Menu

Super Calculator kids Give 873 Multiplication Table in Seconds

Super Calculator kids Give 873 Multiplication Table in Seconds

1.873 का पहाड़ा सेकेंड में सुनाते हैं सुपर कैलकुलेटर बच्चे का परिचय (Introduction to Super Calculator kids Give 873 Multiplication Table in Seconds)-

Super Calculator kids Give 873 Multiplication Table in Seconds

Super Calculator kids Give 873 Multiplication Table in Seconds

इस आर्टिकल में बताया गया है कि एक प्रतियोगिता में विद्यार्थियों ने 873 जैसे कठिन लगने वाले पहाड़े को सुनाकर नामुमकिन को सम्भव कर दिखाया। विद्यार्थियों की बालकपन से प्रतिभा को पहचानकर यदि उसको निखारा जाए तो इस तरह के अद्भुत परिणाम प्राप्त किए जा सकते है जिनको सुनकर व देखकर हम आश्चर्यचकित रह जाए। महाभारत काल की घटना है कि अभिमन्यु ने अपनी माता उत्तरा के गर्भ में ही अर्जुन द्वारा उत्तरा को सुनाए गए चक्रव्यूह भेदन को स्मरण कर लिया था। 

हमारे ऋषि-मुनियों ने पहले ही यह उदाहरण प्रस्तुत कर दिया था कि बालक को दिमागी क्षमता को निखारने का कार्य बालकपन से शुरू किया जा सकता है। हम बच्चों में जो छुपी हुई प्रतिभा तथा स्किल है उसको डवलप करने का प्रयास करें तो इस तरह के चमत्कारिक परिणाम प्राप्त कर सकते हैं। 
बच्चों में शुरू से ही सीखने समझने की क्षमता, स्मरण शक्ति एवं एकाग्रता बढ़ाने के लिए उन्हें ध्यान व योग का अभ्यास कराना चाहिए जिससे उनकी गणितीय एवं अन्य क्षमताओं को उभारा जा सके। 
माता-पिता व अभिभावक अपनी दिनचर्या में इतने व्यस्त रहते हैं कि वे बालकों में इस प्रकार की क्षमता एवं प्रतिभा को विकसित करने की न तो सोचते हैं और न ही प्रयास करते हैं। इस प्रकार बालकों की क्षमता व प्रतिभा सुप्त रह जाती है उसको विकसित करने का मौका ही नहीं मिलता है। कुछ माता-पिता अपवाद होते हैं जो अपने बालकों का विकास करने में सजग व सतर्क रहते हैं। अन्यथा आज के आर्थिक व वैज्ञानिक युग में सामान्यतः माता-पिता धन कमाने के चक्कर में इस तरह घनचक्कर हुए रहते हैं कि उन्हें बच्चों की स्किल व योग्यताओं का विकास करने की फुर्सत ही नहीं मिलती है। यदि कोई सज्जन उनको इस तरफ ध्यान देने के लिए कहे तो उनका जवाब होता है कि उन्होंने अच्छे स्कूल में एडमिशन दिलवा दिया और उनको व्यक्तिगत रूप से समय देने के लिए अपने जाॅब से वक्त ही नहीं मिलता है। इसलिए बच्चों को अतिरिक्त समय देना वे जरुरी ही नहीं समझते हैं। यदि प्रयास करें और जैसे अन्य कार्यों को करने के लिए जरूरी समझते हैं उसी प्रकार बच्चों की योग्यता व प्रतिभा को विकसित करने का कार्य भी जरूरी समझें तो वक्त निकाला जा सकता है। आखिर उन्हें यह सोचने की जरूरत है कि इतनी भाग-दौड़ व आपाधापी आखिर किसके लिए कर रहे हैं? 
यदि आर्टिकल पसन्द आए तो अपने मित्रों के साथ शेयर और लाईक करें जिससे वे भी लाभ उठाए ।आपकी कोई समस्या हो या कोई सुझाव देना चाहते हैं तो कमेंट करके बताएं। इस आर्टिकल को पूरा पढ़ें। 

2.873 का पहाड़ा सेकेंड में सुनाते हैं सुपर कैलकुलेटर बच्चे(Super Calculator kids Give 873 Multiplication Table in Seconds)-

Super Calculator kids Give 873 Multiplication Table in Seconds

Super Calculator kids Give 873 Multiplication Table in Seconds

बच्चे कठिन से कठिन कैलकुलेशन को सेकेंड्स में हल कर देते हैं वह भी बिना कैलकुलेटर का उपयोग किए.

Updated: 17 अप्रैल, 2018 
क्या आपने कभी सपने में भी सोचा है कि कोई एक सांस में 873 का पहाड़ा सुना दे, 7347 का पहाड़ा सुना दे, केवल आठ मिनट में गणित के बहुत कठिन 200 कैलकुलेशन को हल कर दे. इसे छोटे-छोटे (5-13 साल) बच्चों ने संभव कर दिखाया है. यह नामुमकिन कारनामा अबेकस की कैलकुलेशन विधि से संभव हुआ है. कैलकुलेशन की विशेषज्ञता को दर्शाती ऐसी ही एक प्रतियोगिता का आयोजन यूसीमास द्वारा दिल्ली के सेन्ट कोलंबस स्कूल में किया गया, जिसमें दिल्ली के विभिन्न स्कूलों से आए 3000 से अधिक बच्चों ने हिस्सा लिया.
13वीं यूसीमास दिल्ली प्रतियोगिता के आयोजक राजीव गर्ग ने कहा, “बच्चों की दिमागी क्षमता को निखारने और दिमाग को बढ़ाने की प्रक्रिया पांच साल से शुरू हो जाती है. इस उम्र में इनके सीखने की प्रक्रिया बहुत तेज होती है और अगर इस समय हम बच्चों की, सोचने-समझने की क्षमता, स्मरण शक्ति एवं एकाग्रता को बढ़ाने का प्रयास करते हैं तो यह जीवन में उन्हें काफी मदद करता है.”
एनसीईआरटी की किताबों में होगी बाल सुरक्षा योजनाओं की जानकारी
उन्होंने कहा, “यूसीमास अबेकस पद्धति बच्चों में कैलकुलेशन करने की क्षमता को तेज करता है, जिससे वे कठिन से कठिन कैलकुलेशन को सेकेंड्स में हल कर देते हैं वह भी बिना कैलकुलेटर का उपयोग किए. हम इन बच्चों में एक स्किल डेवलप करते हैं, जो हमेशा उनके साथ रहती है.”
सीनियर और जूनियर कैटेगरी की इस प्रतियोगिता के दो चरण थे -लिखित और मौखिक. लिखित परीक्षा का परिणाम 23 तारीख को आएगा, जबकि मौखिक राउंड के सीनियर कैटेगरी के विजेता दिल्ली के हर्षित सिंह रहे, जबकि प्रथम उपविजेता अनीश रॉय चौधरी और द्वितीय उपविजेता छवि गोयल थीं. जूनियर राउंड की विजेता न्यासा राजपूत, प्रथम उपविजेता पर्व जैन और द्वितीय उप विजेता सक्षम मिगलानी रहे. विजेताओं को ट्रॉफी और नकद पुरस्कार दिए गए.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *