Menu

Great opportunities to make a career in mathematics

Contents hide

1.गणित में कॅरियर बनाने के अपार मौके (Great opportunities to make a career in mathematics):

  • गणित में कॅरियर बनाने के अपार मौके (Great opportunities to make a career in mathematics):गणित में केरियर (career in mathematics) में कितने अवसर है इसके बारे में बताएगे । गणित के सवाल बहुत से विद्यार्थियों तथा अभ्यर्थियों को परेशान कर देते हैं लेकिन कुछ विद्यार्थियों तथा अभ्यर्थियों की गणित के सवाल हल करने में खास दिलचस्पी होती है या कह लीजिए कि उनको गणित के सवाल हल करने में आनंद का अनुभव होता है।आज हम ऐसे ही विद्यार्थियों के लिए जिनकी गणित में विशेष रूचि है,केरियर के कुछ विकल्प बताएंगे जिनमें वे जाएंगे तो अपना भविष्य तथा जीवन को चमका सकते हैं।
  • वैसे तो गणित के सवाल अधिकतर को परेशान कर देते हैं, लेकिन कुछ लोगों की इसमें खासी दिलचस्पी होती है। इसलिए यदि आपको भी गणित के सवाल अपनी ओर खींचते हैं और आप इन्हें सुलझाने में दिलचस्पी रखते हैं तो आपके पास गणित में कॅरियर बनाने के काफी अच्छे और बहुत अधिक मौके हैं।
  • भारत के पास एक लंबी और प्राचीन गणितीय परंपरा है और यहां कई महान गणितज्ञों ने जन्म लिया। भारतीय गणित के प्राचीन समय में आर्यभट्ट, ब्रह्मगुप्त, महावीर, भास्कराचार्य, संगमग्राम के माधव और नीलकण्ठ सोमयाजि जैसे विद्वानों ने अपना महत्वपूर्ण योगदान दिया। भारतीय गणित में दशमलव संख्या को सबसे पहले दर्ज किया गया था, जिसका आज भी इस्तेमाल होता है। भारतीय गणितज्ञों ने एक अंक के रूप शून्य की अवधारणा का अध्ययन करने के लिए भी सबसे पहले योगदान दिया।
  • अगर आप भी गणित में महारत हासिल करना चाहते हैं तो इसके लिए कई पाठ्यक्रम चलाए जाते हैं। जिनको आप 12वीं कक्षा पास करके कर सकते हैं। देश के कई संस्थानों में गणित की शिक्षा दी जाती है। यहां आपको बीएससी डिग्री या इंटीग्रेटेड एमएससी डिग्री या बीएस डिग्री या इंटीग्रेटेड एमएस डिग्री चुनने का अवसर मिलता है। कोर्स करने के बाद आप एक गणितज्ञ, बीमांकिक, शिक्षक और स्टेटिस्टिशियन के पद पर कार्य कर सकते हैं। विज्ञान से संबंधित कॅरियर बनाने के लिए गणित में योग्य होना बहुत जरूरी है। वहीं कम्प्यूटर इंजीनियरिंग और कम्प्यूटर साइंस के पद पर कार्य करने के लिए गणित में डिग्री होना भी अनिवार्य है।

Also Read This Article-College students get benefits of pursuing BSc course

  • आपको यह जानकारी रोचक व ज्ञानवर्धक लगे तो अपने मित्रों के साथ इस गणित के आर्टिकल को शेयर करें ।यदि आप इस वेबसाइट पर पहली बार आए हैं तो वेबसाइट को फॉलो करें और ईमेल सब्सक्रिप्शन को भी फॉलो करें जिससे नए आर्टिकल का नोटिफिकेशन आपको मिल सके ।यदि आर्टिकल पसन्द आए तो अपने मित्रों के साथ शेयर और लाईक करें जिससे वे भी लाभ उठाए ।आपकी कोई समस्या हो या कोई सुझाव देना चाहते हैं तो कमेंट करके बताएं। इस आर्टिकल को पूरा पढ़ें।

2.भारतीय मल्टीनेशनल कंपनियों में मिल सकता है मौका (Indian multinational companies may get a chance):

  • जो अभ्यर्थी बहुराष्ट्रीय कंपनियों में जाना चाहते हैं या किसी फाइनेंशियल कंपनियों में रुचि रखते हैं तथा जो कंप्यूटर का बेसिक नॉलेज रखते हैं वे फाइनेंसियल कंपनी, रिसर्च ऑफ मल्टीनेशनल कंपनी और अन्य कंपनियों में अपना भाग्य आजमा सकते हैं‌।ये कंपनियां भारतीय गणितज्ञों की भर्तियां कर रही है।आज का तकनीकी व कम्प्यूटर का युग है इसलिए कंप्यूटर का बेसिक ज्ञान होना आवश्यक है।गणित में पूरी तरह प्रशिक्षित होने के बावजूद उन्हें कंप्यूटर का ज्ञान भी प्राप्त कर लेना चाहिए।

3.अच्छे-अच्छे प्रतिष्ठानों में अवसर है (Good establishments have opportunities):

  • जो अभ्यर्थी सरकारी सेवाओं में जाने के इच्छुक हैं तथा कंप्यूटर व गणित पर बहुत अच्छी पकड़ है वे ही इसका लाभ उठा सकते हैं।भारत में सरकारी सेवाओं में चपरासी से लेकर आईएएस की सेवाओं के लिए कड़ी प्रतिस्पर्धा का सामना करना पड़ता है ।जो अभ्यर्थी विशिष्ट प्रतिभा रखते हैं और इस कड़ी प्रतिस्पर्धा का सामना करने में सक्षम है वे स्पेस रिसर्च (इसरो), डिफेंस रिसर्च (डीआरडीओ), एयरोनॉटिकल रिसर्च (नाल) में अपनी किस्मत आजमा सकते हैं इनमें सरकारी विभागों का काम होता है।यहां सभी गणितज्ञ उनकी प्रमुख समस्याओं को सुलझा सकते हैं। फाइनेंसियल मैथमेटिक्स एक अन्य क्षेत्र है जहां अच्छे वेतन वाली नौकरी पा सकते हैं‌।

4.अंतरराष्ट्रीय मल्टीनेशनल कंपनियों में अवसर (Opportunities in international multinational companies):

  • जो अभ्यर्थी देश के साथ विदेश में भी सेवाएं करने के लिए तैयार हैं तथा निजी क्षेत्र में जाना चाहते हैं ऐसे अभ्यर्थी अंतरराष्ट्रीय विदेशी कंपनियों में जा सकते हैं। कंप्यूटर में ट्रेंड ऐसे गणितज्ञों के लिए आईबीएम और माइक्रोसॉफ्ट जैसी कंपनियां मैथेमेटिशियन और कम्प्यूटर साइंटिस्ट की नियुक्ति करने के लिए जानी जाती है ।ऐसे अभ्यर्थियों को अपने घर व देश के मोह का त्याग करने के लिए तैयार रहना चाहिए ।जो घर व देश के मोह का त्याग कर सकते हैं वे ही इनमें सफलतापूर्वक कार्य कर सकते हैं क्योंकि इन बहुराष्ट्रीय कंपनियों के कार्यालय विश्व के बहुत से देशों में हैं। ये कंपनियां कहीं भी नियुक्त कर सकती हैं और कहीं भी स्थानांतरण कर सकती हैं।

5.यदि साइंटिस्ट बनना चाहते हैं (If you want to become a scientist):

  • कुछ गणितज्ञों की अभिरुचि वैज्ञानिक बनने की होती है। ऐसे अभ्यर्थियों के लिए गूगल,आईबीएम,फेसबुक और माइक्रोसॉफ्ट जैसी कंपनियां मैथेमेटिशियन और कम्प्यूटर की नियुक्ति करने के लिए जानी जाती है।वर्तमान में गूगल कंपनी के तो कई विज्ञापन आ चुके हैं जिसको कुशल अभ्यर्थियों की आवश्यकता है।

6.अभ्यर्थी जो डिमांड में रहते हैं (Candidates who are in demand):

  • देश में टेक्नोलॉजी कंपनियों की अभ्यर्थियों की वजह से मैथमेटिक्स में अव्वल अभ्यर्थियों की मांग तेजी से बढ़ रही है। इसके लिए गणित में अच्छा नॉलेज होने के साथ-साथ कंप्यूटर का भी अच्छा ज्ञान होना आवश्यक है। इंडिपेंडेंट नाॅलेज प्रोसेस आउटसोर्सिंग कंपनियों और बड़ी आईटी कंपनियों में ग्रेजुएट होने के साथ-साथ मैथमेटिक्स में दक्ष लोगों की काफी मांग है।

7.ये कोर्स हैं उपलब्ध (These courses are available):

  • –   बीए (3 साल)
  • –   बीए-ऑनर्स (3 साल)
  • –   बीएससी (3 साल)
  • –   बी.मैथ (3 साल)
  • –   बीटेक (4 साल)
  • –   इंटीग्रेटेड बीएससी-बीएड (4 साल)
  • –   बीएस (4 साल)
  • –   इंटीग्रेटेड एमएससी/एमएस (5 साल)
  • –   एमए/एमएससी (2 साल)
  • –   एम.मैथ (2 साल)
  • –   एमटेक (2 साल)
  • –   इंटीग्रेटेड एमएससी-पीएचडी
  • –   पीएचड
  • प्रमुख संस्थान- यहां से करें मैथ में बैचलर डिग्री
  • –   इंडियन स्टेटिस्टिकल इंस्टीट्यूट (आईएसआई), बेंग्लुरु : यहां से आप बी.मैथ डिग्री हासिल कर सकते हैं। इस संस्थान में दाखिले के लिए पहले स्क्रीनिंग टेस्ट देना पड़ता है।
  • –   चेन्नई मैथमैटिकल इंस्टीट्यूट (सीएमआई), चेन्नई : सीएमआई से आप मैथ और कम्प्यूटर साइंस में बीएससी डिग्री प्राप्त कर सकते हैं। यह संस्थान लिखित परीक्षा में सफल होने के बाद दाखिला देता है।
    मैथ में बीएससी डिग्री
  • – इंडियन इंस्टीट्यूट ऑफ टेक्नोलॉजी (आईआईटी), कानपुर : यहां दाखिला लेने के लिए पहले आईआईटी जेईई देना होता है।
  • –  इंडियन इंस्टीट्यूट ऑफ साइंस (आईआईएससी), बेंग्लुरु : इस संस्थान में दाखिले के लिए आईआईटी जेईई और एआईइइइ का आयोजन किया जाता है।
    मैथ में मास्टर डिग्री
  • –   चेन्नई मैथमैटिकल इंस्टीट्यूट (सीएमआई), चेन्नई : यहां मई के अंतिम दिनों में एडमिशन टेस्ट का आयोजन होता है।
  • –   इंडियन स्टेटिस्टिकल इंस्टीट्यूट (आईएसआई), नई दिल्ली : यहां भी एडमिशन टेस्ट द्वारा प्रवेश मिलता है।
  • –   यूनिवर्सिटी ऑफ हैदराबाद : यहां लिखित परीक्षा और इंटरव्यू द्वारा दाखिला होता है।
    एमएससी-पीएचडी यहां से कर सकते हैं-
  • –   टाटा इंस्टीट्यूट ऑफ फन्डामेन्टल रिसर्च (टीआईएफआर), मुंबई
  • –   इंस्टीट्यूट ऑफ मैथमैटिकल साइंस (आईएमएससी), चेन्नई
  • –   हरीश चंद्र रिसर्च इंस्टीट्यूट (एचआरआई), इलाहाबाद

8.अभ्यर्थियों के लिए कुछ शब्द (Some words for the candidates):

  • अभ्यर्थियों के लिए सबसे मुख्य बात यह है कि आधुनिक युग तकनीकी तथा स्टेम अर्थात विज्ञान,गणित,तकनीकी व इंजीनियरिंग का युग है।आज सबसे अधिक डिमांड इन्हीं क्षेत्रों में है। इसलिए जो भी अभ्यर्थी गणित में योग्यता रखते हैं उन्हें कंप्यूटर का ज्ञान भी आवश्यक रूप से अर्जित करना चाहिए। उन्हें केवल डिग्री ही हासिल नहीं करनी है बल्कि अपनी स्किल का डेवलपमेंट भी करना है।आज का युवा डिग्री हासिल करके यह सोचता है कि उसके लिए कोई जॉब नहीं है ।वास्तविकता यह है कि नौकरियां तो बहुत है परंतु नौकरियों के लिए केवल डिग्रीधारी युवाओं की आवश्यकता नहीं है ,उसके लिए जरूरी स्किल का होना भी आवश्यक है। कंपनियों के निदेशक व डायरेक्टर बोर्ड की अक्सर यही शिकायत रहती है कि युवाओं में जरूरी स्किल का अभाव है।
  • कोई समय था जब पढ़े-लिखे व डिग्रीधारी युवाओं को भर्ती कर लिया जाता था। आज का युग और उस युग में काफी अंतर आ गया है।अब समय दूसरा आ गया है, आज केवल आप गणित व कम्प्यूटर साइंस की डिग्री हासिल करके कोई जॉब नहीं कर सकते हैं।उसका बड़ा कारण यही है कि कंपनियां आज उस जाॅब के काबिल स्किल को भी देखती है और परखती है।यदि आपने उस जाॅब के लिए जरूरी स्किल का डेवलपमेंट नहीं किया तो आप बेरोजगारों की श्रेणी में खड़े हो जाएंगे और फिर सरकार और सरकार के पदाधिकारियों पर दोष लगाएंगे कि सरकार हमें जॉब उपलब्ध नहीं करा रही है।वैसे भी सरकार कितने लोगों को जाॅब दे सकती है ,ज्यादा से ज्यादा 10 से लेकर 20% तक। बाकी युवाओं का क्या होगा? सभी युवाओं को सरकार नौकरी नहीं दे सकती है ।इसलिए सरकार का मुंह ताकने के बजाय आप अपने अंदर जाॅब के लिए जरूरी स्किल डेवलपमेंट करेंगे तो आप बेरोजगार नहीं रहेंगे।हमारे यहां डिग्रीधारी बेरोजगारों की संख्या बढ़ती जा रही है क्योंकि उनमें आवश्यक स्किल का अभाव है।

Also Read This Article-What Jobs Can I Get with a Math Education Degree?

9.स्किल का विकास कैसे करें? (How to Develop Skill?):

  • जो विद्यार्थी अपनी पढ़ाई के साथ-साथ अपनी स्किल को डवलप करना चाहे उनके लिए कुछ टिप्स बता रहे हैं।वे उन टिप्स का पालन करके अपने आपको डिग्रीधारी बेरोजगारों की श्रेणी में खड़ा होने से बचा सकते हैं।
  • अध्ययन करने के पश्चात जो समय बचता है तो भी और यदि समय नहीं बचता है तो एक-दो घंटे समय बचाकर अपने घर की बेकार चीजें हैं उनकी टूट-फूट की मरम्मत कर सकते हैं।इससे धीरे-धीरे उनमें स्किल का डेवलपमेंट हो जाएगा। इससे घर की अर्थव्यवस्था तो ठीक होगी ही क्योंकि घरवालों को कोई भी चीज थोड़ी सी भी खराब हो जाती है तो ज्ञान के अभाव में ,घरवालों को चीज नई लानी पड़ती है।ये छोटे-छोटे काम हैं जैसे कपड़ा कहीं फट गया हो तो उसको सिलना,कुर्सी टूट गई हो तो उसको ठीक करना, बिजली का कोई उपकरण खराब हो गया तो ठीक करना इत्यादि ।यदि इन कार्यों में आपकी रुचि नहीं है तो मोबाइल,लैपटॉप खराब हो गया है उसको आप ठीक कर सकते हैं ।सवाल यह है कि इनको ठीक करने के लिए भी तो नॉलेज की जरूरत है ।अब हम बताते हैं कि आप कैसे इनको ठीक कर सकते हैं।आजकल हर युवा के पास मोबाइल तो रहता ही है और उसका उपयोग करते हैं ।आप यूट्यूब पर वीडियो देखकर सीख सकते हैं ।एक बार समझ में ना आए तो बार-बार देखें और उसे कॉपी में नोट कर लें तथा गूगल पर संबंधित प्रॉब्लम सर्च कर ले तो वहां से भी आप जानकारी प्राप्त कर सकते हैं ,उसके आधार पर आप धीरे-धीरे इनको ठीक करना तो सीखेंगे ही साथ ही इनसे संबंधित जानकारी भी होती जाएगी ।
  • आप पार्टटाइम के लिए यूट्यूब पर वीडियो बनाकर अपलोड कर सकते हैं,कोई ब्लॉग बनाकर अपनी जानकारी साझा कर सकते हैं।जानकारी साझा करने से ज्ञान बढ़ता है ।इस प्रकार आपमें धीरे-धीरे स्किल का डेवलपमेंट हो जाएगा।आप जिस क्षेत्र में रुचि रखते हैं ,उससे संबंधित स्किल का डेवलपमेंट करें। इस प्रकार छोटे-छोटे मरम्मत कार्य करने से व्यक्तिगत कुशलता ,अभ्यास और दिमाग का स्तर बढ़ता है ।ज्ञान केवल पुस्तकों से नहीं मिलता है ।जब तक पढ़ा हुआ ज्ञान क्रियात्मक रूप नहीं लेता है तब तक आपमें स्किल का डेवलपमेंट नहीं हो सकता है ।इस प्रकार से प्राप्त कौशल आप द्वारा प्राप्त की गई डिग्री से कम नहीं है ।यदि किसी कंपनी या सरकारी सेवा में आपका चयन नहीं होता है तो भी 15-16 साल में आपमें इतनी स्किल का डेवलपमेंट हो जाएगा कि आप अपने स्तर पर कोई कार्य कर सकते हैं।
  • कोई भी स्किल सीखने के लिए आपके सामने समस्याएं और चुनौतियां आएंगी परंतु ज्यों-ज्यों आप समस्याओं को हल करते जाएंगे स्किल डेवलपमेंट के साथ साथ आत्मविश्वास भी बढ़ता जाएगा।यदि आप करना ही चाहते हैं तो बहुत कुछ कर सकते हैं, यदि नहीं करना चाहेंगे तो उसके जिम्मेदार आप खुद होंगे ,कोई और नहीं। एक बार यदि आपने कदम बढ़ा दिया तो आप उसके परिणाम को देखकर खुद आश्चर्यचकित हो जाएंगे कि क्या ऐसा भी संभव है?
  • उपर्युक्त आर्टिकल में गणित में कॅरियर बनाने के अपार मौके (Great opportunities to make a career in mathematics) के बारे में बताया गया है.
No. Social Media Url
1. Facebook click here
2. you tube click here
3. Twitter click here
4. Instagram click here
5. Linkedin click here

Great opportunities to make a career in mathematics

णित में कॅरियर बनाने के अपार मौके
(Great opportunities to make a career in mathematics)

Great opportunities to make a career in mathematics

गणित में कॅरियर बनाने के अपार मौके (Great opportunities to make a career in mathematics):
गणित में केरियर (career in mathematics) में कितने अवसर है इसके बारे में बताएगे ।
गणित के सवाल बहुत से विद्यार्थियों तथा अभ्यर्थियों को परेशान कर देते हैं

No Responses

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *