Menu

What are Controversy in Education today in hindi

1.वर्तमान में शिक्षा में क्या विरोधाभास है का परिचय (Introduction to What Are Controversy in Education Today),शिक्षा में विरोधाभास का समाधान क्या है? का परिचय (Introduction to What is Solution to Controversy in Education):

  • वर्तमान में शिक्षा में क्या विरोधाभास है (What Are Controversy in Education Today)।वर्तमान शिक्षा में अनेक विरोधाभास देखने को मिलते हैं। सबसे प्रमुख विरोधाभास तो यही है कि हमें जो पढ़ाया जाता है अथवा शिक्षा प्रदान की जाती है वह हमारे आचरण का अंग नहीं बनती है। कारण स्पष्ट है शिक्षक और शिक्षक संस्थान बालक-बालिकाओं को केवल सैद्धांतिक शिक्षा प्रदान करते हैं। वे अपने जीवन में अर्जित की गई शिक्षा को आचरण में उतारते,पालन करते हैं या नहीं इससे उनको कोई लेना देना नहीं है।उनका उद्देश्य मात्र व्यावसायिक दृष्टिकोण है। शिक्षा को केवल वे व्यवसाय समझते हैं इससे देश का भला होने वाला नहीं है।
  • पाठ्यपुस्तकों में,शिक्षकों के भाषणों तथा विभिन्न शिक्षाविदों के कथनों में सुनने को यही मिलता है कि बालक-बालिकाओं का सर्वांगीण विकास करना चाहिए। परन्तु सर्वांगीण विकास शिक्षा को जीवन में उतारे बिना नहीं हो सकता है।जैसै हम पुस्तक में योगाभ्यास तथा ध्यान करने की पद्धति पढ़ लें और प्रैक्टिकल रूप से योगाभ्यास तथा ध्यान न करें तो उसका क्या महत्त्व है। ऐसी शिक्षा बकरी के गले में लटके हूए थन के समान है जिसमें से दूध नहीं निकल सकता है। इसी प्रकार पुस्तकीय विद्या का जब तक अभ्यास नहीं किया जाए तब उसका कोई महत्त्व नहीं है।
  • समाज सुधारक,माता-पिता,अभिभावक और शिक्षक एक दूसरे पर जिम्मेदारी डालकर अपना पल्ला झाड़ लेते हैं।
    कोई भी शिक्षा पद्धति तटस्थ होती है उसको सक्रिय करना तथा उपयोग में लाना हमारे हाथ है। शिक्षा पद्धति तो निर्जीव है वह आकर हमें नहीं कहेगी कि लो मुझे पढ़ लो और अपने जीवन में उतारो।शिक्षा पद्धति को दोषी ठहराया जाकर हम अपने दोषों को छिपाने का प्रयास करते हैं।लेकिन प्रबुद्ध व्यक्ति तथा समझदार यह भलीभाँति जानता है कि दोष शिक्षा पद्धति में नहीं बल्कि हमारे अन्दर है। हमारी इच्छाशक्ति में है,हमारी ढुलमुल नीति में है। इसीलिए शिक्षा का बंटाधार हो रहा है। राजनीतिक नेता उस मुद्दे पर ध्यान देते हैं जिससे उनको वोट मिल सके और सत्ता में बने रह सकें। शिक्षा में परिवर्तन से पहले हमें हमारी कार्यप्रणाली,हमारे सोचने के ढंग को परिवर्तित करना होगा।

2.वर्तमान में शिक्षा में क्या विरोधाभास है (What Are Controversy in Education Today):

  • इस वीडियो में शिक्षा में वर्तमान में जो विरोधाभास हैं उनके बारे में बताया गया है। सबसे प्रमुख विरोधाभास तो यह है कि हम कहते हैं कि बालक देश का भविष्य है। परन्तु उनका भविष्य निर्माण करने के बजाय हम उन्हें नौकरी प्राप्त करने की अन्धी दौड़ और गलाकाट प्रतिस्पर्धा में झौंक देते हैं। 
  • दूसरा विरोधाभास यह देखने को मिलता है कि हम यह तो चाहते हैं कि देश में सुचरित्रवान बालक-बालिकाएं पैदा हों परन्तु अपने घर में नहीं हो। क्योंकि सचरित्र व्यक्ति को दुख और कष्ट झेलने पड़ते हैं। जब बेईमान, कामचोर, झूँठ बोलने वाले, अय्याश तबियत के व्यक्ति मौज-मजा करते हुए देखे जाते हैं तो कोई क्यों अच्छा बनेगा। परन्तु यह अधूरा सच है। 

What Are Controversy in Education Today ||What is Solution to Controversy in Education 

 

via https://youtu.be/Wa0YjlVniqU

  • आपको यह जानकारी रोचक व ज्ञानवर्धक लगे तो अपने मित्रों के साथ इस Video को शेयर करें। यदि आप इस वेबसाइट पर पहली बार आए हैं तो वेबसाइट को फॉलो करें और ईमेल सब्सक्रिप्शन को भी फॉलो करें जिससे नए आर्टिकल का नोटिफिकेशन आपको मिल सके । यदि वीडियो पसन्द आए तो अपने मित्रों के साथ शेयर और लाईक करें जिससे वे भी लाभ उठाए । आपकी कोई समस्या हो या कोई सुझाव देना चाहते हैं तो कमेंट करके बताएं। इस वीडियो को पूरा देखें।
  • उपर्युक्त वीडियो में वर्तमान में शिक्षा में क्या विरोधाभास है (What Are Controversy in Education Today) के बारे में बताया गया है।
No. Social Media Url
1. Facebook click here
2. you tube click here
3. Instagram click here
4. Linkedin click here
5. Facebook Page click here
6. Twitter click here

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *