Menu

Math needs for sharp mind of teenagers

Contents hide
2 (1.)टीनएजर्स के लिए गणित से दोस्ती जरूरी (Friendship with Mathematics is Necessary for Teenagers):

1.टीनएजर्स के तेज दिमाग के लिए गणित जरूरी (Math needs for sharp mind of teenagers),टीनएजर्स के दिमाग के विकास के लिए गणित जरूरी (Mathematics is Necessary for Development of Brain of Teenagers):

  • टीनएजर्स के तेज दिमाग के लिए गणित जरूरी (Math needs for sharp mind of teenagers) है।अधिकांश माता-पिता,अभिभावक अपने बच्चों को तथा छात्र-छात्राएं भी चाहते हैं कि उनका दिमाग तेज हो जिससे उनके सामने आने वाली समस्याएं चुटकियों में अर्थात् तत्काल हल कर दें।
  • दिमाग को तेज (शार्प) करने के लिए निरंतर अध्यवसाय,कठिन परिश्रम,सूझबूझ,निरंतर अभ्यास,विचारशीलता,विवेक,धैर्य,साहस और दृढ़ संकल्प शक्ति,ज्ञान इत्यादि गुणों की आवश्यकता होती है।
  • आज इस आर्टिकल में हम बताएंगे कि टीनएजर्स के तेज दिमाग के लिए गणित जरूरी (Math needs for sharp mind of teenagers) है।इसलिए देखा जाता है कि माता-पिता व अभिभावक चाहते हैं कि गणित में उनका बच्चा तेज-तर्रार तथा प्रतिभाशाली बने।
  • बच्चों को प्रतिभाशाली व मेधावी बनाने के लिए इसलिए भी जोर दिया जाता है क्योंकि कच्ची उम्र में मन कोमल,अधिक ग्रहणशील होता है।उस समय बच्चों को जिस ढांचें में ढाल दिया जाता है तो आगे जाकर वह बालक वैसा ही बनता है।बच्चों के बड़े होने पर वे परिपक्व हो जाते हैं तथा अधिकांश कार्य आदतन करते हैं।इसलिए बाद में उनके मस्तिष्क में नए विचार डालना बहुत मुश्किल होता है।जैसे पक्के घड़े पर मिट्टी नहीं चढ़ाई जा सकती है।हालांकि यह निर्जीव वस्तु का उदाहरण दिया गया है परन्तु यह समझने के लिए उदाहरण प्रस्तुत किया गया है कि बाद में बच्चों में नए संस्कार डालना कितना मुश्किल है।
  • गणित के अध्ययन से बच्चों में विशेष प्रकार के गुणों का विकास होता है।जैसे गणना,चिंतन तथा तर्क करने की क्षमता का विकास,धैर्य, परिश्रम,लगन,आत्मविश्वास,एकाग्रता,विश्लेषण आदि गुणों का विकास होता है।इन गुणों के विकास के लिए बच्चों को विशेष प्रशिक्षण देने की आवश्यकता नहीं है बल्कि बच्चों को गणित का ज्यों-ज्यों अभ्यास कराया जाता है और बच्चे गणित को हल करने में आगे से आगे बढ़ते जाते हैं त्यों-त्यों इन गुणों का विकास होता जाता है।
  • आपको यह जानकारी रोचक व ज्ञानवर्धक लगे तो अपने मित्रों के साथ इस गणित के आर्टिकल को शेयर करें।यदि आप इस वेबसाइट पर पहली बार आए हैं तो वेबसाइट को फॉलो करें और ईमेल सब्सक्रिप्शन को भी फॉलो करें।जिससे नए आर्टिकल का नोटिफिकेशन आपको मिल सके ।यदि आर्टिकल पसन्द आए तो अपने मित्रों के साथ शेयर और लाईक करें जिससे वे भी लाभ उठाए ।आपकी कोई समस्या हो या कोई सुझाव देना चाहते हैं तो कमेंट करके बताएं।इस आर्टिकल को पूरा पढ़ें।

Also Read This Article:5 Tips will Make Strong in Mathematics

(1.)टीनएजर्स के लिए गणित से दोस्ती जरूरी (Friendship with Mathematics is Necessary for Teenagers):

  • उपर्युक्त विवरण से स्पष्ट है कि बच्चों के तेज दिमाग के लिए गणित कितनी महत्वपूर्ण है।टीनएज में गणित से दूरी बच्चों के सोचने-समझने की क्षमता पर असर डाल सकती है। इसलिए बच्चों के मस्तिष्क के विकास के लिए गणित विषय को पढ़ाया जाना न केवल आवश्यक है बल्कि उसमें महारत हासिल करने के लिए निरंतर अभ्यास कराया जाना जरूरी है।
  • ऑक्सफोर्ड यूनिवर्सिटी की रिसर्च कहती है कि टीनएज में छात्र-छात्राओं की सोचने समझने की क्षमता पर असर जीवन भर डालता है।14 से 18 वर्ष के 133 छात्रों पर हुई रिसर्च में यह बात सामने आई है।शोधकर्ता कहते हैं कि ब्रिटेन में 16 वर्ष के छात्र-छात्राओं को गणित विषय छोड़ने की स्वतन्त्रता रहती है जबकि दूसरे देशों में ऐसा नहीं होता है।इसका सीधा असर छात्र-छात्राओं के ब्रेन डेवलपमेंट पर पड़ता है।

(2.)गणित से दूरी बच्चों के सोचने समझने को किस प्रकार प्रभावित करता है? (How does Distance from Mathematics Affect Children’s Thinking?):

  • शोधकर्ता कहते हैं कि जो किशोर (टीनएजर्स) गणित विषय नहीं लेते हैं या दूरी बनाते हैं अथवा गणित विषय को पढ़ने में रुचि नहीं लेते हैं तो उनके दिमाग के खास हिस्से पर असर पड़ता है।मस्तिष्क का जो हिस्सा सोचने समझने की क्षमता के लिए जिम्मेदार होता है वहां खास किस्म के केमिकल (गामा-अमीनोब्यूट्रिक एसिड) में कमी देखी गई है। 
  • रिसर्च के दौरान छात्रों को दो समूहों में बांटा गया।प्रथम समूह में गणित विषय के स्टूडेंट्स थे।जबकि द्वितीय समूह में ऐसे स्टूडेंट्स थे जिन्होंने गणित विषय नहीं लिया था।19 महीने स्टूडेंट्स के मस्तिष्क की जांच में पाया गया कि जिन स्टूडेंट्स ने गणित विषय से दूरी बनाई अर्थात् गणित विषय की पढ़ाई नहीं की उनके मस्तिष्क में 19 महीने बाद सोचने समझने की क्षमता के लिए जिम्मेदार माना जाने वाला रसायन कम मात्रा में मिला।वहीं जिन स्टूडेंट्स ने गणित विषय को पढ़ने में रुचि दिखाई तथा पढ़ाई की उनमें यह केमिकल पर्याप्त मात्रा में था।

(3.)छात्र-छात्राओं के भौतिक और मानसिक विकास पर गणित का प्रभाव (The Effect of Mathematics on Physical and Mental Development of Students):

  • शोधकर्ता रोउ कोहेन के अनुसार मैथेमेटिक्स का छात्र-छात्राओं के बौद्धिक विकास के साथ-साथ स्टूडेंट्स के शारीरिक और मानसिक रूप से प्रभाव पड़ता है।टीनएज  बहुत खास उम्र होती है क्योंकि इसी उम्र में ब्रेन के विकास होने के साथ-साथ सोचने-समझने की क्षमता भी अधिक तीव्र गति से विकसित होती है।परंतु इस उम्र में कई छात्र-छात्राओं को गणित से भय लगने लगता है अथवा उनके मन में गणित का डर पैदा कर दिया जाता है। फलस्वरूप छात्र-छात्राएं गणित से दूरी बना लेते हैं।इसलिए छात्र-छात्राओं को गणित से प्रेम करना चाहिए और गणित से मित्रता करनी चाहिए।

(4.)गणित को रूचिपूर्वक पढ़ें (Study Mathematics with Interest): 

  • यदि आप गणित को रूचिपूर्वक पढ़ेंगे तो गणित विषय आपको सरल लगने लग जाएगा।प्रारम्भ में गणित विषय में रूचि पैदा करने के लिए गणित में अच्छे केरियर तथा जीवन में उसकी उपयोगिता की कल्पना और सुखद भविष्य की कल्पना करके रुचि बनाए रखी जा सकती है।
  • धीरे-धीरे गणित का लिखित व मानसिक रूप से प्रयास करें।दरअसल गणित को नीरस व कठिन विषय माना जाता है जो कि असत्य है।यदि हम नियमित रूप से तथा वैज्ञानिक तरीके से गणित का अभ्यास करें तो छात्र-छात्राओं को गणित में रुचि होने लगती है।अनेक सिद्धांतों,प्रत्ययों के बारे में अस्पष्टता के कारण ही छात्र गणित में आगे प्रगति नहीं कर पाते हैं और गणित विषय नीरस व कठिन लगने लगता है।
  • गणित संकल्पनाओं तथा गूढ़ विचारों की विषय सामग्री है। इस विषय की प्रकृति अन्य विषयों से अलग है।हिंदी,इतिहास,अर्थशास्त्र,भूगोल,सामान्य विज्ञान आदि की विषय वस्तु जीवन के अनुभवों से सीधे संबंधित रहती है तथा इनके टॉपिक आपस में अधिक इतने जुड़े हुए नहीं रहते जितने की गणित की विषय वस्तु में।हिंदी में यदि आपको सूरदास भलीभाँति समझ में नहीं आया तो रैदास को समझने में आपको कोई अड़चन नहीं होगी।इसी तरह भूगोल में प्राकृतिक भागों की आपको जानकारी नहीं है तो भी आप भारत द्वारा निर्यात के टॉपिक को समझ सकते हैं। किंतु यह स्थिति गणित में नहीं है।यदि आपको दशमलव सिद्धांत समझ में नहीं आया तो आप किसी भी स्थिति में क्षेत्रफल,लंबाई,आयतन की समस्याओं को हल नहीं कर सकते हैं।इसी प्रकार छात्र-छात्राओं को यदि बिंदु,रेखा,त्रिभुज,आयत,वर्ग आदि की संकल्पनाएं स्पष्ट नहीं है तो वह ज्यामिति के साध्यों (Theorems) को नहीं समझ सकेगा।बीजगणित में छात्र-छात्रा यदि जोड़,गुणा,भाग,बाकी आदि संक्रियाओं को नहीं जानते हैं तो वे गुणनखंड,समीकरण,ग्राफ आदि की समस्याओं को दक्षता के साथ हल नहीं कर सकते हैं।

Also Read This Article:Top 7 Tips to Prepare for Mathematics

(5.)गणित का नियमित व क्रमबद्ध अध्ययन करें (Study Mathematics Regularly and Systematically): 

  • उपर्युक्त विवरण से समझ में आ गया होगा की गणित की बेसिक बातों को क्लियर करना कितना जरूरी है।यदि आप कक्षा ग्यारहवीं में त्रिकोणमिति पढ़ रहे हैं तो आपको नवी,दसवीं की त्रिकोणमिति क्लियर होनी चाहिए।अर्थात् आपको त्रिकोणमिति की सर्वसमिकाओं का स्पष्ट ज्ञान होना आवश्यक है।गणित विषय को नियमित रूप से पढ़ाई करेंगे तो इस विषय पर पकड़ मजबूत होती जाएगी।यदि आप कभी भी जब चाहे पढ़ेंगे तो पिछली बातें भूल जाएंगे जिससे आपको आगे एक्सरसाइज हल करने में कठिनाई महसूस होगी।
  • साथ ही आप गणित के किसी भी टॉपिक को पढ़ने बैठ जाएंगे तो गणित को हल करना मुश्किल होगा।जैसे अवकलन के अनुप्रयोग पढ़ने से पहले आपको अवकलन की क्रिया समझनी चाहिए।इसलिए गणित का क्रमबद्ध अध्ययन करें।

(6.)सूत्रो को नोटबुक में लिख लें (Write the Formulas in a Notebook):

  • आपको ज्ञात है कि गणित में सूत्रों का कितना महत्त्व है। इसलिए पहले सूत्रों की कांसेप्ट क्लियर करें।थ्योरी को समझकर उस पर आधारित गणित के उदाहरणों को हल कर लें।उदाहरणों को हल करते समय आपको समझ में आ जाएगा कि एक्सरसाइज में किस प्रकार के सवाल हैं और उनको किस विधि से हल करना है।सूत्रों को एक नोटबुक में लिख ले और खाली समय में उनको याद कर लें।हालांकि उदाहरणों को हल करते-करते तथा एक्सरसाइज को हल करते स्वत: ही सूत्र याद हो जाते हैं।
  • उपर्युक्त विवरण में टीनएजर्स के तेज दिमाग के लिए गणित जरूरी (Math needs for sharp mind of teenagers),टीनएजर्स के दिमाग के विकास के लिए गणित जरूरी (Mathematics is Necessary for Development of Brain of Teenagers) के बारे में बताया गया है।

2.टीनएजर्स के तेज दिमाग के लिए गणित जरूरी (Math needs for sharp mind of teenagers),टीनएजर्स के दिमाग के विकास के लिए गणित जरूरी (Mathematics is Necessary for Development of Brain of Teenagers) के बारे में अक्सर पूछे जाने वाले प्रश्न:

Math needs for sharp mind of teenagers

प्रश्न:1.क्या गणित आपके दिमाग की मदद करता है? (Does maths help your brain?),[Math needs for sharp mind of teenagers]:

उत्तर:शोध से पता चलता है कि गणित आपके पूरे मस्तिष्क के लिए अच्छा है,न कि केवल उन हिस्सों के लिए जहां अन्य गतिविधियां नहीं पहुंच सकती हैं।” गणित के छात्र के रूप में,आप न केवल क्षेत्र के अपने ज्ञान को गहरा करेंगे, आप अपनी मस्तिष्क शक्ति में भी सुधार करेंगे।

प्रश्न:2.गणित को विकसित करना क्यों महत्वपूर्ण है? (Why is it important to develop mathematics?):

उत्तर:गणित हमें बेहतर समस्या सुलझाने के कौशल में मदद करता है
गणित हमें विश्लेषणात्मक रूप से सोचने और बेहतर तर्क क्षमता (reasoning abilities) रखने में मदद करता है।रीजनिंग एक स्थिति के बारे में तार्किक रूप से सोचने की हमारी क्षमता है।विश्लेषणात्मक (Analytical) और तर्क कौशल आवश्यक हैं क्योंकि वे हमें समस्याओं को हल करने और समाधान खोजने में मदद करते हैं।

प्रश्न:3.दिमाग का कौन सा हिस्सा गणित में मदद करता है? (What part of the brain helps with math?):

उत्तर:पार्श्विक भाग (parietal lobe)
मस्तिष्क-इमेजिंग अध्ययनों के साक्ष्य इंगित करते हैं कि पार्श्विका लोब क्षेत्र गणना और संख्याओं की गणना (calculating and processing of numbers) में केंद्रीय हैं (1,3),जबकि ललाट लोब क्षेत्र (frontal lobe areas) संख्यात्मक ज्ञान और कार्यशील स्मृति (numerical knowledge and working memory) (3,4) को याद करने में शामिल हैं।

प्रश्न:4.क्या गणित डोपामाइन छोड़ता है? (Does math release dopamine?):

उत्तर:प्लेसबो के साथ युग्मित (coupled with placebo) होने पर गणितीय कार्य ने डोपामाइन (dopamine) को नहीं बढ़ाया।गणितीय कार्य में रुचि और प्रेरणा के बारे में व्यक्तिपरक रिपोर्ट प्लेसबो की तुलना में मेथिलफेनिडेट (methylphenidate) के साथ अधिक थी और डोपामाइन वृद्धि से जुड़ी थी।

प्रश्न:5.क्या गणित पढ़ने से IQ बढ़ता है? (Does studying math increase IQ?):

उत्तर:स्टैनफोर्ड यूनिवर्सिटी स्कूल ऑफ मेडिसिन के एक अध्ययन में पाया गया कि व्यक्तिगत शिक्षण,अंकगणितीय अभ्यास के साथ मिलकर बच्चों को बेहतर याद रखने में मदद मिली।अगर आपके बच्चे का आईक्यू स्कोर कम या औसत है,तो निराश न हों।इसका मतलब यह नहीं है कि स्कोर वही रहेगा।

प्रश्न:6.शिक्षा में गणित का क्या महत्व है? (What is the importance of mathematics in education?):

उत्तर:गणित तार्किक और आलोचनात्मक (logical and critical thinking) सोच विकसित करता है
उन्हें अक्सर समस्याओं,सूत्रों के बारे में सीखने की एक सुसंगत प्रक्रिया (coherent process) में शामिल होना पड़ता है और समाधान तक पहुंचने के लिए चरणों के अनुक्रम का उपयोग कैसे करना है जो बदले में उन्हें मन का अनुशासन विकसित करने में मदद करता है जिसका उपयोग वे अपने जीवन के अन्य क्षेत्रों में कर सकते हैं।

प्रश्न:7.मस्तिष्क का सबसे बड़ा भाग क्या है? (What is the biggest part of the brain?):

उत्तर:प्रमस्तिष्क (cerebrum)
मस्तिष्क का सबसे बड़ा हिस्सा,सेरेब्रम में दो गोलार्ध (या आधा) होते हैं।सेरेब्रम स्वैच्छिक हलचल (voluntary movement),भाषण,बुद्धि,स्मृति,भावना और संवेदी प्रसंस्करण (sensory processing) को नियंत्रित करता है।

प्रश्न:8.मस्तिष्क का कौन सा भाग अधिक प्रभावशाली होता है? (Which part of brain is more dominant?):

उत्तर:सिद्धांत यह है कि लोग या तो वाम-दिमाग वाले (left-brained) या दाएं-दिमाग वाले (right-brained) होते हैं,जिसका अर्थ है कि उनके मस्तिष्क का एक भाग (one side) प्रभावी (dominant) है।यदि आप अपनी सोच में ज्यादातर विश्लेषणात्मक और व्यवस्थित (analytical and methodical) हैं,तो आपको वामदिमाग वाला कहा जाता है।यदि आप अधिक रचनात्मक या कलात्मक (creative or artistic) होते हैं,तो आपको दाएं दिमाग वाला (right-brained) माना जाता है।

प्रश्न:9.श्रवण के लिए मस्तिष्क का कौन सा भाग जिम्मेदार है? (Which part of the brain is responsible for audition?):

उत्तर:श्रवण प्रांतस्था (auditory cortex)
श्रवण प्रांतस्था टेम्पोरल लोब (temporal lobe) का हिस्सा है जो मनुष्यों और कई अन्य कशेरुकियों (vertebrates) में श्रवण जानकारी की प्रक्रिया को करता है।यह श्रवण प्रणाली का एक हिस्सा है,जो सुनने में बुनियादी और उच्च कार्य करता है,जैसे भाषा स्विचिंग (language switching) के संभावित संबंध।

प्रश्न:10.गणित आपके दिमाग को कैसे बदलता है? (How does math change your brain?):

उत्तर:गणित आपके विश्लेषणात्मक और समस्या-समाधान कौशल को बढ़ाता है,व्यवस्थित सोच के लिए आधार बनाता है,तार्किक निष्कर्ष पर पहुंचने के लिए आवश्यक कौशल में सुधार करता है,अपरिचित कार्यों (unfamiliar tasks) को आसानी और आत्मविश्वास से संभालने के लिए दिमाग का विस्तार करता है,परीक्षण और त्रुटि के माध्यम से सीखता है और सतर्क और सावधान सोच को बढ़ावा देता है (promotes cautious and careful thinking)।

प्रश्न:11.जब आप किसी समस्या का समाधान करते हैं तो आपके दिमाग में क्या होता है? (What happens to your brain when you solve a problem?):

उत्तर:लंबे समय तक,यह सोचा गया था कि प्रीफ्रंटल कॉर्टेक्स (prefrontal cortex) के कुछ हिस्से केवल सरल विचार में शामिल थे,जबकि अन्य जटिल समस्या समाधान के दौरान सक्रिय थे।हालाँकि,हाल के अध्ययनों में पाया गया है कि जब हम अपनी समस्या से असंबंधित नियमित कार्य कर रहे होते हैं,तब भी मस्तिष्क इसके साथ लगा रहता (engaged) है।

प्रश्न:12.क्या IQ का संबंध गणित से है? (Is IQ related to math?):

उत्तर:बुद्धिमत्ता छात्रों की गणित उपलब्धि से दृढ़ता से जुड़ी हुई थी,लेकिन केवल विषय में योग्यता (competence) के प्रारंभिक विकास में।गणित में छात्रों के विकास (growth) (उनके सीखने की अवस्था या सीखने की क्षमता) के संदर्भ में प्रेरणा और अध्ययन कौशल अधिक महत्वपूर्ण कारक बन गए।

प्रश्न:13.क्या गणित याददाश्त में सुधार करता है? (Does Math improve memory?):

उत्तर:अध्ययनों से पता चलता है कि मस्तिष्क प्रशिक्षण से आपकी गणितीय क्षमताओं में सुधार किया जा सकता है।परिणाम: अध्ययन में कम काम करने की स्मृति क्षमता वाले बच्चों की जांच की गई और काम करने की याददाश्त में काफी सुधार करने के लिए प्रशिक्षण मिला,जिसके परिणाम प्रशिक्षण के 6 महीने बाद स्पष्ट हुए।

प्रश्न:14.मस्तिष्क का सबसे छोटा भाग कौन सा है? (Which is the smallest part of brain?):

उत्तर:मध्य मस्तिष्क (midbrain) मस्तिष्क का सबसे छोटा क्षेत्र है और कपाल गुहा (cranial cavity) के भीतर सबसे अधिक केंद्र में स्थित है।लिम्बिक सिस्टम (Limbic System)-लिम्बिक सिस्टम को अक्सर हमारे “भावनात्मक मस्तिष्क” या ‘बचकाना मस्तिष्क (childish brain)’ के रूप में जाना जाता है।यह प्रमस्तिष्क (cerebrum) के भीतर दबी हुई पाई जाती है और इसमें थैलेमस (thalamus),हाइपोथैलेमस (hypothalamus),एमिग्डाला (amygdala) और हिप्पोकैम्पस (hippocampus) होते हैं।

प्रश्न:15.असली दिमाग कैसा दिखता है? (What does a real brain look like?):

उत्तर:आपका दिमाग कैसा दिखता है और कैसा लगता है?  आपका मस्तिष्क एक बड़े अंगूर (grapefruit) के आकार का है,लेकिन यह एक बड़े गुलाबी-भूरे रंग के अखरोट (pinkish-gray walnut) जैसा दिखता है।कई तह (folds) और क्रीज़ (creases) हैं और यह नरम और स्क्विशी (squishy) लगता है।जन्म के समय इसका वजन लगभग 1 पाउंड,प्रारंभिक उम्र में 2 पाउंड और वयस्क के रूप में 3 पाउंड होता है।

प्रश्न:16.मस्तिष्क का दूसरा सबसे बड़ा भाग कौन सा है? (What is the second biggest part of the brain?):

उत्तर:अनुमस्तिष्क (cerebellum)
मस्तिष्क का दूसरा सबसे बड़ा भाग सेरिबैलम है।

प्रश्न:17.बाएं दिमाग के विचारकों के लिए कौन सी नौकरियां अच्छी हैं? (What jobs are good for left brain thinkers?):

उत्तर:Chron.com की सारा माहुरोन (Sara Mahuron) के अनुसार,बायां-दिमाग वाले लोग वकील,सिविल इंजीनियर,वैज्ञानिक,कंप्यूटर प्रोग्रामर और एकाउंटेंट के रूप में करियर बना सकते हैं।”वकील अदालत में ग्राहकों का प्रतिनिधित्व करते हैं,कानूनी दस्तावेज तैयार करते हैं,कानूनों और विनियमों की व्याख्या करते हैं और मामलों का विश्लेषण करते हैं।

प्रश्न:18.सही दिमागी विचारकों के लिए कौन सी नौकरियां अच्छी हैं? (What jobs are good for right brain thinkers?):

दायां-दिमाग वाले लोगों के लिए करियर
ग्राफिक डिजाइनर (Graphic Designers)।इस क्षेत्र में तकनीकी कौशल के साथ दूरदृष्टि और रचनात्मकता की आवश्यकता है।
परामर्शदाता या मनोवैज्ञानिक (Counselor or Psychologist)।अत्यधिक विकसित भावनात्मक पक्ष के कारण,दायां दिमाग वाले लोग उत्कृष्ट परामर्शदाता (excellent counselors) और मनोवैज्ञानिक (psychologists) बनाते हैं।
आंतरिक साजसज्जा विशेषज्ञ (Interior Designer)।
प्रबंधक (Managers)।
मनोरंजन (Recreation)।
कला (Arts)।

प्रश्न:19.क्या मानसिक गणित आपके दिमाग के लिए अच्छा है? (Is mental math good for your brain?):

मानसिक गणित वास्तव में हमारे दिमाग को तेज (quick) और तेज (sharp) रखता है।मस्तिष्क,मांसपेशियों की तरह,उपयोग के साथ मजबूत और अधिक कुशल हो जाता है।मानसिक गणित भी एक व्यक्ति की संख्या समझ (number sense),मात्राओं के बीच संबंधों को समझने की क्षमता में काफी सुधार करता है।मानसिक गणित क्षमताओं में सुधार के लिए कई बेहतरीन रणनीतियाँ हैं।

प्रश्न:20.मस्तिष्क के 3 प्रकार कौन से हैं? (What are the 3 types of the brain?):

उत्तर:मस्तिष्क की वास्तुकला (The Architecture of the Brain)
मस्तिष्क को तीन बुनियादी इकाइयों में विभाजित किया जा सकता है:अग्रमस्तिष्क (forebrain),मध्यमस्तिष्क (midbrain) और पश्च मस्तिष्क (hindbrain)।पश्च मस्तिष्क में रीढ़ की हड्डी (spinal cord) का ऊपरी भाग,मस्तिष्क का तना (brain stem) और ऊतक की एक झुर्रीदार गेंद (ball of tissue)होती है जिसे सेरिबैलम कहा जाता है (cerebellum)।

प्रश्न:21.दिमाग का कौन सा हिस्सा याददाश्त और सोच को नियंत्रित करता है? (Which part of the brain controls memory and thinking?):

उत्तर:ललाट पालि (frontal lobe)
सेरेब्रल कॉर्टेक्स (cerebral cortex),अरबों न्यूरॉन्स (billions of neurons) और ग्लियाल कोशिकाओं (glial cells) से बना है,दाएं और बाएं गोलार्ध में और चार पालियों में विभाजित है।ललाट लोब (frontal lobe) मुख्य रूप से सोच (thinking),योजना (planning),स्मृति (memory) और निर्णय (judgment) के लिए जिम्मेदार है।

प्रश्न:22.बाएं मस्तिष्क का मुख्य कार्य क्या है? (What is the main function of the left brain?):

उत्तर:मस्तिष्क का बायां हिस्सा शरीर के दाहिने हिस्से को नियंत्रित करने के लिए जिम्मेदार होता है।यह ऐसे कार्य भी करता है जो तर्क से संबंधित होते हैं,जैसे विज्ञान और गणित में।

प्रश्न:23.वाम मस्तिष्क के विचारक कैसे सीखते हैं? (How do left brain thinkers learn?):

उत्तर:बायां-दिमाग शिक्षार्थी विश्लेषणात्मक (analytical),वास्तविकता (reality) में आधारित,रैखिक और तार्किक (linear and logical),अनुक्रमिक और प्रतीकात्मक (sequential and symbolic),वस्तुनिष्ठ और मौखिक (objective and verbal) होते हैं।दायां-दिमाग वाले शिक्षार्थी कल्पना (fantasizing) करने,प्रकृति में सहज (intuitive in nature),यादृच्छिक और दृश्य (random and visual),व्यक्तिपरक और गैर-मौखिक (subjective and non-verbal) पर आधारित समग्र प्रोसेसर (holistic processors) होते हैं।

प्रश्न:24.तार्किक विचारकों के लिए अच्छी नौकरियां क्या हैं? (What are good jobs for logical thinkers?):

उत्तर:यहाँ तार्किक विचारकों (logical thinkers) के लिए शीर्ष 5 करियर हैं!
(1.)बैंकर (BANKER)।कुछ लोग अपने पैसे को गद्दे के नीचे रखते हैं क्योंकि उन्हें बड़े बैंकों पर भरोसा नहीं होता है
(2.)जासूस (DETECTIVE)।
(3.)डॉक्टर (DOCTOR)।
(4.)वकील (LAWYER)।
(5.)कंप्यूटर प्रोग्रामर (COMPUTER PROGRAMMER)।

प्रश्न:25.मैं अपने दिमाग के दाहिने हिस्से को कैसे सुधार सकता हूँ? (How can I improve the right side of my brain?):

उत्तर:आपके रचनात्मक दाहिने मस्तिष्क को उत्तेजित (stimulate) करने के तरीके यहां दिए गए हैं:
सामाजिक रूप से सक्रिय।परिवार के साथ जाना और सामाजिक कार्यक्रमों में शामिल होना,दोस्तों के साथ मिलना या चर्च या अस्पताल में अपना समय स्वेच्छा (volunteering your time) से देना सामाजिक होने और शारीरिक बातचीत और बातचीत करने (physical interactions and conversations) के शानदार तरीके हैं।
दृश्य कला (Visual Arts)।
कला प्रदर्शन (Performing Arts)।

प्रश्न:26.सही दिमागी विचारक कैसे सीखते हैं? (How do right brain thinkers learn?):

उत्तर:पठन को अधिक दायां-दिमाग के अनुकूल बनाने के लिए युक्तियाँ
पहले दिन से सभी ध्वनियों को प्रदर्शित करें।
पहले दिन से ही अपनी दीवारों को शब्दों से भर दें।
सामग्री को सीमित न करें।
एक बार में प्रत्येक ध्वनि के लिए प्रत्येक वर्तनी सिखाएं।
याद करने से बचें।
करके सींखें।
शरीर को गति में शामिल करें (Involve the body in movement)।

प्रश्न:27.मस्तिष्क का दाहिना भाग किसमें अच्छा होता है? (What is the right side of the brain good at?):

उत्तर:एक व्यक्ति दाएं या बाएं दिमाग का हो सकता है।इसका मतलब है कि मस्तिष्क का एक हिस्सा प्रमुख है।  बायां-दिमाग प्रमुख लोग स्वभाव से व्यवस्थित और विश्लेषणात्मक होते हैं।दायां दिमाग वाले लोग रचनात्मक और कलात्मक होते हैं।

प्रश्न:28.मैं अपने बाएं मस्तिष्क को कैसे सक्रिय करूं? (How do I activate my left brain?):

उत्तर:तार्किक सोच को बढ़ावा देने (Boost Logical Thinking) के लिए तीन अभ्यास
वास्तव में आपको संपादित करने,योजना बनाने,व्यवस्थित करने की आवश्यकता है—सभी बहुत तार्किक कार्य!एक क्रॉसवर्ड पहेली (crossword puzzle) करें,कुछ सुडोकू (Sudoku) में अपने दिमाग की कोशिश करें,एक रहस्य रात्रिभोज कार्यक्रम (mystery dinner event) में रहस्य सुलझाएं या अपने शहर में “एस्केप रूम (escape room)” पर जाएं।

प्रश्न:29.मैं अपने मस्तिष्क के दोनों किनारों का उपयोग कैसे कर सकता हूं? (How can I use both sides of my brain?):

उत्तर:मस्तिष्क के दोनों पक्षों को सक्रिय करने के लिए 7 सरल मस्तिष्क व्यायाम
(1.)स्ट्रूप टेस्ट लें (Take the Stroop test)।
(2.)करतब दिखाने का प्रयास करें (Try Juggling)।
(3.)एक नया कौशल सीखें (Learn a new skill)।
(4.)उस आलसी अंग का प्रयोग करें (Use that lazy limb)।
(5.)माइंड गेम खेलें (Play mind games)।
(6.)गणित की समस्याओं को हल करना (Solving math problems)।
(7.)माइंड मैपिंग (Mind mapping)।

प्रश्न:30.मस्तिष्क के किस भाग का उपयोग अध्ययन के लिए किया जाता है? (Which side of the brain is used for studying?):

उत्तर:मस्तिष्क का बायां भाग अधिक तार्किक कार्य करता है,जो मौखिक और विश्लेषणात्मक प्रक्रियाओं से संबंधित है।दाहिना पक्ष उन गतिविधियों को करता है जिन्हें अधिक रचनात्मक माना जाता है, जो पैटर्न और संबंधों (relationships) से संबंधित हैं।

प्रश्न:31.मैं अपने दिमाग को कैसे सक्रिय कर सकता हूँ? (How can I activate my brain?):

उत्तर:अपने दिमाग को तुरंत मजबूत करने के 9 तरीके
अपनी कमजोरी का उपयोग करें (Exploit your weakness)।यह पहली चुनौती विरोधाभासी (counterintuitive) प्रतीत होगी,लेकिन इसका समर्थन करने के लिए एक अच्छा विज्ञान है।
मेमोरी गेम खेलें (Play memory games)।
निमोनिक्स का प्रयोग करें (Use mnemonics)।
अपनी भौहें उठाओ (Raise your eyebrows)।
ऐसी किताबें पढ़ें जो आपकी सीमाओं को धक्का दें (Read books that push your boundaries)।
नए शौक आजमाएं (Try new hobbies)।
बेहतर खाओ (Eat better)।
व्यायाम (Exercise)।

प्रश्न:32.कौन सा दिमाग अधिक शक्तिशाली है? (Which brain is more powerful?):

उत्तर:बायां मस्तिष्क दाएं मस्तिष्क की तुलना में अधिक मौखिक (verbal),विश्लेषणात्मक (analytical) और व्यवस्थित (orderly) है।इसे कभी-कभी डिजिटल ब्रेन (digital brain) भी कहा जाता है।यह पढ़ने,लिखने और गणना करने जैसी चीजों में बेहतर है।

प्रश्न:33.मैं अपने दिमाग को कैसे तेज कर सकता हूँ? (How can I sharpen my brain?):

उत्तर:अपना ध्यान केंद्रित करने और अधिक बुद्धिमान बनने के लिए अपने मस्तिष्क को दैनिक कसरत दें।
विभिन्न परिणामों के माध्यम से विचारों का पालन करें।
अपने दिन में 10-20 मिनट के एरोबिक व्यायाम (aerobic exercise) को शामिल करें।
उत्तेजक बातचीत में व्यस्त रहें (Engage in stimulating conversation)।
ऑनलाइन पाठ्यक्रम लें (Take online courses)।
अपने दिमाग को विराम दें (Give your brain a break)।
एक शौक का अभ्यास करें (Practice a hobby)।
देखो,सुनो,सीखो (Look,Listen,Learn)।

प्रश्न:34.आइंस्टीन बाएं या दाएं दिमाग के थे? (Was Einstein left or right brained?):

उत्तर:लेकिन सौम्यता की जड़ें मस्तिष्क में होती हैं- दाएं हाथ के लोगों के पास बाएं गोलार्ध-प्रमुख दिमाग होता है और इसके विपरीत (vice versa)-और आइंस्टीन का दावा करने वाले बायां-दिमाग वाले (lefties) इतने दूर नहीं थे।जबकि वह निश्चित रूप से दाएं हाथ का था,शव परीक्षण से पता चलता है कि उसका मस्तिष्क भाषा और भाषण क्षेत्रों में विशिष्ट बाईं ओर के प्रभुत्व (left-side dominance) को नहीं दर्शाता है।
उपर्युक्त प्रश्नों के उत्तर द्वारा Math needs for sharp mind of teenagers के बारे में जान सकते हैं।

उपर्युक्त प्रश्नों के उत्तर द्वारा 1.टीनएजर्स के तेज दिमाग के लिए गणित जरूरी (Math needs for sharp mind of teenagers),टीनएजर्स के दिमाग के विकास के लिए गणित जरूरी (Mathematics is Necessary for Development of Brain of Teenagers) के बारे में ओर अधिक जानकारी प्राप्त कर सकते हैं।

No.Social MediaUrl
1.Facebookclick here
2.you tubeclick here
3.Instagramclick here
4.Linkedinclick here
5.Facebook Pageclick here

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *