Menu

9Tips for Preparation of JEE Main 2021

Contents hide
1 1.जेईई मेन 2021 की तैयारी के लिए 9 टिप्स (9Tips for Preparation of JEE Main 2021) –
1.13 3.JEE मेन 2021 में एडमिशन के लिए 12वीं में 75% मार्क्स जरूरी नहीं (75% marks in 12th is not necessary for admission in JEE Main 2021)-

1.जेईई मेन 2021 की तैयारी के लिए 9 टिप्स (9Tips for Preparation of JEE Main 2021) –

  • जेईई मेन 2021 की तैयारी के लिए 9 टिप्स (9Tips for Preparation of JEE Main 2021) के अनुसार परीक्षा सेशन का चुनाव करें।चार सेशन में होने वाली परीक्षा के फायदे तथा सही सेशन का चुनाव करने के लिए इस आर्टिकल को पढ़ें।
  • आईआईटी और इंजीनियरिंग इंस्टीट्यूट में प्रवेश पाने के लिए होने वाली परीक्षा में सफल होने के लिए जेईई मेन 2021 की तैयारी के लिए 9 टिप्स (9Tips for Preparation of JEE Main 2021) के बारे में जाने। अब परीक्षा में लगभग एक महीना शेष रहा है।
  • जेईई-मेन परीक्षा में सभी टॉपिक को कवर करने की कोशिश करें।कई बार हमें जो टॉपिक बोरिंग लगते हैं उनको छोड़ देते हैं या कठिन लगने के कारण छोड़ देते हैं।उन टॉपिक्स पर ध्यान नहीं देते हैं।ऐसी स्थिति में आप परीक्षा में सफल होने से वंचित रह जाते हैं।
  • लाॅकडाउन में घर पर रहकर परीक्षा की तैयारी पूरी करने के बाद अब परीक्षा की तैयारी गंभीरतापूर्वक प्रारंभ कर देनी चाहिए।
    इस बार परीक्षा के सिलेबस में तो परिवर्तन नहीं किया है परंतु परीक्षा में भाग लेने के लिए 75% न्यूनतम पास मार्क्स तथा परसेंटाइल की बाध्यता हटा दी है।
    परीक्षा की तैयारी अपनी पूरी प्लानिंग तथा मजबूती से करें।

(1.) परीक्षा सेशन का चुनाव परीक्षा की तैयारी के अनुसार करें (Choose exam session according to preparation of exam),चार सेशन में होने वाली परीक्षा के फायदे और सही सेशन के चुनाव का तरीका (Benefits of examination in four sessions and method of choosing right session)-

  • जेईई-मेन इस बार चार सेशन में आयोजित हो रही है।हर स्टूडेंट एक या अधिक सेशन में भाग ले सकता है।
  • परंतु जिन छात्रों ने लाॅकडाउन के दौरान या गत छह महीने से तैयारी नहीं की है उन्हें अन्तिम सेशन में परीक्षा देने का विकल्प चुनना चाहिए।
  • जो स्टूडेंट्स गत छह माह तथा लाॅकडाउन के दौरान तैयारी कर रहे हैं वे स्टूडेंट्स फरवरी 2021 अर्थात् प्रथम सेशन में भाग ले सकते हैं।क्योंकि इस प्रकार के स्टूडेंट्स की जेईई-मेन की परीक्षा की तैयारी पूरी हो चुकी होगी।

(2.)चैप्टर और टाॅपिक के अनुसार तैयारी करें (Prepare according to chapter and topics)-

  • भौतिकी कंसेप्चुअल सब्जेक्ट है जिसमें कांसेप्ट का महत्त्व होता है।इसलिए हर कंसेप्ट को क्लियर करें अर्थात् रटकर याद न करें बल्कि हर कांसेप्ट को समझकर याद करें।
  • 12वीं की फिजिक्स, 11वीं की फिजिक्स को दोबारा पढ़ना चाहिए तथा किसी रेफरेंस बुक से भी तैयारी करना चाहिए।
  • फिजिक्स में मैकेनिक्स बहुत महत्त्वपूर्ण है।वहीं माॅडर्न फिजिक्स में सेमी-कंडक्टर टाॅपिक शुरुआत में बोरिंग लगता है लेकिन थ्योरी के साथ प्रैक्टिकल को भी पढ़ा जाए तो यह काफी इंटरेस्टिंग है।
  • जेईई-मेन में फिजिक्स,कैमस्ट्री और मैथेमेटिक्स तीनों सब्जेक्ट से सवाल पूछे जाते हैं।इसलिए चैप्टर तथा टॉपिक की तैयारी परीक्षा के सेशन के अनुसार करें।
    हर टाॅपिक के शार्ट नोट्स और फाॅर्मूले की सूची बनाएं।ये शॉर्ट नोट्स परीक्षा के समय तैयारी करने व रिवीजन में सहायता करेंगे।

(3.)फाॅर्मूलों को याद करें (Remember the formulas)-

  • गणित,विज्ञान अर्थात् फिजिक्स व केमिस्ट्री में फाॅर्मूलों का बहुत महत्त्व है।इसलिए फाॅर्मूलों के लिए अलग से एक छोटी नोटबुक बनाएं और जब भी मौका मिले उन्हें दोहराते रहें। बिना फाॅर्मूलों के आप सवाल हल नहीं कर सकते हैं।
  • परीक्षा की पूर्ण तैयारी करने के बावजूद स्टूडेंट्स सवालों को हल करते समय फाॅर्मूलों को भूल जाते हैं और वे सवालों को हल नहीं कर पाते हैं।इसलिए शुरू से ही फाॅर्मूलों की छोटी नोटबुक तैयार करके उन फाॅर्मूलों को समय-समय पर दोहराते रहें।

(4.)बार-बार अभ्यास करें (Practice again and again)-

  • कहावत है कि करत-करत अभ्यास के जड़मति होत सुजान रसरी आवत जावत ते सिल पर पड़त निशान के अनुसार यदि आप चैप्टर का बार-बार अभ्यास करेंगे तो हर टाॅपिक व चैप्टर पर आपकी अच्छी पकड़ हो जाएगी।
  • पिछले वर्षों के प्रश्न पत्रों,मॉडल पेपर्स को बार-बार हल करें। उनके क्वेश्चन को हल करें।इसके अलावा क्वेश्चन बैंक को हल करें।माॅक टेस्ट देकर अपनी तैयारी की जांच करते रहे।जिस टाॅपिक व चैप्टर पर कमजोरी महसूस हो उनका बार-बार अभ्यास करें।

(5.)एनसीईआरटी की पुस्तकों से तैयारी करें (Prepare from NCERT books)-

  • रेफरेंस बुक के अलावा एनसीईआरटी की पुस्तकों को गंभीरतापूर्वक पढ़े।जेईई-मेन परीक्षा में अधिकांश स्टडी मेटेरियल 11वीं और 12वीं की एनसीईआरटी की पुस्तकों में उपलब्ध हो जाता है।
  • इसलिए एनसीईआरटी की पुस्तकों को पढ़ने के साथ-साथ उनकी पुनरावृति भी करें।जेईई-मेन के लिए मिनिमम और पर्याप्त स्टडी मैटेरियल इन पुस्तकों में उपलब्ध हो जाता है।

(6.) टारगेट बनाकर पढ़ें (Make and read the target)-

  • हर दिन, वीकली तथा मंथली चैप्टर्स व टाॅपिक का टारगेट बनाएं और उसे पूरा करने की हर संभव कोशिश करें।
  • बिना टारगेट के पढ़ाई करना और पढ़ते रहना अंधेरे में तीर मारने के समान है जो कहीं भी लग सकता है।
  • चैप्टर्स व टाॅपिक का टारगेट बनाने के साथ-साथ यह टारगेट भी बनाएं कि उसको प्रतिदिन,वीकली तथा मंथली रिवीजन करने में कितना समय देना है।

(7.)सुबह जल्दी उठने की आदत डालें (Get up early in the morning)-

  • जल्दी उठकर पढ़ने से पढ़ा हुआ अच्छी तरह से याद होता है।सुबह का वातावरण शांत रहता है साथ ही आपका मस्तिष्क भी आराम करने के कारण तरोताजा रहता है। इसलिए सुबह जल्दी उठकर पढ़ने की आदत डालें।
  • सुबह घड़ी के अलार्म के बजाय अपनी बायोलॉजिकल क्लॉक के अनुसार जल्दी उठने का अभ्यास करें। बायोलॉजिकल क्लॉक आपके मस्तिष्क में ही रहती है।रात को सोते समय बायोलॉजिकल क्लॉक को निर्देश देने पर आपको सुबह वह अलार्म दे देती है।आप निश्चित समय पर उठ जाते हैं।

(8.)कमजोर टाॅपिक की ठीक से तैयारी करें (Prepare a weak topic properly)-

  • अपनी कमजोरी और मजबूत स्थिति की पहचान करें। अर्थात् किन-किन टाॅपिक व चैप्टर्स में आपकी तैयारी कम है तथा किन-किन टाॅपिक व चैप्टर्स पर आपकी तैयारी अच्छी है इसकी पहचान करें।
  • वीकनेस को पहचानकर उसकी तैयारी अच्छी तरह करें। उसका बार-बार अभ्यास करें।

(9.)अपना मूल्यांकन करते रहे (Constantly evaluating)-

  • तैयारी करने के साथ-साथ आप मॉडल पेपर्स या मॉक टेस्ट के आधार पर अपनी तैयारी की जांच करते रहें।
  • मॉडल पेपर्स व मॉक टेस्ट को जिस तरह परीक्षा देते हैं उस तरह हल करें और अपनी वीकनेस तथा स्ट्रेंथ को पहचाने।
    स्वयं का एनालाइज कर सब्जेक्ट वाइज तैयारी को मजबूती प्रदान करें।

(10.)लाॅकडाउन के कारण अपने अंदर पैदा हुई कमजोरी को दूर करें (Remove the weakness inside you due to the lockdown)-

  • लाॅकडाउन के कारण घर में रहने से आलस्य और प्रमाद के कारण पढ़ने की आदत छूट गई हो तो उसमें सुधार करें।
  • आलस्य व प्रमाद को दूर करने का तरीका है कि रोजाना आधा घंटा योगासन-प्राणायाम करें। आपमें आनेवाली शिथिलता ध्यान-योग व प्राणायाम करने से दूर हो जाएगी।
  • ध्यान, योग व प्राणायाम ऐसी पद्धति है जो आपको कम समय में अधिक पढ़ने में सक्षम बनाती है।

(11.)हर सब्जेक्ट के न्यूमेरिकल की प्रैक्टिस करें (Practice numericals for every subject)-

  • हम थ्योरीटिकल भाग की तैयारी तो अच्छी तरह कर लेते हैं परन्तु न्यूमेरिकल पार्ट की तैयारी को महत्त्व नहीं देते हैं।
  • याद रखें थ्योरी के साथ प्रैक्टिकल का भी उतना ही महत्त्व है।बल्कि प्रैक्टिकल करने से आपका थ्योरीटिकल पार्ट भी अच्छी तरह तैयार हो जाता है।
  • न्यूमेरिकल भाग की प्रैक्टिस करने से न्यूमेरिकल पार्ट तो तैयार होता ही है साथ ही थ्योरीटिकल पार्ट पर भी मजबूत पकड़ बनती है।
  • हमने जेईई मेन 2021 की तैयारी के लिए 9 टिप्स (9Tips for Preparation of JEE Main 2021) बताई है परंतु इसके अलावा भी हमने जेईई-मेन की तैयारी की टिप्स का आर्टिकल अलग से पोस्ट किया हुआ है आपको उसे भी पढ़ना चाहिए।
    आपको यह जानकारी रोचक व ज्ञानवर्धक लगे तो अपने मित्रों के साथ इस गणित के आर्टिकल को शेयर करें।यदि आप इस वेबसाइट पर पहली बार आए हैं तो वेबसाइट को फॉलो करें और ईमेल सब्सक्रिप्शन को भी फॉलो करें।जिससे नए आर्टिकल का नोटिफिकेशन आपको मिल सके ।यदि आर्टिकल पसन्द आए तो अपने मित्रों के साथ शेयर और लाईक करें जिससे वे भी लाभ उठाए ।आपकी कोई समस्या हो या कोई सुझाव देना चाहते हैं तो कमेंट करके बताएं।इस आर्टिकल को पूरा पढ़ें।

Also Read This Article-How to prepare for JEE and NEET at home?

2.जेईई मेन 2021 की तैयारी के लिए 9 टिप्स की समरी (Summary of 9Tips for Preparation of JEE Main 2021)-

(1.)तैयारी के लिए इन टिप्स को फॉलो करें-

  • इलेक्ट्रिसिटी-मैग्नेटिज्म टॉपिक के न्यूमेरिकल भाग की प्रैक्टिस करें।
    पिछले 10 साल के क्वेश्चन पेपर ज्यादा से ज्यादा सॉल्व करें।
  • वीकली टारगेट सेट करें यानी 11वीं के पहले पढ़े चैप्टर्स जनवरी और 12वीं के फरवरी में रिवाइज करें।
  • प्लानिंग के साथ खुद को एनालाइज कर सब्जेक्ट वाइज अपनी तैयारी के स्टेटस के बारे में पता करें।
  • अपनी तैयारी के हिसाब से परीक्षा के सेशन का चुनाव करें और रिवीजन के लिए शॉर्ट नोट्स तैयार करें।
  • सुबह जल्दी उठने की आदत डालें और अपनी बायोलॉजिकल क्लॉक में सुधार लाएं।
  • स्ट्रेंथ और वीकनेस को पहचान कर उसे और मजबूत करने पर काम करें।
    9 से 12 और 2 से 5 बजे फिर से पढ़ने की आदत डालें, ताकि परीक्षा के समय फोकस रहे।
  • कई महीनों से घर में रहने के कारण सिटिंग की आदत छूट गई है, ऐसे में एक्सरसाइज करें।

(2.)क्या जेईई-मेन 2021 के लिए एनसीईआरटी पर्याप्त है? (Is Ncert enough for JEE Mains 2021?)-

  • हां, जेईई मेन्स के लिए एनसीईआरटी पर्याप्त है।जेईई मेन्स की परीक्षा नेशनल टेस्ट एजेंसी (एनटीए) द्वारा आयोजित की जाती है,जो एक सरकारी संगठन भी है।  केंद्रीय माध्यमिक शिक्षा बोर्ड (सीबीएसई) एनसीईआरटी द्वारा डिजाइन की गई पुस्तकों का उपयोग करता है और जेईई मेन्स का पाठ्यक्रम पूरी तरह से सीबीएसई (11 वीं और 12 वीं) के पाठ्यक्रम के समान है।

(3.)जेईई मेन पेपर 2021 कौन सेट करेगा? (Who will set JEE Main Paper 2021?)-

राष्ट्रीय परीक्षण एजेंसी (NTA) JEE Main 2021 परीक्षा आयोजित करने का अधिकार है और यह परीक्षा वर्ष में चार बार आयोजित की जाती है।

(4.)मुझे जेईई मेन के लिए कहां से तैयारी करनी चाहिए? (Where should I prepare for JEE mains?)-

  • घर पर अध्ययन करने के लिए तैयारी के टिप्स 
    एनसीईआरटी से सीखें।एनसीईआरटी पुस्तकों से शुरू करें, जो जेईई मेन के लिए आधार हैं (Learn NCERT First. Start with NCERT books, which are the base for JEE main)।
  • राइट रेफरेंस बुक्स चुनें (Choose the Right Reference Books)।
    ऑनलाइन सीखें (Learn Online)।
  • दैनिक और स्पष्ट संदेह को संशोधित करें (Revise Daily and Clear Doubts)।
  • जेईई पिछले वर्ष के प्रश्न पत्रों को हल करें (Solve JEE Previous year question papers)।
  • Please read 9Tips for Preparation of JEE Main 2021.
  • मॉक टेस्ट (Mock Tests)।

(5.)कक्षा 11 से जेईई-मेन की तैयारी कैसे करें? (How to prepare for JEE mains from class 11?)-

  • कक्षा 11 से IIT JEE की तैयारी कैसे शुरू करें?
    जेईई के पूरे सिलेबस से गुजरें।
  • जेईई की तैयारी के लिए आवश्यक पुस्तकें और अध्ययन सामग्री।
    एक अध्ययन कार्यक्रम या समय सारणी तैयार करें।
  • मूल बातें समझें, अवधारणाओं को मजबूत करें और समस्या हल करने की आदत डालें।
  • व्यवस्थित और निर्देशित तैयारी के लिए एक कोचिंग में शामिल हों।
    दृढ़ निश्चयी रहें और निरंतर रहें।

(6.) जेईई-मेन की तैयारी एक माह में कैसे करें? (How to prepare for jee mains in 1 month?)-

  • जेईई मेन 1 महीने की तैयारी समय सारिणी
    ज्यादातर, कक्षा 12 वीं या इंटरमीडिएट द्वितीय वर्ष का पीछा करने वाले छात्र जेईई मेन परीक्षा की तैयारी करेंगे।चूंकि जेईई मेन वर्ष में चार बार आयोजित किया जाता है, इसलिए छात्रों को कई सत्रों में दिखाई देने की सुविधा होती है।हालांकि, कोई भी जेईई मेन के अप्रैल या मई सत्र के लिए फरवरी सत्र से अधिक प्रभावी ढंग से तैयारी कर सकता है, क्योंकि आधिकारिक अधिसूचना की घोषणा की तारीख से चार महीने का समय होगा।
  • जेईई मेन 2021 चरण 1, 2, 3 और 4 तैयारी की रणनीति
    JEE Main 2021 के लिए एक महीने की तैयारी की समय-सारिणी नीचे जाँची जा सकती है –
  • (1.) सप्ताह 1
  • पहला दिन
    गणित-लघुगणक,द्विघात समीकरण,अनुप्रयोग और व्युत्पत्ति
    भौतिकी-विद्युत इलेक्ट्रोस्टैटिक,कार्य,ऊर्जा,गुरुत्वाकर्षण
    केमिस्ट्री-अल्काइल हेलिड्स और मोल कॉन्सेप्ट और कार्बोनिल कम्पाउंड
  • दूसरा दिन
    गणित-सांतत्य,सीमा,वृत्त और परिवार।
    भौतिकी-वर्तमान
    रसायन-कार्बोक्जिलिक एसिड और उनके डेरिवेटिव
  • तीसरा दिन
    मैथ्स-लाइन्स एंड पेयर ऑफ स्ट्रेट लाइन्स
    भौतिकी-तरंगें
    रसायन विज्ञान-आवर्त सारणी,रासायनिक बंधन
  • दिन 4
    मैथ्स -3 डी जियोमेट्री,बिन्दुपथ
    भौतिकी-थर्मल बिजली,थर्मल विस्तार
    रसायन विज्ञान-परमाणु संरचना,इलेक्ट्रोकैमिस्ट्री
  • दिन 5
    मैथ्स-सर्किल,सेट, संबंध और फलन
    भौतिकी-बिजली, ऊर्जा हस्तांतरण
    रसायन-फिनोल, शराब, ईथर
  • दिन 6
    मैथ्स-प्रायिकता और सांख्यिकी
    फिजिक्स-न्यूटन का नियम गति और घर्षण
    रसायन-ठोस अवस्था,गैसीय अवस्था
  • दिन 7
    मैथ्स-सब्जेक्ट्स को रिवाइज करें और मॉक टेस्ट लें या पुराने प्रश्न पत्रों को ज्यादा से ज्यादा हल करें।
  • (2.) सप्ताह 2
  • पहला दिन
    रिवीजन-
    लघुगणक,द्विघात समीकरण,
    ऊर्जा,गुरुत्वाकर्षण
    गणित-वेक्टर बीजगणित
    भौतिक विज्ञान के गुण
    केमिस्ट्री-बायोमोलेक्यूल्स,जनरल ऑर्गेनिक केमिस्ट्री
  • दूसरा दिन
    रिवीजन-कार्बोनिल कम्पाउंड,
    गणित-सांतत्य,सीमा,वृत्त, समाकलन,अवकलन
    भौतिकी-द्रव यांत्रिकी
    रसायन विज्ञान-समन्वय रसायन विज्ञान
  • तीसरा दिन
    रिवीजन-थर्मल बिजली, थर्मल विस्तार
    मैथ्स-कॉम्प्लेक्स नंबर
    भौतिकी-वेक्टर,संचार प्रणाली
    रसायन विज्ञान-हाइड्रोकार्बन
  • दिन 4
    रिवीजन-ठोस अवस्था,गैसीय अवस्था
    गणित-समीकरण का सिद्धांत
    भौतिकी-ऊष्मा और ऊष्मागतिकी
    रसायन-रसायन रसायन
  • दिन 5
    रिवीजन-न्यूटन का नियम
    गणित-अनुक्रम और श्रृंखला
    फिजिक्स-मोशन और सर्कुलर मोशन
    रसायन विज्ञान-थर्मोडायनामिक्स
  • दिन 6
    वृत्त, समूह, संबंध और फलन
    मैथ्स-ट्रिगोनो मैट्रिक अनुपात
    भौतिकी-आधुनिक भौतिकी
    रसायन-हाइड्रोजन और इसका यौगिक
  • दिन 7
    अधिक प्रश्न पत्रों का अभ्यास करें
  • (3.)सप्ताह 3 और 4
  • पहला दिन
    प्रैक्टिस-मैथ्स
    भौतिकी के 2 अध्याय का रिवीजन
    रिवीजन- रसायन विज्ञान के दो विषय
  • दूसरा दिन
    भौतिकी के  2 अध्याय का रिवीजन
    रसायन विज्ञान के दो विषय का रिवीजन
    प्रैक्टिस-मैथ्स
  • तीसरा दिन
    रसायन विज्ञान के दो विषय का रिवीजन
    प्रैक्टिस-मैथ्स
    भौतिकी के 2 अध्याय का रिवीजन
  • दिन 4
    प्रैक्टिस-मैथ्स
    भौतिकी के 2 अध्याय का रिवीजन
    रसायन विज्ञान के दो विषय का रिवीजन
  • दिन 5
    प्रैक्टिस-मैथ्स
    रसायन विज्ञान के दो विषय का रिवीजन
    भौतिकी के 2 अध्याय का रिवीजन
  • दिन 6
    भौतिकी के 2 अध्याय का रिवीजन
    रसायन विज्ञान के दो विषय का रिवीजन
    प्रैक्टिस-मैथ्स
  • दिन 7
    संकेत में सभी विषयों का रिवीजन करें।

3.JEE मेन 2021 में एडमिशन के लिए 12वीं में 75% मार्क्स जरूरी नहीं (75% marks in 12th is not necessary for admission in JEE Main 2021)-

  • जेईई मेन: एनआईटी,आईआईआईटी और जीएफटीआई प्रवेश 2021 के लिए कक्षा 12 वीं में 75% अंक अनिवार्य नहीं।
  • मानव संसाधन विकास मंत्री ने IITs में प्रवेश के लिए कक्षा 12 वीं में 75% मानदंडों को अनिवार्य करने की छूट देने की घोषणा के बाद,NIT,IIIT और GFTI में प्रवेश के लिए समान रूप से छूट की घोषणा की है।

(1.)एनआईटी, आईआईआईटी और जीएफटीआई पात्रता मानदंड 2021 (NIT  IIIT and GFTI eligibility criteria 2021)-

  • केंद्रीय मानव संसाधन मंत्री,रमेश पोखरियाल ने आईआईटी में प्रवेश के लिए 75% मानदंड में छूट की घोषणा की और एनआईटी, आईआईआईटी और जीएफटीआई में प्रवेश के लिए 75% अनिवार्य होने की समान रूप से छूट की घोषणा की गई है।कक्षा 12 वीं में 75% अंक एनआईटी, आईआईआईटी और जीएफटीआई में प्रवेश के लिए अनिवार्य नहीं है।छूट 2020 में दी गई थी और 2021 के लिए इसे लागू किया गया था।
  • केंद्रीय मानव संसाधन मंत्री – रमेश पोखरियाल निशंक ने घोषणा की कि केंद्रीय सीट आवंटन बोर्ड (सीएसएबी) ने एनआईटी,आईआईआईटी और केंद्र द्वारा वित्तपोषित तकनीकी संस्थानों के लिए प्रवेश नियमों में ढील दी है।नए नियमों के अनुसार, कक्षा 12 वीं की परीक्षा में 75% एनआईटी,आईआईआईटी और सीएफटीआई में प्रवेश पाने के लिए अनिवार्य नहीं है।जिन उम्मीदवारों ने न्यूनतम योग्यता अंकों के साथ 12 वीं कक्षा उत्तीर्ण की है,वे इन संस्थानों में प्रवेश ले सकते हैं।हालांकि, उम्मीदवारों को जेईई-मेन में वैध प्रतिशत के लिए जोसा परामर्श प्रक्रिया के लिए पात्र होना चाहिए।
  • Covid-19 के कारण कठिन परिस्थितियों को देखते हुए, CSAB ने NIT और CFTI के लिए प्रवेश नियमों में ढील दी है।उम्मीदवारों को ध्यान देना चाहिए कि ये नियम केवल शैक्षणिक सत्र 2021-22 के लिए लागू होंगे

4.जेईई-मेन 2021: एनटीए ने पंजीकरण की अंतिम तिथि बढ़ा दी (JEE Main 2021: NTA extended last date for registration)-

  • नेशनल टेस्टिंग एजेंसी (NTA) ने देश के सबसे बड़े इंजीनियरिंग एंट्रेंस एग्जाम जेईई-मेन 2021 के लिए रजिस्ट्रेशन प्रोसेस की आखिरी तारीख बढ़ा दी है।अब स्टूडेंट्स 23 जनवरी तक इस परीक्षा के लिए आवेदन कर सकेंगे।इस बारे में एजेंसी ने नोटिफिकेशन जारी कर जानकारी दी। इसके अलावा टेस्टिंग एजेंसी ने ऑनलाइन आवेदन फॉर्म में सुधार के लिए करेक्शन विंडो ओपन करने की तारीख भी बढ़ा दी है।

(1.)जेईई-मेन 2021रजिस्ट्रेशन प्रक्रिया (JEE-Main 2021 Registration Process)-

  • सबसे पहले ऑफिशियल वेबसाइट jeemain.nta.nic.in पर जाएं।
  • होमपेज पर उपलब्ध एप्लीकेशन लिंक पर क्लिक करें।
  • अब न्यू रजिस्ट्रेशन की लिंक पर क्लिक करें।
  • यहां मांगी गई जानकारी दर्ज करें।
  • अब फॉर्म भरकर फोटो अपलोड करें।
  • अंत में फीस जमा कर सबमिट करें।

(2.) जेईई-मेन 2821 करेक्शन विंडो 27 जनवरी से ओपन होगी (JEE-Main 2821 Correction window will open from January 27)-

  • आवेदन की तारीख बढ़ाने के साथ ही एजेंसी ने एप्लीकेशन फॉर्म में सुधार के लिए करेक्शन विंडो ओपन करने की तारीख भी बढ़ा दी है।अब करेक्शन विंडो 27 से 30 जनवरी के बीच ओपन होगी।इससे पहले 19 से 21 जनवरी के बीच यह सुविधा दी जानी थी।
  • वहीं,पहले सेशन की परीक्षा 23 से 26 फरवरी तक आयोजित की जाएगी। इस बार JEE मेन चार सेशन में आयोजित की जाएगी।इसके तहत फरवरी के बाद यह परीक्षा मार्च,अप्रैल और मई में आयोजित होगी

5.JEE मेन पोस्टपोनमेंट छात्रों को कैसे प्रभावित करेगा? (How will JEE Main Postpone affect the students?)-

  • जेईई मेन के रद्द होने की संभावना कम है क्योंकि आईआईटी और एनआईटी में प्रवेश एक गंभीर मामला है।  भारत में जुलाई के बाद की सबसे खराब कोविद -19 स्थिति के कारण जेईई मेन रद्द होने पर बीटेक उम्मीदवारों और प्रवेश प्रक्रिया पर प्रभाव की जाँच करें।
  • कोविद -19 ने राष्ट्र के पूरे शिक्षा परिदृश्य को बदल दिया है।  सीबीएसई कक्षा 12 वीं बोर्ड परीक्षा रद्द करने के साथ, देश भर के माता-पिता, छात्रों और शिक्षाविदों से जेईई मुख्य प्रवेश परीक्षा को रद्द करने की मांग की गई है, जो एनआईटी, आईआईटी, आईआईआईटी और अन्य शीर्ष सरकारी / निजी इंजीनियरिंग देश के कॉलेजों में प्रवेश के लिए आयोजित की जाती है।
  • जेईई मुख्य प्रवेश परीक्षा को स्थगित / रद्द करने के संबंध में सोशल मीडिया प्लेटफार्मों पर कई अभियान चलाए जा रहे हैं।मानव संसाधन विकास मंत्रालय ने पुष्टि की है कि जेईई मेन 2021 रद्द नहीं किया जाएगा और इसे समय पर आयोजित किया जाएगा।जेईई मेन को रद्द करने के बारे में सोचने से पहले, हमें इस बात पर विचार या जागरूकता होनी चाहिए कि इसका क्या प्रभाव पड़ेगा।गंभीर छात्र जो इस परीक्षा की तैयारी के लिए कम से कम एक वर्ष बिताते हैं।साथ ही,हमें उस प्रभाव के बारे में पता होना चाहिए जो JEE मेन रद्द होने पर B.Tech की प्रवेश प्रक्रिया पर पड़ेगा।
  • जेईई मेन परीक्षा की तारीख को स्थगित करने से उन छात्रों पर भी नकारात्मक प्रभाव पड़ेगा जो परीक्षा की तैयारी में लगातार लगे हैं।जेईई मेन परीक्षा की तिथियां को फिर से निर्धारित की गई हैं, और अधिकांश छात्रों ने मानसिक रूप से उसी के बारे में तैयार किया है।जेईई मेन को फिर से स्थगित करना छात्रों को इस तरह से प्रभावित करेगा कि वे परीक्षा की तैयारी और साथ ही परीक्षा देने में रुचि खो सकते हैं।

6.जेईई मेन कैंसिलेशन गंभीर छात्रों को कैसे प्रभावित करेगा? (How will JEE Main Cancellation affect serious students?)-

  • हम सभी जानते हैं कि कुछ छात्र IIT में प्रवेश पाने के लिए JEE Main और JEE एडवांस्ड के लिए कम से कम एक वर्ष की तैयारी करते हैं।ये छात्र अपने लक्ष्य को पाने के लिए कड़ी मेहनत करते हैं।जेईई मेन रद्द होने से इन छात्रों पर असर पड़ेगा क्योंकि उनकी तैयारी बेकार चली जाएगी।  यदि IIT/NIT में प्रवेश कक्षा 12 वीं के अंकों के आधार पर होता है, तो छात्र अवसाद में जा सकते हैं।हालांकि, यह स्थिति पैदा नहीं होगी और सरकार जेईई मेन परीक्षा आयोजित करने की सभी संभावनाओं पर विचार करेगी।
  • हाल ही में, IIT ने यह भी माना है कि JEE Main रद्द करना सबसे अच्छा विकल्प नहीं है।जैसा कि आईआईटी में प्रवेश एक गंभीर मामला है, यह केवल जेईई मेन और एडवांस पर आधारित होना चाहिए।
  • please read 9Tips for Preparation of JEE Main 2021.

7.जेईई मेन कैंसिलेशन बी.टेक एडमिशन प्रोसेस 2021 को कैसे प्रभावित करेगा? (How will JEE Main Cancellation affect BTech Admission Process 2021?)-

  • यदि जेईई मेन परीक्षा वर्ष 2021 के लिए रद्द कर दी जाती है, तो यह शैक्षणिक सत्र 2021-22 के लिए B.Tech प्रवेश प्रक्रिया पर बहुत प्रभाव डालेगा।जबकि आईआईटी, एनआईटी, आईआईआईटी और जीएफटीआई प्रवेश के लिए जेईई मेन रैंक मानते हैं, परीक्षा रद्द करने से प्रवेश नियमों में बदलाव होगा।यदि प्रवेश के लिए कक्षा 12 वीं के अंकों पर विचार किया जाता है, तो कुछ छात्रों को
  • अपने पसंदीदा कॉलेज में प्रवेश नहीं मिल सकता है।
    उदाहरण के लिए,यदि किसी छात्र ने बोर्ड परीक्षा में 85% और जेईई मेन में 90 प्रतिशत अंक प्राप्त किए हैं, तो उसे जेईई मेन रैंक माना जाएगा।यदि बोर्ड परीक्षा के अंक समान हैं, तो छात्र को उसकी पसंद या पसंद के अनुसार कॉलेज में प्रवेश नहीं मिल सकता है।
  • यदि परीक्षा रद्द कर दी जाती है, तो अपनी प्रवेश परीक्षा आयोजित करने वाले राज्य भी इस मुद्दे का सामना करेंगे।  इसलिए, प्रवेश परीक्षा को रद्द करना सबसे अच्छा विकल्प नहीं हो सकता है।
  • इस आर्टिकल में जेईई मेन 2021 की तैयारी के लिए 9 टिप्स (9Tips for Preparation of JEE Main 2021),JEE मेन 2021 में एडमिशन के लिए 12वीं में 75% मार्क्स जरूरी नहीं (75% marks in 12th is not necessary for admission in JEE Main 2021),जेईई-मेन 2021: एनटीए ने पंजीकरण की अंतिम तिथि बढ़ा दी (JEE Main 2021: NTA extended last date for registration) तथा अन्य जेईई-मेन से संबंधित प्रश्नों के उत्तर का विवरण दिया गया है।

Also Read This Article-3 Tips for JEE and NEET Entrance Exam

No.Social MediaUrl
1.Facebookclick here
2.you tubeclick here
3.Instagramclick here
4.Linkedinclick here
5.Facebook Pageclick here

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *