Menu

Make math interesting,help of carveNiche Technologies

Contents hide
1 Make mathematics interesting with the help of carveNiche Technologies

Make mathematics interesting with the help of carveNiche Technologies

(1.)मैथस को कार्वेनीचे टेक्नोलॉजीज की सहायता से दिलचस्प बनाइए(Make math interesting with the help of carveNiche Technologies)-

Avneet Makkar,Make math interesting,help of carveNiche Technologies

Avneet Makkar,Make math interesting,help of carveNiche Technologies

गणित पढ़ने के लिए तथा गणित में बढ़िया परफॉर्मेंस बनाने के लिए हमें बहुत पापड़ बेलने पड़ते हैं। गणित विषय से हम कितना भय खाते हैं यह इस बात से ही प्रमाणित होता है कि सीबीएसई द्वारा बेसिक मैथ व स्टैंडर्ड मैथ के दो पार्ट करने पर सिद्ध हुआ है ।बेसिक मैथ का पेपर ,स्टैंडर्ड मैथ से अपेक्षाकृत सरल है लेकिन बेसिक मैथ का चयन करने वाले विद्यार्थी आगे गणित विषय को ऐच्छिक विषय के रूप में चयन नहीं कर सकते हैं ।सीबीएसई बोर्ड ने इनमें से एक मैथ का पेपर चयन करने का ऑप्शन दिया था, अधिकांश विद्यार्थियों अर्थात लगभग 60 से 70% विद्यार्थियों ने बेसिक मैथ के पेपर का चयन किया है ।गणित को सरल तरीके से पढ़ने तथा अधिक स्कोरिंग मार्क्स प्राप्त करने हेतु हम कई आर्टिकल लिख चुके हैं। इस आर्टिकल में हम एक ऐसी संस्था व शख्सियत के बारे में बताने जा रहे हैं जिसने कि बच्चों को फन एंड ईजी वे में समझाने का बीड़ा उठाया है ,वह अवनीत मक्कड़ है ।2010 में उन्होंने सबसे पहले अपनी बेटी के लिए गणित को आसान बनाने की पहल ने उन्हें एक नया आईडिया दिया कि क्यों न इसे अन्य विद्यार्थियों को उपलब्ध कराया जाए ।

यदि आर्टिकल पसन्द आए तो अपने मित्रों के साथ शेयर और लाईक करें जिससे वे भी लाभ उठाए ।आपकी कोई समस्या हो या कोई सुझाव देना चाहते हैं तो कमेंट करके बताएं। इस आर्टिकल को पूरा पढ़ें।

Also Read This Article-South African first woman to get PhD in Mathematics

(2.)गणित की कठिन शाखा(Difficult branch of mathematics)-

गणित की कई शाखाएं हैं परंतु उनमें अलजेब्रा,ज्योमेट्री ऐसी शाखाएं हैं जिनके नाम से ही विद्यार्थियों के पसीने छूटते हैं। बच्चों के तो पसीने छूटते ही हैं यहां तक कि माता-पिता तथा कई टीचर्स भी इस खौफ के शिकार हैं। अवनीत मक्कड़ ने इस बात को ठीक से समझकर इसका समाधान निकाला ।उनकी बेटी में गणित के प्रति बढ़ रहे फोबिया को देखकर उन्हें काफी बुरा लगता था ।अवनीत मक्कड़ मूलतः बैंगलोर की निवासी है। इन्होंने इस कठिनाई का समाधान करने के लिए कार्वेनीचे टेक्नोलॉजीज (carveNiche Technologies)की शुरुआत की जो बच्चों में गणित के प्रति रुचि व जिज्ञासा बढ़ा रहा है।

(3.)गणित की समस्याओं के समाधान का तरीका(How to solve math problems)-

इस स्टार्टअप का तरीका यह है कि पहले बच्चे का टेस्ट लिया जाता है ।इस टेस्ट का नाम है A1 based Test ,इस टेस्ट से पता चलता है कि बच्चा लर्निंग प्रोसेस में कहां पर है तथा कहां अटक रहा है ।इस प्रोडक्ट का नाम है बिगैलीलियो साइंटिफिकली डिजाइनड(beGalileo scientifically designed)है जो यूनिक प्रोडक्ट है और काफी लोकप्रिय है । इसमें सबसे पहले midas Test लिया जाता है ।इसमें बालकों की जरूरतों के अनुसार पर्सनलाइज्ड Al path generate होता है ।बिगैलीलियो(beGalileo) के प्लेटफार्म पर जितने भी बच्चें जिस टाॅपिक्स को हल करने में संघर्ष कर रहे होते हैं तथा जो कठिन लग रहे हैं वहां फोकस करते हुए टॉपिक्स को मजबूत किया जाता है।

(4.)बिगैलीलियो साइंटिफिकली डिजाइनड प्रोडक्ट की खासियत(Characteristics of beGalileo Scientifically Designed Products)-

इस प्रोडक्ट की सबसे बड़ी खासियत यह है कि यह केजी(KG) से लेकर 10th क्लास के बच्चे किसी भी स्टेज पर प्रयोग करना प्रारंभ कर सकते हैं ।यानी आप यदि सिक्स्थ क्लास से प्रारंभ करते हैं तो सिक्स क्लास वाले बच्चों को पहली कक्षा से प्रारंभ नहीं किया जाता है ।किसी भी क्लास का बच्चा हो एक बार beGalileo कोर्स को पढ़ने के बाद में भय नहीं खाता है और उसकी रुचि इसमें बढ़ती जाती है ।इस कोर्स को करते-करते जो बच्चे मैंथ से डरते हैं उन्हीं बच्चों के लिए गणित फेवरेट सब्जेक्ट बन जाता है ।
कार्वेनीचे टेक्नोलॉजीज पर्सनलाइज्ड लर्निंग की क्वालिटी को उच्च स्तर की बनाए रखने के लिए B2B पर प्रोडक्ट रिटेल नहीं कर रही है ।इसलिए बिगैलीलियो(beGalileo) सिर्फ b2c रिटेल होता है ।कंपनी ने बिगैलीलियो(beGalileo) का प्रसार तथा अधिकतम बच्चों तक पहुंच बढ़ाने के लिए बिगैलीलियो सेंटर्स (beGalileo Centers) बनाए हैं और उन सेंटर में जो टीचर हैं उनको ट्रेनिंग दी जाती है ।टीचर्स की क्षमता तथा योग्यता को अच्छी तरह जांच परख करके इन सेंटर्स पर नियुक्त किया जाता है।इन सेंटर्स को तभी शुरू किया जाता है जबकि टीचर्स को ट्रेनिंग दे दी जाती है तथा कंपनी टीचर्स की ट्रेनिंग से भली प्रकार आश्वस्त हो जाती है। इन होम बेस्ड सेंटर्स की लागत को कम रखने का प्रयास किया जाता है ताकि अधिक से अधिक विद्यार्थी लाभान्वित हो सके।
Also Read This Article-Claim: Sarji Solved Math’s 160 Year Old Question

(5.)अन्य विद्यार्थियों के लिए सुविधा(Facilities for other students)-

जो विद्यार्थी इन सेंटरों पर नहीं जा सकते हैं क्योंकि पूरे भारत में 900सेंटर्स की स्थापना की गई है इसलिए सभी कस्बों में व ग्रामों में अभी सेंटर्स नहीं खुले हैं, उनके लिए कंपनी सब्सक्रिप्शन बाॅक्स के जरिए प्रोडक्ट की रिटेलिंग करती है। अधिक से अधिक विद्यार्थियों तक पहुंच बढ़ाने व अधिक से अधिक विद्यार्थियों को लाभान्वित करने हेतु ₹1500 फीस beGalileoके लिए चार्ज की जाती है जिसमें 60% टीचर्स को देती है। अधिक जानकारी के लिए इस कंपनी की आधिकारिक वेबसाइट पर जानकारी प्राप्त की जा सकती है ।यह कंपनी 20 शहरों में 900 से ज्यादा बिगैलीलियो सेंटर्स (beGalileo Centers)चला रही है।

(6.)कंपनी की आर्थिक स्थिति(Financial position of the company)-

एक करोड़ की पर्सनल सेविंग्स से अपने बिजनेस को शुरू किया ,$1 मिलीयन का निवेश कंपनी जुटा चुकी  है ।गणित के साथ-साथ बच्चों की लॉजिकल,रीजनिंग स्किल्स को विकसित कर रही है।

(7.)गणित के अलावा अन्य स्किल का विकास(Development of skills other than mathematics)-

कंपनी गणित के अलावा तार्किक तथा बौद्धिक क्षमता को विकसित करने का काम भी कर रही है जिससे कंजूमर reach  बढ़ाया जा सके ।इन कोर्सेज पर कंपनी का अत्यधिक फोकस बना हुआ है ।उसके लिए कंपनी इंस्टिट्यूशनल फंड राउंड जुटाने की तैयारी में जुटी हुई है।

(8.) समीक्षा(Review)-

कुछ समय पूर्व गणित व तार्किक क्षमता जैसे कठिन विषयों के लिए बच्चों को काफी परेशानी का अनुभव होता था। परंतु ज्यों-ज्यों तकनीकी का विकास होता जा रहा है त्यों-त्यों बच्चों को घर बैठे ऑनलाइन कोर्सेज सेंटर्स की सुविधा उपलब्ध हो रही है ।फिर भी बालक इन सुविधाओं का लाभ न उठा पाएं तो इसका मतलब यही समझा जाना चाहिए कि विद्यार्थियों में तप व श्रम करने का अभाव है क्योंकि इसी तरह ओर भी कोर्सेज कम कीमत पर उपलब्ध है। इतनी फीस तो जुटाकर आसानी से चुकाई जा सकती है। इसलिए जिन विद्यार्थियों को गणित में कठिनाई महसूस होती है तथा जो इस फीस का भुगतान कर सकते हैं उन्हें इसका फायदा उठाना चाहिए ।हमारा काम इस तरह की वैल्युएबल आर्टिकल आप तक पहुंचाना है फायदा उठाना आपका काम है।

No. Social Media Url
1. Facebook click here
2. you tube click here
3. Twitter click here
4. Instagram click here
5. Linkedin click here

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *