshadri contribution

2.11वीं में मैथ्‍स लेने के ल‍िये नियम बदला (Rules changed for taking maths in 11th)-

11वीं में मैथ्‍स के साथ एडम‍िशन लेने वाले छात्रों के ल‍िये बदले न‍ियम, जानें
11वीं में अगर मैथ्‍स के साथ पढ़ाई करना चाहते हैं तो सीबीएसई के ये नये न‍ियम आपको जरूर पता होने चाह‍िये.
11वीं में मैथ्‍स के साथ एडम‍िशन लेने के इच्‍छुक छात्रों को मैथ्स कंपार्टमेंट परीक्षा देने की जरूरत नहीं.
AUGUST 7, 2020
कोरोना वायरस (coronavirus) की स्‍थ‍ित‍ि को देखते हुए सेंट्रल बोर्ड ऑफ सेकेंडरी एजुकेशन, CBSE ने सीबीएसई क्‍लास 10वीं मैथ्‍स स्‍टैंडर्ड कंपार्टमेंट एग्‍जाम‍िनेशन (CBSE Class 10 Mathematics Standard compartment examinations 2020) के ल‍िये उपस्‍थ‍ित होने की आवश्‍यकता को रद्द काने का न‍िर्णय ल‍िया है. हालांकि, यह केवल उन छात्रों के लिए है, जिन्होंने 10वीं कक्षा में बेसिक गणित (Basic Mathematics) का विकल्प चुना था और अब कक्षा 11 में मैथ्स लेने के इच्छुक हैं. COVID19 महामारी के कारण केवल शैक्षणिक वर्ष 2020-21 के लिए विशेष रियायत दी गई है.
बता दें क‍ि इसका कंपार्टमेंट परीक्षा से कोई लेना देना नहीं है. हालांक‍ि बोर्ड ने यह स्‍पष्‍ट क‍िया है क‍िया है क‍ि 10वीं और 12वीं के ल‍िये कंपार्टमेंट परीक्षाएं अपने समय पर होंगी, लेक‍िन मैथ्‍स स्‍टैंडर्ड के ल‍िये न‍ियमों में छूट देने का न‍िर्णय ल‍िया गया है.
इसका मतलब यह हुआ क‍ि ज‍ितने भी सीबीएसई 10वीं बेस‍िक मैथ्‍स (CBSE Class 10 Basic Mathematics) के छात्र हैं और ज‍िन्‍होंने इस व‍िषय को पास कर ल‍िया है, वह 11वीं में मैथ्‍स ले सकते हैं.

3.क्या मैं कक्षा 11 में अपना वैकल्पिक विषय बदल सकता हूँ? (Can I change my optional subject in class 11?)-

मई में, शिक्षा बोर्ड ने स्कूलों को दसवीं या बारहवीं कक्षा में छात्रों को अपने विषयों या स्ट्रीम को बदलने की अनुमति नहीं देने के लिए कहा था। हालाँकि, किसी भी छात्र को अगले शैक्षणिक सत्र से विषयों या स्ट्रीम को बदलने की अनुमति नहीं दी जाएगी, उन्होंने पुष्टि की।
31 अक्टूबर से पहले शिक्षा संस्थानों के प्रधान द्वारा विषय बदला जा सकता है परन्तु उसके बाद तथा 11 वीं परीक्षा पास करने के बाद विषय नहीं बदला जा सकता है।

4. मैं गणित की 11 वीं परीक्षा की तैयारी कैसे कर सकता हूं? (How can I prepare for maths 11th exam?)-

नियमित रूप से अध्ययन और समय पर अपने सीबीएसई कक्षा 11 मैथ्स सिलेबस को पूरा करना आपको आधा गेम जीतता है। अपने प्रोजेक्ट, असाइनमेंट और प्रैक्टिकल को उस दिन पूरा करें, जिस दिन उन्हें सौंपा गया है और उन्हें अपने रास्ते से हटा दें। आसान अध्यायों से शुरू करें और धीरे-धीरे उन विषयों पर आगे बढ़ें, जो आपको अधिक कठिन लगते हैं।
वर्तमान समय में आप स्वयंप्रभा एप और चैनल की सहायता से भी अपनी तैयारी कर सकते हैं।ओर भी बहुत से आनलाईन माध्यम है जिनकी सहायता से आप अपनी तैयारी कर सकते हैं।

5. 11 वीं में गणित के साथ विज्ञान के लिए कितना प्रतिशत आवश्यक है? (How much percentage is required for science with maths in 11th?)-

11 वीं क्लास में साइंस स्ट्रीम पाने के लिए आपको 80% से ऊपर स्कोर करना चाहिए। इसके अलावा, विभिन्न स्कूलों में धाराओं के लिए अलग-अलग कट ऑफ हैं। तो, यह आपके स्कूल पर भी निर्भर करता है कि वे आपको विज्ञान देते हैं या नहीं क्योंकि यह छात्रों द्वारा सबसे अधिक मांग वाला विषय है।लेकिन, 80% न्यूनतम आप एक ही स्ट्रीम के लिए आवश्यक है।
नई एजुकेशन पाॅलिसी में प्रावधान किया गया है कि अब कोई भी विद्यार्थी कोई सा भी सब्जेक्ट का चुनाव कर सकता है।नई एजुकेशन पाॅलिसी में ऐसा कोई प्रावधान नहीं है कि इतनी प्रतिशत वाले विद्यार्थियों को गणित विषय दिया जाए।

6. कक्षा 11 में विषय बदलने के लिए सीबीएसई का नियम (cbse rules for change of subject in class 11)-

ग्यारहवीं कक्षा में विषय के परिवर्तन की अनुमति स्कूल प्रमुख द्वारा दी जा सकती है, लेकिन बाद में उस शैक्षणिक सत्र के 31 अक्टूबर के बाद में नहीं।
कक्षा IX या XI पास होने के बाद किसी भी उम्मीदवार को अपने अध्ययन के विषय को बदलने की अनुमति नहीं दी जाएगी।

7. क्या हम 11 वीं के बाद विषय बदल सकते हैं (can we change subject after 11th)-

ग्यारहवीं कक्षा में विषय के परिवर्तन की अनुमति स्कूल प्रमुख द्वारा दी जा सकती है, लेकिन बाद में उस शैक्षणिक सत्र के 31 अक्टूबर के बाद में नहीं। ग्यारहवीं पास करने के बाद किसी भी उम्मीदवार को अपने अध्ययन के विषय को बदलने की अनुमति नहीं दी जाएगी।

8.कक्षा 12 में cbse विषय परिवर्तन,कक्षा 12 में विषय परिवर्तन के बारे में cbse परिपत्र,क्या हम कक्षा 12 cbse में स्ट्रीम बदल सकते हैं (cbse subject change in class 12 form,cbse circular regarding subject change in class 12,can we change stream in class 12 cbse)-

विषय में परिवर्तन के लिए सीबीएसई नियम: ग्यारहवीं कक्षा में विषय के परिवर्तन की अनुमति स्कूल प्रमुख द्वारा दी जा सकती है, लेकिन बाद में उस शैक्षणिक सत्र के 31 अक्टूबर से के बाद नहीं। कक्षा XI पास करने के बाद किसी भी उम्मीदवार को अपने अध्ययन के विषय को बदलने की अनुमति नहीं दी जाएगी।

9. मैं cbse में 11 वीं के बाद विज्ञान से कला तक अपनी स्ट्रीम बदल सकता हूं (can I change my stream from science to arts after 11th in cbse)-

भले ही आपने अपनी कक्षा 11 वीं और 12 वीं में विज्ञान विषयों का अध्ययन किया हो, लेकिन अब ऐसा करने की इच्छा न करें, चिंता न करें! आपकी कक्षा 12 वीं बोर्ड के बाद, आप अपनी इच्छानुसार किसी भी क्षेत्र में जा सकते हैं- कॉमर्स या ह्यूमैनिटीज।

10.क्या मैं 11 वीं के बाद कॉमर्स से साइंस में बदल सकता हूं (can i change from commerce to science after 11th)-

हाँ, आप अपने समूह को वाणिज्य से विज्ञान में बदल सकते हैं लेकिन 11 वीं कक्षा का अध्ययन करते समय। एक स्ट्रीम में 11 वीं कक्षा पूरी होने के बाद और 12 वीं में दूसरी स्ट्रीम में शामिल होना संभव नहीं है।

11.क्या 11वीं की गणित कठिन है? (Is 11th maths difficult?)-

11 वीं में गणित छात्रों के लिए शुरू में कठिन दरार है, क्योंकि वे नई अवधारणाओं और विधियों के लिए उपयोग नहीं किए जाते हैं। जब और जब वे अवधारणाओं को उतार पाते हैं, तो वे विषय में रुचि प्राप्त करने लगते हैं। 11 वीं कक्षा का गणित विश्लेषणात्मक और थोड़ा अमूर्त है।

Also Read This Article:-3 Tips for JEE and NEET Entrance Exam

No.Social MediaUrl
1.Facebookclick here
2.you tubeclick here
3.Twitterclick here
4.Instagramclick here
5.Linkedinclick here
6.Facebook Pageclick here
Social Media

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *