Menu

Mathematics required for cooking food

1.भोजन पकाने के लिए गणित आवश्यक का परिचय (Introduction to Mathematics required for cooking food):-

भोजन पकाने के लिए गणित आवश्यक(Mathematics required for cooking food) है ,भोजन चाहे महिला पकाए या पुरुष ।गणित की समझ के लिए यह आवश्यक नहीं है कि वह औपचारिक शिक्षा संस्थानों में अर्जित की गई हो।भोजन पकाने के लिए गणित आवश्यक(Mathematics required for cooking food) है इसका अर्थ है कि हमारे व्यावहारिक जीवन के लिए आवश्यक व्यावहारिक गणित का ज्ञान अर्जित कर लिया जाए।
व्यावहारिक गणित का ज्ञान शिक्षण संस्थानों से अर्जित हो अथवा परिवार व समाज से प्राप्त हो।परंतु आजकल शिक्षा अर्जित करने का माध्यम शिक्षा संस्थान तथा सोशल मीडिया ही हो गया है।
छात्र-छात्राएं समाज व परिवार से कटते जा रहे हैं और सोशल मीडिया की तरफ उनका रुझान बढ़ता जा रहा है।
इस आर्टिकल में भोजन पकाने के लिए गणित आवश्यक(Mathematics required for cooking food) इसलिए बताया गया है कि भोजन में नमक कितनी मात्रा में डालना है, सब्जी में नमक ,मिर्च ,हल्दी की कितनी मात्रा डालनी है इसके लिए गणित का व्यावहारिक ज्ञान होना आवश्यक है।
जो महिलाएं केवल अनुमान के आधार पर मसालों का प्रयोग करती हैं ,सामान्यत: वे स्वादिष्ट भोजन नहीं बना पाती हैं।क्योंकि मसाले की कम या अधिक मात्रा भोजन व सब्जी का स्वाद बिगाड़ देती है।
संपन्न घरों में रसोइया इसीलिए रखा जाता है कि उसे भोजन बनाने के लिए गणित की गणना का ज्ञान होता है।एक अध्ययन में यह प्रमाणित हुआ है जिन महिलाओं को स्वादिष्ट भोजन बनाना आता है उन्हें गणित का व्यावहारिक ज्ञान तथा गणित की समझ अधिक थी।
भोजन बनाने के लिए सब्जी में कितना पानी डालना है, कितना मसाला डालना है तथा अन्य भोज्य पदार्थों को किस तरह तैयार करना है इसके लिए गणित की गणना की आवश्यकता होती है।
इस प्रकार गणित के ज्ञान की आवश्यकता हर कहीं महसूस की जाती है।गणित और विज्ञान से पढ़े हुए छात्र-छात्राएं नौकरी भी आसानी से प्राप्त कर लेते हैं।
इस आधुनिक युग में रसोई से लेकर हर कहीं गणित के ज्ञान की आवश्यकता होती है।बहुत से छात्र-छात्राएं गणित के कठिन लेवल को जानकर गणित से दूर भागते हैं।परंतु गणित के ज्ञान का महत्व समझ कर इसे जीवन में अपनाना चाहिए।आधुनिक युग में तकनीकी का क्षेत्र बढ़ता जा रहा है परंतु तकनीकी में कोडिंग के लिए भी गणित के ज्ञान की आवश्यकता है।
हालांकि यह आवश्यक नहीं है कि जो छात्र-छात्राएं गणित में फेल हो जाते हैं वे जीवन में सफल हो ही नहीं सकते हैं। लेकिन ऐसे छात्र-छात्राओं का जीवन संघर्ष से भरा हुआ होता है। उन्हें बहुत सी कठिनाइयों का सामना करना होता है।जीवन में कई समझौते करने होते हैं।तब कहीं जाकर उन्हें सफलता मिलती है।
इसलिए यदि कठिनाइयों का सामना करना ही है तो क्यों नहीं गणित में ज्यादा प्रयास करके इसका प्रारंभिक ज्ञान प्राप्त कर लिया जाए।यदि गणित का प्रारंभिक ज्ञान प्राप्त कर लेते हैं तो हमारा सफलता का रास्ता थोड़ा आसान हो जाता है।इस आर्टिकल में इसीलिए भोजन पकाने के लिए गणित आवश्यक(Mathematics required for cooking food) है,के बारे में बताया गया है।जब स्वादिष्ट भोजन पकाने में भी गणित की समझ आवश्यक है तो इसके आधार पर अनुमान लगाया जा सकता है कि हमें गणित के ज्ञान की हर कहीं कितनी आवश्यकता हो सकती है।
भोजन पकाने के लिए गणित आवश्यक(Mathematics required for cooking food) है इस रूपक के द्वारा समझा जा सकता है कि महिलाओं ,राजमिस्त्री, मजदूर, डॉक्टर, दुकानदार इत्यादि हर किसी को गणित की समझ जरूरी है।इसलिए भोजन पकाने के लिए गणित आवश्यक है इसके माध्यम से यह सीख लेनी चाहिए छात्र-छात्राओं को जो अवसर मिला है उसमें गणित का आवश्यक ज्ञान जरूर प्राप्त करें।

आपको यह जानकारी रोचक व ज्ञानवर्धक लगे तो अपने मित्रों के साथ इस गणित के आर्टिकल को शेयर करें ।यदि आप इस वेबसाइट पर पहली बार आए हैं तो वेबसाइट को फॉलो करें और ईमेल सब्सक्रिप्शन को भी फॉलो करें जिससे नए आर्टिकल का नोटिफिकेशन आपको मिल सके ।यदि आर्टिकल पसन्द आए तो अपने मित्रों के साथ शेयर और लाईक करें जिससे वे भी लाभ उठाए ।आपकी कोई समस्या हो या कोई सुझाव देना चाहते हैं तो कमेंट करके बताएं। इस आर्टिकल को पूरा पढ़ें।

Also Read This Article:-This Professor Will Teach You Math for Free While You are Social Distancing

2.भोजन पकाने के लिए गणित आवश्यक (Mathematics required for cooking food):-

जो महिलाएँ खाना बनाना नहीं जानतीं, वे गणित नहीं जानतीं – सांसद
ट्रोबू अमासमन के लिए सांसद (सांसद), मूसा अनिमेष ने यह विचार व्यक्त किया है कि महिलाएं गणित की समझ की कमी के कारण स्वादिष्ट भोजन तैयार करना नहीं जानती हैं।
उन्होंने एक महिला के लिए स्वादिष्ट भोजन तैयार करने के लिए कहा, उसे यह जानना होगा कि सूप और स्टू की तैयारी में इस्तेमाल होने वाली सामग्री की संख्या की गणना कैसे की जाए।
उनके अनुसार, उन सभी ने जो किसी महिला से अच्छा सूप या स्टू नहीं चखा है, मुख्य रूप से गणित में उक्त महिला की कमी के कारण है।
संसद सदस्य घाना और इज़राइल सरकार के बीच अठ्ठाईस करोड़ सात सौ पैंतालीस घाना सीडिस (Ghc88,795,645.00) के ऋण समझौते पर एक रिपोर्ट के लिए योगदान कर रहे थे, निर्माण, आपूर्ति और स्थापना के लिए शैक्षिक उपकरण के लिए 10 क्षेत्रीय विज्ञान, प्रौद्योगिकी, इंजीनियरिंग कला और गणित शिक्षा केंद्र।
“इससे पहले कि एक महिला अच्छा सूप बनाएगी, उसे यह जानना चाहिए कि वह सूप में कितने प्याज काट लेगी, उसे पता होना चाहिए कि टमाटर को सूप में कितना जाना चाहिए और यह सब गणित है”।
“अगर आपकी पत्नी है और आप खाना बनाने के लिए दूसरी महिला को पैसे दे रहे हैं, क्योंकि दूसरी महिला अच्छा खाना बना रही है, क्योंकि वह उसका गणित जानती है”, उन्होंने कहा “मेरी पत्नी वैसे भी खाना बनाना जानती है”।
सांसद के अनुसार, जिन लोगों के जीवन के कुछ पहलुओं में चीजें ठीक नहीं हैं, वे इस मामले पर सटीक गणना करने में असमर्थता के कारण हैं और यही कारण है कि उनका मानना ​​है कि इस घाटे को हल करने के लिए विज्ञान और गणित की शिक्षा को बढ़ावा दिया जाना चाहिए।
मप्र ने न केवल महिलाओं को गणित में उनकी कमी के लिए खराब भोजन तैयार करने का श्रेय दिया, बल्कि उन्होंने इमारतों में संरचनात्मक दोष के लिए राजमिस्त्री जैसे कारीगरों पर भी कटाक्ष किया क्योंकि उन्हें अपनी गणना सही नहीं मिली जो कि गणित है।

Also Read This Article:-online study tools for college students
कल मंजिल में विवाद के कारण, सांसद ने बेरोजगार युवाओं को भी इस मुद्दे पर ले लिया जो अपने सांसदों को सुरक्षित रोजगार में मदद करने के लिए कह रहे हैं, यह कहते हुए कि सांसदों के डेस्क पर पड़े आवेदनों की लंबी सूची सभी मानवता स्नातक हैं, एक क्षेत्र जो पहले से ही दबा हुआ है।
उन्होंने कहा, “अगर वे विज्ञान और गणित के स्नातक थे तो उन्हें नौकरी मिलना आसान हो सकता था क्योंकि नौकरी के अवसर व्यापक हैं।”

a2+b2=c2

No. Social Media Url
1. Facebook click here
2. you tube click here
3. Twitter click here
4. Instagram click here
5. Linkedin click here
6. Facebook Page click here

No Responses

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *