Menu

IIT Guwahati researchers featured in list of world top scientists

1.आईआईटी गुवाहाटी के शोधकर्ता विश्व के सर्वोच्च वैज्ञानिकों की सूची में शामिल हुए का परिचय (Introduction to IIT Guwahati researchers featured in list of world top scientists)-

(1.)आईआईटी गुवाहाटी के शोधकर्ता विश्व के सर्वोच्च वैज्ञानिकों की सूची में शामिल हुए (IIT Guwahati researchers featured in list of world top scientists) हैं।
(2.)आईआईटी गुवाहाटी का नाम देश के प्रतिष्ठित संस्थानों में शुमार है।अब संस्थान के नाम एक और उपलब्धि जुड़ गई है।
(3.)संस्थान के शोधकर्ताओं को अमेरिका के स्टैनफोर्ड यूनिवर्सिटी की ओर से तैयार दुनिया के टॉप वैज्ञानिकों की सूची में आईआईटी गुवाहाटी को जगह मिली है।
(4.)स्टैनफोर्ड यूनिवर्सिटी ने आईआईटी गुवाहाटी के 22 सदस्यों और शोधकर्ताओं को स्टैनफोर्ड विश्वविद्यालय की सूची में शामिल किया गया है।
(5.)आईआईटी गुवाहाटी द्वारा जारी बयान के अनुसार यह लिस्ट स्टैनफोर्ड विश्वविद्यालय के विशेषज्ञों द्वारा तैयार की गई है।इस सूची में एक लाख से अधिक वैज्ञानिकों के नाम शामिल है।
(6.)इसी सूची में शामिल वैज्ञानिकों ने रिसर्च से संबंधित क्षेत्र की प्रगति में बड़ा फायदा हुआ है।
(7.)संस्थान के निदेशक टी. जी. सीताराम और अन्य संकाय सदस्यों को उनके शोध प्रकाशनों के लिए वर्ष 2019 के लिए सूचीबद्ध किया गया है।उनके शोध ने विशिष्ट क्षेत्रों में योगदान दिया था।
(8.)इस सूची में आईआईटी गुवाहाटी संकाय के जिन विभागों के सदस्यों को शामिल किया गया है वे संकाय है-सिविल इंजीनियरिंग, मैकेनिकल इंजीनियरिंग, भौतिकी,रसायन इंजीनियरिंग, बायोसाइंसेज और बायोइंजीनियरिंग, रसायन विज्ञान, इलेक्ट्रिकल और इलेक्ट्रॉनिक्स।
आपको यह जानकारी रोचक व ज्ञानवर्धक लगे तो अपने मित्रों के साथ इस गणित के आर्टिकल को शेयर करें।यदि आप इस वेबसाइट पर पहली बार आए हैं तो वेबसाइट को फॉलो करें और ईमेल सब्सक्रिप्शन को भी फॉलो करें।जिससे नए आर्टिकल का नोटिफिकेशन आपको मिल सके ।यदि आर्टिकल पसन्द आए तो अपने मित्रों के साथ शेयर और लाईक करें जिससे वे भी लाभ उठाए ।आपकी कोई समस्या हो या कोई सुझाव देना चाहते हैं तो कमेंट करके बताएं। इस आर्टिकल को पूरा पढ़ें।

Also Read This Article-Order to refund money to college for charging practical fees in Mathematics when Science College of Chikhali recovered Rs 1250 per student

2.आईआईटी गुवाहाटी के शोधकर्ता दुनिया के टॉप वैज्ञानिकों की सूची में शामिल (IIT Guwahati researchers included in list of world top scientists)-

(1.)IIT Guwahati:आईआईटी गुवाहाटी के शोधकर्ताओं को मिला बड़ा मुकाम, दुनिया के टॉप वैज्ञानिकों की सूची में नाम शामिल
(2.)IIT Guwahatiदेश के प्रतिष्ठित संस्थानों में शुमार आईआईटी गुवाहाटी (Indian Institute of (3.)Technology Guwahati) गुवाहाटी: भारतीय प्रौद्योगिकी संस्थान, गुवाहाटी (आईआईटी गुवाहाटी) के 22 संकाय सदस्यों और शोधकर्ताओं को स्टैनफोर्ड विश्वविद्यालय द्वारा बनाई गई विश्व की शीर्ष 2% वैज्ञानिकों की सूची में शामिल किया गया है,जो 16 अक्टूबर को जारी की गई थी।
(4.)स्टैनफोर्ड यूनिवर्सिटी के विशेषज्ञों द्वारा तैयार की गई रिपोर्ट में 100,000 से अधिक वैज्ञानिकों को सूचीबद्ध किया गया है, जिनके प्रकाशित शोध पांडुलिपियों ने अपने-अपने क्षेत्रों में प्रगति की है और अन्य शोधकर्ता की उत्पादकता को प्रभावित किया है।
(5.)IITG के निदेशक प्रो. टी. जी. सीताराम द्वारा, 22 संकाय सदस्यों को वर्ष 2019 के लिए उनके शोध प्रकाशनों के लिए स्थान दिया गया है और उनके शोध के विशिष्ट क्षेत्रों में उनके जीवनकाल का योगदान है।
सूची प्रतिष्ठित प्रकाशन मंच, पीएलओएस बायोलॉजी में प्रकाशित हुई थी।
(6.)आईआईटी गुवाहाटी के संकाय सदस्यों द्वारा किए गए योगदान के बारे में बोलते हुए, निदेशक टीजी सीतारम ने कहा, “दुनिया के शीर्ष 2% वैज्ञानिकों की सूची में कई संकायों की इस मान्यता ने आईआईटी गुवाहाटी को विज्ञान के वैश्विक मानचित्र में रखा है और इससे संस्थान को बहुत गर्व हुआ है ।मैं सभी 22 वैज्ञानिकों और विज्ञान को आगे बढ़ाने के लिए उनकी कड़ी मेहनत और प्रतिबद्धता के लिए बधाई देता हूं। ”

3.निम्नलिखित IIT गुवाहाटी के शोधकर्ता हैं जिन्होंने विश्व के शीर्ष 2% वैज्ञानिकों की सूची में स्थान दिया है (The following are researchers from IIT Guwahati who have ranked in the list of top 2% scientists in the world)-

(1.)अंजीकुमार बी. कुन्नुमक्कारा-बायोसाइंसेज और बायोइंजीनियरिंग के डिपार्टमेंट
(2.)मिहिर कुमार पुरकित- केमिकल इंजीनियरिंग विभाग
(3.)विजयानंद एस. मोहोलकर- केमिकल इंजीनियरिंग विभाग
(4.)प्रवत कुमार गिरि- भौतिकी विभाग
(5.)बिमन बी मंडल- बायोसाइंसेज और बायोइंजीनियरिंग विभाग
(6.)चरणलिंगम पुण्यमूर्ति- रसायन विभाग
(7.)कौस्तुभ मोहंती-केमिकल इंजीनियरिंग विभाग
(8.)श्याम विश्वास- रसायन विभाग
(9.)संजीब गांगुली- इलेक्ट्रॉनिक्स और इलेक्ट्रिकल इंजीनियरिंग विभाग
(10.)गौतम विश्वास (पूर्व निदेशक, IITG) – मैकेनिकल इंजीनियरिंग के प्रोफेसर
(11.)प्रांजल चंद्र- बायोसाइंसेज एंड बायोइंजीनियरिंग विभाग
(12.)वैभव वी. गौड़- केमिकल इंजीनियरिंग विभाग
(13.)उज्ज्वल के साहा- मैकेनिकल इंजीनियरिंग के प्रोफेसर
(14.)अजय एस. कलमदाद- सिविल इंजीनियरिंग विभाग
(15.) पी.मुथुकुमार- मैकेनिकल इंजीनियरिंग विभाग
(16.)अमरेंद्र के. सरमा- भौतिकी विभाग
(17.)राकेश सिंह क्षत्रिमयम- इलेक्ट्रॉनिक्स और इलेक्ट्रिकल इंजीनियरिंग विभाग
(18.)एम. ग्रोल (विजिटिंग प्रोफेसर, IITG) – विजिटिंग प्रोफेसर, IITG
(19.)विभा रंजन मांझी- भौतिकी विभाग
(20.)राजीव तिवारी- मैकेनिकल इंजीनियरिंग विभाग
(21.)देबाशीष बोराह- भौतिकी विभाग
(22.)टी. जी. सीताराम- भारतीय प्रौद्योगिकी संस्थान गुवाहाटी के निदेशक

4.आईआईटी गुवाहाटी के शोधकर्ता विश्व के सर्वोच्च वैज्ञानिकों की सूची में शामिल हुए (IIT Guwahati researchers featured in list of world top scientists)-

(1.)आईआईटी गुवाहाटी (भारतीय प्रौद्योगिकी संस्थान, गुवाहाटी) द्वारा विश्व के शीर्ष वैज्ञानिकों की सूची में शामिल होना भारत के लिए गौरव की बात है।
(2.)स्टैनफोर्ड विश्वविद्यालय में 22 विभिन्न संकायों के सदस्यों का शामिल होना यह दर्शाता है कि भारत में वैज्ञानिक प्रगति बढ़ रही है।
(3.)आईआईटी गुवाहाटी के शोधकर्ता विश्व के सर्वोच्च वैज्ञानिकों की सूची में शामिल हुए (IIT Guwahati researchers featured in list of world top scientists) हैं ,जो यह दर्शाता है कि भारत के वैज्ञानिक विश्व के उच्च मानकों पर खरे उतर रहे हैं।
(4.)भारत में वैज्ञानिकों के शोध कार्यों के कारण लगातार भारत प्रगति की तरफ बढ़ रहा है।
(5.)बिजली उत्पादन हेतु विभिन्न परमाणु संयंत्र, भारत की सुरक्षा हेतु मिसाइलों का परीक्षण, संचार प्रौद्योगिकी में विकास हेतु उपग्रहों का प्रक्षेपण से लेकर कृषि तथा विभिन्न क्षेत्रों में वैज्ञानिकों के अतुलनीय योगदान से भारत धीरे-धीरे आगे बढ़ रहा है।
(6.) स्टैनफोर्ड विश्वविद्यालय द्वारा तैयार की गई सूची में भारत के वैज्ञानिकों के शामिल होने से वैज्ञानिकों का उत्साहवर्धन हुआ है।
(7.) इससे भारत के वैज्ञानिकों को आगे अपने अनुसंधान कार्यों को करने के लिए प्रेरणा प्राप्त हो सकेगी।
(8.)भारत का विकास करने में वैज्ञानिकों ने कठोर परिश्रम,त्याग व समर्पण के साथ कार्य किया है।
(9.)उनके कठिन परिश्रम, समर्पण की वजह से ही भारत दिनोंदिन प्रगति की ओर बढ़ता जा रहा है।
(10.)भारतीय वैज्ञानिक अनुसंधान करते जा रहे हैं तथा विदेशों पर उनकी निर्भरता कम होती जा रही है।
(11.)यदि भारत का विकास इसी प्रकार होता रहा तो जल्दी ही आत्मनिर्भर भारत का सपना साकार हो जाएगा।
(12.)युवाओं को तथा खासकर आईआईटी करने वाले युवाओं को आईआईटी गुवाहाटी के शोधकर्ता विश्व के सर्वोच्च वैज्ञानिकों की सूची में शामिल हुए (IIT Guwahati researchers featured in list of world top scientists) हैं,से सीख लेनी चाहिए।

Also Read This Article-Priyanshi Somani is youngest Indian human calculator

No. Social Media Url
1. Facebook click here
2. you tube click here
3. Instagram click here
4. Linkedin click here
5. Facebook Page click here

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *