Menu

Couple bagged PhD in Mathematics

1.युगल ने गणित में पीएचडी की उपाधि प्राप्त की (Couple bagged PhD in Mathematics)-

दंपति अर्थात पति-पत्नी ने एक साथ गणित में पीएचडी की डिग्री हासिल की।गणित में सर्वोच्च डिग्री पीएचडी है। गणित में पीएचडी हासिल करने के लिए न्यूनतम एमएससी गणित में होना आवश्यक है। गणित में पीएचडी करने के लिए गणित  के किसी प्रोफेसर या रीडर के अधीन रहकर किसी विषय पर अपनी नई रिसर्च प्रस्तुत करनी होती है।गणित में पीएचडी करने के बाद अभ्यर्थी अनेक उच्च पदों पर नियुक्ति के लिए अहर्ता हासिल कर लेता है।प्रोफेसर,रीडर, प्राचार्य इत्यादि पदों पर कॉलेज में नियुक्ति के लिए पीएचडी करना आवश्यक है।
डॉक्टर आॅफ फिलाॅसफी, विश्वविद्यालय की सर्वोच्च डिग्री है।छात्र-छात्राओं के लिए गणित में पीएचडी करना सबसे बड़े गौरव की बात होती है।गणित में पीएचडी करने के लिए कड़ी मेहनत करने की जरूरत होती है।गणित में किसी विषय पर अपनी नई रिसर्च प्रस्तुत करने के लिए आप किसी पुस्तक अथवा अन्य माध्यमों से जानकारी हासिल करके प्रस्तुत नहीं कर सकते हैं। विभिन्न ऑनलाइन माध्यम, यूट्यूब वीडियो, पुस्तकों तथा शिक्षकों से आपको यह जानकारी तो मिल जाएगी कि पीएचडी करने के लिए आपको क्या-क्या करना है अर्थात् आपको बेसिक जानकारी हासिल हो जाएगी।
गणित में पीएचडी करने के लिए आपको नई रिसर्च प्रस्तुत करनी होती है जिसके लिए आपको तर्क, चिन्तन व मनन करने की आवश्यकता होती है।केवल कहीं से भी कॉपी करके पीएचडी हासिल नहीं की जा सकती है।
अकीब सब्र ने गणित में तथा उनकी पत्नी रकिया मोहम्मद ने एप्पलाइड गणित में पीएचडी की है। अक्सर शादी होने के बाद अधिकांश युवक-युवतियों का ध्यान अध्ययन से हट जाता है तथा वे अपने घर-गृहस्थी के कार्यों में व्यस्त हो जाते हैं।ऐसे दंपत्ति दुर्लभ ही मिलते हैं जो शादी के बाद भी अपना अध्ययन जारी रखते हैं।नि:सन्देह अकीब सब्र तथा उनकी पत्नी रकिया मोहम्मद ने गणित में पीएचडी करके एक मिसाल कायम की है।
जीवन तथा शादी करने का अर्थ मौज मस्ती करना नहीं होता है।यह तो हमारा एक सांसारिक कर्तव्य होता है जिसे निभाना ही होता है।परंतु जीवन का एक विशिष्ट अर्थ होता है कि ऐसा विशिष्ट कार्य करना जो सर्व हितकारी हो। ऐसा कार्य आध्यात्मिक अथवा भौतिक कोई भी हो सकता है।
दंपति ने गणित में पीएचडी करके एक मिशाल तो कायम की है साथ ही अन्य दंपतियों के लिए वे प्रेरणा के स्त्रोत बन गए हैं।अक्सर शादी होने के बाद कोई भी दंपत्ति अपने घर-गृहस्थी की व्यस्तता बताकर यह मजबूरी जाहिर करते हैं कि घर-गृहस्थी के कार्यों के कार्यों के कारण वे ओर कोई कार्य नहीं कर पाते हैं।यदि मनुष्य में दृढ़ इच्छाशक्ति, कठिन परिश्रम, विवेक , धैर्य तथा आत्मविश्वास हो तो कैसी ही विकट परिस्थितियां उनके मार्ग का रोड़ा नहीं बन सकती है।

Also Read This Article- Emma Haruka breaks world record in ‘pie’ calculation
गणित में पीएचडी करने के लिए इन गुणों की आवश्यकता होती है।परंतु गणित में पीएचडी करते समय एकाएक ये गुण प्रकट नहीं हो जाते हैं बल्कि शुरू से ही गणित विषय पर फोकस रखकर उसकी तैयारी करते-करते इन गुणों का विकास होता है।बालक शुरू से गणित की समस्याओं , पहेलियों तथा जटिल समस्याओं का समाधान करता जाता है त्यों-त्यों इन गुणों का विकास होता जाता है।
गणित में पीएचडी करने के बाद उपर्युक्त दम्पत्ति को एकदम से ट्विटर या फेसबुक पर प्रसिद्धि नहीं मिल गईं है बल्कि गणित में पीएचडी हासिल करने के पीछे दोनों दम्पत्तियों की वर्षों की तपस्या है जिसके बल पर उन्होंने गणित में पीएचडी की है ।
यदि विश्वविद्यालय के छात्र-छात्रा गणित में पीएचडी करना चाहते हैं तो इन दम्पत्ति से सीख सकते हैं कि कोई भी कठिनाइयां मनुष्य को उसके लक्ष्य को हासिल करने से रोक नहीं सकती है।हालांकि इन दंपति ने गणित में पीएचडी पहले ही हासिल कर ली थी तथा उसी समय यह खबर अप्रैल,2019 में वायरल हुई थी।परंतु इसकी उपादेयता आज भी है इसलिए इस आर्टिकल को हम अब पोस्ट कर रहे हैं।यह आर्टिकल गणित में पीएचडी करने वाले के लिए उपादेय हो सकता है।
आपको यह जानकारी रोचक व ज्ञानवर्धक लगे तो अपने मित्रों के साथ इस गणित के आर्टिकल को शेयर करें ।यदि आप इस वेबसाइट पर पहली बार आए हैं तो वेबसाइट को फॉलो करें और ईमेल सब्सक्रिप्शन को भी फॉलो करें जिससे नए आर्टिकल का नोटिफिकेशन आपको मिल सके ।यदि आर्टिकल पसन्द आए तो अपने मित्रों के साथ शेयर और लाईक करें जिससे वे भी लाभ उठाए ।आपकी कोई समस्या हो या कोई सुझाव देना चाहते हैं तो कमेंट करके बताएं। इस आर्टिकल को पूरा पढ़ें।

Also Read This Article-Shakuntala Devi Became’Human Computer’by Answering Maths Questions

2.अकीब सब्र ने गणित में पीएचडी हासिल की, जबकि उनकी पत्नी रकिया मोहम्मद ने एप्लाइड साइंस में पीएचडी हासिल की (Aqeeb Sabr bagged a PhD in Mathematics while his wife Raqia Mohammed bagged a PhD in Applied Mathematics)-

डॉक्टर ऑफ फिलॉसफी सर्वोच्च विश्वविद्यालय की डिग्री है जो अधिकांश अंग्रेजी बोलने वाले देशों के विश्वविद्यालयों द्वारा अध्ययन के एक कोर्स के बाद प्रदान की जाती है। पीएचडी को शैक्षणिक क्षेत्रों की संपूर्ण चौड़ाई के कार्यक्रमों के लिए सम्मानित किया जाता है।
यह एक पति और पत्नी दोनों द्वारा हासिल किया गया पराक्रम है, जो कई लोगों के लिए सबसे अच्छा बन गया है और सोशल मीडिया खासकर ट्विटर पर प्रशंसा प्राप्त कर रहा है।
अकीब सब्र ने गणित में पीएचडी हासिल की, जबकि उनकी पत्नी रकिया मोहम्मद ने एप्लाइड गणित में पीएचडी हासिल की, जिसे केवल एक ट्विटर उपयोगकर्ता द्वारा साझा किया गया जिसे क्वांकवासन तुविता के नाम से जाना जाता है, जिसके बाद प्रतिक्रियाओं का एक धागा है।
पति और पत्नी का बैग पीएचडी गणित में 9 महीने पहले टुंडे ओसोसानिया शैक्षणिक उपलब्धि के 48175 बार देखा गया है, जो उन लोगों के लिए खुशी का एक स्रोत है जिन्होंने इस तरह के करतब को हासिल करने के लिए कड़ी मेहनत की है। अक़ीब सब्र और रक़िया मोहम्मद के साथ ख़ुशी की लहर दौड़ जाएगी क्योंकि दंपति हाल ही में गणित में दर्शनशास्त्र के डॉक्टर हैं। पीएचडी की डिग्री एक महत्वपूर्ण उपलब्धि है जो पुस्तकों के कई प्रेमी और ज्ञान प्राप्त करने की उम्मीद करते हैं। अकीब सब्र ने गणित में पीएचडी हासिल की, जबकि उनकी पत्नी रकिया मोहम्मद ने एप्पलाइड गणित में पीएचडी हासिल की‌।एक ट्विटर उपयोगकर्ता जिसे क्वांकवासन तुविता के रूप में पहचाना जाता है, ने सोमवार 22 अप्रैल को अपने पृष्ठ पर इसका खुलासा किया।
ट्वीट देखें: नाइजीरियाई ट्विटर ने युगल की अकादमिक उपलब्धि पर मजेदार प्रतिक्रियाएं दी हैं। इब्राहिम के रूप में पहचाने जाने वाले एक ट्विटर उपयोगकर्ता ने कहा: “अगली बार जब एक व्याख्याता आपसे एक्स को खोजने के लिए कहता है .. तो कृपया इस जोड़े को गिरफ्तार करें कि वे एक्स बंधक को पकड़ रहे होंगे।” नुंगा थानोस ने कहा: “वे शायद एक गणित के सेट या कैलकुलेटर को जन्म देंगे।” नीचे अन्य प्रतिक्रियाएं हैं: इस बीच, लेगिट एनजी ने पहले बताया कि उस्मानु डैनफोडियॉ विश्वविद्यालय सोकोटो के एक छात्र की पहचान ज़ैनब अब्दुल्लाही के रूप में हुई जो भौतिकी में संस्था की पहली महिला प्रथम श्रेणी स्नातक के रूप में उभरी। 22 वर्षीय छात्र विश्वविद्यालय के हालिया संयुक्त दीक्षांत समारोह में उन लोगों में से एक है जिन्हें प्रथम श्रेणी सम्मान मिला है। ज़ैनब, जो कैटसिना की अपच है, ने 2017-2018 के शैक्षणिक सत्र में 4.81 के सीपीजीए के साथ स्नातक किया। ज़ैनब ने अपने अकादमिक करतब पर प्रतिक्रिया देते हुए कहा: “यह सिर्फ समर्पण और प्रार्थना थी। मेरे UG1 के बाद से, मैंने प्रथम श्रेणी के साथ स्नातक करने के लिए कड़ी मेहनत की है। “मैं पढ़ना समझता हूँ, केवल पास होने के लिए नहीं, इसलिए मुझे रटना पसंद नहीं है। कभी भी मेरे पास खाली समय था, मैंने इसे बर्बाद नहीं किया। मैं पढ़ता हूं, अगर कक्षा में नहीं, तो पुस्तकालय में, या समूह चर्चा में। ” वह विश्वविद्यालय प्राथमिक स्कूल में समग्र रूप से सर्वश्रेष्ठ कहा गया था जहां उसने अपनी बुनियादी शिक्षा की थी। वह यूनिवर्सिटी मॉडल सेकेंडरी स्कूल सोकोटो में एनईसीओ में भी सर्वश्रेष्ठ थी।
हमने आपको बेहतर सेवा देने के लिए अपडेट किया है 18 वर्षीय किशोर पीएचडी के लिए अध्ययन कर चौंकाने वाला रहस्योद्घाटन करता है।

No. Social Media Url
1. Facebook click here
2. you tube click here
3. Twitter click here
4. Instagram click here
5. Linkedin click here
6. Facebook Page click here

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *