Menu

Mathematician Sourav Chatterjee

1.गणितज्ञ सौरव चटर्जी का परिचय (Introduction to Mathematician Sourav Chatterjee)-

  • गणितज्ञ सौरव चटर्जी (Mathematician Sourav Chatterjee) सांख्यिकी और प्रायिकता के सिद्धांत के लिए जाने जाते हैं।उन्होंने सांख्यिकी में उल्लेखनीय कार्य किया है।
  • उन्होंने राष्ट्रीय तथा अंतर्राष्ट्रीय स्तर के कई विख्यात संस्थाओं में कार्य करके अपने विशिष्ट योगदान से संस्थाओं का गौरव बढ़ाया है।
  • महान् व्यक्तित्व की यही खासियत होती है कि उनको परिवार,देश,समाज के बंधन नहीं बांध सकते हैं।वे अपना योगदान संपूर्ण मानव जाति के लिए करते हैं।
  • गणितज्ञ सौरव चटर्जी (Mathematician Sourav Chatterjee) ने भी यही किया है ,उनको जहां भी मौका मिला वहां अपना विशेष योगदान दिया है।चाहे वह राष्ट्रीय संस्था अथवा अंतर्राष्ट्रीय संस्था हो।
  • विभिन्न पदों पर असामान्य कार्यों के लिए उन्हें राष्ट्रीय तथा अंतर्राष्ट्रीय पुरस्कार मिल चुके हैं।
  • सामान्य व्यक्ति जब ऐसे व्यक्तित्व के कार्यों को देखता है तो उसे आश्चर्य होता है तथा यह सोचता है कि उनमें विशिष्ट प्रतिभा है इसलिए वे इतना उत्कृष्ट कार्य कर पाते हैं।
    वस्तुतः प्रतिभा सभी में होती है परंतु कुछ व्यक्तित्व शुरू से ही अपनी प्रतिभा को पहचान कर उसे सही दिशा में निखारने तथा उभारने में लगे रहते हैं।उनका रात-दिन एक ही ध्येय होता है कि कुछ विशिष्ट कार्य करना।
  • साधारण व्यक्ति अपने समय को खाने-पीने, घूमने तथा मौज मजा करने में व्यतीत कर देते हैं और फिर यह सोचते हैं कि उन्हें दैनिक जीवन की आवश्यकताओं की पूर्ति करने से ही समय नहीं मिलता है।
  • हर व्यक्ति को समान समय मिलता है परंतु साधारण व्यक्ति अपने समय को रोजमर्रा के कार्यों में व्यतीत कर देता है जबकि विशिष्ट व्यक्तित्व हमेशा अपने कार्य को नई ऊंचाइयों तक ले जाने में व्यतीत करता रहता है।
  • गणितज्ञ सौरव चटर्जी (Mathematician Sourav Chatterjee) ने इस बात को पहचान करके अपना सारा ध्यान प्रायिकता के सिद्धांतों में नई-नई बातें खोजने में लगाया।
  • उन्होंने यादृच्छिक संरचनाओं,कंसंट्रेशन और सुपर-कंसंट्रेशन असमिकाओं,पाॅइसन और अन्य असामान्य सीमाओं में उतार-चढ़ाव का अध्ययन करने,फर्स्ट पैसेज परकोलेशन,स्टीन की विधि और स्पिन ग्लासेज पर कार्य किया है।
    इतना उत्कृष्ट कार्य करने के कारण ही कई राष्ट्रीय तथा अंतर्राष्ट्रीय सम्मान मिल चुके हैं जिनका वर्णन नीचे आर्टिकल में किया गया है।
  • छात्र-छात्राओं विशेषकर गणित के छात्र छात्राओं को ऐसे महान व्यक्तित्व के बारे में जानने की जिज्ञासा रखनी चाहिए। माता-पिता व शिक्षकों को भी अपने बच्चों को जानकारी देनी चाहिए।
  • महान व्यक्ति के व्यक्तित्व और कृतित्व से जब बालक-बालिकाएं परिचित होते हैं तो उन्हें प्रेरणा मिलती है। साथ ही वे यह भी जान पाते हैं कि किस प्रकार की कार्यप्रणाली उन्होंने अपनायी जिसके कारण वे आगे से आगे बढ़ते रहें।
  • वस्तुतः आजकल के छात्र-छात्राओं को इस प्रकार की जानकारी नहीं दी जाती है जिससे उन्हें आगे बढ़ने के तौर-तरीके नहीं मालूम होते हैं।
    राष्ट्रीय तथा अंतर्राष्ट्रीय स्तर पर प्रतिभाओं का उभर कर न आ पाने में यह भी एक कारण है।
  • हम गणित के छात्र-छात्राओं को ऐसे व्यक्तित्व का एक आलेख समय-समय पर इसीलिए पोस्ट करते हैं जिससे उन्हें प्रेरणा मिल सके।
  • गणितज्ञ सौरव चटर्जी (Mathematician Sourav Chatterjee) के जीवन से भी यह प्रेरणा ग्रहण कर सकते हैं कि विषय के प्रति समर्पण, समय का सदुपयोग,अपनी धुन में लगे रहना तथा अवसर का पूरा-पूरा फायदा उठाना जैसे कई गुणों को सीख सकते हैं।
  • महान् व्यक्तित्व किसी एक गुण के कारण नहीं बल्कि कई गुणों का जोड़ होता है। इसलिए हमें अपनी प्रतिभा को पहचानकर उसे सही दिशा में बढ़ाना चाहिए।

2.गणितज्ञ सौरव चटर्जी (Mathematician Sourav Chatterjee)-

  • सौरव चटर्जी (जन्म 1979 नवंबर)  एक गणितज्ञ हैं,जो सांख्यिकी और संभाव्यता सिद्धांत के विशेषज्ञ हैं।चटर्जी को यादृच्छिक संरचनाओं,कन्सनट्रेशन और सुपर-कन्सनट्रेशन असमिकाओं, पॉइसन और अन्य असामान्य सीमाओं में उतार-चढ़ाव के अध्ययन ,फर्स्ट पैसेज परकोलेशन (first-passage percolation),स्टीन की विधि और स्पिन ग्लासेज पर काम करने का श्रेय दिया जाता है।उन्हें गणित में स्लोअन फेलोशिप,ट्वीडे अवार्ड, रोलो डेविडसन पुरस्कार,डोबलिन पुरस्कार,लोवेव पुरस्कार और गणितीय विज्ञान में इन्फोसिस पुरस्कार सहित कई प्रतिष्ठित पुरस्कार मिले हैं।वह 2014 में अंतर्राष्ट्रीय कांग्रेस के गणितज्ञों में एक आमंत्रित वक्ता थे।

(1.)गणितज्ञ सौरव चटर्जी का संक्षिप्त परिचय (Brief Introduction of Mathematician Sourav Chatterjee)सौरव चटर्जी की आयु (Sourav Chatterjee Age)-

  • जन्म-नवंबर 1979 (उम्र 41) कोलकाता
    राष्ट्रीयता-भारतीय
    मातृ संस्था-भारतीय सांख्यिकी संस्थान
    बेचलर ऑफ स्टेस्टिक्स  (2000) मास्टर ऑफ स्टेस्टिक्स (2002)
    स्टैनफोर्ड यूनिवर्सिटी-पीएचडी।  (2005)
    पुरस्कार-स्लोन रिसर्च फेलोशिप (2007)
    रोलो डेविडसन पुरस्कार (2010)
    डोबलिन पुरस्कार (2012)
    लोवेव पुरस्कार (2013)
    इन्फोसिस पुरस्कार (2020)
    वैज्ञानिक कैरियर
    फील्ड्स-गणित
  • संस्थानों-स्टैनफोर्ड यूनिवर्सिटी (Stanford University ,USA)
    बर्कले में कैलिफोर्निया विश्वविद्यालय (California University ,USA)
    न्यूयॉर्क विश्वविद्यालय (गणितीय विज्ञान के कोर्टेंट संस्थान)
    डॉक्टरल सलाहकार-फारसी डायकोनिस
  • आपको यह जानकारी रोचक व ज्ञानवर्धक लगे तो अपने मित्रों के साथ इस गणित के आर्टिकल को शेयर करें।यदि आप इस वेबसाइट पर पहली बार आए हैं तो वेबसाइट को फॉलो करें और ईमेल सब्सक्रिप्शन को भी फॉलो करें।जिससे नए आर्टिकल का नोटिफिकेशन आपको मिल सके ।यदि आर्टिकल पसन्द आए तो अपने मित्रों के साथ शेयर और लाईक करें जिससे वे भी लाभ उठाए ।आपकी कोई समस्या हो या कोई सुझाव देना चाहते हैं तो कमेंट करके बताएं।इस आर्टिकल को पूरा पढ़ें।

Also Read This Article-Mathematician Harish Chandra

(2.)गणितज्ञ सौरव चटर्जी का कैरियर (Career of Mathematician Sourav Chatterjee)-

  • चटर्जी को भारतीय सांख्यिकी संस्थान,कोलकाता से एक स्नातक और मास्टर ऑफ स्टैटिस्टिक्स और 2005 में स्टैनफोर्ड विश्वविद्यालय से पीएचडी की उपाधि प्राप्त हुई, जहाँ उन्होंने फारसी डायकोनिस की देखरेख में काम किया।चटर्जी ने कैलिफोर्निया विश्वविद्यालय,बर्कले में विजिटिंग असिस्टेंट प्रोफेसर के रूप में दाखिला लिया,फिर 2006 में कार्यकाल-ट्रैक सहायक प्रोफेसर पद प्राप्त किया।जुलाई 2009 में वे कैलिफोर्निया विश्वविद्यालय,बर्कले में सांख्यिकी और गणित के एसोसिएट प्रोफेसर बने।फिर सितंबर 2009 में,चटर्जी कोर्टयंट इंस्टीट्यूट ऑफ मैथमेटिकल साइंसेज, न्यूयॉर्क विश्वविद्यालय में गणित के एसोसिएट प्रोफेसर बन गए।उन्होंने स्टैनफोर्ड विश्वविद्यालय में गणित और सांख्यिकी के विजिटिंग एसोसिएट प्रोफेसर के रूप में शैक्षणिक वर्ष 2012-2013 बिताया।2013 की शरद ऋतु के बाद से वह गणित और सांख्यिकी विभाग में संयुक्त नियुक्तियों के साथ एक पूर्ण प्रोफेसर के रूप में स्टैनफोर्ड विश्वविद्यालय के संकाय में शामिल हो गए।
  • उन्होंने एनल्स ऑफ प्रोबेबिलिटी, एनलिस डे ल इंस्टिच्यूट हेनरी पॉइंकेयर (बी) प्रोबिटीबिलिटीज एट स्टैटिस्टिक्स, “प्रोबेबिलिटी थ्योरी और संबंधित फील्ड्स” के एसोसिएट एडिटर के रूप में काम किया है।वह वर्तमान में गणितीय भौतिकी में संचार के संपादक के रूप में कार्य करता है।

(3.)गणितज्ञ सौरव चटर्जी की उपलब्धियां (Achievements of Mathematician Sourav Chatterjee)-

  • 2008 ट्वीडी न्यू रिसर्च अवार्ड,गणितीय सांख्यिकी संस्थान से।
    गणित में फेलो रिसर्च फैलोशिप, 2007-2009।
    रोलो डेविडसन पुरस्कार 2010।
    IMS मेडेलियन लेक्चर, 2012.
  • इनएगयूरल वुल्फगैंग डोबलिन पुरस्कार प्रोबेबिलिटी, 2012 में।
    2013 में लोवेव पुरस्कार।
    ICM टाॅक (Talk) के लिए आमंत्रित, 2014.
    इन्फोसिस पुरस्कार 2020।

    उपर्युक्त विवरण में गणितज्ञ सौरव चटर्जी (Mathematician Sourav Chatterjee) के बारे में बताया गया है।

Also Read This Article-Mathematician Satyendra Nath Bose

No.Social MediaUrl
1.Facebookclick here
2.you tubeclick here
3.Instagramclick here
4.Linkedinclick here
5.Facebook Pageclick here

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *