Menu

IIT students got jobs in Corona period

Contents hide
1 1.आईआईटी के छात्रों को कोरोना काल में नौकरी मिली (IIT students got jobs in Corona period)-

1.आईआईटी के छात्रों को कोरोना काल में नौकरी मिली (IIT students got jobs in Corona period)-

  • आईआईटी के छात्रों को कोरोना काल में नौकरी मिली (IIT students got jobs in Corona period)।हालांकि पिछले साल के मुकाबले कंपनियों की संख्या कम रही।
  • कोरोना काल के कारण यह तर्क दिया जा रहा था कि तमाम कंपनियों की आर्थिक स्थिति कमजोर है इसके बावजूद कोरोना काल में आईआईटी छात्रों को बेहतर नौकरियां मिली।
  • इस वर्ष अंतर्राष्ट्रीय कंपनी से सर्वाधिक 1.47 करोड़ ,राष्ट्रीय कंपनी से 82 लाख के सालाना पैकेज पर छात्रों को चुना गया।
  • 100 कंपनियां कम आने के बावजूद शानदार आईआईटी प्लेसमेंट रहा। 40 से अधिक स्टार्टअप कंपनियां आई।1 से 9 दिसंबर तक ऑनलाइन इंटरव्यू वर्चुअल परीक्षा में कामयाबी हासिल की।
  • मेधा,विशेषज्ञता और कौशल किसी में भी हो तो वे किसी भी परिस्थितियों के आगे घुटने नहीं टेक सकते हैं।
  • चाहे वो प्रशिक्षण,शिक्षण,शोध हो या फिर प्लेसमेंट का मामला हो।हर मामले में आने वाली मुश्किलों को पार करते हुए उनको अपनी खूबी से सामना करते हुए सफलता की राह तय की जा सकती है।
  • इस तरह का उदाहरण आईआईटी के छात्रों ने कर दिखाया है और आईआईटी के छात्रों को कोरोना काल में नौकरी मिली (IIT students got jobs in Corona period) है।
  • कोरोना काल में भी बेहतर नौकरी के ऑफर तब मिले हैं जब तमाम कंपनियां आर्थिक स्थिति कमजोर होने का हवाला दे रही है।
  • आईआईटी छात्रों के प्लेसमेन्ट के लिए पहले राउंड में 1 से 9 दिसंबर तक ऑनलाइन इंटरव्यू और वर्चुअल आयोजित हुई।
  • आईआईटी कानपुर के प्लेसमेन्ट में पिछले साल के मुकाबले कंपनियां जरूर कम आई हैं लेकिन छात्रों को पैकेज बढ़िया मिला है।इस बार राष्ट्रीय कंपनियों की तरफ से भी बढ़िया ऑफर दिया गया है।
  • आईआईटी छात्रों के प्लेसमेंट में हर साल आने वाली 100 कंपनियां इस बार नहीं आई है।उन्होंने प्लेसमेंट ड्राइव में शामिल होने से इनकार कर दिया है।
  • कोचिंग संस्थान और ऑनलाइन कोचिंग क्लास लगाने वाली कंपनियां भी नहीं आई है।जबकि प्रत्येक वर्ष ये संस्थान छात्रों का चयन करती थी।
  • इस वर्ष सॉफ्टवेयर कंपनियों की ज्यादा संख्या रही। दूसरे नंबर पर ट्रेडिंग, एनालिसिस कंपनियों का आता है। इलेक्ट्रिक,इलेक्ट्रानिक्स, ऑटोमोबाइल सेक्टर की कंपनियों का इसके बाद नंबर आता है।
  • माइक्रोसॉफ्ट ने सबसे अधिक छात्रों को नौकरी के अवसर दिए हैं।इनके साथ गूगल, क्वालकॉम, ईएक्सएल, वीमाॅक, जोमैटो, अमेजॉन, एक्सिस,स्टेरलाइट, आईसीआईसीआई बैंक आदि ने भी छात्रों को चुना है।

(1.)अब प्लेसमेन्ट ड्राइव 18 दिसंबर से शुरू होगी (Now Placement Drive will start on December 18)-

  • पहले प्लेसमेंट 13 दिसंबर तक होने थे लेकिन संस्थान में एंड परीक्षा के कारण प्लेसमेन्ट 9 दिसंबर तक किया गया।
  • अधिकारियों का मानना है कि 13 दिसंबर तक प्लेसमेन्ट होने से ओर छात्रों को भी नौकरी मिलती।अब 18 दिसम्बर से फिर प्लेसमेन्ट ड्राइव होगा।

(2.)संस्थान ने प्लेसमेंट के लिए फोकस किया (Institute focussed on placements)-

  • संस्थान के अधिकारियों ने प्लेसमेंट पर अधिक फोकस किया तथा अपनी तरफ से कोई कसर बाकी नहीं रखी।कम्पनियों से ऑनलाइन साक्षात्कार और लिखित परीक्षा में नेट कनेक्टिविटी के कारण होनेवाली दिक्कत के कारण छात्रों को छूट देने के लिए कहा गया था।
  • उपर्युक्त प्रक्रिया दिव्यांग छात्रों के लिए भी अपनाई गई। उन्हें सहूलियत देने के लिए विशेष आग्रह किया गया था।
  • आपको यह जानकारी रोचक व ज्ञानवर्धक लगे तो अपने मित्रों के साथ इस गणित के आर्टिकल को शेयर करें।यदि आप इस वेबसाइट पर पहली बार आए हैं तो वेबसाइट को फॉलो करें और ईमेल सब्सक्रिप्शन को भी फॉलो करें।जिससे नए आर्टिकल का नोटिफिकेशन आपको मिल सके ।यदि आर्टिकल पसन्द आए तो अपने मित्रों के साथ शेयर और लाईक करें जिससे वे भी लाभ उठाए ।आपकी कोई समस्या हो या कोई सुझाव देना चाहते हैं तो कमेंट करके बताएं। इस आर्टिकल को पूरा पढ़ें।

Also Read This Article-IIT Delhi is largest employer of country

2.कोरोना काल में भी आइआइटी छात्रों को मिलीं बेहतर नौकरियां (IIT students got better jobs even in Corona period)-

  • COVID-19 के बावजूद, IIT-Delhi के छात्रों को पिछले साल की तुलना में अधिक नौकरी के प्रस्ताव मिले।
  • महामारी के दौरान, ऑनलाइन मोड में प्लेसमेंट का दूसरा चरण जारी रहा और इस चरण के दौरान लगभग 100 छात्रों को नौकरी की पेशकश मिली।
  • धीमी अर्थव्यवस्था और कई कंपनियों द्वारा अपने प्रस्ताव वापस लेने की आशंकाओं के बावजूद, भारतीय प्रौद्योगिकी संस्थान (IIT) दिल्ली में पिछले साल की तुलना में नौकरियों की संख्या में वृद्धि देखी गई है।आईआईटी का दावा है कि विभिन्न राष्ट्रीय और अंतर्राष्ट्रीय संगठनों से आईआईटी-दिल्ली के छात्रों के लिए कई प्री-प्लेसमेंट वाले सहित 1100 से अधिक ऑफर दिए गए थे।
  • इससे पहले, IIT-Delhi को अपने प्लेसमेंट ड्राइव के दूसरे चरण का फिर से संचालन करना पड़ा क्योंकि कई कंपनियों ने उनके प्रस्तावों को रद्द कर दिया था।महामारी के दौरान, प्लेसमेंट का दूसरा चरण एक ऑनलाइन मोड में जारी रहा, जिसके माध्यम से लगभग 100 छात्रों को नौकरी की पेशकश मिली।
  • शैक्षणिक वर्ष 2019-2020 में प्लेसमेंट सीज़न के लिए पंजीकृत 430 से अधिक संगठनों, 600 से अधिक कार्य प्रोफ़ाइलों के लिए लेखांकन।
  • लगभग 5.6 फीसदी स्नातक और स्नातकोत्तर छात्र जिन्होंने संस्थान की प्लेसमेंट सेवाओं का लाभ उठाया है।  आईआईटी-दिल्ली द्वारा दी गई जानकारी के अनुसार, शेष छात्रों ने अपने स्वयं के प्रयासों के माध्यम से उच्च अध्ययन, अनुसंधान, सिविल सेवा परीक्षा, स्टार्ट-अप या प्रबंधित प्लेसमेंट सहित अन्य विकल्पों की खोज की।
  • शैक्षणिक वर्ष 2019-20 के प्लेसमेंट सीजन के लिए क्षेत्रीय रुझान के आंकड़ों से पता चला है कि अधिकांश छात्रों को कोर नौकरियों में काम पर रखा गया था, जिसमें से सेक्टर से आने वाले 31 प्रतिशत ऑफर थे, इसके बाद आईटी सेक्टर से 23 प्रतिशत, 13 प्रतिशत।एनालिटिक्स से, परामर्श से 9 प्रतिशत और प्रबंधन और वित्त क्षेत्र से क्रमश: सात और तीन प्रतिशत।
  • IIT- दिल्ली ने नौकरी के प्लेसमेंट के पिछले सभी वर्षों के रिकॉर्ड को तोड़ दिया है।इस वर्ष, यह देखा गया कि प्लेसमेंट प्रस्तावों की संख्या में 4 प्रतिशत की वृद्धि हुई है।
  • पहले भर्ती के लिए एक पत्र में, “एक बार एक छात्र को प्लेसमेंट की पेशकश की जाती है, आईआईटी दिल्ली नीति के अनुसार, छात्र को अन्य प्लेसमेंट के लिए बैठने की अनुमति नहीं है।छात्र अपने ऑफ़र के साथ कंपनियों पर भरोसा करते हैं और अन्य कंपनियों के लिए भी आवेदन नहीं करते हैं, “
  • कंपनियों को अपने वादे रखने के लिए कहते हुए, उन्होंने लिखा, “यदि बिल्कुल भी, तो वे आपको तेजी से मंदी से बाहर निकालने में सक्षम हैं जितना आप कल्पना कर सकते हैं।”
  • बाद में, मानव संसाधन विकास मंत्री ने IIT को उन छात्रों के लिए विशेष प्लेसमेंट राउंड आयोजित करने के लिए कहा था, जिन्हें नहीं रखा जा सकता था या जिनके प्रस्ताव महामारी के कारण बंद हो गए थे।

3.वर्तमान और पिछले साल के प्लेसमेंट के आंकड़े (Current and last year placement figures)-

  • (1.)वर्तमान सत्र के 9 दिसंबर तक चलने वाले प्लेसमेन्ट ड्राइव के आंकड़े (Placement Drive figures for December 9 of the current season)
  • 1.47 करोड़ रुपये का पैकेज दिया अंतरराष्ट्रीय कंपनी ने, जबकि राष्ट्रीय कंपनी ने 82 लाख रुपये सालाना की नौकरी का दिया प्रस्ताव।
    821 छात्रों को ऑफर मिला, जिनमें से 709 ने स्वीकार कर लिया।
    232 कंपनियां शामिल हुईं प्लेसमेंट ड्राइव में
    40 से अधिक कंपनियां साफ्टवेयर से संबंधित स्टार्टअप वाली शामिल।
  • (2.) पिछले वर्ष के प्लेसमेन्ट ड्राइव के आंकड़े (Last year’s placements drive figures)
  • 13 दिसंबर तक पहले राउंड का प्लेसमेंट ड्राइव चला था।
    935 छात्रों को नौकरी का प्रस्ताव दिया गया था।
    1.54 करोड़ रुपये का सर्वाधिक अंतरराष्ट्रीय पैकेज और राष्ट्रीय कंपनी का पैकेज 62 लाख वार्षिक था।
  • 300 के आसपास कंपनियां हुईं थी शामिल।

4.आईआईटी के छात्रों को कोरोना काल में नौकरी मिली का सारांश (Conclusion of IIT students got jobs in Corona period),कोरोना काल में भी आइआइटी छात्रों को मिलीं नौकरियां (IIT students got jobs even during Corona period)-

  • जहां चाह होती है वहां राह भी मिल ही जाती है। कोरोनावायरस से फैली महामारी तथा लोकडाउन के कारण ऐसा प्रतीत होता था कि विश्व में बहुत भयंकर आर्थिक मंदी आनेवाली है।
  • परन्तु हर विपत्ति मनुष्य के लिए नई सीख लेकर आती है।यदि मनुष्य हाथ-पर-हाथ धरकर न बैठे तो किसी भी विपत्ति का सामना किया जा सकता है और उसका हल निकाला जा सकता है।
  • इस महामारी में भी ऑनलाइन कार्य करने के तरीकों में काफी वृद्धि हुई है।आईआईटी के छात्रों को प्लेसमेन्ट में संस्थान के अधिकारियों तथा छात्रों ने विशेष प्रयास करके प्लेसमेन्ट ड्राइव को सफल बनाने का प्रयास किया है और उसमें वे काफी हद तक सफल रहे हैं।
  • कोरोना महामारी में भी आईआईटी करने वालो के लिए नए अवसर निकल कर आए हैं,उनका छात्रों को भरपूर फायदा उठाया जाना चाहिए जिससे वे बेरोजगार न रहकर रोजगार पा सके।
  • रोजगार पाने के लिए उनको अपनी स्किल डेवलपमेंट और नोलेज को बढ़ाने का प्रयास करना चाहिए।इसके लिए ऑनलाइन ढेरो साधन उपलब्ध है।
  • इस प्रकार आईआईटी के छात्रों को कोरोना काल में नौकरी मिली (IIT students got jobs in Corona period),कोरोना काल में भी आइआइटी छात्रों को मिलीं नौकरियां (IIT students got jobs even during Corona period), इसमें छात्रों तथा संस्थान का विशेष प्रयास कारगर साबित हुआ है।

5.आईआईटी प्लेसमेंट (IIT placements)-

  • अर्थव्यवस्था में COVID-19 महामारी और उसके बाद का व्यवधान प्रतिष्ठित भारतीय प्रौद्योगिकी संस्थानों में चल रहे प्लेसमेंट पर बहुत कम प्रभाव डालता है, जहां पिछले साल की तुलना में पेश किए गए वार्षिक वेतन पैकेज में 30-35 प्रतिशत की वृद्धि हुई है।
  • कई आईआईटी में प्लेसमेंट इंचार्ज ने कहा कि घरेलू कंपनियों के पेमेंट ऑफर्स ने अंतरराष्ट्रीय स्तर के शीर्ष ऑफर्स को भी पीछे छोड़ दिया है, जिसका मतलब है कि कई नए ग्रेजुएट देश में अपने बैचमेट्स की तुलना में अधिक कमाएंगे जो विदेशों में ऑफर लेते हैं।प्लेसमेंट सीजन शुरू होने के दो सप्ताह से भी कम समय के बाद, पुराने आईआईटी में लगभग 60 प्रतिशत अंतिम वर्ष के छात्रों को पहले ही प्लेसमेंट ऑफर मिल चुके हैं।

(1.) आईआईटी दिल्ली प्लेसमेंट 2020 (IIT Delhi placements 2020)-

  • आईआईटी-दिल्ली में, इस वर्ष 300 से अधिक राष्ट्रीय और अंतर्राष्ट्रीय कंपनियों ने कई क्षेत्रों में 500 से अधिक जॉब प्रोफाइल पेश किए हैं, जिन्होंने इस वर्ष छात्रों को काम पर रखने के लिए पंजीकरण कराया था और अंतिम प्लेसमेंट के पहले चरण के पहले दिन, छात्रों ने 300 से अधिक प्लेसमेंट ऑफर हासिल किए थे  कई प्लेसमेंट के साथ प्री-प्लेसमेंट ऑफर कई ऑफर देता है।इसके अलावा, अंतर्राष्ट्रीय स्थानों सहित लगभग 150 पीपीओ प्राप्त हुए थे।
  • अधिकारियों के अनुसार, प्रौद्योगिकी, बैंकिंग और वित्तीय सेवा क्षेत्र की कंपनियां छात्रों को काम पर रखने के मामले में अग्रणी हैं और बड़ी संख्या में छात्र खुश हैं क्योंकि वे नौकरी के बाजार में गिरावट के बावजूद नौकरियों के प्रति आश्वस्त हैं।आईआईटी बॉम्बे में, कई अंतरराष्ट्रीय फर्मों ने स्नातक की उपाधि प्राप्त करने के लिए लाइन में खड़ा किया था, जिसमें डच कंपनी ऑटिवर ने प्रति वर्ष 1.39 करोड़ रुपये के उच्चतम वेतन पैकेज की पेशकश की थी।

(2.) आईआईटी मद्रास प्लेसमेंट 2020 (IIT Madras placements 2020)-

  • आईआईटी मद्रास के अधिकारियों ने कहा कि संस्थान ने लगभग 750 ऑफर हासिल किए हैं जबकि आईआईटी गुवाहाटी और रुड़की के मामले में यह संख्या लगभग 700 है।इसके अलावा, 220 से अधिक कंपनियों ने हायरिंग के लिए पंजीकरण कराया है, अब तक किसी भी वर्ष से अधिक।
  • संस्थान में, लगभग 190 छात्रों को प्री-प्लेसमेंट ऑफर भी मिले और लगभग 1,400 छात्र प्लेसमेंट सीजन के अंत तक प्लेसमेंट की उम्मीद कर रहे हैं।लेकिन IIT रुड़की के अधिकारी, जो इस सीज़न में कम से कम 1,200 छात्रों के लिए नौकरी सुनिश्चित करना चाहते हैं, ने कहा कि पिछले साल की तुलना में इस साल कम ऑफ़र मिले।

(3.)आईआईटी-कानपुर प्लेसमेंट 2020 (IIT-Kanpur Placement 2020)-

  • आईआईटी-कानपुर में प्लेसमेंट की प्रक्रिया से जुड़े एक प्रोफेसर ने कहा कि आधे से अधिक स्नातक पहले ही ऑफर हासिल कर चुके थे और संस्थान ने जो अनुमान लगाया था, उससे कहीं बेहतर प्रदर्शन किया था।उन्होंने कहा, “भारत और विदेशों की और विभिन्न क्षेत्रों की कंपनियों का अच्छा मिश्रण है, जो बहुत अच्छा संकेत है।”
  • आईआईटी में, बनारस हिंदू विश्वविद्यालय के अधिकारियों ने कहा कि 215 से अधिक छात्रों ने वार्षिक वेतन पैकेज के साथ 11.5 लाख रुपये से 64.27 लाख रुपये तक की नौकरी हासिल की है।इसकी तुलना में, पिछले साल जो मुआवजा दिया गया था वह 10 लाख रुपये से 58.21 लाख रुपये था।
  • पुराना सबसे बेहतर
  • खुशी की बात यह है कि प्लेसमेंट सीजन शुरू होने के दो सप्ताह से भी कम समय के बाद, पुराने आईआईटी में लगभग 60 प्रतिशत अंतिम वर्ष के छात्रों को पहले ही प्लेसमेंट ऑफर मिल चुके हैं।

6.आईआईटी प्लेसमेंट कंपनियां (IIT placements companies)-

  • शीर्ष रिक्रूटिंग कंपनियां
  • Microsoft, सैमसंग ,Google, क्वालकॉम, स्ट्रैटजी और कारिन ,गोल्डमैन सैक्स ,अमेज़ॅन, एडोब, टाटा, मॉर्गन स्टेनली, एक्सेंचर, ओएनजीसी
    8.आईआईटी प्लेसमेंट 2020 पैकेज (IIT placements 2020 packages)-
  • सैलरी पैकेज: 1.54 करोड़ रुपये सालाना।  प्री-प्लेसमेंट ऑफ़र में रिकॉर्ड उच्च के साथ, कई छात्रों ने पहले से ही अंतरराष्ट्रीय कंपनियों से 1.54 करोड़ रुपये के रूप में उच्च पेशकश की है।
  • आईआईटी-मद्रास, आईआईटी-बॉम्बे, आईआईटी-रुड़की और आईआईटी-गुवाहाटी।
    आईआईटी-बीएचयू।
    आईआईटी-गुवाहाटी।
    आईआईटी-बॉम्बे।
    आईआईटी-दिल्ली।
    शीर्ष रिकॉर्डर्स।
  • उपर्युक्त विवरण के आधार पर आप आईआईटी के छात्रों को कोरोना काल में नौकरी मिली (IIT students got jobs in Corona period),कोरोना काल में भी आइआइटी छात्रों को मिलीं बेहतर नौकरियां (IIT students got better jobs even in Corona period),कोरोना काल में भी आइआइटी छात्रों को मिलीं नौकरियां (IIT students got jobs even during Corona period), के बारे में जान सकते हैं।

Also Read This Article-IIT Guwahati researchers featured in list of world top scientists

No.Social MediaUrl
1.Facebookclick here
2.you tubeclick here
3.Instagramclick here
4.Linkedinclick here
5.Facebook Pageclick here
No Responses

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *