Menu

When to start preparing for JEE?

1.JEE की तैयारी कब शुरू करें?(When to start preparing for JEE?)-

  • जेईई की तैयारी कब शुरू करें (When to start preparing for JEE) यह प्रश्न माता-पिता ,अभिभावक तथा छात्रों के मस्तिष्क में उठता रहता है।इंजीनियरिंग हो,मेडिकल हो या अन्य किसी प्रतियोगिता की प्रवेश परीक्षा हो,हर प्रवेश परीक्षा के लिए परीक्षा की तैयारी करनी होती है।इन सभी में प्रवेश लेने वाले छात्रों के मस्तिष्क में ये सवाल उठता है कि आखिर इन प्रतियोगिता प्रवेश परीक्षाओं की तैयारी के लिए उचित समय कब से हो सकता है?
  • कई बार माता-पिता, छात्रों को इन प्रतियोगिता परीक्षाओं की तैयारी छठी ,सातवीं और आठवीं से शुरू करा देते हैं। अभिभावक व माता-पिता उनको इन कक्षाओं से कोचिंग क्लास में भेजना प्रारंभ कर देते हैं।इस प्रकार छोटी उम्र में ही बच्चों पर अनावश्यक तनाव हावी हो जाता है।इसलिए इन कक्षाओं में अलग से JEE, इंजीनियरिंग, मेडिकल जैसी प्रतियोगिता परीक्षाओं हेतु इस उम्र से ही कोचिंग क्लास भेजने के बजाय हमारा फोकस इस बात पर रहना चाहिए कि छात्र जिन क्लासेज में पढ़ रहे हैं उसका पाठ्यक्रम ठीक से समझ में आ रहा है या नहीं।इस आर्टिकल में जानने की कोशिश करेंगे कि JEE की तैयारी कब शुरू करें।
  • आपको यह जानकारी रोचक व ज्ञानवर्धक लगे तो अपने मित्रों के साथ इस गणित के आर्टिकल को शेयर करें ।यदि आप इस वेबसाइट पर पहली बार आए हैं तो वेबसाइट को फॉलो करें और ईमेल सब्सक्रिप्शन को भी फॉलो करें जिससे नए आर्टिकल का नोटिफिकेशन आपको मिल सके ।यदि आर्टिकल पसन्द आए तो अपने मित्रों के साथ शेयर और लाईक करें जिससे वे भी लाभ उठाए ।आपकी कोई समस्या हो या कोई सुझाव देना चाहते हैं तो कमेंट करके बताएं। इस आर्टिकल को पूरा पढ़ें।

Also Read This Article-How to Increase Memory in Examination?

2.JEE की तैयारी कब शुरू करें?(When to start preparing for JEE?)-

  • कक्षा नौवीं के छात्र में समझ इतनी विकसित हो जाती है कि वह प्रतियोगिता परीक्षाओं के बारे में समझने लगता है। इस उम्र में छात्र अपनी रुचि के अनुसार करियर की दिशा निश्चित करने में सक्षम होता है।यदि छात्र को पिछली कक्षाओं की बेसिक बातें क्लियर है तो आसानी से प्रतियोगिता परीक्षाओं की तैयारी कर सकता है।
  • JEE,इंजीनियरिंग तथा मेडिकल जैसी प्रवेश परीक्षाओं के लिए उचित समय नौंवी कक्षा से प्रारंभ होता है।यह छात्रों के लिए आदर्श आयु है जब प्रतियोगिता परीक्षाओं की तैयारी शुरू कर सकता है।नौवीं कक्षा से विभिन्न प्रतियोगिता परीक्षाओं जैसेJEE, इंजीनियरिंग ,मेडिकल ,सीपीटी ,NEET तथा अन्य प्रवेश प्रतियोगिता परीक्षाओं हेतु शुरू करने के लाभ निम्न है-
  • (1.)विद्यार्थी में अपने कोर्स की तैयारी के लिए इस आयु में समझ विकसित हो जाती है जिससे वह तैयारी पर अधिक फोकस कर सकता है।
  • (2.)यदि छठ्ठी, सातवीं तथा आठवीं के पाठ्यक्रम को ठीक से क्लियर किया होगा तो मेडिकल या इंजीनियरिंग की प्रतियोगिता परीक्षाओं के लिए सभी विषयों की बेसिक क्लियर हो जाती है।
  • (3.)सभी विषयों पर अच्छी पकड़ बनाने के लिए कक्षा नौवीं के छात्र का दिमाग ठीक से विकसित हो जाता है।
  • (4.)कठिन सवालों पर प्रैक्टिस ,टाइम मैनेजमेंट ,छोटी-छोटी गलतियों में सुधारने के लिए सही से ध्यान दे पाता है और उसके पास पर्याप्त समय होता है।
  • (5.)सभी पढ़े हुए टॉपिक्स को अच्छी तरह पुनरावृत्ति करने की समझ विकसित हो जाती है।

3.नौवीं तथा दसवीं कक्षा की भूमिका (Role of 9th and 10th Class)-

  • किसी भी प्रतियोगिता परीक्षा की तैयारी के लिए यह आवश्यक नहीं है कि पूरे दिन-रात पढ़ाई में बिता दिया जाए।छात्र के बचपन को छीनकर अनावश्यक रूप से उसकी जिंदगी में तनाव पैदा कर दिया जाए।इसलिए JEE की तैयारी कब शुरू करें,यह निश्चित करना जरूरी है।छात्र को पढ़ाकू बनाने से कोई फायदा नहीं है।कक्षा आठ तक छात्र,कक्षा के पाठ्यक्रम को कक्षा में ठीक से पढ़े और उसको समझने की कोशिश करें।
  • नौवीं तथा दसवीं कक्षा में पाठ्यक्रम पर आधारित प्रश्नों को अच्छी तरह समझकर अभ्यास करें जिससे उसकी कांसेप्ट क्लियर हो जाए।कक्षा नौवीं तथा दसवीं में छात्र जब अपने करियर की दिशा तय कर लेता है तो उसकी तैयारी शुरू कर देता है।प्रतियोगिता प्रवेश परीक्षाओं में ग्यारहवीं तथा बारहवीं की अहम भूमिका होती है।JEE, इंजीनियरिंग,मेडिकल ,सीपीटी इत्यादि प्रवेश परीक्षाओं का पाठ्यक्रम ग्यारहवीं तथा बारहवीं के पाठ्यक्रम पर आधारित होता है। इसलिए ग्यारवीं तथा बारहवीं में छात्र प्रवेश परीक्षाओं की तैयारी अच्छी तरह कर सकता है।

Also Read This Article-How to Reduce Exam Anxiety and Stress?

4.प्रवेश परीक्षाओं के लिए टिप्स (Tips for entrance exams)-

  • JEE की तैयारी कब शुरू करें (When to start preparing for JEE) या अन्य प्रवेश परीक्षाओं की तैयारी कब करें,इसे जानने के बाद प्रतियोगिता परीक्षाओं के लिए कुछ टिप्स निम्न है-
  • (1.)NCERT (एनसीईआरटी) की पुस्तकें पढ़ने के बाद संदर्भ पुस्तकें एक या दो ही पढ़ें। अधिक पुस्तकों से कन्फ्यूजन तथा दुविधा बढ़ जाती है।
  • (2.)गत वर्षों के प्रश्न-पत्र तथा मॉडल पेपर्स को अच्छी तरह हल करें।
  • (3.)पढ़े हुए टॉपिक्स की समय-समय पर पुनरावृत्ति करते रहें जिससे टाॅपिक्स को आप भूलेंगे नहीं।
  • (4.)समय-सारणी का दृढ़तापूर्वक पालन करें, बार-बार समय-सारणी न बदलें।
  • (5.)जिस विषय या टॉपिक में छात्र कमजोर है,उनको अधिक समय दें।
  • (6.)कठिन विषय या टॉपिक को समझने के लिए शिक्षक या मित्रों से मदद लेने में संकोच न करें।
  • (7.)सूत्रों के लिए छोटी नोटबुक बना ले और सूत्रों को दोहराते रहें।
  • (8.)महत्त्वपूर्ण पाइंट्स के नोट्स तैयार करें।
  • (9.)परीक्षा की समय सीमा के अनुसार सैंपल पेपर्स ,प्रैक्टिस पेपर्स तथा ऑनलाइन टेस्ट का अभ्यास अवश्य करें।

5.निष्कर्ष (Conclusion)-

  • सबसे महत्वपूर्ण है कि आप नवमी तथा दसवीं में अपने कैरियर का चुनाव करें ।कैरियर का चुनाव करके उसकी तैयारी में आने वाली कठिनाइयों का सुदृढ़ संकल्प के साथ सामना करें।अपने आप को प्रेरित करते रहें। यदि सुदृढ़ संकल्प के साथ आपने तैयारी प्रारंभ कर दी तो कोई भी प्रतियोगिता परीक्षा हो या केरियर हो उसमें सफलता अवश्य मिलेगी ।आशा है यह आपको समझ में आ गया होगा कि JEE की तैयारी कब शुरू करें (When to start preparing for JEE) और कैसे करें?
No.Social MediaUrl
1.Facebookclick here
2.you tubeclick here
3.Twitterclick here
4.Instagramclick here
5.Linkedinclick here
6.Facebook Pageclick here

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *