Menu

How to succeed in career?

How to succeed in career?

1.केरियर में सफलता कैसे हासिल करें?(How to succeed in career?)-

How to succeed in career?

How to succeed in career?

केरियर में सफलता कैसे हासिल करें(How to succeed in career?) यह  हर विद्यार्थी जानना चाहता है लेकिन एक स्पष्ट रणनीति ना होने के कारण सफलता नहीं मिल पाती है।एक सही केरियर योजना से आपको सफलता मिलने के अवसर बढ़ जाते हैं।कैरियर में सफलता के लिए विद्यार्थी की दिशा सही होने के साथ-साथ उसमें दूर दृष्टि भी होनी चाहिए। योजना,सही दिशा और दूरदृष्टि का केरियर की सफलता में अहम भूमिका और योगदान होता है। इस आर्टिकल में हम आपको बताएंगे कि कैरियर में सफलता के लिए किन-किन बातों पर ध्यान रखना चाहिए और उनका पालन करना चाहिए।कई युवा अपनी स्पष्ट रणनीति और उनका अभाव में भटक जाते हैं,उनको आगे कोई रास्ता नजर नहीं आता है कि क्या करें क्या न करें?

आपको यह जानकारी रोचक व ज्ञानवर्धक लगे तो अपने मित्रों के साथ इस गणित के आर्टिकल को शेयर करें ।यदि आप इस वेबसाइट पर पहली बार आए हैं तो वेबसाइट को फॉलो करें और ईमेल सब्सक्रिप्शन को भी फॉलो करें जिससे नए आर्टिकल का नोटिफिकेशन आपको मिल सके ।यदि आर्टिकल पसन्द आए तो अपने मित्रों के साथ शेयर और लाईक करें जिससे वे भी लाभ उठाए ।आपकी कोई समस्या हो या कोई सुझाव देना चाहते हैं तो कमेंट करके बताएं। इस आर्टिकल को पूरा पढ़ें।

2.कैरियर में दूरदृष्टि की भूमिका(Role of vision in career)-

यदि आपमें दूरदृष्टि है तो आपको एक सही कैरियर में सफलता की ओर तेजी से बढ़ने का मौका मिलता है।दूरदृष्टि से तात्पर्य है कि आप अपने कैरियर में आगे 10-15 साल तक की सोच रखकर फैसले और निर्णय लेते हैं तो उससे सफलता के चांस बढ़ जाते हैं। आज के समय में कोई भी मनुष्य तथा विद्यार्थी कैरियर के मामले में किसी तरह का समझौता नहीं करना चाहता हैं।लोग20-30 साल आगे की सोच लेकर चलते हैं। जहां तक महिलाओं का प्रश्न है तो महिलाओं पर दोहरी भूमिका होती है।महिलाओं का घर-गृहस्थी का कार्य भी सम्हालना होता है।घर-गृहस्ती की जिम्मेदारी से महिलाएं बच नहीं सकती है।घर-गृहस्थी का कार्य उन्हें उठाना ही पड़ता है।ऐसी स्थिति में व्यक्तिगत जीवन और व्यावसायिक जीवन में सही तालमेल और सामंजस्य बिठाना एक बहुत बड़ी चुनौती होती है।इसे मैनेज करने की स्थिति में रास्ते ओर आसान हो जाते हैं।इसलिए कैरियर प्लानिंग के स्मार्ट तरीकों से परिचित होना चाहिए।ये तरीके काफी लाभदायक सिद्ध हो सकते हैं।इनके जरिए अपने लक्ष्य को आसानी से प्राप्त किया जा सकता है।केरियर में सफलता कैसे हासिल करें(How to succeed in career?) की यह पहली टिप्स है ।

Also Read This Article-keep these things in mind,choosing a course after 12th

3.अपना लक्ष्य निश्चित करें(Set your goal)-

जीवन के चाहे छोटे कार्य हों या बड़े कार्य हों,जब तक आप अपना लक्ष्य निर्धारित नहीं करेंगे तब तक कुछ भी करना मुश्किल है।अपना लक्ष्य तय नहीं करना एक तरह से अंधेरे में तीर चलाना है जो कहीं भी लग सकता है। यदि आप अपना लक्ष्य तय कर लेते हैं तो निशाना लगाना आसान हो जाता है।आपको पता है कि आपका लक्ष्य क्या है और उस तक कैसे पहुंचना है? यदि लक्ष्य ही तय न हो तो किस दिशा में,किस गति,किस ढंग से चलना है, कार्य करना है यह आप तय ही नहीं कर पाओगे। इसलिए किसी भी कार्य को करने की सबसे पहली शर्त है कि अपना लक्ष्य तय करें। लक्ष्य तय करने पर आपको मालूम हो जाएगा कि किन-किन चीजों की जरूरत है और उस लक्ष्य को कैसे हासिल कर सकते हैं? याद रखिए किसी भी अच्छे कार्य को सफलतापूर्वक करने का कोई शॉर्टकट नहीं होता है।लक्ष्य तय करने के लिए एक्शन प्लान तैयार कीजिए।यदि आपके पास अनुभव नहीं है तो अनुभवी व्यक्तियों से सुझाव लें। इसके अलावा आज ऑनलाइन बहुत से माध्यम हैं जहां से आप जानकारी हासिल कर सकते हैं।गूगल पर सर्च करें,यूट्यूब वीडियो देखिए तो आपको घर बैठे उचित मार्गदर्शन प्राप्त हो जाएगा। इसके पश्चात ठोस एक्शन प्लान तैयार कीजिए। एक्शन प्लान में सभी काम सही समयानुसार तय करें।इस एक्शन प्लान के अनुसार कार्य करने के लिए अपना 100% योगदान दें। ढुलमुल नीति व आधे अधूरे मन से किया गया कोई भी कार्य सफल नहीं हो सकता है।केरियर में सफलता कैसे हासिल करें(How to succeed in career?) की यह दूसरी टिप्स है।

4.सीखना जारी रखें(Keep learning)-

केरियर में सफलता कैसे हासिल करें(How to succeed in career?) की तीसरी टिप्स कि यदि जीवन का ऊंचा लक्ष्य तय किया गया हो तो यह ध्यान में रखने की बात है कि लंबी दूरी तय करने के लिए अधिक प्रतिबद्धता दिखाने की आवश्यकता होती है।किसी भी लक्ष्य और कार्य से संबंधित सारी बातें सीखकर फिर कोई कार्य प्रारंभ नहीं किया जाता है। बहुत सी बातें आपको अपने लक्ष्य पर चलते समय सीखनी होती है।इसलिए हमेशा आपमें सीखने की ललक होनी चाहिए। अपने लक्ष्य से सम्बन्धित छोटी-छोटी बारीक बातों को भी सीखें।कैरियर प्लानिंग के दौरान सही दिशा में पहल करने से आप काफी कुछ सीख सकते हैं।सीखते रहने की आदत से आपमें आत्मविश्वास आता है क्योंकि सीखने से आपके अंदर अपने कैरियर से संबंधित कोई न कोई स्किल का निर्माण हो जाता है।जब आप लक्ष्य पर चलते हैं तो बहुत सी कठिनाईयां आपके सम्मुख प्रस्तुत होती है जिनका आपको समाधान करके आगे बढ़ना होता है।इससे आपके अंदर लचीलापन आता है और आप अपने कैरियर से जुड़े फैसले को आसानी से अमल में ला सकते हैं।

5.लक्ष्य में क्या-क्या करना है इसकी लिस्ट तैयार करें(Make a list of what to do in the goal)-

यदि लक्ष्य बहुत बड़ा है तो उस लक्ष्य को छोटे-छोटे टुकड़ों में बांट लें।एक साथ लक्ष्य को हासिल करना आसान नहीं होता है।एक साथ लक्ष्य को हासिल करना आसान नहीं होता है।उसके लिए आप उसको छोटे-छोटे टुकड़ों में बांट लें जिन्हें आप कर सकते हैं तथा जो आपके लक्ष्य तक पहुंचने में मदद कर सकते हैं ।जिनको आप नहीं कर सकते हैं लेकिन लक्ष्य तक पहुंचने के लिए कार्य करने जरूरी है उसके लिए अपने मित्रों से सहायता लें।याद रखें किसी भी कार्य की सफलता में एक अकेला व्यक्ति शामिल नहीं होता है।उस सफलता में कई लोगों का योगदान होता है। सहायता लेने में यह बात अवश्य ध्यान रखनी चाहिए कि वे आपके करीबी हो तथा आप तथा आपके कार्य को प्रोत्साहित करने वाले हों। जो लोग आपको हतोत्साहित करते हो हमेशा उनसे दूर ही रहें।
लक्ष्य को जिन छोटे-छोटे कार्य में बांट लिया है उनको एक-एक करके हासिल करने की कोशिश करें।अपने लक्ष्य को हासिल करते समय आप सीखते रहें और आगे बढ़ते रहें। लक्ष्य के बीच में जो भी कठिनाइयां आती हैं उनको हल करते जाएं। बहुत सी बातें आप कार्य करते करते ही सीखते जाएंगे।अपने दिमाग व विवेक का प्रयोग करेंगे तो काम से काम सीखते जाएंगे ।कार्य करते समय कई अनचाही तथा ऐसी समस्याएं भी आती हैं जिनकी आपने कल्पना भी नहीं की होगी।अपने आप को विद्यार्थी बनाए रखें अर्थात् हमेशा सीखने के लिए तत्पर रहें।
लक्ष्य तक पहुंचना आसान नहीं होता है।आप लक्ष्य तक एक साथ नहीं पहुंच सकते हैं। धीरे-धीरे लक्ष्य की तरफ बढ़ते रहें।कार्य की बारीकियां समझें। नई-नई रिसर्च करते रहे। अपने क्षेत्र से जुड़ी हुई नई चीजें सीखते रहें। अपने क्षेत्र से संबंधित नॉलेज को बढ़ाते रहेंगे तो आप आगे से आगे तरक्की करते जाएंगे और आपकी परफॉर्मेंस काफी अच्छी होती जाएगी। इससे आपके भीतर आत्मविश्वास बढ़ता जाएगा, आत्मविश्वास किसी लक्ष्य को प्राप्त करने के लिए बहुत आवश्यक है।
Akso Read This Article-Great opportunities to make a career in mathematics

6.व्यावहारिक ज्ञान(practical knowledge)-

How to succeed in career?

How to succeed in career?

कैरियर में सफलता प्राप्त करने के लिए व्यावहारिक ज्ञान भी होना चाहिए यदि नहीं है तो व्यावहारिक ज्ञान भी साथ-साथ अर्जित करते जाएं। किन-किन लोगों से आपका व्यावसायिक काम पड़ेगा ऐसे लोगों से व्यक्तिगत व्यवहार व मेलजोल बढ़ाएं। उनसे केवल औपचारिक बात ही नहीं करें बल्कि कुछ अनौपचारिक संबंध भी कायम करें।ऐसा करने से आपस में बनावटीपन नहीं रहेगा। मनुष्य एक सामाजिक और चेतनशील प्राणी है।इसलिए हर एक मनुष्य की कुछ आकांक्षाएं होती है। व्यावसायिक और कैरियर को मजबूती देने के लिए आपसी मेलजोल,मधुर व्यवहार,शिष्टाचार,एक-दूसरे का आदर करना, आगे बढ़कर पहल करना जैसे कई गुणों की आवश्यकता होती है। केवल प्रोफेशनल बनकर आप अपने कैरियर को आगे तक तथा सफलतापूर्वक नहीं कर सकते हैं। इसलिए कैरियर की सफलता के लिए प्रोफेशनल ज्ञान के साथ-साथ व्यावहारिक ज्ञान होना चाहिए।अपना प्रोफेशनल तथा व्यावहारिक ज्ञान बढ़ाने के लिए सबसे बढ़िया,सरल,सुगम व श्रेष्ठ तरीका है कि आप अपने ज्ञान को साझा करते रहें। धन का साझा करने अर्थात् बांटने पर घटता है जबकि नाॅलेज को साझा करने अर्थात् बांटने पर बढ़ता जाता है। आज के युग में कैरियर में कड़ी प्रतिस्पर्धा का सामना करना पड़ता है इसलिए अब परंपरागत तरीकों से कैरियर में सफलता प्राप्त करने के दिन लद गए हैं।अब आप स्मार्ट और आधुनिक तरीके अपनाएंगे तो आगे बढ़ते जाएंगे। इसका मतलब यह नहीं है कि सभी पुरानी बातें गलत है और नई बातें सभी सही है ।कठिन परिश्रम,लगन ,उत्साह,आत्मविश्वास की पहले भी जरूरत थी और आज भी जरूरत है ।नवीन तकनीकी,नई-नई रिसर्च, प्रौद्योगिकी आज की आवश्यकता है इसलिए इनका भी समावेश करें।
No. Social Media Url
1. Facebook click here
2. you tube click here
3. Twitter click here
4. Instagram click here
5. Linkedin click here

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *