Menu

IISc Bengaluru Top in QS Rankings 2022

Contents hide
2 2.आईआईएससी बेंगलुरु क्यूएस रैंकिंग 2022 में शीर्ष पर है का निष्कर्ष (Conclusion of IISc Bengaluru Top in QS Rankings 2022):

1.आईआईएससी बैंगलुरू क्यूएस रैंकिंग 2022 में शीर्ष पर है (IISc Bengaluru Top in QS Rankings 2022),IISc बैंगलुरू QS रैंकिंग 2022 में विश्व का शीर्ष अनुसंधान विश्वविद्यालय है(IISc Bengaluru is World Top Research University in QS Rankings 2022):

  • आईआईएससी बैंगलुरू क्यूएस रैंकिंग 2022 में शीर्ष पर है (IISc Bengaluru Top in QS Rankings 2022),अनुसंधान के क्षेत्र में।यह 100 अंक पाने वाला पहला विश्वविद्यालय है।कुल मिलाकर IISc भारत में तीसरा सर्वश्रेष्ठ स्थान है जिसमें आईआईटी मुंबई और दिल्ली को क्रमशः प्रथम व दूसरा स्थान प्राप्त हुआ है।
  • भारतीय विज्ञान संस्थान बेंगलुरु [Indian Institute of Science Bangaluru (IISc Bengaluru)] को विश्वविद्यालय रैंकिंग के वार्षिक प्रकाशन क्वाक्वेरेली साइमंड्स [Quacquarelli Symonds (QS)] वर्ल्ड रैंकिंग 2022 में दुनिया का शीर्ष अनुसंधान विश्वविद्यालय का स्थान दिया गया है।
  • अग्रणी वैश्विक उच्च शिक्षा विश्लेषक क्यूएस (क्वाक्वेरेली साइमंड्स) द्वारा सर्वाधिक सम्मानित अंतरराष्ट्रीय विश्वविद्यालय रैंकिंग में से एक का 18वां संस्करण जारी किया गया।
  • लंदन स्थित शिक्षा विश्लेषक विश्लेषण में IISc बेंगलुरु को उद्धरण के लिए 100 में से 100 का पूर्ण स्कोर प्राप्त हुआ है।QS रैंकिंग के अनुसार आईआईटी बॉम्बे ने 177,आईआईटी दिल्ली ने 185 वहां तथा आईआईएससी बेंगलुरु ने विश्व स्तर पर 186 वां समग्र विश्वविद्यालय रैंकिंग में रैंक हासिल किया है।
  • जेएनयू (Jawaharlal Nehru University) पहली बार टाॅप 1000 में क्यूएस वर्ल्ड यूनिवर्सिटी रैंकिंग 2022 (QS World University Ranking 2022) में जगह मिली है।जवाहरलाल नेहरू विश्वविद्यालय को 561-570 रैंकिंग बैंक में जगह दी गई है।जेएनयू में नए स्नातक स्तर के इंजीनियरिंग कोर्स के कारण इसे रैंकिंग मिली है।
  • तीन भारतीय संस्थानों का विश्व के टॉप विश्वविद्यालयों में पिछले 5 वर्ष से टाॅप 200 की रैंकिंग में शामिल हो रहे हैं।
  • पीएम मोदी ने ट्वीट करके आईआईएससी बेंगलुरु (IISc Bangaluru),आईआईटी बॉम्बे(IIT Bombay), आईआईटी दिल्ली(IIT Delhi) को बधाई दी।उन्होंने कहा कि भारत के विश्वविद्यालयों और संस्थानों को उत्कृष्टता सुनिश्चित करने और युवाओं के बीच बौद्धिक कौशल का समर्थन करने का प्रयास जारी है।
  • केंद्रीय शिक्षा मंत्री रमेश पोखरियाल निशंक ने विश्वविद्यालयों को उनकी रैंकिंग के लिए बधाई दी और कहा कि भारत शिक्षा और अनुसंधान के क्षेत्र में तेजी से आगे बढ़ रहा है।उन्होंने कहा कि मोदी जी लगातार छात्रों, फैकल्टी स्टाॅफ और भारतीय शिक्षा से जुड़े अन्य सभी हितधारकों के कल्याण के बारे में सोचते हैं।
  • भारतीय विज्ञान संस्थान (IISc) बेंगलुरु के साइटेशन पर फैकल्टी (CPF) मीट्रिक यानी शोध पेपर प्रति संकाय सदस्य के लिए 100 में से 100 अंकों के स्कोर के साथ दुनिया के अनुसंधान विश्वविद्यालय अर्थात् टॉप रिसर्च यूनिवर्सिटी इन द वर्ल्ड के रूप में सूचीबद्ध किया गया है।
  • आईआईटी बॉम्बे को लगातार चौथे वर्ष में शीर्ष क्रम के संस्थान के रूप में शामिल किया गया है।हालांकि पिछले वर्ष इसकी रैंकिंग 172 थी जिससे फिसलकर 177 रैंकिंग पर आ गया है।
  • आईआईटी दिल्ली 193वीं रैंक से 185वीं रैंक पर पहुंचने के बाद भारत का दूसरा सबसे अच्छा विश्वविद्यालय बन गया है।जबकि यूनिवर्सिटी रैंकिंग में आईआईएससी बेंगलुरु 185 से 186 वीं रैंक पर पहुंच गया है।
  • आईआईटी दिल्ली के बाद आईआईटी मद्रास है जो 20 स्थान ऊपर आया है और वह 255 वें स्थान पर है।2017 के पश्चात इसका सर्वोच्च रैंक स्थान है।आईआईटी खड़कपुर को 280 वां स्थान मिला है जबकि आईआईटी गुवाहाटी ने 395वीं रैंक में पहली बार शीर्ष 400 संस्थानों में स्थान बना लिया है। आईआईटी हैदराबाद 591-600 वीं रैंक बैंड में स्थान बनाया हुआ है।
  • भारत के 35 विश्वविद्यालयों में से 17 ने अपने सीपीएफ स्कोर में वृद्धि की गई है जबकि 12 विश्वविद्यालयों की सीपीएफ में गिरावट आई है।फैकल्टी/छात्र अनुपात श्रेणी के अनुसार भारतीय विश्वविद्यालय‌ शीर्ष 250 में शामिल नहीं हैं। 
  • कोविड-19 महामारी में कोरोनावायरस के संक्रमण की वृद्धि के कारण भारत के 35 विश्वविद्यालयों में से 23 विश्वविद्यालयों को क्यूएस रैंकिंग के संकाय/छात्र अनुपात संकेतक में गिरावट का सामना करना पड़ा है।
  • विश्व रैंकिंग में मैसाचुसेट्स इंस्टीट्यूट ऑफ टेक्नोलॉजी को लगातार दसवें वर्ष में नंबर एक रैंकिंग पर कायम है। ऑक्सफोर्ड विश्वविद्यालय ने 2006 के बाद पहली बार दूसरा स्थान प्राप्त किया है जबकि स्टैनफोर्ड विश्वविद्यालय और कैंब्रिज विश्वविद्यालय तीसरे स्थान पर हैं।
  • क्यूएस वर्ल्ड यूनिवर्सिटी रैंकिंग छह संकेतकों के आधार पर तैयार की जाती है। इनमें शैक्षणिक प्रतिष्ठा, नियोक्ता प्रतिष्ठा,प्रति संकाय उद्धरण, संकाय/छात्र अनुपात, अंतरराष्ट्रीय संकाय अनुपात और अंतरराष्ट्रीय छात्र अनुपात आदि शामिल है।
  • आपको यह जानकारी रोचक व ज्ञानवर्धक लगे तो अपने मित्रों के साथ इस गणित के आर्टिकल को शेयर करें ।यदि आप इस वेबसाइट पर पहली बार आए हैं तो वेबसाइट को फॉलो करें और ईमेल सब्सक्रिप्शन को भी फॉलो करें जिससे नए आर्टिकल का नोटिफिकेशन आपको मिल सके ।यदि आर्टिकल पसन्द आए तो अपने मित्रों के साथ शेयर और लाईक करें जिससे वे भी लाभ उठाए ।आपकी कोई समस्या हो या कोई सुझाव देना चाहते हैं तो कमेंट करके बताएं।इस आर्टिकल को पूरा पढ़ें।

Also Read This Article-Why Singapore Tops International Education Rankings?

2.आईआईएससी बेंगलुरु क्यूएस रैंकिंग 2022 में शीर्ष पर है का निष्कर्ष (Conclusion of IISc Bengaluru Top in QS Rankings 2022):

  • प्राचीनकाल में स्वतन्त्र चिन्तन के लिए पूरी छूट थी। एक-दूसरे से वार्ता करके अथवा खण्डन-मण्डन करने की भी स्वतन्त्रता थी। इसलिए ज्ञान-विज्ञान की उन्नति हुई।गुप्त काल के समय से ब्राह्मण धर्म ने स्वतन्त्र चिंतन,मनन पर पाबन्दियां लगा दी।इसके पक्ष में तर्क यह दिया गया कि पुराने ग्रन्थों की सारी बातें ठीक है। इसलिए पुरानी बातों का खण्डन करने की किसी की हिम्मत नहीं होती थी। जब पुरानी बातों को परमसत्य मानने लग गए तो अन्धविश्वास, रूढ़िवादिता तथा पाखंडवाद का प्रसार होने लगा।
  • इसी काल में वाग्भट पैदा हुए। उन्होंने रूढ़िवादिता का विरोध किया।अपने ग्रंथ अष्टांग हृदय में उन्होंने लिखा कि पुराने ऋषि-मुनियों के ग्रंथों में ही परम सत्यता है तो चरक और सुश्रुत के ग्रंथों को भी छोड़ दो और केवल भेड़ आदि के ग्रंथों को पढ़ों।उनका कहने का तात्पर्य यही था कि सही बात जहां से भी मिले उसको ग्रहण कर लेना चाहिए।
  • आधुनिक भारत में जितने विद्वान हुए उनका विश्वास था कि भारत में प्रतिभाओं की कोई कमी नहीं है। इसलिए उन्होंने भारत देश में वैज्ञानिक खोजों के लिए विभिन्न संस्थानों की स्थापना की ताकि भारत अपने पैरों पर खड़ा हो सके और हमें विदेशों का मुंह ताकना न पड़े।इसी क्रम में IISc Bengaluru की स्थापना की गई।
  • उपर्युक्त विवरण में आईआईएससी बैंगलुरू क्यूएस रैंकिंग 2022 में शीर्ष पर है (IISc Bengaluru Top in QS Rankings 2022) की समीक्षा की गई है।

Also Read This Article-Best Education at Galgotias University

3.आईआईएससी बेंगलुरु क्यूएस रैंकिंग 2022 में शीर्ष पर है (IISc Bengaluru Top in QS Rankings 2022) के बारे में अक्सर पूछे जाने वाले प्रश्न:

प्रश्न:1.आईआईएससी क्यूएस रैंकिंग 2022 (iisc qs ranking 2022):

उत्तर:भारतीय विज्ञान संस्थान (IISc), बैंगलोर को दुनिया के शीर्ष (IISc Bengaluru Top in QS Rankings 2022 Bengaluru Top in QS Rankings 2022) अनुसंधान विश्वविद्यालय के रूप में स्थान दिया गया है, QS वर्ल्ड यूनिवर्सिटी रैंकिंग 2022 में पता चलता है।
आईआईएससी-बैंगलोर दुनिया में शीर्ष (IISc Bengaluru Top in QS Rankings 2022) संस्थान, क्यूएस विश्व रैंकिंग 2022 का खुलासा करता है।रैंकिंग निकाय ने पाया कि भारतीय विश्वविद्यालयों में सुधार हुआ है।
भारतीय विज्ञान संस्थान, बैंगलोर, प्रति संकाय संकेतक (Citations Per Faculty Indicator) के अनुसार दुनिया का शीर्ष अनुसंधान विश्वविद्यालय है, जबकि भारतीय विज्ञान संस्थान बेंगलुरु ओवर आल रैंकिंग के अनुसार भारत में इसका तीसरा स्थान है।

प्रश्न:2.क्यूएस रैंकिंग भारत 2022 (qs ranking india 2022):

उत्तर:लंदन स्थित क्वाक्वेरेली साइमंड्स (क्यूएस) [Quacquarelli Symonds (QS)] ने 8 जून को अपनी विश्व विश्वविद्यालय रैंकिंग 2022 जारी की, जिसमें दुनिया के शीर्ष 1300 विश्वविद्यालयों को सूचीबद्ध किया गया।
क्वाक्वेरेली साइमंड्स (क्यूएस) विश्व विश्वविद्यालय रैंकिंग 2022 8 जून बुधवार को प्रकाशित हुई
रैंकिंग के 18वें संस्करण के अनुसार, भारत प्रौद्योगिकी संस्थान (आईआईटी),बॉम्बे, प्रथम स्थान के लिए भारत का शीर्ष रैंक वाला संस्थान है।
क्यूएस वर्ल्ड यूनिवर्सिटी रैंकिंग 2022 में तीन भारतीय विश्वविद्यालयों को शीर्ष -200 में स्थान दिया गया है, आईआईटी-बॉम्बे ने 177 वां स्थान हासिल किया है, आईआईटी-दिल्ली को 185वीं रैंक मिली है।
JGU ने एक बार फिर QS वर्ल्ड यूनिवर्सिटी रैंकिंग 2022 द्वारा भारत में नंबर 1 निजी विश्वविद्यालय को स्थान दिया (नई दिल्ली भारत)।

प्रश्न:3.आईआईएससी क्यूएस रैंकिंग 2021 (iisc qs ranking 2021):

उत्तर:भारतीय विज्ञान संस्थान बैंगलोर, भारत में शीर्ष सार्वजनिक विश्वविद्यालयों में से एक है।  क्यूएस ग्लोबल वर्ल्ड रैंकिंग 2021 में इसे #185वां स्थान मिला है।

प्रश्न:4.2021 में दुनिया का सबसे अच्छा विश्वविद्यालय कौन सा है? (What is the best university in the world 2021?):

उत्तर:क्यूएस विश्व विश्वविद्यालय रैंकिंग 2021 – शीर्ष 3
(QS World University Rankings 2021 – Top 3)
2021 रैंक (2021 Rank) 2020 रैंक (2020 Rank) विश्वविद्यालय (University) 1.मैसाचुसेट्स प्रौद्योगिकी संस्थान (एमआईटी) [Massachusetts Institute of Technology (MIT)]
2.स्टैनफोर्ड विश्वविद्यालय (Stanford University)
3.हार्वर्ड विश्वविद्यालय (Harvard University)

प्रश्न:5.IISc की विश्व रैंकिंग क्या है? (What is the world ranking of IISc?):

उत्तर:बुधवार को जारी प्रतिष्ठित क्यूएस वर्ल्ड यूनिवर्सिटी रैंकिंग के अनुसार, भारतीय विज्ञान संस्थान, बैंगलोर, प्रति संकाय संकेतक (citations per faculty indicator ) के अनुसार दुनिया का शीर्ष अनुसंधान विश्वविद्यालय है,जबकि भारतीय प्रौद्योगिकी संस्थान, गुवाहाटी श्रेणी में 41 वें स्थान पर है।

प्रश्न:6.QS के लिए UTM लक्ष्य क्या है? (What is the UTM target for the QS?):

उत्तर:यूनिवर्सिटी टेक्नोलॉजी मलेशिया [Universiti Teknologi Malaysia (UTM)] स्कूडाई (Skudai) मलेशिया में शीर्ष सार्वजनिक विश्वविद्यालयों में से एक है।यह क्यूएस वैश्विक विश्व रैंकिंग 2021 में #187 स्थान पर है।

प्रश्न:7.क्या QS वर्ल्ड रैंकिंग विश्वसनीय है? (Is QS World Ranking reliable?):

उत्तर:क्यूएस को देखने वाले लोगों को इसे केवल एक ब्रांड पहचान रैंकिंग मानना ​​चाहिए।दुनिया भर में *सर्वेक्षण* के आधार पर 40% रैंकिंग “अकादमिक प्रतिष्ठा” है।यह एक नाम/ब्रांड पहचान सर्वेक्षण है और इसका शिक्षाविदों से कोई लेना-देना नहीं है।  यह बड़े विश्वविद्यालयों को बड़े पूर्व छात्रों के आधार पर पुरस्कृत करता है।

प्रश्न:8.दुनिया में नंबर #1 विश्वविद्यालय कौन सा है? (What is the #1 university in the world?):

उत्तर:Rank University Country  1.हार्वर्ड विश्वविद्यालय यूएसए (Harvard University USA)
2.कैलिफोर्निया प्रौद्योगिकी संस्थान (कैलटेक) यूएसए [California Institute of Technology (Caltech) USA]
3.स्टैनफोर्ड विश्वविद्यालय यूएसए (Stanford University USA)

प्रश्न:9.दुनिया का नंबर 1 विश्वविद्यालय कौन है? (Who is the No 1 University in world?):

उत्तर:क्यूएस वर्ल्ड यूनिवर्सिटी रैंकिंग द्वारा एमआईटी को फिर से दुनिया के शीर्ष विश्वविद्यालय का नाम दिया गया है, जिसकी घोषणा 8 जून,2021 को की गई।यह लगातार 10वां वर्ष है जब एमआईटी को यह गौरव प्राप्त हुआ है।

प्रश्न:10.क्या आईआईएससी आईआईटी से बेहतर है? (Is IISc better than IIT?):

उत्तर:नेशनल इंस्टीट्यूट ऑफ रैंकिंग फ्रेमवर्क (एनआईआरएफ) [National Institute of Ranking Framework (NIRF)] ने आईआईएससी को भारत में #2 पर स्थान दिया है।क्यूएस वर्ल्ड यूनिवर्सिटी रैंकिंग आईआईएससी को दुनिया में #183 पर, भारत में #3 पर रखती है।जब अनुसंधान और वैज्ञानिक अन्वेषणों की बात आती है, तो शिक्षा जगत में आईआईएससी का अपना विशिष्ट स्थान है।IIT की संख्या 23 है और केवल एक IISC है।

प्रश्न:11.क्या IISc IIT से कठिन है? (Is IISc tougher than IIT?):

उत्तर:भारतीय प्रौद्योगिकी संस्थान (Indian Institute of Technology) और भारतीय विज्ञान संस्थान (Indian Institue of Science)-अंतर।IIT भौतिक प्रतिष्ठा में चमकदार और ग्लैमरस हैं,IISc सरल हैं-एक शांत रवैया रखते हैं,अधिक शोध आधारित और वैज्ञानिक प्रगति के लिए प्रतिबद्ध हैं।देश में आईआईटी की संख्या आईआईएससी की संख्या से कई अधिक है।

प्रश्न:12.क्या आईआईएससी में बीटेक है? (Is there B Tech in IISc?):

उत्तर:सबसे पहले,आईआईएससी वास्तव में बी.टेक की बिल्कुल भी पेशकश नहीं करता है।यह बैचलर ऑफ साइंस (रिसर्च) प्रदान करता है जो चार साल का कार्यक्रम है।आप चौथे,पांचवें और छठे सेमेस्टर में इंजीनियरिंग ऐच्छिक चुन सकते हैं और उसके बाद अंतिम दो सेमेस्टर में एक शोध परियोजना का चयन कर सकते हैं।

प्रश्न:13.आईआईएससी लोकप्रिय क्यों नहीं है? (Why is IISc not popular?):

उत्तर:इसकी कम विश्व रैंकिंग के पीछे मुख्य कारण नोबेल पुरस्कार विजेताओं का उत्पादन करने में विफलता माना जाता है, जो दुनिया के प्रसिद्ध वैज्ञानिकों और शिक्षाविदों के बीच एक संस्थान की सार्वजनिक धारणा पर अधिक वजन करते हैं।जिस संस्थान से पढ़े-लिखे नोबल पुरस्कार प्राप्त करते हैं,विश्व में उसको अधिक मान्यता दी जाती है।
आईआईएससी की स्थापना 1909 में उद्योगपति जमशेदजी टाटा और मैसूर के महाराजा बेंगलुरू की मदद से की गई थी।

उपर्युक्त प्रश्नों के उत्तर द्वारा आईआईएससी बैंगलुरू क्यूएस रैंकिंग 2022 में शीर्ष पर है (IISc Bengaluru Top in QS Rankings 2022),IISc बैंगलुरू QS रैंकिंग 2022 में विश्व का शीर्ष अनुसंधान विश्वविद्यालय है(IISc Bengaluru is World Top Research University in QS Rankings 2022) के बारे में जानकारी प्राप्त कर सकते हैं।

No.Social MediaUrl
1.Facebookclick here
2.you tubeclick here
3.Instagramclick here
4.Linkedinclick here
5.Facebook Pageclick here

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *