Menu

How to increase your ability to study?

1.अपनी पढ़ाई करने की क्षमता को कैसे बढ़ाएं ?(How to increase your ability to study?)-

  • आज हम एक महत्वपूर्ण टॉपिक पर बात करेंगे जो की पढ़ाई करने की क्षमता को बढ़ाने के लिए (to increase your ability to study) हैं।
  • अपनी पढ़ाई करने की क्षमता बढ़ाने के लिए(to increase your ability to study) कुछ खास टिप्स को फॉलो करना होगा।आप अपनी पढ़ाई करने की कार्यशैली तथा तरीकों में छोटे-छोटे बदलाव करके अद्भुत लाभ प्राप्त कर सकते हैं।
  • साथ ही कम समय में बहुत बेहतर परिणाम प्राप्त कर सकते हैं। ज्यों-ज्यों परीक्षा नजदीक आती जाती है त्यों-त्यों परीक्षा के सिलेबस को पूरा करना तथा उसकी पुनरावृत्ति करने के कारण पढ़ाई करने के समय को बढ़ाना पड़ता है।
  • किसी भी इंजीनियरिंग की प्रवेश परीक्षा,एसएससी सीजीएल, बैंकिंग पीओ,आरएएस तथा आईएएस जैसी प्रतियोगिता परीक्षा में कड़ी प्रतिस्पर्धा का सामना करना पड़ता है।
  • इसलिए परीक्षा की तैयारी के लिए 12 से 15 घंटों तक पढ़ाई करना पड़ता है जिससे अभ्यर्थी तनावग्रस्त हो जाता है। तनाव, चिंता तथा लम्बे समय तक अध्ययन करने के कारण छात्र अपना ध्यान एकाग्र नहीं रख पाते हैं।
  • इसलिए अपनी पढ़ाई करने की क्षमता बढ़ाने के लिए ( to increase your ability to study) कुछ खास तरीकों पर अमल करें।
  • आपको यह जानकारी रोचक व ज्ञानवर्धक लगे तो अपने मित्रों के साथ इस गणित के आर्टिकल को शेयर करें ।यदि आप इस वेबसाइट पर पहली बार आए हैं तो वेबसाइट को फॉलो करें और ईमेल सब्सक्रिप्शन को भी फॉलो करें जिससे नए आर्टिकल का नोटिफिकेशन आपको मिल सके ।यदि आर्टिकल पसन्द आए तो अपने मित्रों के साथ शेयर और लाईक करें जिससे वे भी लाभ उठाए ।आपकी कोई समस्या हो या कोई सुझाव देना चाहते हैं तो कमेंट करके बताएं। इस आर्टिकल को पूरा पढ़ें।

2.अपनी पढ़ाई करने की क्षमता को बढ़ाने के लिए रात को सोते समय अगले दिन की कार्ययोजना बनाएं (to increase your ability to study, make a plan for the next day at bedtime)-

  • छात्र-छात्राएं रात को सोकर सुबह जल्दी उठ जाते हैं तथा नित्यकर्मों से निवृत्त होकर स्कूल चले जाते हैं।इसी प्रकार कई व्यक्ति जो पहले ही नौकरी करने वाले हैं वे अपने आफिस चले जाते हैं।
  • इस प्रकार आप बिना योजना के ही अधययन करते हैं तो आपको ज्यादा कुछ हासिल नहीं होगा।यदि आपकी परीक्षा में पूरा एक साल बाकी है तो पूरे साल की योजना दस-पन्द्रह दिन में बना लेनी चाहिए।
  • हर अगले दिन की योजना रात को सोते समय दस-पन्द्रह मिनट में बना लेनी चाहिए और उसे किसी नोटबुक में लिख लेना चाहिए।अगले दिन उस योजना का पालन करें।रात को सोते समय दिनभर की योजना का मूल्यांकन करें।
  • आपसे जो गलती हुई है उसका सुधार कैसे करें इस बात पर भी गौर करें। अगले दिन योजना को लागू करते समय पिछले दिन जो त्रुटि हुई है उसमें सुधार करें।आप द्वारा अगले दिन जो योजना बनाई गई है उस लक्ष्य को आप हासिल कर पा रहे हैं या नहीं।
  • यदि बहुत कोशिश करने पर भी चलना सम्भव नहीं है तो उसमें बदलाव कर लें।इस प्रकार पढ़ाई करने की क्षमता बढ़ावा ( to increase your ability to study) मिलता  हैं।

Also Read This Article:-Best 8 tips to improve your memory

3.अध्ययन अवधि के दौरान ब्रेक लें (Take a break during the study period)-

  • पढ़ाई करते समय कई अभ्यर्थी लगातार पढ़ते हैं लेकिन कई अभ्यर्थियों द्वारा लगातार कई-कई घंटे पढ़ना सम्भव नहीं होता है। इसलिए अपनी क्षमता के अनुसार दो घंटे,तीन घंटे या चार घंटे बाद 5-10 मिनट का ब्रेक लें।
  • ब्रेक के दौरान कोई मनोरंजन करें जिससे आपका दिमाग रिफ्रेश हो जाए। लगातार 5-6 घंटे अथवा ज्यादा समय तक बिना ब्रेक अध्ययन करने पर तनाव हावी हो जाता है।दूसरा नुकसान यह है कि ज्यादा लम्बे समय तक अध्ययन करने पर पढ़ा हुआ याद नहीं रहता है।
  • इसलिए अपने पढ़ाई करने की क्षमता को बढ़ाने के लिए (to increase your ability to study) बीच-बीच में ब्रेक अवश्य लें।

4.ध्यान व योग का महत्त्व (Importance of meditation and yoga)-

  • परीक्षा आते ही विद्यार्थी पर पूरे साल का पाठ्यक्रम को पढ़ने व याद करने का दबाव पड़ता है।परीक्षा का डर, तनाव व चिंता के कारण दिमाग की स्मरण शक्ति कम हो जाती है।
  • ऐसी स्थिति में कुछ ऐसे तरीके अपनाने की जरूरत है जिनकी मदद से दिमाग को शांत रखते हुए उसकी कार्य क्षमता बढ़ाई जा सके ।इसके लिए सबसे सरल व महत्त्वपूर्ण प्रकिया है ध्यान व योग।चाय,काॅफी और फास्टफूड खाने से बचें।
  • इनके स्थान पर संतुलित भोजन लें।ड्राई फ्रूट्स,फल व दूध का सेवन ज्यादा फायदेमंद रहता है। इसलिए अपनी पढ़ाई करने की क्षमता को बढ़ाने के लिए (to increase your ability to study) ध्यान व योग करें।

Also Read This Article:-What are 7 benefits of reading books?

5.ध्यान व योग करें (Meditate and do yoga)-

  • कहावत है कि स्वस्थ शरीर में ही स्वस्थ मन का निवास होता है। ध्यान व योग करने से पढ़ाई करने की क्षमता कई गुना हो जाती है। ध्यान व योग करने से शरीर स्वस्थ रहता है। ध्यान करने से मन एकाग्र होता है।
  • यदि आप योगासन नहीं करना चाहते हैं तो इसके स्थान पर वाकिंग, दौड़ लगाना जैसे व्यायाम कर सकते हैं। ध्यान व योग का प्रभाव सीधे आपके मन पर पड़ता है।मन इधर-उधर नहीं भटकता है।शरीर में आलस्य नहीं आता है तथा दिनभर चुस्ती रहती है।
    ध्यान व योग एक ऐसी प्रक्रिया है जिसका रोजाना अभ्यास करने पर दिमाग की शक्ति और ऊर्जा तो बढ़ती ही है साथ ही व्यक्ति मानसिक रूप से मजबूत होता है जिससे वह हर कठिन समस्या को हल करने में समर्थ होता है।
  • ध्यान व योग के द्वारा व्यक्ति में अद्भुत सुधार होता है।ध्यान से हमारे मस्तिष्क की विभाजित ऊर्जा को एकाग्र करने में सहायता मिलती है।इससे पढ़ाई करने की क्षमता को बढ़ावा (to increase your ability to study) भी मिलता है।
  • दिनभर के कार्यकलापों तथा सांसारिक प्रपंचों के कारण हमारे मस्तिष्क में विचारों की भिन्न-भिन्न दिशाओं में क्रियाशीलता बंटी हुई रहती है।ध्यान के द्वारा इन विचारों की श्रृंखला को एकाग्र करने में मदद मिलती है।ध्यान के द्वारा हमारा मन एकाग्र हो जाता है।
  • जब हम मन की पूर्ण क्षमता अर्थात् एकाग्र होकर अध्ययन करते हैं तो पढ़ा हुआ लंबे समय तक तथा स्थाई रूप से याद रहता है। इस प्रकार पढ़ाई करने की क्षमता को बढ़ाने के लिए (to increase your ability to study) यह उपयोगी होता है |
  • प्रातः काल शौच आदि से निवृत्त होकर सुखासन में बैठकर ध्यान करें।मन को भोहों के मध्य अर्थात भ्रूमध्य मेंं ( जिसे आज्ञा चक्र भी कहते हैं) एकाग्र करने का अभ्यास करें। आज्ञा चक्र में ज्योति स्वरूप प्रकाश की कल्पना करें और एकटक उस पर ध्यान लगाएं।
  • किसी दीपक की ज्योति अथवा सूर्य के प्रकाश का भी ध्यान कर सकते हैं अथवा अपने इष्ट देव का ध्यान कर सकते हैं। प्रारंभ में मन इधर-उधर भटकता है तथा एकाग्र नहीं हो पाता है लेकिन धीरे-धीरे अभ्यास करने से मन एकाग्र होने लगता है तथा एकाग्रता सधने लगती है।
  • एकाग्रता तथा ध्यान से आपकी स्मरण शक्ति बढ़ती है तथा याद किया हुआ लंबे समय तक स्थाई रहता है।

6.आप योगासन-प्राणायाम करें (you do yoga asana-pranayama)-

  • यह बात आवश्यक रूप से जान लें कि स्वस्थ शरीर में ही स्वस्थ मस्तिष्क निवास करता है। शारीरिक कसरत हमारी मस्तिष्क की क्षमता को प्रभावित करती है। शारीरिक कसरत में योगासन-प्राणायाम सबसे अच्छा व प्रभावी तरीका है।
  • छात्रों को बॉडी बिल्डर बनना नहीं है इसलिए कठोर कसरत न करने के बजाय योगासन-प्राणायाम सरल व सुलभ तरीका है जिससे शरीर स्वस्थ रहता है। मस्तिष्क पर की गई रिसर्च में यह बात सामने आई है कि योगासन-प्राणायाम से मस्तिष्क में नए न्यूरॉन सेल की उत्पत्ति होती है।
  • ये न्यूराॅन सेल मस्तिष्क में सूचना का आदान-प्रदान और विश्लेषण करते हैं जिससे याददाश्त व मस्तिष्क की क्षमता में सुधार होता है।कसरत से न्यूरोट्रांसमीटर नाम के रसायन के रिसाव में तेजी आती है।
  • ये रसायन तंत्रिका कोशिकाओं के बीच सिग्नल का आदान प्रदान करते हैं।इसलिए कसरत व योगासन-प्राणायाम के इन फायदों को जानते हुए मस्तिष्क की क्रियाशीलता को बढ़ाने के लिए शारीरिक एक्सरसाइज जरूर करें।
  • योगासन-प्राणायाम के अलावा आप वाकिंग, स्विमिंग,डासिंग इत्यादि कर सकते हैं। इस प्रकार अपनी पढ़ाई करने की क्षमता बढ़ाने के लिए(to increase your ability to study) योगासन-प्राणायाम करें। यह पढ़ाई करने की क्षमता बढ़ाने के लिए(to increase your ability to studyबहुत जरूरी हैं।


7.अध्ययन करने का तरीका (Way to study)-

  • सामान्यतः रात को दस बजे सोकर सुबह चार बजे उठ जाना चाहिए।यानि छ: घण्टे की नींद पर्याप्त होती है। लेकिन कुछ अभ्यर्थियों का तर्क होता है कि वे रात को देर तक पढ़ने और सुबह जल्दी उठने के बावजूद सिलेबस को पूरा नहीं कर पाते हैं।
    यदि ऐसी स्थिति है तो उन्हें अपने अध्ययन करने के तरीके में बदलाव करना चाहिए। उन्हें अपने नोट्स पर ही निर्भर नहीं रहना चाहिए।बल्कि यूट्यूब वीडियो,किसी अच्छी वेबसाइट पर आर्टिकल पढ़ना चाहिए।
  • इसके अलावा मोबाइल फोन पर कई ऐसी ऐप्लुकेशन होती है जिन पर आप चित्र वगैरह बना कर सेव कर सकते हैं तथा जब चाहे उन्हें पढ़ सकते हैं।
    अत्यधिक पुस्तकें न पढ़कर किसी विषय की दो पुस्तकें पढ़ना पर्याप्त होती है।
  • इसके अलावा प्रतियोगिता मासिक पत्रिकाओं के आधार पर नोट्स तैयार कर लें। रोजाना आनलाईन न्यूज पढ़े अथवा अखबार पढ़ लें। अपनी परीक्षा से संबंधित बातों को नोटबुक में लिख लें।
  • इस प्रकार अपनी पढ़ाई करने की क्षमता को बढ़ाने के लिए ( to increase your ability to study) बदलाव करने से बेहतर परिणाम प्राप्त कर सकते हैं।

8.निष्कर्ष (Conclusion)-

  • आप चाहें बोर्ड परीक्षा, ग्रेजुएशन परीक्षा या काम्पीटिशन परीक्षा की तैयारी कर रहे हों तो ऊपर दिए गए तरीकों से आप अच्छे परिणाम प्राप्त कर सकते हैं।
  • शुरू-शुरू में अमल करने पर आपको कई प्रकार की परेशानियों का सामना करना पड़ सकता है परन्तु धीरे-धीरे इन टेक्नीक्स का प्रयोग करने पर आप अभ्यस्त हो जाएंगे। इनमें सबसे महत्त्वपूर्ण टिप्स है ध्यान व योग करना। अपनी पढ़ाई करने की क्षमता को बढ़ाने के लिए (to increase your ability to study) इन टिप्स का पालन करें और बेहतर परिणाम प्राप्त करें।
  • ऊपरोक्त उपायों से पढ़ाई करने की क्षमता को बढ़ाने (to increase your ability to study) मे एक सकारात्मक भूमिका उत्पन्न होती है |

No. Social Media Url
1. Facebook click here
2. you tube click here
3. Twitter click here
4. Instagram click here
5. Linkedin click here
6. Facebook Page click here

No Responses

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *