Menu

Rahul Kumar Yadav selected to present paper on Mathematical Beliefs

1.राहुल कुमार यादव को गणित के विश्वासों पर पेपर प्रस्तुत करने के लिए चुना का परिचय (Introduction to Rahul Kumar Yadav selected to present paper on Mathematical Beliefs )-

  • राहुल कुमार यादव को गणित  के विश्वासों पर पेपर प्रस्तुत करने के लिए चुना (Rahul Kumar Yadav selected to present paper on Mathematical Beliefs ) ,इसके बारे में बताएंगे।अमेरिका में प्रतिभाओं के लिए द्वार इस कदर खुले हुए हैं कि विश्व के किसी भी देश के छात्र पीएचडी या अन्य रिसर्च के लिए अप्लाई किया हो तो उसे हाथों-हाथ लिया जाता है और टेस्ट से उसकी प्रतिभा को पहचान लिया गया हो तो तत्काल वहां बुला लिया जाता है।
  • राहुल कुमार यादव पीएचडी स्काॅलर है तथा गणित से उन्होंने एमएससी की है।वे प्रतिभा के धनी हैं। उन्होंने गणितीय विश्वासों और अभ्यास पेपर के लिए केलिफोर्निया स्टेट यूनिवर्सिटी (अमेरिका) में अप्लाई किया था।उनकी स्क्रीनिंग के तत्काल बाद उन्हें अमेरिका में आयोजित होने वाले केन्द्रित शिक्षा नेटवर्क (ICEN) सम्मेलन 2020 में 6-8 जून,2020 के लिए आमन्त्रित कर दिया गया है।
  • जिस देश में प्रतिभाओं का सम्मान किया जाता है और प्रतिभाओं का उचित कार्यो के लिए उपयोग किया जाता है,वह देश कभी बिखर नहीं सकता है बल्कि वह देश समृद्ध होता जाता है। ऐसे देश की कीर्ति विश्व में फैलती जाती है।
  • प्रतिभा कई गुणों का जोड़ होती है।प्रतिभा शरीर, बुद्धि और अन्त:करण तीनों का जोड़ होती है। परन्तु इसे न समझ पाने के कारण हम साधारणतः उसे ही प्रतिभाशाली मानते हैं जिसमें बौद्धिक विकास काफी मात्रा में हुआ हो।यह मान्यता गलत तो नहीं पर आंशिक रूप से ही सही है। बुद्धि का स्थान,शरीर से ऊंचा है लेकिन शरीर के महत्त्व को नकारा नहीं जा सकता है।सही अर्थों में प्रतिभाशाली बनने का मतलब है,अपनी समस्त क्षमताओं को जाग्रत करना।
  • राहुल कुमार यादव को गणित के विश्वासों पर पेपर प्रस्तुत करने के लिए चुना (Rahul Kumar Yadav selected to present paper on Mathematical Beliefs ) जाना विकसित प्रतिभा की मिशाल है।कई व्यक्तियों को आजीवन कठिनाइयों से जूझते रहना पड़ता है परन्तु उनकी प्रतिभा समाज व देश को मालूम नहीं होती है।फिर भी ऐसा व्यक्ति सुखी जीवन व्यतीत करने वाले व्यक्तिओं से अनेक गुना अधिक प्रतिभाशाली होता है।
  • राहुल कुमार यादव को गणित के विश्वासों पर पेपर प्रस्तुत करने के लिए चुना (Rahul Kumar Yadav selected to present paper on Mathematical Beliefs ) जाना एक साधारण सी घटना लगती है। परन्तु प्रतिभाओं का रहस्य खोजने पर पूरा इतिहास मालूम पड़ जाएगा। अधिकांश प्रतिभाएं कठिन परिस्थितियों में पैदा हुई है।जैसे मैथमेटिक्स गुरु आर.के. श्रीवास्तव, महान् गणितज्ञ वशिष्ठ नारायण सिंह आदि प्रतिभाएं सुख-सुविधाओं को तिलांजलि देकर जटिलताओं को स्वेच्छा से स्वीकार करती है क्योंकि इसके बिना लक्ष्य प्राप्त नहीं किया जा सकता है। कठिनाइयों, विपरीत परिस्थितियों के द्वारा ही मनुष्य का व्यक्तित्व अपना पूर्ण चमत्कार प्रर्दशित करता है। इन्हें एक खराद की तरह समझा जा सकता है,जो मनुष्य को तराश कर चमका दिया करती है।
  • प्रत्येक कार्य में प्रतिभा सम्पन्न व्यक्ति को कार्य में सफलता प्राप्त करने के लिए निरन्तर अभ्यास की आवश्यकता है।राहुल कुमार यादव को गणित के विश्वासों पर पेपर प्रस्तुत करने के लिए चुना (Rahul Kumar Yadav selected to present paper on Mathematical Beliefs ) जाने के लिए कितने अभ्यास की आवश्यकता हुई होगी इसे हम समझ सकते हैं। दरअसल प्रतिभा हर व्यक्ति में होती है परन्तु वह अन्दर छुपी हुई होती है।बीज बोने,अंकुरित होने,पेड़ के बड़े होने और फल लगने तक कोई परिश्रम नहीं किया जाए अर्थात खाद,पानी नहीं दिया जाए तथा पेड़ की सुरक्षा नहीं की जाए तो बीज यो ही सड़ गल जाएगा।उसी प्रकार अन्तर्निहित प्रतिभा को पहचानते हुए उसे प्रस्फुटित होने के लिए प्रयास न किया जाए और पल्लवित,पुष्पित होने तक धैर्य न रखा जाए तो सड़ने-गलने वाले बीज की तरह प्रतिभा भी सड़,गल जाती है।
  • संसार में जितने भी महान् गणितज्ञ सफल हुए हैं,उनकी सफलता का रहस्य उनके कठिन परिश्रम, बार-बार अभ्यास, अध्यवसाय, विवेक, धैर्य,साहस में निहित है।
  • राहुल कुमार यादव को गणित के विश्वासों पर पेपर प्रस्तुत करने के लिए चुना (Rahul Kumar Yadav selected to present paper on Mathematical Beliefs ) जाने की सफलता का सफलता का राज संक्षिप्त में यही समझ में आता है।
  • आपको यह जानकारी रोचक व ज्ञानवर्धक लगे तो अपने मित्रों के साथ इस गणित के आर्टिकल को शेयर करें ।यदि आप इस वेबसाइट पर पहली बार आए हैं तो वेबसाइट को फॉलो करें और ईमेल सब्सक्रिप्शन को भी फॉलो करें जिससे नए आर्टिकल का नोटिफिकेशन आपको मिल सके ।यदि आर्टिकल पसन्द आए तो अपने मित्रों के साथ शेयर और लाईक करें जिससे वे भी लाभ उठाए ।आपकी कोई समस्या हो या कोई सुझाव देना चाहते हैं तो कमेंट करके बताएं। इस आर्टिकल को पूरा पढ़ें।

Also Read This Article:-Two mathematicians solve a decade old mathematics puzzle

2.राहुल कुमार यादव को गणित के विश्वासों पर पेपर प्रस्तुत करने के लिए चुना (Rahul Kumar Yadav selected to present paper on Mathematical Beliefs )-

  • राहुल कुमार यादव अमेरिका के कैलिफोर्निया में पेपर प्रस्तुत करने के लिए चुना गया।
    9 मार्च, 2020
  • राहुल कुमार यादव, शिक्षा और शिक्षा प्रौद्योगिकी विभाग में पीएचडी स्कॉलर, स्कूल ऑफ सोशल साइंसेज, हैदराबाद विश्वविद्यालय (यूओएच) को “बिहार के जेएनवी के टीजीटी के गणितीय विश्वास और अभ्यास” पर एक पेपर प्रस्तुत करने के लिए कैलिफोर्निया स्टेट यूनिवर्सिटी, सैक्रामेंटो, कैलिफोर्निया, अमेरिका में 6-8 जून, 2020 से केंद्रित शिक्षा नेटवर्क (आरसीईएन) सम्मेलन 2020 में चुना गया है।
  • राहुल कुमार यादव वर्तमान में, शिक्षा और शिक्षा प्रौद्योगिकी विभाग, यूओएच के एचओडी प्रो. भुवनेश्वरा लक्ष्मी की देखरेख में काम कर रहे हैं।उनका अनुसंधान क्षेत्र “गणितीय विश्वास और व्यवहार” पर ध्यान देने के साथ गणित की शिक्षा है।राहुल कुमार ने एम.एससी पूरी की है। (मैथ्स) जय प्रकाश विश्वविद्यालय, छपरा, बिहार से और एम.एड. क्षेत्रीय शिक्षा संस्थान, भुवनेश्वर से।उन्होंने शिक्षा में यूजीसी-जेआरएफ को भी उत्तीर्ण किया है।
  • उपर्युक्त आर्टिकल में आपने जाना राहुल कुमार यादव को गणित के विश्वासों पर पेपर प्रस्तुत करने के लिए चुना (Rahul Kumar Yadav selected to present paper on Mathematical Beliefs )।

Also Read This Article:-Three Greek Students Sweep Medals at 26th IMC (Mathematics)

No. Social Media Url
1. Facebook click here
2. you tube click here
3. Twitter click here
4. Instagram click here
5. Linkedin click here
6. Facebook Page click here

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *