Menu

Qualities of Good Mathematics Teacher

Contents hide
2 2.अच्छे गणित शिक्षक के गुण का सारांश (Conclusion of Qualities of Good Mathematics Teacher)-

1.अच्छे गणित शिक्षक के गुण (Qualities of Good Mathematics Teacher)-

  • अच्छे गणित शिक्षक के गुणों (Qualities of Good Mathematics Teacher) का छात्र-छात्राओं के सीखने की क्रिया पर सकारात्मक प्रभाव पड़ता है।आधुनिक युग में छात्र-छात्राओं के सीखने के लिए पाठ्यपुस्तक,छात्र तथा अध्यापक तीनों का महत्त्वपूर्ण स्थान है।इनका अपना-अपना महत्त्व है।ये तीनों ही महत्त्वपूर्ण भूमिका निभाते हैं।सीखने में सर्वाधिक अध्यापक की महत्त्वपूर्ण भूमिका होती है क्योंकि अध्यापक ही छात्र-छात्राओं के सम्मुख पाठ्यपुस्तक की विषय सामग्री को प्रस्तुत करता है।यदि अध्यापक का व्यवहार छात्र-छात्राओं की भावनाओं को ध्यान में रखते हुए होता है तो छात्र-छात्राओं को अध्यापक तथा उसके पढ़ाने के तरीके से प्रेम होगा। छात्र-छात्राएं ऐसे अध्यापक से पढ़ने में आनंद की अनुभूति करेंगे।इससे पढ़ने की गति तीव्र होगी।
  • प्रत्येक विषय की अपनी-अपनी विशेषताएं होती है जिसको समझना उस विषय अध्यापक के लिए अनिवार्य तथा आवश्यक है।इस तरह विषय के अनुरूप प्रत्येक अध्यापक में कुछ ऐसे गुण होने चाहिए जिसके द्वारा एक सफल अध्यापक बन सके।प्रत्येक अध्यापक में कुछ ऐसी विशेषताएं होनी आवश्यक है जिसके बिना वह एक अच्छा अध्यापक नहीं कहला सकता है।उन विशेषताओं को सामान्य विशेषताएं (General Qualities) कहते हैं। इसका संबंध इस व्यवसाय (Profession) में काम करने वाले प्रत्येक व्यक्ति में होना अनिवार्य है।इन सामान्य विशेषताओं के अतिरिक्त विषय हेतु अध्यापक में कुछ विशेष तथा विशिष्ट गुण होने आवश्यक है।इस आर्टिकल में अच्छे गणित शिक्षक के गुणों (Qualities of Good Mathematics Teacher) का वर्णन किया गया है।
  • हालांकि इससे पूर्व भी आर्टिकल में अच्छे गणित शिक्षक के गुणों (Qualities of Good Mathematics Teacher) से संबंधित आर्टिकल्स पोस्ट कर चुके हैं।
  • आपको यह जानकारी रोचक व ज्ञानवर्धक लगे तो अपने मित्रों के साथ इस गणित के आर्टिकल को शेयर करें।यदि आप इस वेबसाइट पर पहली बार आए हैं तो वेबसाइट को फॉलो करें और ईमेल सब्सक्रिप्शन को भी फॉलो करें।जिससे नए आर्टिकल का नोटिफिकेशन आपको मिल सके ।यदि आर्टिकल पसन्द आए तो अपने मित्रों के साथ शेयर और लाईक करें जिससे वे भी लाभ उठाए ।आपकी कोई समस्या हो या कोई सुझाव देना चाहते हैं तो कमेंट करके बताएं।इस आर्टिकल को पूरा पढ़ें।

Also Read This Article-good mathematics teacher

  • अच्छे गणित शिक्षक के गुण (Qualities of Good Mathematics Teacher) के ये गुण निम्नलिखित है-

(1.)विषय का पूर्ण ज्ञाता होना चाहिए (Complete Knowledge of the Subject)-

  • किसी भी विषय के अध्यापक में यह गुण होना अति आवश्यक है कि वह अपने विषय में पूर्ण रुप से निपुण तथा पूर्ण जानकारी रखता हो।उसको अपने विषय पर इतना अधिकार हो कि वह बिना हिचक तथा संकोच के पाठ्य-पुस्तक (Subject Matter) को छात्र-छात्राओं के सम्मुख अच्छी तरह स्पष्ट कर सके।किसी भी विषय में पूर्ण अधिकार प्राप्त करने हेतु विषय का अध्ययन होना आवश्यक है।विषय में अधिकार तभी हो सकता हो सकता है जबकि अध्यापक विषय का विस्तृत (Extensive) अध्ययन करें तथा उसके बारे में समझे।
  • इसके साथ ही साथ गणित अध्यापक को अपने विषय का सही ज्ञान होना आवश्यक है।गणित को प्रभावी रूप से पढ़ाने के लिए अध्यापक को जीवन में गणित के प्रभाव का पूर्ण ज्ञान होना अनिवार्य है।गणित पढ़ाने के लिए अध्यापक को केवल गणित विषय का ज्ञान होना ही आवश्यक नहीं है बल्कि जीवन में गणित का प्रयोग जहां-जहां होता हो उसकी पूर्ण जानकारी भी होनी चाहिए।इस प्रकार के कार्यों में वस्तुओं का व्यापार,वस्तुओं का खरीदना,सट्टा (Speculation),ठेके में हिस्सा,रुपए का लेन-देन (Banking) आदि प्रमुख है जिनका जीवन से गहरा संबंध है।गणित में विद्वता तभी प्राप्त हो सकती है जबकि गणित के इतिहास की जानकारी तथा गणित सम्बन्धी समय-समय पर होने वाले अनुसंधान तथा खोज की जानकारी व ज्ञान हो।
  • कक्षा में गणित विषय को रोचक बनाने के लिए उसको जीवन से संबंधित करके छात्र-छात्राओं के सम्मुख प्रस्तुत करना चाहिए।अध्यापक को गणित पढ़ाते समय छात्र-छात्राओं की कठिनाइयों का बोध तभी हो सकता है जबकि उसको समय-समय पर होने वाली कठिनाइयों का ज्ञान हो जो मनुष्य जाति को प्रारंभिक से अब तक गणित के तथ्यों को प्राप्त करने में हुई थी।वह पूर्व ज्ञान अध्यापक की बड़ी भारी सहायता कर सकता है जिसके आधार पर छात्र-छात्राओं की गणित संबंधी कठिनाइयों का बोध होता है।इस तरह छात्र-छात्राओं की गणित संबंधी कठिनाइयों के समझने पर ही उनका निवारण संभव है।
  • उपर्युक्त ज्ञान के लिए अध्यापक को संपूर्ण ज्ञान होना चाहिए।गणित विषय में अब तक जो भी पुस्तकें लिखी गई हो उनको अध्यापक को अवश्य पढ़ लेना चाहिए।इसके अतिरिक्त गणित विषय में जो पत्र-पत्रिकाएं तथा नवीन खोज के पत्र छपें हों,उनका अध्ययन भी आवश्यक है।इस तरह नवीन ज्ञान की जानकारी होने पर अध्यापक अपने विषय की वास्तविक मांग की पूर्ति कर सकता है तथा विषय को आसानी से दूसरे लोगों के सम्मुख रख सकता है।इसके अतिरिक्त समय-समय पर गणित के विद्वानों के भाषणों का भी महत्त्व होता है।

(2.)शिक्षण विधियों के शिक्षण की आवश्यकता (Training of Teaching Methods)-

  • जैसा कि शिक्षण विधियों (Teaching Methods) का विभिन्न आर्टिकल्स में वर्णन किया गया है,उनका ज्ञान भी गणित अध्यापक को होना आवश्यक है।गणित के भिन्न-भिन्न उपविषयों (Topics) जैसे रेखागणित, बीजगणित, त्रिकोणमिति,ज्यामिति को पढ़ाने के लिए विभिन्न विधियों का प्रयोग किया जाता है इसलिए इनका ज्ञान गणित अध्यापक को होना जरूरी है।विषय का ज्ञान होते हुए भी गणित के अध्यापक को तभी सफलता प्राप्त हो सकती है जबकि विषय को प्रस्तुत करने का ढंग सहज और सरल हो।इसलिए गणित के अध्यापक को शिक्षण विधियों की पूर्ण व्यावहारिक शिक्षा ले लेनी चाहिए।

(3.)गणित अध्यापक को विषय के लिए उत्साहित होना चाहिए (Math Teacher should be Enthusiasm of his Subject)-

  • गणित के अध्यापक को केवल गणित का ज्ञान तथा विधियों का व्यावहारिक ज्ञान होना ही आवश्यक नहीं है बल्कि उसमें गणित को पढ़ाने के लिए उत्साह होना चाहिए।बिना उत्साह के वह गणित सफलतापूर्वक नहीं पढ़ा सकता है और न बालकों में विषय के प्रति रुचि तथा उत्साह उत्पन्न कर सकता है।बिना उत्साह के गणित बोझिल तथा नीरस लगती है।इस तरह गणित का एक सफल अध्यापक होने के लिए विषयों में उत्साह का होना आवश्यक है।

(4.)गणित क्लब की स्थापना (Establishment of Mathematics Club)-

  • गणित के इतिहास,गणित की नवीन विधियों तथा मनुष्य के जीवन में गणित की उपयोगिता आदि से बालकों में गणित के प्रति उत्पन्न होती है।इसके अतिरिक्त एक सफल गणित के अध्यापक को अपने शिक्षा संस्थान में गणित के क्लब (Mathematics Club) की स्थापना करनी चाहिए।इस क्लब में गणित से संबंधित समस्याओं (Problems) का समाधान किया जाता है और गणित के सिद्धांतों (Principles) के आधार पर नवीन उपकरणों को बनाया तथा गणित के नवीन चमत्कारों का ज्ञान प्राप्त किया जाता है।
  • इस प्रकार क्लब (Club) से प्रत्येक बालक को स्वयं कार्य करने के लिए प्रोत्साहन मिलता है तथा जिन तथ्यों (Facts) की जानकारी तथा हल कक्षा में नहीं हो सकते हैं उनको क्लब में आसानी से हल किया जा सकता है।इस तरह शिक्षा के सिद्धांत के अनुसार बालक क्लब में क्रियाशील रहता है और उसको विषय का वास्तविक ज्ञान प्राप्त हो जाता है।इसमें बालक अध्यापक के निकट संपर्क में रहता है जो कि उनके ज्ञान प्राप्त करने में सहायक है।

(5.)अध्यापक को सम्पूर्ण तैयारी करनी चाहिए (The Teacher Should do All the Preparation)-

  • अध्यापकों को यह बात ध्यान में रहनी चाहिए कि वह अपनी कक्षा में छात्र-छात्राओं का थोड़ा भी समय नष्ट न करें।जिस तरह बालकों का यह कर्तव्य है कि वे कक्षा में अध्यापक का समय नष्ट न करें।यदि अध्यापक चाहता है कि वह कक्षा में छात्र छात्राओं को अधिक से अधिक ज्ञान दें तो इसके लिए उसकी तैयारी संपूर्ण रूप में होनी चाहिए।यह सोचना भूल है कि गणित को प्रारम्भ से पढ़ाने वाले या छात्राध्यापक (Pupil Teacher) को ही गणित पढ़ाने के लिए तैयारी की आवश्यकता पड़ती है।गणित पढ़ाने वाले सभी अध्यापकों को चाहे वे कितने भी अनुभवी हों,तैयारी अवश्य करनी चाहिए।कभी-कभी कक्षा में इस तरह की समस्याएं (Problems) तथा कठिनाइयां आ जाती है जिनका हल करना कठिन प्रतीत होता है।इसके हल करने के लिए अध्यापक को संपूर्ण तैयारी करना आवश्यक होता है।यदि कठिनाइयों के निवारण हेतु कक्षा में ही समय दिया जाए तो कक्षा का अधिक समय नष्ट होता है।

(6.)प्रत्येक पाठ की तैयारी (Preparation for Each Lesson)-

  • प्रत्येक कालांश (Period) के लिए किसी एक सामान्य तैयारी से काम नहीं चलता है।प्रत्येक कालांश (Period) के लिए सामान्य तैयारी के अतिरिक्त एक विशेष (Specific) तैयारी की आवश्यकता पड़ती है।कोई अध्यापक अपने कार्य में सफल तभी हो सकता है जबकि वह प्रत्येक कालांश (Period) के लिए तथा विभिन्न कक्षाओं के लिए एक विशेष तैयारी करे तथा संपूर्ण तैयारी करें।
  • इस तरह गणित के अध्यापक में जिज्ञासु तथा खोज प्रवृत्ति होनी चाहिए।खोज विधि (Heuristic Method) द्वारा छात्र-छात्राओं को गणित पढ़ाए।प्रत्येक स्थिति में उसकी कक्षा के छात्र-छात्राओं को एक खोज करने वाले के स्थान में रखना चाहिए ताकि छात्र-छात्रा स्वयं अपने लिए नवीन ज्ञान की खोज करें।बिना उपयुक्त विधि को अपनाएं वह गणित का एक सफल अध्यापक नहीं हो सकता है।

2.अच्छे गणित शिक्षक के गुण का सारांश (Conclusion of Qualities of Good Mathematics Teacher)-

  • वर्तमान में गणित अध्यापकों की दशा बड़ी शोचनीय है। शिक्षा के क्षेत्र की वर्तमान आर्थिक एवं सामाजिक (Financial and Social) परिस्थितियों में कोई अपनी इच्छा से अध्यापक बनने को तैयार नहीं होता है।अन्य व्यवसायों में जब उसका चयन नहीं होता है तभी वह इस कार्य (अध्यापन व्यवसाय) को करने के लिए तैयार होता है।
  • सारे देश में ऐसे अध्यापकों की कमी है जो गणित विषय में पूर्ण ज्ञान रखते हो।इसका परिणाम यह होता है कि यह विषय उनको पहाड़ के समान दिखाई देने लगता है और उसकी रुचि (Interest) घट जाती है।
  • काफी ऐसे गणित के अध्यापक हैं जो गणित के विद्वान हैं परंतु वे विद्यार्थियों की कठिनाइयों से परिचित नहीं है।अतः वह अपना पूर्ण ज्ञान विद्यार्थियों तक पहुंचाने में बिल्कुल असमर्थ रहते हैं।कुछ ऐसे अध्यापक भी हैं जिनमें अध्यापक व्यवसाय की क्षमता है परंतु विषय ज्ञान का अभाव है।
  • गणित के प्रशिक्षित एवं सुयोग्य अध्यापक बड़े-बड़े नगरों के अतिरिक्त छोटे-छोटे नगरों में जाना पसंद ही नहीं करते।एक तो उनको वहां का वातावरण पसंद नहीं है और दूसरे उनको ट्यूशन नहीं मिल पाती हैं।

3.अच्छे गणित शिक्षक के गुणों में सुधार के सुझाव- (Tips for Improving the Qualities of Good Mathematics Teacher)-

  • गणित के ऐसे अध्यापकों की नियुक्ति करनी चाहिए जो अध्यापक वृत्ति में रुचि रखते हों।अरुचि रखने वाले तथा अध्यापक व्यवसाय को केवल व्यवसाय समझने वाले अध्यापकों की नियुक्ति नहीं करनी चाहिए।
  • पूरे वर्ष में एक बार करीब एक महीने के लिए प्रशिक्षण का आयोजन अथवा सेमिनार (Seminar) किया जाय।एक तो वहां पर माध्यमिक कक्षाओं के लिए गणित-अध्यापकों के लिए रिफ्रेसर कोर्स संयोजित किए जाएं।उनको नवीन शिक्षा-प्रणालियों,नवीन तकनीकी, ऑनलाइन ट्यूशन, ऑनलाइन कोचिंग,ऑनलाइन शिक्षण जैसी प्रणालियों से अवगत कराया जाए।
  • जो अध्यापक अभी तक प्रशिक्षित (Trained) नहीं है,उनके लिए प्रशिक्षण संस्थाओं में प्रशिक्षण का आयोजन करना चाहिए।
    सुयोग्य गणित-अध्यापक प्राप्त करने के लिए उनका वेतन (Pay-Scale) उनकी योग्यता के अनुसार दिया जाना चाहिए, जिससे अध्यापक-वर्ग ट्यूशन की तरफ ध्यान न देकर कक्षा में मेहनत के साथ पढ़ाए।
  • सरकार द्वारा समय-समय पर गणित सम्बन्धी इस प्रकार के आयोजन करने चाहिए जिससे अन्य देशों के गणितज्ञ और विद्वान उन अध्यापकों के सम्पर्क में आएं और वे अपनी उन्नति कर सकें।
  • उपर्युक्त विवरण में अच्छे गणित शिक्षक के गुण (Qualities of Good Mathematics Teacher) के बारे में बताया गया है।

Also Read This Article-Mathematics Teacher

अच्छे गणित शिक्षक के गुण (Qualities of Good Mathematics Teacher) के बारे में अक्सर पूछे जाने वाले प्रश्न-

प्रश्न:1.एक अच्छे शिक्षक के 10 गुण क्या हैं? (What are the 10 qualities of a good teacher?)

उत्तर-गणित का गहरा ज्ञान।हर महान गणित शिक्षक को गणित की व्यापक समझ होती है।
प्रबन्धन करना।सफल गणित शिक्षक छात्रों को उनके दृष्टिकोण का पालन करने के लिए मजबूर नहीं करते हैं।
अच्छा प्रेरक।महान गणित शिक्षकों को पता है कि छात्रों के अलग-अलग हित हैं।
लगातार सीखना।
देखभाल करना।
एक अच्छे गणित के शिक्षक से अपेक्षा की जाती है कि वह कड़ी मेहनत, आत्मविश्वास, धैर्य, दृढ़ इच्छा शक्ति, व्यवस्थित जैसी अच्छी आदतों का अधिकारी हो।

प्रश्न:2.एक अच्छा गणित शिक्षक बनने के लिए पांच महत्वपूर्ण विशेषताओं को लिखें (Write Five Important Characteristics to Become a Good Math Teacher)

उत्तर-छात्रों को उत्साहपूर्वक ग्रहणशील होने के लिए प्रेरित करना गणित के शिक्षा के सबसे महत्वपूर्ण पहलुओं और किसी भी पाठ्यक्रम का एक महत्वपूर्ण पहलू है।प्रभावी शिक्षक कम इच्छुक छात्रों के साथ-साथ प्रेरित लोगों पर ध्यान केंद्रित करते हैं।यह महत्त्वपूर्ण तकनीकें हैं-आंतरिक और बाह्य प्रेरणा पर आधारित- जिनका उपयोग गणित में माध्यमिक विद्यालय के छात्रों को प्रेरित करने के लिए किया जा सकता है।

प्रश्न:3.गणित शिक्षक होने के लिए आपको किन कौशल की आवश्यकता है? (What Skills do You Need to be a Math Teacher?)

उत्तर-गणित शिक्षकों के पास मजबूत गणित कौशल और ज्ञान होना चाहिए और अपने छात्रों को प्रभावी ढंग से गणित के सिद्धांतों को संवाद करने में सक्षम होना चाहिए।
गणित शिक्षक कौशल ·1.छात्र सीखना 2.कक्षा प्रबंधन 3.शिक्षण सामग्री 4.विशेष शिक्षा 5.छात्र रिकॉर्ड

प्रश्न:4.एक अच्छे शिक्षक के गुण क्या हैं? (What are the Qualities of a Good Teacher?)

उत्तर-एक अच्छे गणित शिक्षक में एक मूल्यवान गुण सक्रिय प्रबंधन है।एक तरह से फिजीकल कक्षा की स्थापना करना जो स्वाभाविक रूप से बहती है और छात्रों को उपयोग करने की अनुमति देती है।

प्रश्न:5.आप एक गणित शिक्षक का वर्णन कैसे करेंगे? (How Would You Describe a Maths Teacher?)

उत्तर-अक्सर शिक्षकों के गणित सीखने का तरीका वैचारिक रूप से अध्ययन किए बिना और गणित की सोच को विकसित न करके सूत्रों को याद करना है।
इसके बजाय वास्तविक में एक गणित शिक्षक को ऐसा होना चाहिए कि व्याख्यान की तैयारी के लिए सबसे अच्छा प्रयास करने के लिए तैयार रहें (हैंडआउट, प्रैक्टिस सेट, आदि की तैयारी)।

प्रश्न:6.एक सक्षम गणित शिक्षक क्या है? (What is a Competent Mathematics Teacher)-

उत्तर-इस प्रश्न का उत्तर का सामान्य हिस्सा आसान है: एक सक्षम गणित शिक्षक वह है जो एक प्रभावी और कुशल तरीके से अपने छात्रों को गणितीय दक्षताओं के निर्माण और विकास में मदद करने में सक्षम है।

प्रश्न:7.गणित शिक्षक के सामान्य गुण (General Qualities of Mathematics Teacher)

उत्तर-गणित शिक्षक
गणित शिक्षक की योग्यता और कौशल:
विषय की महारत:
विषय में रुचि:
पेशे में रुचि:
संसाधनशीलता:
धैर्य और सहनशीलता:
उचित आदतें और दृष्टिकोण:
गणित के अनुप्रयोग का ज्ञान

प्रश्न:8.एक गणित शिक्षक के कर्तव्य और जिम्मेदारियां (Duties and Responsibilities of a Mathematics Teacher)

उत्तर-गणित शिक्षक जिम्मेदारियाँ:
छात्रों की समझ और गणितीय अवधारणाओं के अनुप्रयोग की सुविधा के लिए पाठों की योजना बनाना और प्रस्तुत करना। नोट्स, असाइनमेंट और क्विज़ जैसी शिक्षण सामग्री तैयार करना और वितरित करना।सबक के लिए आवश्यक संसाधनों और आपूर्ति की सोर्सिंग।

प्रश्न:9.गणित शिक्षक की व्यावसायिक दक्षताएँ (Professional Competencies of Mathematics Teacher)

उत्तर-एक अच्छे गणित के शिक्षक को निम्नलिखित 5 किस्सों में से सभी पर अच्छा प्रदर्शन करना चाहिए: (1) शिक्षण के अभ्यास में आवश्यक मुख्य ज्ञान की अवधारणात्मक समझ (2) बुनियादी अनुदेशात्मक दिनचर्या (3) प्रभावी निर्देश की योजना बनाने और समस्याओं को हल करने में रणनीतिक क्षमता।
उपर्युक्त प्रश्नों के उत्तर के द्वारा अच्छे गणित शिक्षक के गुण (Qualities of Good Mathematics Teacher) को समझ सकते हैं।

No.Social MediaUrl
1.Facebookclick here
2.you tubeclick here
3.Instagramclick here
4.Linkedinclick here
5.Facebook Pageclick here

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *