Menu

Students enjoying summer camp at home

1.छात्र घर पर उठा रहे समर कैंप का लुत्फ का परिचय (Introduction to Students enjoying summer camp at home)-

छात्र घर पर उठा रहे समर कैंप का लुत्फ (Students enjoying summer camp at home) ,के बारे में इस आर्टिकल में बताया गया है। कोरोनावायरस के कारण फैली महामारी के कारण देश में लाॅकडाउन लागू कर दिया गया है।ऐसी स्थिति में बहुत से छात्रा-छात्राएं आनलाईन के माध्यम से अपनी पढ़ाई जारी रखे हुए हैं। परन्तु आनलाईन शिक्षा से सभी छात्र लाभ नहीं उठा पा रहे हैं। पढ़ाई-लिखाई के साथ-साथ छात्र घर पर उठा रहे समर कैंप का लुत्फ (Students enjoying summer camp at home) से बहुत कुछ सीखा जा सकता है।आज हम राजीव इंटरनेशनल स्कूल के छात्र घर पर उठा रहे समर कैंप का लुत्फ (Students enjoying summer camp at home) का विश्लेषण करेंगे।
आपको यह जानकारी रोचक व ज्ञानवर्धक लगे तो अपने मित्रों के साथ इस गणित के आर्टिकल को शेयर करें ।यदि आप इस वेबसाइट पर पहली बार आए हैं तो वेबसाइट को फॉलो करें और ईमेल सब्सक्रिप्शन को भी फॉलो करें जिससे नए आर्टिकल का नोटिफिकेशन आपको मिल सके ।यदि आर्टिकल पसन्द आए तो अपने मित्रों के साथ शेयर और लाईक करें जिससे वे भी लाभ उठाए ।आपकी कोई समस्या हो या कोई सुझाव देना चाहते हैं तो कमेंट करके बताएं। इस आर्टिकल को पूरा पढ़ें।

Also Read This Article:-Mathematics required for cooking food

2.छात्र घर पर उठा रहे समर कैंप का लुत्फ (Students enjoying summer camp at home)-

मथुरा में स्थित राजीव इंटरनेशनल स्कूल के छात्र-छात्राएं लाॅकडाउन के कारण आनलाईन शिक्षा के माध्यम से अपना पठन-पाठन का कार्य सुचारू रूप से जारी रखे हुए हैं। वहीं उन्हें घर बैठे कल्चरल,योग और एयरोबिक्स की जानकारी दी जा रही है।20,मई से शुरू हुए समर कैंप में छात्र-छात्राओं को शिक्षकों द्वारा डांस,म्यूजिक, कुकिंग, पेंटिंग,क्राफ्ट,ट्रिकी मैथमेटिक्स,योगा,आईटी सिक्योरिटी, कैलीग्राफी, एयरोबिक्स,कम्प्यूटर, ट्रैनिंग आदि की जानकारी दी जा रही है।
कोरोना संक्रमण के कारण स्कूल बहुत समय से बंद हैं। लेकिन शिक्षक आनलाईन माध्यम से छात्र-छात्राओं के सम्पूर्ण व्यक्तित्व विकास पर निरन्तर ध्यान दे रहे हैं। विद्यार्थी के जीवन में शिक्षा के साथ-साथ सांस्कृतिक गतिविधियों का भी महत्त्व है। छात्रों के व्यक्तित्व के विकास में सांस्कृतिक कार्यक्रम, जहां उनके मन को तरोताजा रखती है वही इनसे आपसी समन्वय भी बढ़ता है। सांस्कृतिक गतिविधियां छात्र-छात्राओं को कड़े परिश्रम के साथ उन्हें पढ़ाई के लिए उत्साह प्रदान करती है।
राजीव इंटरनेशनल स्कूल के शिक्षकों द्वारा 20 से 31मई तक आनलाईन समर कैंप का आयोजन किया गया है। छात्र-छात्राओं की घर बैठे ही एयरोबिक्स और कल्चरल कार्यक्रमों की जानकारी दी जा रही है। छात्र-छात्राओं को डांस, म्यूजिक, कुकिंग, पेंटिंग,ओरिग्मी क्राफ्ट,ट्रिकी मैथमेटिक्स,आईटी सिक्योरिटी, कैलीग्राफी,योगा और एयरोबिक्स,बेस्ट आउट आफ वास्ते,कम्प्यूटर ट्रैनिंग की जानकारी देने का दायित्व अलग-अलग शिक्षकों को सौंपा गया है।
इस प्रकार के सांस्कृतिक कार्यक्रमों से बच्चों में अपनी संस्कृति से जुड़ाव सुनिश्चित होता है।बच्चे समाज व अपनी विभिन्न संस्कृतियों से परिचित होते हैं।

3.निष्कर्ष (Conclusion)-

राजीव इंटरनेशनल स्कूल, मथुरा के द्वारा किए गए इस आयोजन से छात्र घर पर उठा रहे समर कैंप का लुत्फ(Students enjoying summer camp at home) ।इस तरह के कार्यक्रमों से लाॅकडाउन के कारण छात्र-छात्राओं के खाली समय का सदुपयोग तो होता ही है, साथ ही उनमें कई गुणों का विकास होता है।
राजीव इंटरनेशनल स्कूल, मथुरा से अन्य स्कूल व शिक्षण संस्थाएं प्रेरणा लेकर छात्र-छात्राओं को रचनात्मक कार्यों को सीखा सकती है।
इस प्रकार के कार्यक्रमों से छात्र-छात्राओं में कई गुणों का विकास होता है जैसे-अनुशासन,संयम,शिक्षा के प्रति आदर की भावना, सहनशीलता, सहृदयता, भावात्मक स्थिरता, उत्तरदायित्व की भावना,पहल करने की क्षमता, क्षमाशीलता,सहयोग इत्यादि। इसलिए शिक्षण संस्थानों को इस प्रकार की कल्चरल गतिविधियों को आनलाईन आयोजित किया जाना चाहिए जिससे,छात्र घर पर उठा रहे समर कैंप का लुत्फ ( Students enjoying summer camp at home) की तरह उनके छात्र-छात्राएं भी लुत्फ उठा सकें।
बहुत से शिक्षण संस्थान लाॅकडाउन के कारण बंद पड़े हैं तथा उनके संचालक हाथ पर हाथ धरकर बैठे हुए हैं। परन्तु कुछ शिक्षण संस्थान इस विपरीत स्थिति में भी छात्र-छात्राओं को किसी न किसी माध्यम से कुछ न कुछ सीखाते रहे हैं।वे सीखने सीखाने का कोई न कोई माध्यम ढूंढ लेते हैं।
सही और अच्छे शिक्षण संस्थान का पता विपरीत हालातों में लगता है।जो शिक्षण संस्थान विपरीत हालातों में भी छात्र-छात्राओं से किसी न किसी प्रकार जुड़े हुए रहते हैं।जुड़े रहने के साथ-साथ शिक्षा तथा एक्सट्रा करीकुलर एक्टिविटीज चालू रखते हैं।सच्चे मायने में ऐसे शिक्षण संस्थान ही शिक्षा का सही अर्थ जानते हैं।वरना अधिकतर शिक्षण संस्थान व्यावसायिक हैं।वे शिक्षण संस्थान इसलिए खुले हुए हैं कि उनको केवल धनार्जन करना है। छात्र-छात्राओं को गुणवत्तापूर्ण शिक्षा प्रदान करने से उनको कोई मतलब नहीं है। छात्र-छात्राओं, माता-पिता, अभिभावकों को ऐसे शिक्षण संस्थानों से सजग,सतर्क व चौकस रहना है।
इस प्रकार छात्र घर पर उठा रहे समर कैंप का लुत्फ (Students enjoying summer camp at home) से बहुत कुछ सीखा जा सकता है।

Also Read This Article:-online study tools for college students

No. Social Media Url
1. Facebook click here
2. you tube click here
3. Twitter click here
4. Instagram click here
5. Linkedin click here
6. Facebook Page click here

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *