Menu

12th mathematics exam pattern changed

1.12वीं की गणित की परीक्षा का पैटर्न बदला का परिचय (Introduction to 12th mathematics exam pattern changed)-

12वीं की गणित की परीक्षा का पैटर्न बदला (12th mathematics exam pattern changed) साथ में अंग्रेजी के परीक्षा पैटर्न में भी बदलाव किया है।काउंसिल फाॅर इंडियन स्कूल सर्टिफिकेट एग्जामिनेशन ने आइएससी 12वीं की गणित की परीक्षा का पैटर्न बदला(12th mathematics exam pattern changed) साथ में अंग्रेजी की परीक्षा का पैटर्न भी बदला है।यह परीक्षा पैटर्न 2021 से लागू हो जाएगा।
पूर्व में 100-100 अंकों के थ्योरी के पेपर्स ही लिए जाते थे। परन्तु अब 80-80 अंकों की थ्योरी तथा 20-20 अंकों का प्रोजेक्ट वर्क होगा।

छात्रों की सफलता-असफलता का मापदण्ड एकमात्र वार्षिक परीक्षा के आधार पर था।वार्षिक परीक्षा की उत्तर-पुस्तिकाओं को जांचने का नियन्त्रण बोर्ड के पास ही था।जबकि छात्र-छात्राएं पूरे सत्र अध्यापकों और स्कूल संचालकों के संपर्क में रहता है। इसलिए अध्यापकों की भूमिका छात्र-छात्राओं की सफलता-असफलता में नगण्य थी।
अतः इस प्रकार का मूल्यांकन वस्तुनिष्ठ नहीं था।ऐसी स्थिति में 12वीं गणित की परीक्षा का पैटर्न बदला (12th mathematics exam pattern changed) साथ में अंग्रेजी परीक्षा का पैटर्न भी बदला है।अब प्रोजेक्ट वर्क के आधार पर स्कूल के अध्यापकों के पास भी मूल्यांकन का आधार रहेगा।काउंसिल फार द इंडियन स्कूल सíटफिकेट एग्जामिनेशन (सीआइएससीई) ने आइएससी 12वीं की गणित की परीक्षा का पैटर्न बदला(12th mathematics exam pattern changed), इससे छात्र-छात्राओं के मूल्यांकन में वस्तुनिष्ठता आएगी।
बोर्ड द्वारा समय-समय पर इस प्रकार के नवीन तथा प्रगतिशील परिवर्तन किए जाते रहें और उनकी मानिटरिंग की जाती रहे तो छात्र-छात्राओं के हित में ही रहेगा।
केवल वार्षिक परीक्षा के आधार पर छात्र-छात्राओं को उत्तीर्ण करना न्यायोचित नहीं था।वार्षिक परीक्षा के आधार पर उत्तीर्ण व अनुत्तीर्ण करने से छात्र-छात्राओं को रटने के लिए प्रोत्साहित करना था।
जो छात्र-छात्राएं परीक्षा के निकट एक-दो माह में रट लेते थे,वे उत्तीर्ण हो जाते थे।जो छात्र-छात्राएं सालभर परिश्रमपूर्वक पढ़ते थे परन्तु वार्षिक परीक्षा के निकट किसी कारणवश तैयारी नहीं कर पाते थे,वे अनुत्तीर्ण हो जाते थे।
छात्र-छात्राएं पाठ्य पुस्तकों को पढ़ने में रुचि नहीं लेते थे बल्कि परीक्षा के निकट माॅडल पेपर्स व सीरीज को रटकर उत्तीर्ण हो जाते हैं। इससे छात्र-छात्राओं का उचित विकास नहीं होता था।परन्तु अब प्रोजेक्ट वर्क करने के कारण उनको पाठ्य पुस्तकें पढ़नी होगी तभी प्रोजेक्ट वर्क किया जा सकेगा।
माॅडल पेपर्स और सीरीज पढ़कर उत्तीर्ण होने की संस्कृति पर रोक लगेगी। लेकिन स्कूलों और स्कूल संचालकों को प्रोजेक्ट वर्क को केवल खानापूर्ति न समझकर इसे छात्र-छात्राओं के विकास से जोड़कर समझना होगा।अन्यथा यह कदम केवल खानापूर्ति होकर रह जाएगा। छात्र-छात्राओं के लिए यह अंक प्राप्त करने का सबसे सुगम तरीका बन जाएगा।
बोर्ड और स्कूल प्रशासन दोनों को इस मामले में सावचेत रहना चाहिए। समय-समय पर इसकी जांच होते रहनी चाहिए कि प्रोजेक्ट वर्क केवल अंक अर्जित करने का माध्यम ही बनकर न रह जाए।कई ऐसे स्टेट बोर्ड ने प्रोजेक्ट वर्क प्रारम्भ किया परन्तु अब वे प्रोजेक्ट वर्क केवल अंक अर्जित करने के माध्यम बनकर रह गए हैं। छात्र-छात्राओं से प्रोजेक्ट वर्क केवल खानापूर्ति के लिए करवाए जाते हैं अथवा नहीं भी करवाए जाते हैं।क्योंकि प्रोजेक्ट वर्क की जांच पड़ताल का सिस्टम नहीं है। इसलिए 12वीं की गणित परीक्षा का पैटर्न बदला(12th mathematics exam pattern changed) है उसमें इस बात का ध्यान रखना चाहिए तभी यह कदम सार्थक होगा।
आपको यह जानकारी रोचक व ज्ञानवर्धक लगे तो अपने मित्रों के साथ इस गणित के आर्टिकल को शेयर करें ।यदि आप इस वेबसाइट पर पहली बार आए हैं तो वेबसाइट को फॉलो करें और ईमेल सब्सक्रिप्शन को भी फॉलो करें जिससे नए आर्टिकल का नोटिफिकेशन आपको मिल सके ।यदि आर्टिकल पसन्द आए तो अपने मित्रों के साथ शेयर और लाईक करें जिससे वे भी लाभ उठाए ।आपकी कोई समस्या हो या कोई सुझाव देना चाहते हैं तो कमेंट करके बताएं। इस आर्टिकल को पूरा पढ़ें।

Also Raed This Article:-How to prepare for JEE and NEET at home?

2.12वीं की गणित की परीक्षा का पैटर्न बदल गया (12th mathematics exam pattern changed)-

Tue, 19 May 2020
काउंसिल फार द इंडियन स्कूल सíटफिकेट एग्जामिनेशन (सीआइएससीई) ने बदलाव किया है।
रांची : काउंसिल फार द इंडियन स्कूल सíटफिकेट एग्जामिनेशन (सीआइएससीई) ने आइएससी (12वीं) की इंग्लिश और गणित की परीक्षा का पैटर्न बदल दिया( 12th mathematics exam pattern changed)। वर्ष 2021 में होने वाली 12वीं की बोर्ड परीक्षा में इंग्लिश और मैथ के पेपर में थ्योरी के अलावा प्रोजेक्ट वर्क भी होंगे। दोनों विषयों की 100-100 अंकों के पेपर में अब 80 अंकों की थ्योरी और 20 अंकों का प्रोजेक्ट वर्क होगा। इससे पहले दोनो विषयों में 100-100 अंकों का केवल थ्योरी होता था। गौरतलब है कि सीआइसीएसई ने वर्ष 2022 की परीक्षा से यह नया पैटर्न लागू करने की बात कही थी, लेकिन अब 2021 से ही लागू करने का निर्णय लिया है। इसकी नोटिस भी जारी कर दिया है। गणित में तीन सेक्शन से दो प्रोजेक्ट सीआइएससीई ने कहा है कि इंग्लिश और गणित दोनो विषयों का स्पेसीमैन क्वेश्चन पेपर जल्द ही वेबसाइट पर जारी कर दिया जाएगा ताकि 2021 की बोर्ड परीक्षा में शामिल होने वाले विद्याíथयों को परीक्षा की तैयारी करने में परेशानी नहीं हो। प्रोजेक्ट वर्क के असाइनमेंट का मेथड वेबसाइट डब्ल्यूडबल्यूडब्ल्यू.सीआइएससीईथ.ओआरजी पर उपलब्ध है। गणित के प्रोजेक्ट वर्क में तीन सेक्शन होंगे। सेक्शन ए में छह टॉपिक्स में से एक का चयन कर उस पर प्रोजेक्ट तैयार करना है। इसके बाद सेक्शन बी और सी में तीन-तीन टॉपिक्स होंगे। इनमें से किसी एक पर प्रोजेक्ट तैयार करना होगा।

3.थ्योरी तथा प्रोजेक्ट वर्क में अंकों का बंटवारा (Division of marks in theory and project work)-

प्रोजेक्ट वर्क इंग्लिश के दोनों पेपर वन व टू में लागू होगा। पेपर वन में कुल 20 अंकों के प्रोजेक्ट वर्क में लिसनिंग स्किल और स्पीकिंग स्किल 5-5 अंकों का होगा। दोनों इंटर्नल होगा। इसके बाद राइटिंग स्किल में 5 अंक का इंटर्नल व 5 अंक का एक्सटर्नल होगा। इसमें दिए गए टॉपिक पर 500 शब्दों में लिखना होगा। पेपर टू के प्रोजेक्ट वर्क भी 20 अंकों का होगा। इसमें दिए गए टॉपिक पर 100 शब्दों में लिखना है। छात्रों के लिए अच्छी बात यह है कि दोनों पेपर में जो टॉपिक दिए गए हैं उसमें से किसी एक का चयन कर उस विषय पर बोलना, लिखना या सुनना है। लिसनिंग व स्पीकिंग में तीन टॉपिक्स में एक का चयन करना है। राइटिंग में चार टॉपिक्स में एक पर लिखना है। पेपर टू में पाच टॉपिक्स में से किसी एक पर लिखना है।

4.CBSE Datesheet 2020: सीबीएसई ने जारी की डेट शीट, जानें 12वीं/10वीं की बची परीक्षाओं की तिथियां (CBSE Datesheet 2020: CBSE released the date sheet, know the dates of the remaining examinations of 12th / 10th)-

Tue, 19 May 2020
CBSE Datesheet 2020 के अनुसार 1 जुलाई को होम साइंस का पेपर आयोजित किया जाएगा जबकि 2 जुलाई को हिन्दी इलेक्टिव और हिन्दी कोर का पेपर होगा।
नई दिल्ली,CBSE Datesheet 2020: सीबीएसई बोर्ड ने 12वीं की बची हुई परीक्षाओं की डेटशीट आज 18 मई को जारी कर दी हैं। कक्षा 12 की बची परीक्षाओं के लिए आज जारी डेटशीट के अनुसार विषय के अनुसार बची परीक्षाओं का आयोजन 1 जुलाई से 11 जुलाई 2020 के बीच किया जाएगा। वहीं, कक्षा 10 के लिए जारी डेटशीट के अनुसार परीक्षाएं 1 जुलाई से 15 जुलाई के बीच आयोजित होंगी।
सीबीएसई डेटशीट 2020 में कक्षा 12 के बोर्ड एग्जाम के लिए 1 जुलाई 2020 को होम साइंस का पेपर आयोजित किया जाएगा, जबकि 2 जुलाई को हिंदी इलेक्टिव और हिंदी कोर का पेपर होगा। सबसे अंत में 15 जुलाई को नॉर्थ-ईस्ट दिल्ली के स्कूलों में मैथ, इकोनॉमिक्स, हिस्ट्री और बायोलॉजी का आयोजन होगा। हालांकि, ऑल इंडिया के स्कूलों में अंतिम पेपर 13 जुलाई 2020 को सोशियोलॉजी का होगा।
दूसरी तरफ, सीबीएसई बोर्ड एग्जाम डेटशीट 2020 में कक्षा 10 के लिए 1 जुलाई 2020 को  सोशल साइंस को पेपर होगा और सबसे अंत में 15 जुलाई को इंग्लिश कम्युनिकेटिव और इंग्लिश लैंग्वेज और लिटरेचर के पेपर होंगे।
सीबीएसई 12वीं की बची बोर्ड परीक्षाओं की तिथियां और डेटशीट
1 जुलाई – होम साइंस
2 जुलाई – हिन्दी इलेक्टिव और हिन्दी कोर
3 जुलाई – फिजिक्स (नॉर्थ ईस्ट दिल्ली के लिए)
4 जुलाई – एकाउंटेंसी (नॉर्थ ईस्ट दिल्ली के लिए)
6 जुलाई – केमिस्ट्री (नॉर्थ ईस्ट दिल्ली के लिए)
7 जुलाई – इन्फॉर्मेटिक्स प्रैक्टिकल (न्यू), कंप्यूटर साइंस (न्यू), इन्फॉर्मेटिक्स प्रैक्टिकल (ओल्ड), कंप्यूटर साइंस (ओल्ड)
8 जुलाई – इंग्लिश इलेक्टिव-एन,  इंग्लिश इलेक्टिव-सी, इंग्लिश कोर (नॉर्थ ईस्ट दिल्ली के लिए)
9 जुलाई – बिजनेस स्टडीज
10 जुलाई – बायोटेक्नोलॉजी
11 जुलाई – जियोग्राफी
13 जुलाई – सोशियोलॉजी
14 जुलाई – पॉलिटिकल साइंस (नॉर्थ ईस्ट दिल्ली के लिए)
15 जुलाई – मैथमेटिक्स, इकोनॉमिक्स, हिस्ट्री, बायोलॉजी (नॉर्थ ईस्ट दिल्ली के लिए)
सीबीएसई 10वीं की बची बोर्ड परीक्षाओं (सिर्फ नॉर्थ-ईस्ट दिल्ली) की तिथियां और डेटशीट
1 जुलाई – सोशल साइंस
2 जुलाई- साइंस थ्योरी, साइंस (बिना प्रैक्टिल के)
10 जुलाई- हिंदी कोर्स ए, हिंदी कोर्स बी
15 जुलाई- इंग्लिश कम्युनिकेटिव, इंग्लिश भाषा व साहित्य
इससे पहले, मानव संसाधन और विकास मंत्री रमेश पोखरियाल ने इस संबंध में शनिवार को ट्वीट कर छात्रों को जानकारी दी थी कि सीबीएसई डेटशीट के बारे में अपडेट छात्र बोर्ड की ऑफिशियल वेबसाइट, cbse.nic.in से आज शाम 5 बजे से ले पाएंगे। हालांकि, बोर्ड द्वारा डेटशीट जल्दी जारी कर दी गयी है।
बता दें कि हाल ही में सीबीएसई बोर्ड ने बची हुई परीक्षाओं कराने के लिए तारीखों का ऐलान किया था। परीक्षा 1 जुलाई से 15 जुलाई के बीच आयोजित की जाने की घोषणा की गयी थी। इसके बाद से ही स्टूडेंट्स पूरी डेटशीट जारी करने का इंतजार कर रहे थे,लेकिन आज फाइनली उनका इंतजार खत्म हो गया है।
इस प्रकार काउंसिल फार द इंडियन स्कूल सर्टिफिकेट एग्जामिनेशन (सीआइएससीई) ने12वीं गणित परीक्षा का पैटर्न बदला(12th mathematics exam pattern changed) तथा सीबीएसई ने जारी की डेटशीट की सूचना पर अपनी प्रतिक्रियाओं से अवगत कराएं।

Also Raed This Article:-7 Tips to write best study notes

No. Social Media Url
1. Facebook click here
2. you tube click here
3. Twitter click here
4. Instagram click here
5. Linkedin click here
6. Facebook Page click here

No Responses

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *