Menu

corona-infected math teacher’s passion

Contents hide
1 1.कोरोना से संक्रमित गणित अध्यापक का जूनून का परिचय (Introduction to corona-infected math teacher’s passion)-
1.2 3.विक्टर सन गणित शिक्षक कोरोना महामारी के बावजूद आनलाईन गणित कक्षाएं आयोजित कर रहे हैं (Victor Son math teacher conducting online math classes despite Corona epidemic)-

1.कोरोना से संक्रमित गणित अध्यापक का जूनून का परिचय (Introduction to corona-infected math teacher’s passion)-

कोरोना से संक्रमित गणित अध्यापक (corona-infected math teacher’s passion) का परिचय कराने से पहले हम आपको प्रोफेसर पो-शेन लोह तथा अध्यापक विक्टर सन तथा संजय सर के बारे में बता चुके हैं।
इस आर्टिकल में हम कोरोना से संक्रमित गणित अध्यापक किफायत हुसैन के बारे में बताएंगे। लेकिन किफायत हुसैन के बारे में बताने से पहले पुनः इन तीनों शिक्षकों पो-शेन लोह ,विक्टर सन तथा संजय सर के बारे में बताएंगे। इसके पश्चात् कोरोना से संक्रमित गणित अध्यापक किफायत हुसैन के बारे में बताएंगे।
आपको यह जानकारी रोचक व ज्ञानवर्धक लगे तो अपने मित्रों के साथ इस गणित के आर्टिकल को शेयर करें ।यदि आप इस वेबसाइट पर पहली बार आए हैं तो वेबसाइट को फॉलो करें और ईमेल सब्सक्रिप्शन को भी फॉलो करें जिससे नए आर्टिकल का नोटिफिकेशन आपको मिल सके ।यदि आर्टिकल पसन्द आए तो अपने मित्रों के साथ शेयर और लाईक करें जिससे वे भी लाभ उठाए ।आपकी कोई समस्या हो या कोई सुझाव देना चाहते हैं तो कमेंट करके बताएं। इस आर्टिकल को पूरा पढ़ें।

2.प्रोफेसर पो-शेन लोह आपको मुफ्त में गणित पढ़ाएंगे जब आप सामाजिक दूरी बना रहे हो(Professor Po-Shen Loh Will Teach You Math for Free While You are Social Distancing)-

आपको इस प्रोफ़ेसर के बारे में जानना चाहिए।कुछ लोग महाआपत्ति में मानवता का पाठ पढ़ाते हैं।यह दुनिया इन लोगों के कारण ही टिकी हुई है। इन प्रोफेसर का नाम है ,पो-शेन लोह(Po-Shen Loh) ।पो-शेन लोह (Po-Shen Loh) कार्नेगी मेलन विश्वविद्यालय में एक एसोसिएट प्रोफेसर है।
एक तरफ दुनिया भर में कोरोनावायरस के कारण खौफ का माहौल कायम है।चीन से फैले इस वायरस के कारण कई मौतें हुई है।परंतु खौफ के बावजूद गणित के इन प्रोफ़ेसर ने विद्यार्थियों को गणित पढ़ाने का संकल्प लिया है।इसे गणित के प्रति प्रेम और दीवानगी ही कहा जा सकता है ।वरना दुनिया में अधिकतर लोग अपने-अपने प्रोफेशन को छोड़कर घर में सिमट गए हैं।
अपने काम के प्रति समर्पण, दीवानगी तथा प्रेम मुश्किल हालात और कठिनाइयों में ही पता चलता है ।ये लक्षण प्रोफ़ेसर पो-शेन लोह (Po-Shen Loh) के संकल्प से पता चलता है। इन्होंने वीडियो के माध्यम से पढ़ाने का मानस बनाया है। गणित के इन प्रोफ़ेसर महोदय के इस जुनून को सुनकर व देखकर हर कोई उनका कायल हो सकता है। सोशल मीडिया पर गणित के प्रोफेसर पो-शेन लोह (Po-Shen Loh) सुर्खियां बटोर रहे हैं।
कुछ लोग इस तरह की महामारी में बेबस हो जाते हैं और हाथ पर हाथ धरकर बैठ जाते हैं।परंतु कुछ लोग इस महामारी या महाविपत्ति से लड़ने के लिए संघर्ष करते हैं, उसका समाधान ढूंढते हैं।जिन विद्यार्थियों को घर बैठे गणित शिक्षा अर्जित करनी है वे इनके वीडियो या यूट्यूब पर वीडियो देखकर गणित शिक्षा प्राप्त कर सकते हैं।यह सामाजिक दूरी कोरोना वायरस के कारण हुई है।कोरोना वायरस के कारण दुनिया के विकसित देश के निवासियों ने अपने आपको घर में सुरक्षित रहने का फैसला किया है।
इन प्रोफेसर के इस प्रकार के कार्य से इनके पैशन का पता चलता है। साथ ही गणित के प्रति इनके पैशन से यह भी पता चलता है कि कोरोना वायरस से लड़ते हुए भी अपने पैशन को जारी रख सकते हैं।हम भी गणित के इन प्रोफ़ेसर से सीख ले सकते हैं । बहुत से शिक्षकों को भी इनसे सीख लेनी चाहिए।अधिकांश शिक्षक समझते हैं कि विद्यार्थी पढ़ते हैं तो ठीक है और नहीं पढ़ते हैं तो ठीक है।वे हाथ पर हाथ धरकर बैठ जाते हैं।इस प्रकार की लापरवाही से विद्यार्थियों में गणित के प्रति नकारात्मक भावना पैदा होती है।
पो-शेन लोह (Po-Shen Loh) प्रोफेसर आपको मुफ्त में गणित पढ़ा रहे हैं तथा प्रोफेसर पो-शेन लोह (Po-Shen Loh) की तरह गणित के शिक्षक विक्टर सन ने भी वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के माध्यम से गणित पढ़ाने का निर्णय लिया था।
विक्टर सन, डार्विन(ऑस्ट्रेलिया) के रहने वाले थे।वे चंद्र नववर्ष के अवसर पर शंघाई यात्रा करने के लिए गए थे।इन गणित के शिक्षक की पोस्ट को हमने हमारे विचारों के साथ दिनांक 10 फरवरी, 2020 को प्रकाशित किया था।आपको उस आर्टिकल को भी पढ़ना चाहिए। अब पो-शेन लोह (Po-Shen Loh) जो अमेरिका में प्रोफेसर हैं ने भी सामाजिक दूरी बना रहे विद्यार्थियों को पढ़ाने का निर्णय लिया है।
इन दोनों शिक्षकों से हम कई बातें सीख सकते हैं।पहली बात किसी भी प्रोफेशन के प्रति प्रेम और दीवानगी के द्वारा आप मानवता का पाठ पढ़ा सकते हैं।दूसरी बात किसी भी प्रोफेशन के लिए पैशन का होना आवश्यक है।तीसरी बात आपमें पैशन है या नहीं इस बात की परीक्षा विपरीत हालात में अपने पैशन को जारी रखने पर होती है।
यह प्रोफेसर आपको मुफ्त में गणित पढ़ाएंगे जबकि आप सामाजिक दूरी बना रहे हैं (This Professor Will Teach You Math for Free While You are Social Distancing)तथा गणित शिक्षक कोरोना वायरस के बावजूद कक्षाएं आयोजित करता है।इन दोनों आर्टिकल के पात्र पो-शेन लोह (Po-Shen Loh)तथा विक्टर सन के सामने विपरीत परिस्थितियां हैं। इसके बावजूद उन्होंने अपना पैशन रखने का निर्णय लिया है,वाकई में ये प्रशंसा के पात्र हैं।

3.विक्टर सन गणित शिक्षक कोरोना महामारी के बावजूद आनलाईन गणित कक्षाएं आयोजित कर रहे हैं (Victor Son math teacher conducting online math classes despite Corona epidemic)-

दुनिया भर में कोरोनावायरस के कारण खौफ का माहौल कायम है।चीन से फैले इस वायरस के कारण कई मौतें हो गई है।परंतु खौफ के बावजूद एक गणित शिक्षक ने विद्यार्थियों को पढ़ाने के लिए ऐसा तरीका खोज निकाला जिससे विद्यार्थियों को गणित शिक्षा प्राप्त करने का नुकसान न उठाना पड़े।गणित शिक्षक के इस जुनून को सुनकर व देखकर हर कोई उनका कायल हो गया है।जिन विद्यार्थियों को कोरोनावायरस के कारण अस्पताल के अलग कमरे में रखा गया था उनको वीडियो चैट के माध्यम से शिक्षक ने गणित को पढ़ाना प्रारंभ किया है।
कुछ लोग तथा देश अपने निवासियों को ऐसी बीमारी से लड़ने के लिए उनको अपनी मौत मरने के लिए छोड़ देते हैं। पाकिस्तान ने चीन से अपने निवासियों को लेने से मना कर दिया जबकि भारत ने अपने निवासियों के प्रति संवेदना दर्शाते हुए एक विशेष विमान से उन लोगों को भारत में लेकर आए और उनका इलाज कर रहे हैं।
कहने का तात्पर्य है कि कुछ लोग किसी भी समस्या से लड़ने के लिए संघर्ष करते हैं,उसका समाधान ढूंढते हैं। कुछ लोग समस्या पैदा करते हैं और उसी का हिस्सा बने रहते हैं। जबकि कुछ लोग समाधान का हिस्सा बनते हैं और जो समस्याएं आती हैं उनका समाधान ढूंढते हैं।अब यह हमारे ऊपर निर्भर है हम समस्या का हिस्सा बनते हैं या समाधान का हिस्सा बनते हैं।
गणित के शिक्षक ने बोर्ड की परीक्षाओं को देखते हुए वीडियो चैट के माध्यम से पढ़ाने-लिखाने का जो कार्य किया है उससे उनकी गणित के प्रति प्रेम तथा जुनून का पता चलता है।साथ ही यह भी दर्शाता है कोरोनावायरस से लड़ते हुए भी अपने पैशन को जारी रखा जा सकता है।हम भी गणित के इस शिक्षक से यह सीख ले सकते हैं। हमारे साथ तो ऐसी कोई समस्या नहीं है कि विद्यार्थी कोरोनावायरस से पीड़ित हैं लेकिन विद्यार्थियों को शिक्षा प्रदान करने में कोई दिलचस्पी नहीं लेते हैं।विद्यार्थी पढ़ते हैं तो ठीक नहीं पढ़ते हैं तो ठीक है इस प्रकार की लापरवाही से गणित के प्रति विद्यार्थियों में नकारात्मक भावना पैदा होती है और वे गणित पढ़ने से डरते हैं,गणित नहीं पढ़ना चाहते हैं।
गणित को पढ़ने के लिए हमें अपने अंदर पेशन पैदा करना होगा चाहे वे विद्यार्थी हों या शिक्षक हों। इसमें शिक्षक की भूमिका अधिक होती है क्योंकि शिक्षक में परिपक्वता होती है,उसे गणित में आने वाले उतार-चढ़ाव का अनुभव होता है।जबकि विद्यार्थी अनुभवहीन होता है।यदि विद्यार्थी अपने बलबूते गणित पढ़ना चाहता है तो उसे बहुत ही मुश्किलों का सामना करना पड़ता है,ऐसी स्थिति में कमजोर संकल्पशक्ति वाले विद्यार्थी गणित में आनेवाली समस्याओं से घबराकर गणित पढ़ना नहीं चाहते हैं जबकि सुदृढ़ संकल्पशक्ति वाले विद्यार्थी गणित में आनेवाली समस्याओं से डटकर मुकाबला करते हैं और आगे बढ़ते जाते हैं।
शिक्षक का साथ हो तो विद्यार्थियों को गणित पढ़ने में आसानी होती है। जैसे एक चींटी मुंबई से दिल्ली जाना चाहे तो उसे कई वर्ष लग जाएंगे और शायद वह पहुंच ही न पाए अर्थात् बीच में दम तोड़ दे परंतु यदि किसी दिल्ली जाने वाले व्यक्ति के शरीर पर चढ़ जाए और व्यक्ति हवाई जहाज से दिल्ली जा रहा हो तो बहुत जल्दी और आसानी से दिल्ली पहुंच जाएगी।इसी प्रकार गणित के विद्यार्थियों को अगर शिक्षक का साथ मिल जाए तो गणित में आने वाली समस्याओं का आसानी से मुकाबला कर सकते हैं,साथ ही वे जल्दी से जल्दी आगे बढ़ते जाते हैं।
गणित शिक्षक के इस उदाहरण से हम बहुत कुछ सीख सकते हैं। गणित शिक्षा को आगे बढ़ाने में ऐसे ही विद्यार्थियों और शिक्षकों का योगदान होता है,जो हर परिस्थिति में,हर कठिनाइयों में भी अपने पैशन को जारी रखते हैं,उसमें कोई बहाना नहीं बनाते हैं और न ही विलम्ब करते हैं।गणित के शिक्षक के इस प्रकार का गणित के प्रति पैशन प्रशंसनीय है।

4.संजय सर गणित वीडियो बनाकर यूट्यूब चैनल पर डाल रहे हैं (Sanjay sir making math videos and putting it on YouTube channel)-

कोरोनावायरस तथा कोरोना महामारी के कारण पूरा विश्व लाॅकडाउन की स्थिति में है।ऐसी स्थिति में विद्यार्थी स्कूलों में जाकर अध्ययन नहीं कर सकते हैं। अतः बहुत से शिक्षकों ने विचार किया कि कोरोना महामारी के कारण विद्यार्थियों के अध्ययन में रुकावट नहीं आनी चाहिए।लाॅकडाउन के कारण बहुत से विद्यार्थियों का अध्ययन प्रभावित हुआ है तथा उन्हें नुकसान उठाना पड़ रहा है।
गणित को ऑनलाइन पढ़ाने के लिए कुछ खास टिप्स का पालन करना होगा।वर्तमान में कोरोना वायरस के कारण पूरी दुनिया घरों में कैद होकर रह गई है।भारत में भी कोरोना वायरस के कारण लॉकडाउन का पालन किया जा रहा है। कोरोनावायरस जो चीन के वुहान शहर से फेलकर पूरी दुनिया में तबाही मचा रहा है।विश्व स्वास्थ्य संगठन ने कोराना को विश्व महामारी घोषित कर दिया है।
भारत में लाॅकडाउन के कारण बोर्ड की परीक्षाएं स्थगित हो गई है।अतः गणित का पेपर भी बोर्ड परीक्षाओं का नहीं हुआ है।जो सरल विषय थे उनकी परीक्षा हो चुकी है और गणित जैसे कठिन विषय की परीक्षा नहीं हुई है। छात्रों तथा अभिभावकों के मन में गणित के पेपर को लेकर यह समस्या खड़ी हो गई है कि इस पेपर की तैयारी कैसे की जाए? शिक्षण संस्थान ,कोचिंग सेंटर इत्यादि लाॅकडाउन के कारण बंद हो गए हैं।
ऐसी स्थिति में बहुत से शिक्षकों ने यूट्यूब पर चैनल शुरू किया है।वे शिक्षक बोर्ड पर गणित को पढ़ाकर,उसका वीडियो बना लेते हैं और यूट्यूब के अपने चैनल पर वीडियो डाल देते हैं। सम्बन्धित छात्रों को वे शिक्षक वीडियो का लिंक भेज देते हैं। जिससे छात्र जब चाहे उस वीडियो को लिंक के माध्यम से सर्च करके देख लेते हैं।
यूट्यूब पर वीडियो डालकर पढ़ाने का यह तरीका बहुत से छात्रों और उनके माता-पिता को पसन्द आ रहा है।
दरअसल किसी भी एक ढर्रे से पढ़ाते-पढ़ाते छात्र व अध्यापक दोनों को बोरियत होने लगती है। हालांकि यूट्यूब पर पढ़ाने के लिए वीडियो पहले से ही डाले जा रहे हैं। परन्तु शिक्षण संस्थानों में अध्यापकों द्वारा पढ़ाए जाने के कारण उन वीडियो का लाभ कुछ छात्र ही उठा पाते थे। जबकि अब सभी विद्यार्थियों के पास आनलाईन पढ़ने के अलावा ओर कोई माध्यम नहीं है।
हालांकि शिक्षण संस्थानों में अध्ययन कराते समय छात्र व अध्यापकों के मध्य सीधे संवाद होता है। जिससे छात्रों को आनेवाली परेशानियों का तत्काल समाधान हो जाता है। जबकि वीडियो में आप केवल उससे देख सकते हैं।यदि उसमें कोई बात आपको समझ में नहीं आती है तो या तो फोन करके पूछो या कमेंट करके उसका समाधान किया जा सकता है।
लाईव वीडियो द्वारा पढ़ना थोड़ा मुश्किल कार्य है क्योंकि सभी छात्रों के पास उस समय मोबाइल फोन या लैपटाॅप नहीं होता है। उनके पास जब इंटरनेट की सुविधा तथा डिवाइस उपलब्ध होता है तभी वे इसे देख सकते हैं।एक साथ लाईव वीडियो के द्वारा कुछ ही छात्रों को पढ़ाया जा सकता है।
संजय सर का कोरोना महामारी के बावजूद गणित, भौतिक विज्ञान तथा अंग्रेजी विषय यूट्यूब चैनल के माध्यम से पढ़ाने का कार्य स्तुत्य है। इससे छात्रों के समय का सदुपयोग हो सकेगा।
यदि कोरोना महामारी नहीं भी हो या कोरोना महामारी का समाधान हो भी जाए तो भी संजय सर जो गणित वीडियो बनाकर, यूट्यूब पर डाल रहे हैं ,उसका उपयोग किया जा सकेगा।क्योंकि बहुत से छात्र जिनको विद्यालय में कुछ समझ में नहीं आता है,वे यूट्यूब चैनल का सदुपयोग कर सकेंगे।
कुछ लोग समझते हैं कि संजय सर जो गणित वीडियो बनाकर, यूट्यूब पर डाल रहे हैं ,उसका उपयोग निर्धन छात्रों के लिए थोड़ा कठिन व असम्भव सा लगता है। लेकिन आज हर घर में एक दो मोबाइल मिल ही जाता है तथा जियो द्वारा इंटरनेट की सेवा चालू करने के बाद इंटरनेट की दरो में काफी गिरावट आ गई है।अब इंटरनेट का प्रयोग बढ़ता जा रहा है।अब निर्धन से निर्धन व्यक्ति भी मोबाइल तथा नेट का प्रयोग करने लगा है। इसलिए कोरोना महामारी के कारण संजय सर गणित वीडियो बनाकर यूट्यूब पर डाल रहे हैं ,उसका सभी छात्रों को लाभ उठाना चाहिए। उन्हें अपने समय का सही सदुपयोग करने का माध्यम मिल गया है।लाॅकडाउन के दौरान तथा बाद में भी बच्चे कक्षा में होने वाली पढ़ाई की कमी महसूस नहीं करें इसके लिए मैथ्स पढ़ाने के लिए संजय सर द्वारा शुरू किया गया यूट्यूब पर ‘steady study’ चैनल पर गणित , भौतिक विज्ञान व अंग्रेजी के वीडियो का लाभ उठा सकते हैं। यहां यह भी उल्लेखनीय है कि संजय सर ‘steady study’ चैनल पर गणित के साथ-साथ भौतिक विज्ञान व अंग्रेजी के वीडियो भी अपलोड करते हैं।

5.मैथ्स पढ़ाने के लिए संजय सर ने शुरू किया यूट्यूब चैनल steady Study (Sanjay sir started YouTube channel steady study to teach maths)-

संजय सर यह सुनिश्चित करने में लगे हैं कि लॉकडाउन के दौरान भी बच्चे कक्षा में होने वाली पढ़ाई की कमी महसूस नहीं करें। संजय सर ,मनोहरपुर जिला जयपुर (राजस्थान) के रहनेवाले हैं जो यूट्यूब चैनल ‘Steady study’ के जरिये बच्चों को गणित पढ़ा रहे हैं। संजय सर ने यूट्यूब चैनल की शुरुआत एक माह पहले 10वीं कक्षा से 12वीं कक्षा के बच्चों को उनकी सुविधा के अनुरूप समय पर गणित पढ़ाने के लिए की है। 
उन्होंने बताया, ‘हमें छात्रों का परामर्श मिला जिसमें बच्चों को ऐप और व्हाट्सएप के जरिये ऑनलाइन पढ़ाने को कहा गया था। मैं उस वर्ग के बच्चों को पढ़ाता हूं जिनके पास 24 घंटे इंटरनेट की सुविधा नहीं है और गणित ऐसा विषय नहीं है जिसे पढ़ने के लिए हम पीडीएफ फाइल बनाकर भेज दें।’
संजय सर ने बताया कि यह सुनिश्चित करने के लिए कि बच्चे अपनी सुविधा के हिसाब से पढ़ें यूट्यूब चैनल की शुरुआत की थी। व्हाइटबोर्ड का इस्तेमाल कर मैं बच्चों को समझाता हूं और फिर कम अवधि की वीडियो का लिंक छात्रों को भेज देता हूं। जब भी उनके पास इंटरनेट की सुविधा होती वे इससे पढ़ सकते हैं। 
उन्होंने कहा कि इस पहल को लेकर छात्रों और उनके अभिभावकों से अच्छी प्रतिक्रिया मिली है और उन्होंने इसकी प्रशंसा की है। संजय सर ने बताया कि छात्रों के अलावा अन्य लोग भी वीडियो देख रहे हैं। 
संजय सर ने कहा, ‘अब तक मैंने बीस वीडियो अपलोड किए हैं और मेरी योजना नौवीं कक्षा से 12वीं कक्षा के छात्रों को भी गणित पढ़ने में मदद करने के लिए वीडियो अपलोड करने की है।’ 
इस प्रकार आप मैथ्स पढ़ाने के लिए शुरू किया यूट्यूब चैनल ‘ steady Study ‘पर संजय सर द्वारा डाले गए गणित वीडियो ,यूट्यूब चैनल ‘steady study’पर जाकर लाभ उठा सकते हैं।

Also Read This Article:-Who is Top Mathematics Learner in World

6.ई- एजुकेशन / छात्रों की पढ़ाई खराब न हो, इसलिए संजय सर ने गणित सहित 50 से ज्यादा वीडियो बनाकर यू-ट्यूब पर डाले (E-education/Do not spoil students’ studies, So Sanjay sir made more than 50 videos including math and uploaded it on YouTube)-

लॉकडाउन के कारण ज्यादातर शिक्षक व विद्यार्थी परेशान हैं। लेकिन कुछ ऐसे भी हैं जो इस संकट के समय में भी अपने लिए नए लक्ष्य निर्धारित कर उनको पाने में लगे हैं। ऐसे ही हैं एक शिक्षक हैं गणित के संजय सर। 2020 में इन्होंने स्कूल में बच्चों को पढ़ाने के साथ-साथ यू-ट्यूब पर ‘steady study ‘नाम से अकाउंट बनाकर ऑनलाइन वीडियो डालने शुरू किए। लॉकडाउन लागू हुअा तो व्यूवर बढ़ने लगे। अब 10,000 व्यूवर हो चुके हैं।7000 सब्सक्राइबर हो चुके हैं और ये सब्सक्राइबर तो पिछले 28 दिन में बढ़े हैं। अब तक सभी वीडियो को पूरे प्रदेश व देश के छात्र तीन हजार मिनट से ज्यादा बार देख चुके हैं। संजय सर बताते हैं कि छात्र सिर्फ वीडियो देखते ही नहीं कमेंट भी करते हैं। उन्होंने बताया कि सिर्फ यू-ट्यूब ही नहीं उनके वाट्सएप ग्रुप पर भी विद्यार्थी और शिक्षक जुड़े हुए हैं। वे पिछले कुछ समय में ही 12वीं का सिलेबस, 11वीं , दसवीं के चार चैप्टर और नौवीं के दो चेप्टर पूरे करवा चुके हैं।
एक वीडियो बनाने के लिए कई घंटे लगते हैं : एक 20 से 35 मिनट के वीडियो जो देखने में हमें ऐसे लगता है कि इसको चलते फिरते बना दिया गया होगा, लेकिन वास्तव में ऐसा नहीं है। संजय सर ने बताया कि 15 मिनट के वीडियो को बनाने में उनके घंटों लग जाते हैं। जो टॉपिक है उसके बारे में गहन अध्ययन करने और रिसर्च में कई घंटों का समय लग जाता है। रिकॉर्ड करने का टाइम और फिर एक घंटे के करीब एडिटिंग में लग जाता है।

7.कोरोना से संक्रमित गणित अध्यापक का जूनून (corona-infected math teacher’s passion)-

मिसाल: कोरोना से संक्रमित हैं टीचर किफायत हुसैन, आइसोलेशन वार्ड से ले रहे हैं ऑनलाइन क्‍लास
Updated: 13 May 2020
कोरोना वायरस (Coronavirus in Ladakh)से संक्रमित लद्दाख के लेह जिले में आइसोलेशन वार्ड में भर्ती शिक्षक किफायत हुसैन इंटरनेट का इस्तेमाल कर ऑनलाइन क्लास ले रहे हैं और यूट्यूब वीडियो बना रहे हैं ताकि बच्चों को गणित का सूत्र और बीजगणित का गूढ़ रहस्य समझा सके
कोरोना संक्रमित शिक्षक किफायत हुसैन

8.कोरोना से संक्रमित गणित अध्यापक के जूनून की खास बातें (Special features of corona-infected math teacher’s passion)-

(1.)लेह जिले के एक आइसोलेशन वार्ड में भर्ती शिक्षक किफायत हुसैन इंटरनेट का इस्तेमाल कर ले रहे हैं ऑनलाइन क्लास
(2.)शिक्षक ने बताया कि वह ऑनलाइन क्लास भी ले रहे हैं और पहले से रिकॉर्डेड वीडियो भी डाल रहे हैं
(3.)हुसैन बोले- अध्यापन केवल मेरी नौकरी नहीं है बल्कि मेरा जुनून है, मुझे इस बात की चिंता थी कि छात्र अपनी पढ़ाई में पीछे न रह जाए

9.कोरोना से संक्रमित गणित अध्यापक के जूनून का तरीका (Method of corona-infected math teacher’s passion)-

कोरोना महामारी का कहर देश और दुनिया में तेजी से बढ़ रहा है। इस वायरस से संक्रमित होने और उससे लड़ने के लिए सकारात्मक सोच और मजबूत इरादे की जरूरत है। ऐसा न करने वाले कोरोना की जंग आधे में छोड़ जाते हैं। लेकिन कुछ ऐसे भी हैं जो इस महामारी का डटकर मुकाबला करते हैं और अपनी जिम्मेदारी भी बखूबी निभाते हैं। कुछ इसी तरह का काम कर रहे हैं लद्दाख में कोरोना संक्रमित शिक्षक किफायत हुसैन। उन्होंने अपने छात्रों की पढ़ाई जारी रखने के लिए आइसोलेशन वार्ड से ही ऑनलाइन क्लास लेना शुरू कर दिया है। इसके साथ ही यूट्यूब वीडियो भी बनाकर उन्हें पढ़ा रहे हैं, जो किसी मिसाल से कम नहीं है।
लेह जिले के एक आइसोलेशन वार्ड में भर्ती शिक्षक किफायत हुसैन इंटरनेट का इस्तेमाल कर ऑनलाइन क्लास ले रहे हैं और यूट्यूब वीडियो बना रहे हैं ताकि बच्चों को गणित का सूत्र और बीजगणित का गूढ़ रहस्य समझ में आ सके। शिक्षक ने बताया कि वह मिला जुला काम कर रहे हैं। वह ऑनलाइन क्लास भी ले रहे हैं और पहले से रिकॉर्डेड वीडियो भी डाल रहे हैं क्योंकि अस्पताल में इंटरनेट की समस्या रहती है। हुसैन ने कहा कि अध्यापन केवल मेरी नौकरी नहीं है बल्कि यह मेरा जुनून है। मुझे इस बात की चिंता थी कि छात्र अपनी पढ़ाई में पीछे न रह जाएं।

10.सिखाने के लिए पर्याप्त ताकत (Enough strength to teach)-

शिक्षक किफायत हुसैन ने कहा कि अगर भविष्य में मैं पाठ्यक्रम पूरा करने के लिए जल्दी-जल्दी पढ़ाते हैं तो उन पर यह बोझ बन जाएगा। उन्होंने कहा कि मेरे पास सिखाने के लिए पर्याप्त ताकत है इसलिए मैंने सोचा कि मुझे इसे आजमाना चाहिए। हुसैन ने कहा कि कुछ लोगों में वायरस के संक्रमण की पुष्टि हुई है और उनके गांव को रेड जोन घोषित कर दिया गया है।

11.निष्कर्ष (Conclusion)-

घर से बाहर न निकलने पर अर्थात् लाॅकडाउन होने पर भी गणित को ऑनलाइन पढ़ाने के लिए ( to teach mathematics online) अनेक माध्यम है।दरअसल जहां चाह होती है वहां राह भी मिल जाती है। परंतु यदि आप चाहें ही नहीं तो उसका कोई रास्ता नहीं निकल सकता है‌।
आधुनिक युग में वैसे भी ऑनलाइन का उपयोग बढ़ता जा रहा है।चाहे पढ़ाई से संबंधित मामलों या अन्य जैसे मार्केटिंग, सेलिंग ,परचेजिंग या भुगतान करने से संबंधित मामला हो।हर मामले में ऑनलाइन का प्रयोग बढ़ता जा रहा है।
हमने इन चार शिक्षकों के बारे में आर्टिकल पोस्ट किए हैं।हो सकता है ओर भी शिक्षक गणित को ऑनलाइन पढ़ा रहे हों परन्तु हमने हमारी जानकारी में आनेवाले शिक्षकों की पोस्ट अपलोड की है।आनलाईन गणित शिक्षा प्रदान कर रहे इन सभी शिक्षकों का कार्य स्तुत्य है। विद्यार्थी गूगल पर तथा यूट्यूब चैनल पर जाकर ऐसे चैनल को सर्च कर सकते हैं और पता लगा सकते हैं कि कौन-कौन से शिक्षक इस विपरीत महामारी में भी गणित शिक्षा प्रदान कर रहे हैं।
आप अपने मन पसन्द तथा अनुकूल शिक्षक के वीडियो देखकर उनसे लाभ उठा सकते हैं। आपको शेन-पो लोह,विक्टर सन,संजय सर तथा कोरोना संक्रमित गणित अध्यापक का जूनून ( corona-infected math teacher’s passion) के पात्र किफायत हुसैन की आनलाईन गणित स्टडी का लाभ उठाना चाहिए।
ये सभी उपर्युक्त माध्यमों का प्रयोग करके अपने समय का सदुपयोग तो कर ही रहे हैं, साथ ही छात्रों का भला भी कर रहे हैं।

Also Read This Article:-Top in mathematics by way of sitting

No. Social Media Url
1. Facebook click here
2. you tube click here
3. Twitter click here
4. Instagram click here
5. Linkedin click here
6. Facebook Page click here

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *