Menu

IIT will give mathematics knowledge to CBSE teachers

Contents hide
1 1.आईआईटी सीबीएसई शिक्षकों को गणित का ज्ञान देगा (Introduction to IIT will give mathematics knowledge to CBSE teachers)-
1.2 3.क्या प्राइवेट स्कूल की ऑनलाइन पढ़ाई उन छात्रों के साथ अन्याय है जिनके पास इंटरनेट-मोबाइल की सुविधा नहीं है? (Is private school online an injustice to students who do not have internet-mobile facilities?)-

1.आईआईटी सीबीएसई शिक्षकों को गणित का ज्ञान देगा (Introduction to IIT will give mathematics knowledge to CBSE teachers)-

आईआईटी सीबीएसई शिक्षकों को गणित का ज्ञान देगा (IIT will give mathematics knowledge to CBSE teachers) अर्थात् आनलाईन शिक्षा के अनुरूप आईआईटी सीबीएसई शिक्षकों को गणित का ज्ञान देगा (IIT will give mathematics knowledge to CBSE teachers)।
भारत में अथवा विश्व में कोरोनावायरस के कारण फैली महामारी के कारण आनलाईन शिक्षा का महत्त्व समझ में आ रहा है।जो देश पहले से ही अपने एजुकेशन सिस्टम को आनलाईन कर चुके हैं उनको इस महामारी में कोई परेशानी नहीं है।
परन्तु जो देश अपने एजुकेशन सिस्टम को आनलाईन नहीं कर चुके हैं,उनके सामने छात्र-छात्राओं को शिक्षा प्रदान के लिए गम्भीर संकट पैदा हो गया है।
भारत में अभी आफलाईन शिक्षा का ही अधिक प्रचलन है। परन्तु गत पांच माह से सभी शिक्षण संस्थाओं के बन्द होने के कारण, शिक्षा संस्थाएं छात्र-छात्राओं को शिक्षा प्रदान करने में काफी संकट का सामना कर रही है।
ऐसी स्थिति में आईआईटी (गांधीनगर) सीबीएसई शिक्षकों को गणित का ज्ञान देगा (IIT will give mathematics knowledge to CBSE teachers)। इसमें शिक्षकों को आनलाईन क्षमता को विकसित करने के गुर सिखाए जाएंगे।साथ ही तार्किक क्षमता को कैसे विकसित किया जाए इसके बारे में भी बताया जाएगा।
आईआईटी गांधीनगर ने इस तरह का कदम उठाकर एक नई पहल की है।अब सभी शिक्षकों को इससे प्रेरणा लेकर अपने अन्दर आनलाईन शिक्षा प्रदान करने की स्किल का विकास करना चाहिए।
यदि कोरोनावायरस के कारण महामारी नहीं फैलती तो भी आधुनिक समय की मांग के कारण आनलाईन शिक्षा प्रदान करना उचित कदम ही है। आनलाईन शिक्षा प्रदान करने के बहुत से लाभ है। संक्षिप्त में इन लाभों की चर्चा करना उपयुक्त होगा।आपको यह जानकारी रोचक व ज्ञानवर्धक लगे तो अपने मित्रों के साथ इस गणित के आर्टिकल को शेयर करें ।यदि आप इस वेबसाइट पर पहली बार आए हैं तो वेबसाइट को फॉलो करें और ईमेल सब्सक्रिप्शन को भी फॉलो करें जिससे नए आर्टिकल का नोटिफिकेशन आपको मिल सके ।यदि आर्टिकल पसन्द आए तो अपने मित्रों के साथ शेयर और लाईक करें जिससे वे भी लाभ उठाए ।आपकी कोई समस्या हो या कोई सुझाव देना चाहते हैं तो कमेंट करके बताएं। इस आर्टिकल को पूरा पढ़ें।

Also Read This Article-50 year old mathematics problem solved

2.आज की परिस्थितियों मैं दी जाने वाली ऑनलाइन शिक्षा हमेशा के लिए लागू करना कितना लाभ दायक हो सकता है? (How beneficial can it be to apply the online education provided in today’s situations forever?)-

(1.)आज के समय में जैसे मोबाइल हमारे जीवन का अंग बन गया है,उसी तरह आनलाईन शिक्षा भी हमारे जीवन का अंग बनती जा रही है।
(2.) प्रतिभाशाली विद्यार्थियों के लिए तो आनलाईन अच्छी शिक्षा है,वे कम समय में बहुत अच्छी तैयारी कर सकते हैं।
(3.) सबसे अधिक फायदा तो यह है कि हम आनलाईन शिक्षा घर बैठे प्राप्त कर सकते हैं।
(4.)एक अन्य फायदा यह है कि कभी भी और कहीं भी आनलाईन शिक्षा प्राप्त कर सकते हैं।
(5.) आनलाईन शिक्षा, आफलाइन शिक्षा के बजाय सस्ती भी है।
(6.)हम अपने मनमाफिक अच्छे से अच्छे अध्यापक से आनलाईन शिक्षा प्राप्त कर सकते हैं।
(7.)माॅडल पेपर्स,माॅक टेस्ट भी आनलाईन उपलब्ध हैं जिनकी सहायता से हम अपनी तैयारी को बहुत अच्छे स्तर की कर सकते हैं।
(8.) आनलाईन ई-बुक को डाउनलोड करके हम पुस्तकें भी पढ़ सकते हैं।
(9.) आनलाईन शिक्षा प्राप्त करने के लिए आप मनमाफिक शान्त वातावरण का चुनाव कर सकते हैं।यदि आपको लगता है कि घर पर डिस्टरबेंस है तो आप एकान्त और शान्त वातावरण में आनलाईन शिक्षा प्राप्त कर सकते हैं।
(10.)अपने डाउट्स को क्लीयर भी हम आनलाईन शिक्षा के माध्यम से दूर कर सकते हैं।

3.क्या प्राइवेट स्कूल की ऑनलाइन पढ़ाई उन छात्रों के साथ अन्याय है जिनके पास इंटरनेट-मोबाइल की सुविधा नहीं है? (Is private school online an injustice to students who do not have internet-mobile facilities?)-

(1.) प्राइवेट स्कूलों में ज्यादातर की फीस हाई-फाई होती है। इसलिए निजी स्कूलों में वे ही विद्यार्थी पढ़ते हैं जो फीस चुकाने में समर्थ होते हैं।
(2.)कुछ निर्धन छात्रों को जो प्रतिभाशाली हैं उनको वे नि: शुल्क इसलिए पढ़ाते हैं कि जिससे उनकी स्कूल की कीर्ति फैले और ज्यादा से ज्यादा छात्रों को आकर्षित किया जा सके।
(3.) बहुत कम निजी स्कूल ऐसे हैं जिनको अंगुलियों पर गिना जा सकता है जो व्यावसायिक दृष्टिकोण नहीं रखते हुए छात्रों को शिक्षा उपलब्ध कराते हैं।
(4.)जिन प्रतिभाशाली छात्रों को निजी स्कूल नि:शुल्क पढ़ाते हैं तो आनलाईन शिक्षा के लिए भी ऐसे निजी स्कूल जिनका दृष्टिकोण व्यावसायिक हैं, कोई न कोई उपाय करेंगे ही।
(5.)इस प्रकार देखा जाए तो निजी स्कूलों में वे छात्र ही पढ़ते हैं जो फीस चुकाने में समर्थ होते हैं। इसलिए ऐसे विद्यार्थियों को आनलाईन पढ़ने में कोई परेशानी नहीं होगी। जिनके पास मोबाइल नहीं भी होगा तो ऐसे छात्र आसानी से मोबाइल खरीद सकते हैं और आनलाईन शिक्षा प्राप्त कर सकते हैं।
(6.) वैसे भी आनलाईन शिक्षा,निजी स्कूलों द्वारा वसूल की जाने वाली फीस से तो सस्ती ही पड़ेगी। आनलाईन शिक्षा के बढ़ने का यह भी एक कारण है।
(7.) मोबाईल हमारी जिन्दगी का आवश्यक अंग बनता जा रहा है। इसलिए निर्धन से निर्धन व्यक्तियों के पास कीपेड या टचस्क्रीन वाला मोबाइल मिल ही जाता है।
(8.)जियो इन्टरनेट उपलब्ध होने तथा प्रतिस्पर्धा के कारण नेट की दरों में काफी गिरावट आई है।
(9.)उपर्युक्त सभी तथ्यों पर विचार करने पर मुझे ऐसा लगता है कि ऐसे कोई निजी स्कूलों के छात्र शायद ही बचेंगे जिनके साथ अन्याय होगा।
(10.)हां यह अवश्य हो सकता है कि आनलाईन शिक्षा सभी छात्रों के समझ में आए या न आए। लेकिन धीरे-धीरे अभ्यास से शायद इस समस्या का भी कोई न कोई समाधान निकाल लिया जाएगा जिससे आफलाईन शिक्षा की तरह छात्रों के डाउट्स क्लीयर किये जा सकें।
(11.) आनलाईन शिक्षा में माता-पिता तथा अभिभावकों की जिम्मेदारी बढ़ जाएगी।जो माता-पिता तथा अभिभावक सजग और अलर्ट रहेंगे उनके बच्चे तो आनलाईन शिक्षा आसानी से प्राप्त कर सकेंगे।

4.आईआईटी सीबीएसई शिक्षकों को गणित का ज्ञान देगा (IIT will give mathematics knowledge to CBSE teachers)-

Fri, 14 Aug 2020
सेंट्रल बोर्ड ऑफ सेकेंडरी एजुकेशन(सीबीएसई) के स्कूलों में शिक्षण कर रहे गुरुजनों को गणित का नया ज्ञान दिया जाएगा। सीबीएसई व आईआईटी गांधीनगर ऑनलाइन कार्यक्रम स्टेम 30-30 का आयोजन कर रहा है। इसकी शुरुआत 16 अगस्त से होगी। कार्यक्रम के जरिए जहां शिक्षकों को बेहतर शिक्षण का ज्ञान दिया जाएगा। वहीं छात्रों को विज्ञान व गणित के सिद्धांतों में छिपी तार्किक शक्तियों को समझाया जाएगा।
सीबीएसई की ओर से जारी नोटिफिकेशन के अनुसार 16 अगस्त से प्रारंभ हो रहे स्टेम 30-30 कार्यक्रम में हर रविवार 4 से 5 बजे के मध्य एक ऑनलाइन सेशन आयोजित किया जाएगा। इस प्रकार 30 सप्ताह तक लगातार 30 सेशंस होंगे। इसी के चलते इस कार्यक्रम को स्टेम 30-30 नाम दिया गया है। कार्यक्रम में आईआईटी गांधीनगर के अलावा आईआईएसीआर पुणे के फैकल्टी भी शामिल होंगे। खास बात यह है कि इस कार्यक्रम में सफल होने वाले चुनिंदा शिक्षकों को आईआईटी गांधीनगर और आईआईएसआर में इंटर्नशिप का भी मौका मिलेगा। बोर्ड की ओर से जारी सर्कुलर में कहा गया है कि इन सेशन में अभिभावक और छात्र भी यूट्यूब के माध्यम से जुड़ सकेंगे। इस कार्यक्रम के माध्यम से बच्चों में गणित और विज्ञान की तार्किकता को विकसित किया जा सकेगा।

5.निष्कर्ष (Conclusion)-

आईआईटी सीबीएसई शिक्षकों को गणित का ज्ञान देगा (IIT will give mathematics knowledge to CBSE teachers), इससे हमारे देश में आनलाईन शिक्षा प्रदान करने का रास्ता प्रशस्त होगा।
यो फुटकर रूप से आनलाईन शिक्षा कई संस्थाएं प्रदान करती है। परन्तु अब व्यापक रूप से इसका प्रसार होगा।
दरअसल आज विश्व के विकसित देशों की श्रेणी में खड़ा रहना, आगे बढ़ना है तो हम किसी भी क्षेत्र में पिछड़े हुए नहीं रहना चाहेंगे।
विश्व के विकसित देश आज अग्रिम पंक्ति में खड़े हैं तो इसका प्रमुख कारण यह है कि उन्होंने अपने आपको अपटुडेट रखा हुआ है।
कोई भी नई प्रणाली या सिस्टम सबसे पहले विकसित देशों में ही अपनाई जाती है।हम विकसित देशों की श्रेणी में खड़ा होने के लिए एकदम से आमूलचूल परिवर्तन तो नहीं कर सकते हैं।
परन्तु धीरे-धीरे हमारे एजुकेशन सिस्टम को आधुनिक, प्रगतिशील तथा नवीन अच्छी व सही बातों को अपनाने के लिए तैयार रहना चाहिए।
हमारी परम्परागत शिक्षा प्रणाली बिल्कुल आधुनिक युग के अनुसार न होने के कारण भारत का विकास जिस गति से होना चाहिए उस गति से नहीं हो रहा है।
किसी भी देश के विकास में सबसे मुख्य फेक्टर एजुकेशन सिस्टम का होता है। एजुकेशन सिस्टम ही देश का कायाकल्प कर सकता है।क्योंकि किसी भी क्षेत्र में युवा वर्ग एजुकेशन सिस्टम से तैयार होकर ही जाते हैं।
हमारे देश में अभी भी बहुत से लोग ऐसे हैं जो रूढ़िवादी है।ऐसे लोग, जो प्रथाएं अपना महत्त्व खो चुकी हैं,उन प्रथाओं और परम्पराओं को पावन समझते हैं।ऐसे लोग समाज के विद्यमान क्रम को बनाएं रखना चाहते हैं तथा सब प्रकार के परिवर्तनों एवं प्रगति का विरोध करते हैं। इससे देश का विकास नहीं हो पाता है।
परन्तु देश में कुछ लोग प्रगतिवादी भी है।ऐसे लोग विद्यमान सामाजिक व्यवस्था जो अपना महत्त्व खो चुकी है, उसमें शनै: शनै: परिवर्तन लाने की वकालत करते हैं तथा रूढ़ियों में अन्ध-विश्वास नहीं रखते हैं।
सच्चे अर्थों में प्रगतिशील व नवीन विचारों को अपनाने वाले लोग देश को आगे बढ़ाना चाहते हैं।आईआईटी सीबीएसई शिक्षकों को गणित का ज्ञान देगा (IIT will give mathematics knowledge to CBSE teachers), इसमें प्रगतिशील और नवीन विचारों की झलक मिलती है।
यह आवश्यक नहीं है कि सभी पुरानी बातें अच्छी व सही हैं तथा यह भी आवश्यक नहीं है कि सभी नई बातें सही व अच्छी हैं। इसलिए प्रगतिशील और नवीन विचारों वाले व्यक्ति पुरानी बातें जो सही व अच्छी हैं उनको सिस्टम में बनाए रखना चाहते हैं परन्तु जो नई बाते अच्छी व सही हैं उनको भी अपनाते हैं।
हमारे विचार से शिक्षा प्रणाली वही जीवन्त होती है जो समयानुकूल हो।आज का समय आनलाईन एजुकेशन का समय है। इसलिए आनलाईन एजुकेशन प्रणाली को भी धीरे-धीरे सिस्टम में अपनाने की शुरुआत कर देनी चाहिए अन्यथा हम दुनिया के साथ विकास न करके पिछड़ जाएंगे।
इसलिए आईआईटी सीबीएसई शिक्षकों को गणित का ज्ञान देगा (IIT will give mathematics knowledge to CBSE teachers),यह पहल उचित,अच्छी व समयानुकूल है।इसका स्वागत किया जाना चाहिए।

Also Read This Article-NASA named HQ after Mary Jackson

6.आईआईटी कोचिंग में गणित संकाय की नौकरी (Maths faculty jobs in IIT coaching
teachers)-

Jobs
Past 3 days
Full–time
Nalanda Educational Institutions
Aakash Educational
(1.)Online Live Faculty – Math(IIT/JEE)
Toppr
Hyderabad, Telangana
via Workable For Job Seekers
Over 1 month ago Full–time
(2.)Mathematics Faculty (IIT-JEE)
Aakash Educational Services
New Delhi, Delhi
via Glassdoor
27 days agoFull–time
(3.)Teachers Vacancy for IIT-JEE and NEET
Zenith Faculty Provider Jaipur, Rajasthan (+4 others)
via TimesJobs

7. IIT JEE maths संकाय की नौकरियां (IIT JEE maths faculty jobs)-

Jobs
Past 3 days
Full–time
AAKASH INSTITUTE
Anand International College of Engineering
(1.)Mathematics – Faculty
Anand International College of Engineering
Jaipur, Rajasthan (+1 other)
via Fidanto
29 days ago ₹8L a month Full–time
(2.)Teachers Vacancy for IIT-JEE and NEET
Zenith Faculty Provider
Jaipur, Rajasthan (+4 others)
via TimesJobs
Over 1 month ago Full–time
(3.)Mathematics Faculty ( IIT – JEE )
AAKASH INSTITUTE
Central Delhi, Delhi
via LinkedIn India
Over 1 month ago Full–time

8. IIT JEE मैथ्स संकाय बंगलौर में नौकरी करते हैं (IIT JEE maths faculty jobs in bangalore)-

Jobs
Past 3 days
Full–time
BASE EDUCATIONAL SERVICES PVT. LTD. BANGALORE
UNIVERSAL HUNT
(1.)Faculty Physics Chemistry Mathematics Bio
BASE EDUCATIONAL SERVICES PVT. LTD. BANGALORE
Bengaluru, Karnataka
via TimesJobs
21 days ago Full–time
(2.)Physics/ Maths/ Chemistry Faculty
UNIVERSAL HUNT
Bengaluru, Karnataka
via Timesjobs

9. IIT JEE मैथ्स संकाय की तत्काल आवश्यकता है (IIT JEE maths faculty required urgently)-

भारत के नंबर 1 जॉब पोर्टल Naukri.com पर 27 IIT JEE फैकल्टी जॉब्स के लिए आवेदन करें।  अन्वेषण करें … शिक्षण IIT-JEE मेन्स मैथ्स और भौतिकी;  आईआईटी-जेईई मेन्स और NEET.

10.मैथ्स JEE की फैकल्टी कैसे बने (How to become faculty of maths JEE)-

Requirements
(1.)Passion to work in education and be a teacher.
(2.)Proven Academic proficiency in teaching JEE Mathematics.
(3.)Must have a minimum 1 year prior full time classroom teaching experience in a JEE Mains / Advanced batch (doubt solving roles or content creation roles may not be treated as classroom teaching equivalent).

11. कोटा में गणित संकाय की नौकरी (Maths faculty jobs in kota)-

Jobs
Near Kota, Rajasthan
Past 3 days
Full–time
Mathematics
Faculty
Mathematics teacher
(1.)PGT Mathematics
Teachers Recruiter
Kota, Rajasthan
via Shine.com
12 days agoFull–time
(2.)PGT Mathematics Teacher for CBSE School
Teachers Recruiter
Kota, Rajasthan
via Shine.com
12 days ago Full–time
(3.)CBSE Hindi, Science, Mathematics Class 10 Tutor at Home
UrbanPro.com
Kota, Rajasthan
via UrbanPro.com

12.संकाय भर्ती गणित (Faculty recruitment mathematics)-

NATA / JEE जैसी विभिन्न प्रतियोगी परीक्षाओं के लिए छात्रों को ट्यूशन देने में प्रासंगिक अनुभव … कक्षा 6 वीं से 10 वीं के लिए कोचिंग संस्थान के लिए मैथ्स संकाय की आवश्यकता।  पूर्णकालिक रोजगार … छठी से 10 वीं कक्षा के लिए कोचिंग संस्थान के लिए मैथ्स संकाय की आवश्यकता।

 

No.Social MediaUrl
1.Facebookclick here
2.you tubeclick here
3.Twitterclick here
4.Instagramclick here
5.Linkedinclick here
6.Facebook Pageclick here

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *