Menu

Beautiful Mind of John Nash in Maths

1.जॉन नैश का गणित में खूबसूरत दिमाग का परिचय (Introduction to Beautiful Mind of John Nash in Maths)-

जॉन नैश  का गणित में सुंदर दिमाग (Beautiful Mind of John Nash in Maths) के बारे में इस आर्टिकल में बताया गया है। जाॅन नैश का पूरा नाम है जाॅन होर्ब्स नैश (John Porbes Nash)।जाॅन नैश की प्रतिभा का परिचय उनके माता-पिता व शिक्षकों को बाल्यकाल में ही हो गया था।वे अति प्रतिभाशाली व्यक्तित्व थे।वे स्कूल के दिनों में घर पर विज्ञान के प्रयोग किया करते थे। इसलिए उन्हें ‘बिग ब्रेन्स’ की उपाधि मिली।बिग ब्रेन्स का मतलब होता है कि प्रतिभाशाली दिमाग।
बचपन से ही अध्ययन के प्रति गंभीर थे, इसलिए अपने मित्रों से बहुत कम बातचीत करते थे।धीरे-धीरे उनमें छिपी हुई गणित की प्रतिभा विकसित होती गई।थोड़े समय के लिए उन्होंने रसायन विज्ञान का अध्ययन किया लेकिन शिक्षकों ने उनकी गणितीय प्रतिभा को पहचान लिया था। इसलिए उन्हें गणित में पढ़ने के लिए प्रेरित किया।जाॅन नैश ने भी उनको निराश नहीं किया और गणित से एमएससी की।
अपनी गणित की प्रतिभा को विकसित करने के लिए उन्होंने हार्वर्ड विश्वविद्यालय के बजाय प्रिंसटन विश्वविद्यालय को चुना क्योंकि प्रिंसटन में आइंस्टीन व न्यूमैन जैसे गणितज्ञ रहते थे।इसलिए जॉन नैश ने आइंस्टीन व न्यूमैन से प्रतिभा के गुर सीखने के लिए प्रिंसटन विश्वविद्यालय को चुना।
प्रिंसटन में पीएचडी के लिए आवेदन करते समय उनके प्रोफेसरों ने लिखा कि जाॅन नैश एक प्रतिभाशाली व्यक्ति है।
धीरे-धीरे उनके दिमाग का विकास होता गया।इसलिए इस आर्टिकल का टाइटल जाॅन नैश का गणित में खूबसूरत दिमाग (Beautiful Mind of John Nash in Maths) रखा गया है।
जाॅन नैश ने अपनी प्रतिभा और दिमाग के द्वारा कितना विकास किया है इसका संक्षिप्त विवरण इस आर्टिकल में नीचे वर्णित किया गया है।
जाॅन नैश का गणित में खूबसूरत दिमाग (Beautiful Mind of John Nash in Maths) से तात्पर्य है कि उनमें जन्मजात गणितीय प्रतिभा थी।उस प्रतिभा को पहचानकर निखारने व उभारने की आवश्यकता थी।
इसलिए जाॅन नैश के शिक्षकों एवं प्रोफसरों ने ठीक से उनकी प्रतिभा को पहचाना और गणित में जाॅन नैश के ख़ूब दिमाग ( Beautiful Mind of John Nash in Maths) का उपयोग किया गया।
शिक्षकों,माता-पिता तथा गुरुओं का सच्चा कर्तव्य यही है कि बालकों की वास्तविक प्रतिभा को पहचान कर उसे विकसित किया जाए।उन पर अपनी इच्छा नहीं थोपनी चाहिए।अपनी इच्छा थोपने के कारण बालक की वास्तविक प्रतिभा पल्लवित व विकसित नहीं होती है।ओर बहुत से प्रतिभाशाली बालकों के उपयोग से संसार के लोगों को वंचित होना पड़ता है।
जाॅन नैश का गणित में खूबसूरत दिमाग (Beautiful Mind of John Nash in Maths) को भी शिक्षकों ने पहचान लिया था।वरना उन्होंने रसायन शास्त्र की पढ़ाई प्रारंभ कर दी थी।।परंतु कुछ समय अध्ययन करने के बाद ही उनके प्रोफेसरों ने उनको गणित में अध्ययन करने का सुझाव दिया।
जाॅन नैश का गणित में खूबसूरत दिमाग (Beautiful Mind of John Nash in Maths) ने उनकी बात स्वीकार की।इस प्रकार संसार में एक अति प्रतिभाशाली गणितज्ञ का पर्दापण हुआ।
उन्होंने गणित में कई आश्चर्यजनक खोजें की। उन्होंने एक ऐसे चतुर गेम का आविष्कार किया जिसका बाद में ‘हेक्स’ नाम रखा गया।
आपको यह जानकारी रोचक व ज्ञानवर्धक लगे तो अपने मित्रों के साथ इस गणित के आर्टिकल को शेयर करें ।यदि आप इस वेबसाइट पर पहली बार आए हैं तो वेबसाइट को फॉलो करें और ईमेल सब्सक्रिप्शन को भी फॉलो करें जिससे नए आर्टिकल का नोटिफिकेशन आपको मिल सके ।यदि आर्टिकल पसन्द आए तो अपने मित्रों के साथ शेयर और लाईक करें जिससे वे भी लाभ उठाए ।आपकी कोई समस्या हो या कोई सुझाव देना चाहते हैं तो कमेंट करके बताएं। इस आर्टिकल को पूरा पढ़ें।

Also Read This Article:-Two mathematicians solve a decade old mathematics puzzle

2.जॉन नैश का गणित में खूबसूरत दिमाग(Beautiful Mind of John Nash in Maths)-

उन्होंने एक बार शिकागो विश्वविद्यालय में एक संकाय की स्थिति को अस्वीकार कर दिया था, जिसमें कहा गया था कि उन्हें अंटार्कटिका के सम्राट के रूप में ताज पहनाया जानेवाला था।
16 जुलाई, 2020
जॉन फोर्ब्स नैश (John Forbes Nash) का जन्म 13 जून, 1928 को ब्लूफ़िल्ड, एपलाचिया के एक समृद्ध रेलवे शहर में हुआ था।उनके पिता एक इलेक्ट्रिकल इंजीनियर के रूप में काम करते थे और माँ एक अंग्रेजी स्कूल की शिक्षिका थीं।नैश में बचपन के दौरान प्रतिभा के विलक्षण गुण थे, जब वह अन्य बच्चों के साथ बहुत कम बातचीत करता था और अपने घर में वैज्ञानिक प्रयोगों को अंजाम देता था, जिससे उन्हें ‘बिग ब्रेन’ की उपाधि मिलती थी।स्कूल के दिनों से ही नैश ने जिज्ञासु लोकों और आंतरिक प्रतिमानों के प्रति बड़ी रुचि विकसित की, जो औपचारिक प्रक्रियाओं के लिए कम चौकस रहते हुए ब्रह्मांड को मूर्त रूप देते थे।
14 वर्ष की उम्र में उन्होंने ब्लूफ़ील्ड कॉलेज में प्रवेश लिया और ई.टी. बेल के क्लासिक मेन ऑफ़ मैथमैटिक्स के माध्यम से पढ़ाई करते हुए गणितीय सोच में एक बड़ी उत्सुकता पैदा की और क्लासिक फ़र्मेट प्रमेय साबित करने में सफल रहे।आइंस्टीन और बर्ट्रेंड रसेल जैसे अन्य प्रतिभाओं द्वारा अपने प्रारंभिक किशोरावस्था में आइंस्टीन के साथ 12 साल की यूक्लिड की पहली मुलाकात के दौरान ’आश्चर्य’ प्रकरण की याद दिलाते हुए, रिवाइलेटरी अनुभवों की इसी तरह के वर्णन को सुना गया।इसी फर्मेट प्रमेय के समाधान ने कार्ल फ्रेडरिक गॉस, प्रसिद्ध जर्मन गणितज्ञ को भाषाशास्त्र के बजाय गणित को चुनने में मदद की।कैनेगी इंस्टीट्यूट ऑफ टेक्नोलॉजी में एक छात्रवृत्ति जीतने के बाद ,नैश ने थोड़े समय के लिए रसायन विज्ञान का अध्ययन किया जब तक उन्होंने कहा कि ‘मैंने प्रतिगमन की नकारात्मक प्रतिक्रिया व्यक्त की’ और फिर अपने शिक्षकों द्वारा उनकी गणितीय प्रतिभाओं के लिए स्वीकार किया (उन्हें युवा गॉस कहते हुए), उन्होंने गणित में 1948 में एम.एस.सी.की। प्रिंसटन के डॉक्टरेट प्रोग्राम के लिए गणित में आवेदन करते समय, उनके प्रोफेसरों में से एक ने उनके लिए एक पंक्ति की सिफारिश के रूप में लिखा था: “यह आदमी एक प्रतिभाशाली है।”उन्होंने हार्वर्ड के बजाय अपने डॉक्टरेट के लिए प्रिंसटन को चुना क्योंकि वह जानता था कि आइंस्टीन और न्यूमैन वहां थे और प्रस्ताव के आधार पर उन्हें वहां सबसे प्रतिष्ठित जॉन एस कैनेडी फैलोशिप भी मिली थी।पहुंचने के बाद, नैश जल्दी ही मस्तिष्क के आतिशबाज़ी बनाने की विद्या को प्रदर्शित करने वाले शानदार युवा दिमागों में से एक बन गया और टेसूलेटेड बाथरूम टाइलों पर मार्करों के साथ खेले गए एक चतुर गेम का आविष्कार भी किया।नैश या जॉन नाम का यह खेल तब बहुत लोकप्रिय हुआ, जब पार्कर ब्रदर्स ने कुछ साल बाद इसका नया संस्करण ‘हेक्स’ नाम से पेश किया।
इस प्रकार उपर्युक्त विवरण के आधार पर कहा जा सकता है कि जाॅन नैश का गणित में खूबसूरत दिमाग (Beautiful Mind of John Nash in Maths) था।

Also Read This Article:-Mathematician Sir Isaac Newton

No. Social Media Url
1. Facebook click here
2. you tube click here
3. Twitter click here
4. Instagram click here
5. Linkedin click here
6. Facebook Page click here

No Responses

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *