Menu

Rohit Yadav will get US University PhD

Contents hide
1 1.रोहित यादव को अमेरिकी यूनिवर्सिटी पीएचडी कराएगी (Rohit Yadav will get US University PhD), एमएससी स्टूडेंट रोहित यादव को अमेरिकी यूनिवर्सिटी पीएचडी कराएगी (MSc student Rohit Yadav will get American University PhD),गधे की सवारी से हवाई जहाज तक रोहित यादव की यात्रा (Journey of Rohit Yadav from donkey ride to air plane)-

1.रोहित यादव को अमेरिकी यूनिवर्सिटी पीएचडी कराएगी (Rohit Yadav will get US University PhD), एमएससी स्टूडेंट रोहित यादव को अमेरिकी यूनिवर्सिटी पीएचडी कराएगी (MSc student Rohit Yadav will get American University PhD),गधे की सवारी से हवाई जहाज तक रोहित यादव की यात्रा (Journey of Rohit Yadav from donkey ride to air plane)-

  • रोहित यादव को अमेरिकी यूनिवर्सिटी पीएचडी कराएगी (Rohit Yadav will get US University PhD), जिसने गरीबी तथा विषम हालातों से संघर्ष करके यह मुकाम हासिल किया है।रोहित यादव के शुरुआत का समय काफी संघर्षों से भरा हुआ रहा है।
  • रोहित यादव ने अपने युवा काल में कोटकासिम के उजोली गांव में मजदूरी व बांटे पर खेती का कार्य किया है।उसने इस कार्य को करने के लिए गधे की सवारी भी की है।परंतु आज इस मुकाम पर पहुंच गया है कि वह अब एयरप्लेन का सफर कर रहा है।
    दादा, पिता व चाचा के साथ मिलकर उसने गधे पर मटके बेचने के पैतृक कार्य में खूब हाथ बढ़ाया है।
  • पिताजी के देहांत होने के बाद रोहित यादव के चाचा ने रोहित को दिल्ली ग्रेजुएशन करने के लिए भेज दिया।यहां दिल्ली यूनिवर्सिटी में उसने एमएससी की पढ़ाई पूरी की।
  • अपनी प्रतिभा के बल पर उसने एमएससी करने के बाद एयरप्लेन से अमेरिका की उड़ान भरी।अब वह अमेरिका की इण्डियाना ब्लूमिंगटन यूनिवर्सिटी पहुंच गया है।इस यूनिवर्सिटी ने रोहित को फिजिक्स में पीएचडी करने का मौका दिया है।
    इसके अलावा रोहित के अन्य खर्चे भी यूनिवर्सिटी ही वहन करेगी।रोहित को मिलने वाली राशि उसकी पढ़ाई पर ही खर्च होगी।
  • रोहित के इस संघर्षमय सफर में परिवार के अलावा कुछ शिक्षक व समाज के लोगों का योगदान भी रहा है।रोहित को जिन्होंने सहयोग किया है वे लोग उसको हमेशा याद रहते हैं।
  • रोहित के पिता का निधन उसके बचपन में ही अर्थात जब वह 3 साल का था तब ही हो गया था।उसके बाद चाचा मनीराम ने उसकी जिम्मेदारी वहन की
    रोहित दसवीं तक उजोली सरकारी स्कूल में पढ़ा।दसवीं में 80% अंक प्राप्त कर टाॅप किया तथा 12वीं में 93% अंक प्राप्त किए।ग्रेजुएशन दिल्ली यूनिवर्सिटी से की तथा यूनिवर्सिटी में टाॅपर रहा।आईआईटी मुंबई से करने के बाद दो महीने के लिए अमेरिका में इंटर्नशिप की।
  • रोहित पढ़ाई में अव्वल था।परिवार निर्धन होने के कारण उसका खर्चा वहन करने में असमर्थ था।इसलिए पड़ोस के गांव राबड़का के बिल्लूराम यादव व गजराज ने ग्रेजुएशन के समय हर साल ₹50 हजार की मदद की।
  • रोहित के घर की हालत भी जर्जर थी।10वीं तक पढ़ते समय उसके पास रहने के लिए छप्पर का मकान था। कोटकासिम क्षेत्र के उजोली गांव के इस पुराने मकान में रोहित दसवीं कक्षा तक रहा।हालांकि अब गत वर्षों में उसने तीन कमरों का मकान बना लिया।
  • तो रोहित यादव को अमेरिकी यूनिवर्सिटी पीएचडी कराएगी (Rohit Yadav will get US University PhD इसके पीछे उसकी कड़ी मेहनत और उसका समर्पण है ।  
  • आपको यह जानकारी रोचक व ज्ञानवर्धक लगे तो अपने मित्रों के साथ इस गणित के आर्टिकल को शेयर करें।यदि आप इस वेबसाइट पर पहली बार आए हैं तो वेबसाइट को फॉलो करें और ईमेल सब्सक्रिप्शन को भी फॉलो करें।जिससे नए आर्टिकल का नोटिफिकेशन आपको मिल सके ।यदि आर्टिकल पसन्द आए तो अपने मित्रों के साथ शेयर और लाईक करें जिससे वे भी लाभ उठाए ।आपकी कोई समस्या हो या कोई सुझाव देना चाहते हैं तो कमेंट करके बताएं।इस आर्टिकल को पूरा पढ़ें।

Also Read This Article-Talent Search Test in Mathematics Olympiad

2.रोहित यादव को अमेरिकी यूनिवर्सिटी पीएचडी कराएगी का सारांश (Conclusion of Rohit Yadav will get US University PhD),रोहित यादव को अमेरिकन यूनिवर्सिटी पीएचडी कराएगी का सारांश (Conclusion of Rohit Yadav will get American University PhD)-

  • रोहित यादव के जीवन की संघर्षमयी गाथा का यह कुछ सारांश है।वास्तव में उसने किन-किन कठिनाइयों तथा विषम हालातों का सामना किया है उससे हर युवा व पढ़ने वाले को ग्रहण करना व सीख लेना चाहिए।
  • कई युवा व छात्र-छात्राएं कठिन परिस्थितियों तथा आर्थिक हालातों का जिक्र करके आगे पढ़ाई करने में असमर्थता व्यक्त करते हैं।वे विपरीत हालातों का सामना न करके पढ़ाई करना छोड़ देते हैं या अपनी योग्यता व प्रतिभा के अनुसार कोर्स नहीं करते हैं।
    परंतु यदि युवाओं व छात्र-छात्राओं में कुछ कर गुजरने का जज्बा हो तो मुश्किल हालातों में भी अपना रास्ता बना लेते हैं।
  • ऐसा रोहित यादव एक अकेला ही नहीं है बल्कि कई युवा इस प्रकार के विपरीत हालातों से टक्कर लेते हैं, उनका सामना करके अपने लिए रास्ता बना लेते हैं।
    इसलिए रोहित के इस उदाहरण से हम छात्र-छात्राओं को यही संदेश देना चाहते हैं कि मुश्किलें आपको तराशती है ,आपकी प्रतिभा में निखार लाती है इसलिए मुश्किलों से घबरा कर अपने पैर पीछे न हटा कर आगे बढ़ाना चाहिए। धीरे-धीरे आप ज्यों-ज्यों आगे बढ़ते जाएंगे आपके लिए आगे से आगे रास्ता निकलता जाएगा।
  • उपर्युक्त विवरण में रोहित यादव को अमेरिकी यूनिवर्सिटी पीएचडी कराएगी (Rohit Yadav will get US University PhD),एमएससी स्टूडेंट रोहित यादव को अमेरिकीयूनिवर्सिटी पीएचडी कराएगी (MSc student Rohit Yadav will get American University PhD),गधे की सवारी से हवाई जहाज तक रोहित यादव की यात्रा (Journey of Rohit Yadav from donkey ride to air plane) के बारे में बताया गया है।

3.भारत में अंशकालिक पीएचडी (Part time PhD in india)-

  • भारत में अंशकालिक पीएचडी कार्यक्रम की पेशकश करने वाले विश्वविद्यालय (Universities Offering Part Time PhD Programs in India)
  • अमृता विश्वविद्यालय, कोयंबटूर (Amrita University, Coimbatore)
  • आंध्र विश्वविद्यालय कॉलेज ऑफ लॉ,विशाखापत्तनम (Andhra University College of Law, Visakhapatnam)
  • भारथिअर विश्वविद्यालय,कोयंबटूर (Bharathiar University, Coimbatore)
    बिट्स पिलानी, राजस्थान (BITS Pilani, Rajasthan)
  • दिल्ली टेक्नोलॉजिकल यूनिवर्सिटी,दिल्ली (Delhi Technological University, Delhi)
  • डॉ. बी आर अम्बेडकर विश्वविद्यालय आगरा (Dr B.R Ambedkar University, Agra)
  • ग्लोबल सेंटर फॉर क्लीनिकल रिसर्च (Global Centre for Clinical Research)
  • पीएचडी- डॉक्टर ऑफ फिलॉसफी
  • पीएचडीएक कोर्स के बाद दी जाने वाली एक उच्चतम डिग्री है जहां छात्र को एक मूल थीसिस काम पेश करना होता है, जिससे संबंधित विषय में नया मूल्य जुड़ता है।एक पीएचडी स्नातक के पास अनुसंधान और विकासात्मक क्षेत्र में संख्यात्मक अवसर हैं।पीएचडी योग्यता उन सभी विषयों के लिए उपलब्ध है जो मान्यता प्राप्त विश्वविद्यालयों द्वारा मान्यता प्राप्त हैं।आपके नाम के लिए पीएचडी की मान्यता अकादमिक उत्कृष्टता के साथ-साथ एक स्थिति प्रतीक है।
  • अंशकालिकऔर पूर्णकालिक पीएचडी
  • मुख्यरूप से दो प्रकार के पीएचडी पाठ्यक्रम हैं: अंशकालिक और पूर्णकालिक पीएचडी पाठ्यक्रम।आपके द्वारा चुने गए पाठ्यक्रम के प्रकार के आधार पर पाठ्यक्रम की अवधि अलग-अलग होगी।अंशकालिक पीएचडी पाठ्यक्रम उन पेशेवरों के लिए सबसे अच्छा है जो नौकरी के साथ अपनी पीएचडी करना चाहते हैं,पूर्णकालिक पीएचडी पाठ्यक्रम सबसे अच्छा है यदि आप अपना सारा समय अपने पीएचडी शोध में लगाना चाहते हैं।
  • पात्रता मापदंड
  • जिन उम्मीदवारों ने यूजीसी द्वारा अनुमोदित विश्वविद्यालय से 55% से कम अंकों के साथ मास्टर डिग्री पूरी की है, वे पीएचडी कार्यक्रम लेने के लिए पात्र हैं।अनुसूचित जाति / अनुसूचित जनजाति/अन्य पिछड़ा वर्ग से संबंधित महिलाओं या उम्मीदवारों को पात्रता मानदंडों को पूरा करने के लिए आवश्यक कुल अंकों में अतिरिक्त 5% छूट है।
  • अनुसंधानऔर डेवलपमेन्ट में अवसर
  • विश्वविद्यालयोंमें उच्च पद शिक्षण के अवसरों के अलावा, आप अपने मुख्य कैरियर विकल्प के रूप में अनुसंधान और विकास का भी उपयोग कर सकते हैं।आपके नाम के साथ पीएचडी की डिग्री होने के स्पष्ट लाभ हैं क्योंकि आप अकादमिक रूप से सम्मानित होंगे और एक महान सामाजिक प्रतीक हैं।आपके पास कैरियर के विकल्पों का प्रकार आपके अध्ययन और अनुसंधान के क्षेत्र पर निर्भर है।

4.पीएचडी कोर्स की अवधि (PhD course duration)-

  • पीएचडी में विशेषज्ञता
  • एक विशेषज्ञता आपको एक विषय में अपने ज्ञान को गहरा करने में मदद करती है।आप अपने अध्ययन के क्षेत्र के आधार पर विषय चुन सकते हैं।परियोजना में अपना शोध शुरू करने के लिए आपको उक्त परियोजना के लिए विश्वविद्यालय से अनुमोदन प्राप्त करना होगा।आप निम्नलिखित अनुभागों में आपके द्वारा चुने गए विशेषज्ञता की सूची देख सकते हैं।
  • कला विषय
  • छात्र विभिन्न कलाओं और डिजाइन विषयों से चुन सकते हैं
    2-वर्ष पाठ्यक्रम कार्यक्रम
    योग्यता – 55% अंकों के साथ पोस्ट ग्रेजुएट डिग्री।SC / ST / OBC पृष्ठभूमि की महिलाओं और उम्मीदवारों को आवश्यक न्यूनतम अंकों में अतिरिक्त 5% छूट होगी।
  • शिक्षा
    आपके लिए शिक्षा के क्षेत्र में अपना शोध करने का अवसर
    2-वर्ष पाठ्यक्रम कार्यक्रम
    योग्यता – 55% अंकों के साथ पोस्ट ग्रेजुएट डिग्री।  SC / ST / OBC पृष्ठभूमि की महिलाओं और उम्मीदवारों को आवश्यक न्यूनतम अंकों में अतिरिक्त 5% छूट होगी।
    वाणिज्य विषयवाणिज्य और प्रबंधन के क्षेत्र में डॉक्टरेट अर्जित करें
    2-वर्ष पाठ्यक्रम कार्यक्रम
    योग्यता – 55% अंकों के साथ पोस्ट ग्रेजुएट डिग्री। SC/ST/OBC पृष्ठभूमि की महिलाओं और उम्मीदवारों को आवश्यक न्यूनतम अंकों में अतिरिक्त 5% छूट होगी।
  • विज्ञान विषय
    विज्ञान की विभिन्न शाखाओं में विशेषज्ञता के अवसरों का अन्वेषण करें
    2-वर्ष पाठ्यक्रम कार्यक्रम
    योग्यता-55% अंकों के साथ पोस्ट ग्रेजुएट डिग्री।SC/ ST/OBC पृष्ठभूमि की महिलाओं और उम्मीदवारों को आवश्यक न्यूनतम अंकों में अतिरिक्त 5% छूट होगी।
  • प्रबंधन विषय
    छात्रों के लिए एक पूर्ण व्यवसाय प्रबंधन डॉक्टरेट कार्यक्रम
    2-वर्ष पाठ्यक्रम कार्यक्रम
    योग्यता -55% अंकों के साथ पोस्ट ग्रेजुएट डिग्री।SC/ ST/OBC पृष्ठभूमि की महिलाओं और उम्मीदवारों को आवश्यक न्यूनतम अंकों में अतिरिक्त 5% छूट होगी।
  • इंजीनियरिंग विषय
    उपलब्ध अनगिनत विशेषज्ञता में से एक विषय चुनें
    2-वर्ष पाठ्यक्रम कार्यक्रम
    योग्यता-55% अंकों के साथ पोस्ट ग्रेजुएट डिग्री।SC/ ST/OBC पृष्ठभूमि की महिलाओं और उम्मीदवारों को आवश्यक न्यूनतम अंकों में अतिरिक्त 5% छूट होगी।

5.पीएचडी प्रवेश परीक्षा (PhD entrance exam)-

  • पीएचडी चयन प्रक्रिया में शामिल कदम
    एक विशेषज्ञता आपको एक विषय में अपने ज्ञान को गहरा करने में मदद करती है।आप अपने अध्ययन के क्षेत्र के आधार पर विषय चुन सकते हैं।परियोजना में अपना शोध शुरू करने के लिए आपको उक्त परियोजना के लिए विश्वविद्यालय से अनुमोदन प्राप्त करना होगा।आप निम्नलिखित अनुभागों में आपके द्वारा चुने गए विशेषज्ञता की सूची देख सकते हैं।
  • विश्वविद्यालय की घोषणा
    विश्वविद्यालय पहले उन छात्रों के लिए उपलब्ध सीटों की संख्या की घोषणा करेगा जो उस संबंधित विश्वविद्यालय में पीएचडी करना चाहते हैं।
  • प्रवेश परीक्षा
    उम्मीदवार को पहले द रिसर्च एंट्रेंस एप्टीट्यूड टेस्ट (TREAT) द्वारा एक प्रवेश परीक्षा और विश्वविद्यालय के विनियमन द्वारा पीएचडी के आयोजित साक्षात्कार उत्तीर्ण करना होगा।
  • चयन प्रक्रिया
    प्रवेश परीक्षा के लिए 50% अंक लाने वाले उम्मीदवार पीएचडी के लिए पात्र होंगे।उम्मीदवारों के पास है
  • एम.फिल/नेट/यूजीसीएसआईआर/जेआरएफ/गेट/ एसएलईटी/टीचर फेलो को लिखित परीक्षा में शामिल होने की आवश्यकता नहीं है।
  • अनुसंधान प्रस्ताव
    आपके द्वारा चुने गए विषय का मूल्यांकन विश्वविद्यालय द्वारा किया जाएगा।यदि विषय स्वीकार्य है, और पिछले विषयों की पुनरावृत्ति नहीं है, तो आप अगले चरण के लिए पात्र हैं।
  • प्रस्तुतीकरण
    चुने गए उम्मीदवारों को एक सम्मानित समिति के समक्ष एक प्रस्तुति में अपने शोध विचार का प्रदर्शन करना होगा।  आपके द्वारा विचार प्रस्तुत करने का तरीका चयन प्रक्रिया के लिए महत्वपूर्ण है।
  • प्रस्तुति की समीक्षा
    यदि समिति को लगता है कि आप ज्ञान की दुनिया में कुछ नया योगदान दे रहे हैं,तो वे आपके शोध प्रस्ताव को स्वीकार करेंगे और विश्वविद्यालय के तहत आपको पीएचडी करने की अनुमति प्रदान करेंगे। 
  • इस प्रकार रोहित यादव को अमेरिकी यूनिवर्सिटी पीएचडी कराएगी (Rohit Yadav will get US University PhD)। 

6.भारत में पीएचडी के लिए स्टेप्स (Steps for PhD in India),पीएचडी पाठ्यक्रम विवरण (PhD course details)-

  • प्रवेश का दृश्य
    आरक्षित श्रेणी के मामले में न्यूनतम 50% अंकों और 45% अंकों के साथ किसी मान्यता प्राप्त विश्वविद्यालय से स्नातक की डिग्री में उच्च अंक आवश्यक है।प्रवेश से पहले उम्मीदवारों को व्यक्तिगत साक्षात्कार का सामना करना चाहिए।अंतिम चयन समग्र प्रदर्शन पर आधारित होगा।
  • प्लेसमेंट विंग
    पीएचडी विश्वविद्यालय के पास एक उच्च प्लेसमेंट रिकॉर्ड है, जिसमें एक्सेंचर, फ्लिपकार्ट, myntra, microsoft, vipro, zomato आदि मल्टीनेशनल कंपनियाँ NU में आई हैं और एक उचित पैकेज के साथ छात्रों को नियोजित किया है,पीएचडी में छात्रों के लिए औसत पैकेज लगभग 4,00,000-5,00,000 चला जाता है।
  • पूर्व छात्र
    यह एक विरोधी रैगिंग कॉलेज है।पूरे दिन में बहुत सारे सीनियर जूनियर इंटरैक्शन हो रहे हैं।हम उनके साथ खेलते हैं,यहां तक ​​कि उनके साथ अध्ययन भी करते हैं।वे सभी बहुत सहायक हैं और प्रकृति में अच्छे हैं मुझे यह कहना चाहिए।
  • संकाय
    यह एक सबसे अच्छी बात है कि मेरे कॉलेज के अधिकांश संकाय यहाँ हैं।और हम वहां उच्चारण को समझते हैं और उनके साथ संवाद करना मुश्किल हो जाता है।हालाँकि यहाँ के शिक्षक बहुत मददगार हैं और वे हमारी समस्या को हल करने में हमारी मदद करने के लिए अपनी जेब से हर चीज़ की कोशिश करते हैं लेकिन फिर भी समस्या अभी भी पैदा होती है।
  • ऋण/छात्रवृत्ति के प्रावधान
    यदि आप अपने शहर में टॉपर हैं तो आपको काफी हद तक फायदा होता है।कई अन्य छात्रवृत्तियाँ उपलब्ध हैं, जिनका आप कक्षा के एक उज्ज्वल छात्र होने पर लाभ उठा सकते हैं।
  • प्लेसमेंट –
    एक प्लेसमेंट कमेटी और प्लेसमेंट ऑफिस हैं जो पूरी प्लेसमेंट प्रक्रिया का ध्यान रखते हैं।समर इंटर्नशिप एक अकादमिक आवश्यकता है,इसलिए प्रत्येक छात्र को रखा गया है जहां शॉर्टलिस्टिंग सीवी समीक्षा पर आधारित है।  अनुभवी उम्मीदवारों को ग्रीष्मकाल के लिए जगह लेने में समय लग सकता है,लेकिन अच्छे शिक्षाविदों के साथ फ्रेशर्स अपेक्षाकृत आसान लगते हैं।फिर भी, सभी छात्रों को अंततः ग्रीष्मकाल के लिए रखा गया है।अंतिम नियुक्तियों के लिए, इस तिथि तक (उनके लिए 5 वें कार्यकाल के मध्य तक), वर्ष -2 के लगभग 80% छात्रों को पहले से ही रखा गया है जो कोविद काल में भी बहुत ही स्वस्थ संकेत है।
  • छात्र विभाजन के फैसले
  • प्लेसमेंट –
    प्लेसमेंट निशान तक नहीं है, लेकिन हाँ निवेश पर रिटर्न ज़रूर मिल सकता है।यहां दी जाने वाली औसत प्लेसमेंट 6L है।सबसे कम 3L, लगभग 75% छात्रों को यहाँ रखा गया है।कई कंपनियां यहां आती हैं और आगामी वर्षों में प्लेसमेंट दृश्य बेहतर हो सकते हैं।
  • उपर्युक्त विवरण में रोहित यादव को अमेरिकी यूनिवर्सिटी पीएचडी कराएगी (Rohit Yadav will get US University PhD),एमएससी स्टूडेंट रोहित यादव को अमेरिकी यूनिवर्सिटी पीएचडी कराएगी (MSc student Rohit Yadav will get American University PhD),गधे की सवारी से हवाई जहाज तक रोहित यादव की यात्रा (Journey of Rohit Yadav from donkey ride to air plane) तथा पीएचडी कोर्सेज की प्रक्रिया के बारे में बताया गया है।

Also Read This Article-Who is Top Mathematics Learner in World

No. Social Media Url
1. Facebook click here
2. you tube click here
3. Instagram click here
4. Linkedin click here
5. Facebook Page click here

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *