Menu

7 ways to write answers in board exam

Contents hide
1 1.बोर्ड परीक्षा में उत्तर लिखने के 7 तरीके (7 ways to write answers in board exam)-
1.2 (2.)किसी भी प्रश्न का उत्तर शब्द सीमा से अधिक न लिखें (Do not answer any question more than the word limit):

1.बोर्ड परीक्षा में उत्तर लिखने के 7 तरीके (7 ways to write answers in board exam)-

  • बोर्ड परीक्षा में उत्तर लिखने के 7 तरीकों(7 ways to write answers in board exam) के द्वारा विद्यार्थी इस आर्टिकल में जान सकेंगे कि उत्तर किस प्रकार लिखा जाए। बोर्ड परीक्षा में उत्तर लिखने के 7 तरीके(7 ways to write answers in board exam) महत्वपूर्ण व आसान हैं।इन तरीकों को जानकर विद्यार्थी अच्छे अंक अर्जित कर सकते हैं और अपने मनमाफिक परिणाम परिणाम लाने में यह 7 तरीके मददगार साबित हो सकते हैं।
  • विद्यार्थी परीक्षा से पहले चाहे जितनी तैयारी कर ले लेकिन अगर वे एग्जाम के दिन अच्छा उत्तर लिखने में कामयाब नहीं होते हैं तो उनकी पूरे वर्ष भर की मेहनत पर पानी फिर जाता है।जब भी कोई विद्यार्थी परीक्षा हॉल में बैठता है तो हर बार वह चिंतित और नर्वस महसूस करता है।विद्यार्थियों पर परीक्षा, माता-पिता, अभिभावकों और शिक्षकों का इतना ज्यादा दबाव होता है कि कुछ विद्यार्थी तो याद की गई बातें भूल जाते हैं।इस आर्टिकल में बोर्ड परीक्षा में उत्तर लिखने के 7 तरीकों(7 ways to write answers in board exam) को अपनाकर स्थिति को थोड़ा सहज व सामान्य बना सकते हैं ।
  • आपको यह जानकारी रोचक व ज्ञानवर्धक लगे तो अपने मित्रों के साथ इस गणित के आर्टिकल को शेयर करें ।यदि आप इस वेबसाइट पर पहली बार आए हैं तो वेबसाइट को फॉलो करें और ईमेल सब्सक्रिप्शन को भी फॉलो करें जिससे नए आर्टिकल का नोटिफिकेशन आपको मिल सके ।यदि आर्टिकल पसन्द आए तो अपने मित्रों के साथ शेयर और लाईक करें जिससे वे भी लाभ उठाए ।आपकी कोई समस्या हो या कोई सुझाव देना चाहते हैं तो कमेंट करके बताएं। इस आर्टिकल को पूरा पढ़ें।

(1.)बोर्ड परीक्षा में उत्तर लिखने के 7 तरीकों में पहला तरीका है “प्रश्नों में सबसे अच्छा जानने वाले प्रश्न के उत्तर के अनुसार प्राथमिकता दें” (The first of the 7 ways to write answers in board exam is “Prioritize the questions you know best”):

  • उत्तर पुस्तिका तथा प्रश्न-पत्र मिलते ही सबसे पहला कार्य यह है कि प्रश्न-पत्र को एक नजर में पढ़ ले।उन प्रश्नों के उत्तर पहले दें जिनके बारे में आपको पूर्ण आत्म-विश्वास है तथा उस प्रश्न का उत्तर अच्छे से जानते हो।बोर्ड परीक्षा देते समय यह जरूरी नहीं होता कि आप सभी प्रश्नों के उत्तर दिए गए क्रम के अनुसार ही लिखे।आप जिस प्रश्न का उत्तर जानते हैं उसको पहले लिखने से आपका आत्मविश्वास तो बढ़ता ही है ,साथ ही आपका समय भी बचता है।जब आपके पास पर्याप्त समय बच जाता है तो जिन प्रश्नों के उत्तर आधे-अधूरे जानते हैं उनके उत्तर भी याद करके लिख सकते हैं।

(2.)किसी भी प्रश्न का उत्तर शब्द सीमा से अधिक न लिखें (Do not answer any question more than the word limit):

  • कुछ विद्यार्थियों की मानसिकता होती है कि ज्यादा लंबा या विस्तृत उत्तर लिखने पर अधिक अंक प्राप्त होते हैं जो कि बिल्कुल सही नहीं है।अध्यापक सिर्फ उचित और सही उत्तरों का ही मूल्यांकन करते हैं ,न कि उत्तर पुस्तिका में लिखे गए लम्बे चौड़े उत्तरों का मूल्यांकन किया जाता है। इसलिए प्रश्न में जितने उत्तर की मांग की गई है, उतना ही उत्तर लिखें। उत्तरों में ऐसे पैराग्राफ या कहानियां न लिखें जिनके बारे में पूछा ही नहीं गया है।जैसे गणित में ज्यामिति की परिभाषा पूछी गई हो तो परिभाषा तक ही उत्तर सीमित रखें। ज्यामिति की उत्पत्ति कैसे हुई तथा ज्यामिति का क्षेत्र कितना है इसके बारे में वर्णन करने से कोई फायदा नहीं है।

(3.)विकल्प वाले प्रश्नों में अपनी समझदारी का प्रयोग करें (Use your intelligence with choice questions):

  • कुछ सवाल में विकल्प दिए हुए होते हैं।दिए हुए विकल्पों में से एक उत्तर का चयन करना होता है।लेकिन कुछ विद्यार्थी विकल्पों के चयन में बिना सोचे-समझे उत्तर दे देते हैं।ऐसा वे जल्दबाजी और दबाव के कारण करते हैं।इस प्रकार उस प्रश्न का उत्तर गलत दे देते हैं।बाद में वे विद्यार्थी पछताते हैं कि काश थोड़ा सोच-समझकर उत्तर देते तो उत्तर सही हो सकता था।बोर्ड परीक्षा में उत्तर लिखने के 7 तरीकों (7 ways to write answers in board exam) में यह तीसरा तरीका है कि विकल्प वाले प्रश्नों को ध्यानपूर्वक पढ़ें और सोच-समझकर उसका उत्तर दें।प्रश्न को एक बार की बजाय दो बार पढ़ें।मस्तिष्क में प्रश्न के उत्तर की तस्वीर उतारने की कोशिश करें और मस्तिष्क में सही उत्तर की तस्वीर उतरने पर उत्तर दें।

(4.)प्रश्न पत्र में दिए गए सभी प्रश्नों के उत्तर दें (Answer all the questions given in the question paper)-

  • बोर्ड परीक्षा में गलत उत्तर के लिए नेगेटिव मार्किंग नहीं होती है।अतः प्रश्न पत्र में दिए गए सभी प्रश्नों के उत्तर दें। किसी प्रश्न का थोड़ा बहुत उत्तर जानते हैं तो उसे ही लिख दें ।जिन प्रश्नों के उत्तर नहीं जानते हैं उनको दो बार पढ़ें और उसका उत्तर जानने की कोशिश करें ।अगर आपको उत्तर आया याद आ जाए तो ठीक है अन्यथा अपने अनुमान के अनुसार उसका जो भी उत्तर आता है वह लिख दें। परीक्षक को हमेशा उत्तर में से किसी कीवर्ड की तलाश रहती है जिसके आधार पर वह विद्यार्थी को मार्क्स दे सके। थोड़ा बहुत आईडिए के आधार पर उत्तर देने पर आपके कोई अंक नहीं कटेंगे बल्कि उससे आपको कुछ फायदा हो सकता है ‌।प्रश्न की शैली और उसकी मांग को ध्यान में रखते हुए उत्तर देने की कोशिश करें।यह है बोर्ड परीक्षा में उत्तर देने के 7 तरीकों(7 ways to write answers in board exam) में तरीका नंबर 4। बोर्ड परीक्षा में उत्तर देने के 7 तरीकों(7 ways to write answers in board exam) में तरीका नंबर 5 है-उत्तर पुस्तिका को सजाने में समय बर्बाद न करें।

(5.)विद्यार्थी उत्तर पुस्तिका को सजाने में समय बर्बाद ना करें (Don’t waste time decorating student answer book )-

  • अक्सर कुछ विद्यार्थियों की आदत होती है कि वे पेपर को हल करते समय अपनी उत्तर पुस्तिका को रंग-बिरंगे उत्तर देने में अपना समय बर्बाद करते हैं।वे नीले ,काले ,हरे रंगों का इस्तेमाल करते हुए प्रश्न को अलग रंग, हेडिंग को अलग रंग तथा पाॅइंट्स को अलग रंग से लिखते हैं।ऐसे करने वाले विद्यार्थियों को ध्यान रखना चाहिए कि रंग-बिरंगे उत्तर देने से परीक्षक आपको ज्यादा अंक देने वाले नहीं है बल्कि इससे आपका कीमती समय बर्बाद होता है।इस कीमती समय ही बर्बाद होता है।इस कीमती समय को आप उन प्रश्नों के उत्तर देने में कर सकते हैं जिनके उत्तर आप ठीक तरह से नहीं जानते हैं। इसलिए अपनी उत्तर पुस्तिका में साफ,सटीक और सादगी उत्तर दें।सिर्फ दो पेन का इस्तेमाल करें , Heading के लिए काला पैन तथा उत्तर के लिए नीला पेन। इसके अलावा कोई भी चित्र बनाने के लिए केवल पेंसिल का उपयोग करें।

(6.)हर शब्द और हर उत्तर में उचित स्पेस दें (Give appropriate space in every word and every answer )-

  • उत्तर लिखते समय इस बात का भी ध्यान रखें कि आप और दो शब्दों के बीच उचित स्पेस जरूर छोड़े।सभी शब्दों को बिल्कुल निकट न लिखें क्योंकि शब्दों को बिल्कुल निकट लिखने से आपका उत्तर परीक्षक के समझ में नहीं आएगा।न बहुत ज्यादा स्पेस ही दें।इसलिए अपनी उत्तर पुस्तिका को साफ और व्यवस्थित रखने के लिए कुछ खास बातों का ध्यान रखें ।
  • (1.)उत्तरों को पॉइंट्स बनाकर लिखने की कोशिश करें।
  • (2.)सभी वाक्यों को एक साथ लिखने के बजाय पैराग्राफ के रूप में लिखें।
  • (3.)प्रत्येक प्रश्न के उत्तर लिखने के बाद एक लाइन या दो लाइन जरूर छोड़ें। इससे आपको किसी उत्तर में बाद में कुछ ओर पाॅइंट्स को जोड़ने में आसानी होगी और आपकी उत्तर पुस्तिका भी साफ और व्यवस्थित दिखेगी।

(7.)विद्यार्थी परीक्षा से घबराएं नहीं,शांत और एकाग्रचित्त रहें(Students do not panic, stay calm and focused )-

  • बोर्ड परीक्षा में उत्तर देने के 7तरीकों(7 ways to write answers in board exam) में यह अंतिम तरीका है जो सबसे महत्वपूर्ण है।यह हमेशा आवश्यक नहीं है कि प्रश्नपत्र आपकी तैयारी के अनुसार ही आया हो।यदि प्रश्न-पत्र कठिन आया हो तो वह प्रश्न-पत्र सभी के लिए समान है।कठिन प्रश्न-पत्र को देखकर घबराएं नहीं क्योंकि घबराने और डरने से आपको जो कुछ याद है ,आप उसे भी भूल जाएंगे।विद्यार्थियों को चाहिए कि वे शांत व एकाग्रचित्त होकर प्रश्नों को समझने और उनके उत्तर दिमाग में उतारने की कोशिश करें ।धीरे-धीरे एक-एक प्रश्न का उत्तर देते जाएं। आप देखेंगे कि शांत और एकाग्रचित्त होकर उत्तर देने से आप अधिक अच्छा पेपर कर पाएंगे।समझदारी, विवेक और धैर्य रखें जिससे आपका आत्मविश्वास बना रहे हैं।
  • अक्सर गणित व विज्ञान जैसे विषयों में विद्यार्थी घबरा जाते हैं और वे प्रश्न के उत्तर को बिगाड़ देते हैं।अपने ध्यान को इस बात पर केंद्रित न रखें कि प्रश्नपत्र खराब हो जाएगा तो वे फेल हो जाएंगे।अपने दिमाग को परिणाम पर केंद्रित न करके, अपना उत्तर देने पर फोकस रखें।
  • यदि विद्यार्थी ऊपर बताए गए बोर्ड परीक्षा में उत्तर देने के 7 तरीकों का पालन करेंगे तो निश्चित रूप से वे अपने प्रश्न-पत्र का उत्तर अच्छा दे पाएंगें।दरअसल हमारी थोड़ी सी लापरवाही से गुड़ गोबर हो जाता है और बाद में पश्चाताप करते हैं।इसलिए अपने विवेक, धैर्य और साहस का उपयोग करते हुए बोर्ड परीक्षा में उत्तर देने के 7 तरीकों(7 ways to write answers in board exam) पर अमल करें तो उनका परिणाम अच्छा ही आएगा।

2.बोर्ड परीक्षा में उत्तर लिखने के 7 तरीकों(7 ways to write answers in board exam) के सम्बन्ध में अक्सर पूछे जाने वाले प्रश्न:

प्रश्न:1.आप परीक्षा का उत्तर कैसे लिखते हैं? (How do you write an exam answer?):

उत्तर:अपना प्रश्न पत्र ध्यान से पढ़ें
सबसे पहले,आपको प्रश्न को ध्यान से पढ़ना चाहिए और मानसिक रूप से अपने उत्तर की संरचना की योजना बनानी चाहिए,फिर अपना उत्तर लिखना शुरू करें।इस ट्रिक का पालन करें और परीक्षा में उत्तर लिखें,यह निश्चित रूप से आपको अधिक अंक दिलाएगा।अन्यथा,आप अपने अंक खो देंगे और महत्वपूर्ण समय बर्बाद कर देंगे।
प्राथमिकता निर्धारित करें।उन प्रश्नों को सूचीबद्ध करें जिनके बारे में आप अधिक आश्वस्त हैं।
संक्षिप्त,टू द पॉइंट उत्तर लिखें।
बोर्ड परीक्षा में 90% से अधिक अंक प्राप्त करने के लिए सबसे प्रभावी तैयारी युक्तियाँ।
बुद्धिमानी से प्रश्नों का चयन करें।
सभी प्रश्नों का प्रयास करें।
उत्तर पत्रक को न सजाएं।
प्रत्येक शब्द को स्थान दें।
घबराओ मत।

प्रश्न:2.आप अंकों में उत्तर कैसे लिखते हैं? (How do you write answers in points?),परीक्षा में बिंदुवार उत्तर कैसे लिखें? (How to Write to the Point Answers in Exam?):

उत्तर:प्रभावी लेखन उत्तर के तरीके।स्पष्टत: मुख्य बिंदुओं के साथ पालन करना आसान है जो प्रश्न के उत्तर के लिए सबसे महत्त्वपूर्ण है।
जागो परीक्षक!
अपना समय व्यवस्थित करें।
पिछले पेपर्स का अभ्यास करें।
सभी प्रश्नों को ध्यान से पढ़ें।
अपने उत्तर की संरचना करें।
यथासंभव स्पष्ट रहें।
प्रभावी तरीके से लिखने के लिए परीक्षा से पूर्व पूर्वाभ्यास करना जरूरी है।परीक्षा प्रश्न-पत्र मिलने पर गम्भीरता पूर्वक उसको एकबार पढ़ लें।इसके पश्चात जिन प्रश्नों के उत्तर आपको अच्छी तरह आते हैं, उनके उत्तर लिखना शुरू करें।

प्रश्न:3.बोर्ड परीक्षा के लिए कौन सी लिखावट सबसे अच्छी है? (Which handwriting is best for board exams?):

उत्तर:कर्सिव राइटिंग एक ऐसा कौशल है जो गति के लिए आवश्यक है,क्योंकि प्रिंट में लिखना अक्सर बहुत धीमा और कठिन होता है।परीक्षाओं में उच्च अंक प्राप्त करने के लिए साफ,सुपाठ्य लिखावट आवश्यक है।

प्रश्न:4.दुनिया में कौन सी लिखावट सबसे अच्छी है? (Which handwriting is best in the world?):

उत्तर:8वीं की छात्रा प्रकृति मल्ला (Prakriti Malla) के पास है दुनिया की सबसे खूबसूरत हैंडराइटिंग।यह नेपाली लड़की तब तक लाइमलाइट से अनजान थी जब तक कि उसकी लिखावट सोशल मीडिया अकाउंट्स में इतनी लोकप्रिय नहीं हो गई।

प्रश्न:5.क्या सीबीएसई में कर्सिव राइटिंग बैन है? (Is cursive writing banned in CBSE?):

उत्तर:बोर्ड सचिव कृष्णकुमार पाटिल ने कहा,”माध्यमिक और उच्च माध्यमिक स्तर पर,पाठ्यक्रम या पाठ्यक्रम के माध्यम से अंग्रेजी में कर्सिव राइटिंग का उपयोग करने के लिए कोई निर्देश या बाध्यता नहीं है।”

प्रश्न:6.सबसे तेज लिखने वाला व्यक्ति कौन है? (Who is the fastest person to write?):

उत्तर:97.22% सटीकता के साथ 360 शब्द प्रति मिनट का गिनीज वर्ल्ड रिकॉर्ड बनाने वाले मार्क किस्लिंगबरी (Mark Kislingbury) ने अपने तरीके साझा किए।

प्रश्न:7.लिखावट अच्छी क्यों नहीं है? (Why is handwriting not good?):

उत्तर:बदसूरत लिखावट वाले लोग भी बहुत रचनात्मक होते हैं।कुछ मामलों में खराब लिखावट सनकीपन की निशानी भी होती है।खराब और गन्दी लिखावट उच्च-बुद्धि की निशानी है,जिसका अर्थ है कि आपकी कलम आपके दिमाग के साथ नहीं रह सकती।तो,अगर आपकी लिखावट बदसूरत है तो निराश न हों।

प्रश्न:8.क्या बोर्ड परीक्षा में कर्सिव में लिखना जरूरी है? (Is it important to write in cursive in board exam?):

उत्तर:अन्य लोगों ने कहा कि कर्सिव राइटिंग सीखने का कोई अतिरिक्त लाभ नहीं है।“एक बच्चे की लिखावट अन्य शैलियों में भी अच्छी हो सकती है।वास्तव में,यह अच्छा है कि बच्चे दूसरे की नकल करने के बजाय अपनी अनूठी लेखन शैली विकसित करें।अपनी स्वाभाविक शैली में लिखना सबसे बढ़िया और आकर्षक तरीका है।

प्रश्न:9.क्या बोर्ड परीक्षाओं में लेखन मायने रखता है? (Does writing matter in board exams?):

उत्तर:अच्छी लिखावट हमेशा एक छात्र को महत्व देती है, लेकिन इसका मतलब यह नहीं है कि खराब लिखावट की हमेशा कीमत चुकानी पड़ती है।वास्तव में जो मायने रखता है वह है साफ-सुथरा लिखना,सुनिश्चित करें कि परीक्षक समझ रहा है कि आपने क्या लिखा है।पेपर वैल्यूएशन के दौरान यह आपको पूर्ण अंक प्राप्त करने में मदद करता है।

प्रश्न:10.क्या हम बोर्ड परीक्षा में रंगों का उपयोग कर सकते हैं? (Can we use Colours in board exam?):

उत्तर:बोर्ड परीक्षाओं में आमतौर पर छात्रों के पास इतना समय नहीं होता है कि वे अपने पेपर को अधिक आकर्षक बनाने के लिए रंगों का उपयोग कर सकें।यद्यपि बोर्ड का ऐसा कोई नियम या विनियम नहीं है कि आप अपनी प्रस्तुति को बढ़ाने के लिए रंगों का उपयोग नहीं कर सकते हैं,लेकिन हर कोई आपको रंग भरने में अपना समय बर्बाद न करने की सलाह देगा।

प्रश्न:11.क्या सीबीएसई की जांच सख्त है? (Is CBSE checking strict?):

उत्तर:सीबीएसई शब्द सीमा के साथ सख्त है यानी किसी छात्र को विशेष प्रश्नों की दी गई शब्द सीमा से अधिक या उससे पहले के लिए दंडित किया जा सकता है।छात्रों को केवल एक चीज करने की जरूरत है,वह है उत्तरों को उचित चरणों में सटीक रूप से प्रस्तुत करना और अपने उत्तर पत्रों में अनावश्यक और अप्रासंगिक बिंदुओं से बचना।

प्रश्न:12.क्या खराब लिखावट ग्रेड को प्रभावित करती है? (Does bad handwriting affect grades?):

उत्तर:नहीं,आपकी लिखावट अकेले आपके ग्रेड को प्रभावित नहीं करती है।

प्रश्न:13.क्या लिखावट वाकई मायने रखती है? (Does handwriting really matter?):

उत्तर:जब हम कीबोर्ड पर टाइप करने या स्क्रीन को छूने के बजाय हाथ से कुछ लिखते हैं तो दिमाग अलग तरह से काम करता है।अध्ययनों से पता चलता है कि लिखने से याददाश्त में सुधार होता है;छात्र टाइपिंग के बजाय हस्तलेखन के माध्यम से नए विचारों के साथ काम करते समय बेहतर सीखते रहते हैं।

प्रश्न:14.क्या बोर्ड में काले पेन की अनुमति है? (Is black pen allowed in boards?):

उत्तर:छात्र अपनी सुविधा के आधार पर सीबीएसई बोर्ड परीक्षा लिखने के लिए किसी भी पेन का उपयोग कर सकते हैं।हालांकि,छात्रों को सीबीएसई बोर्ड परीक्षाओं के लिए केवल ब्लू (Blue)/रॉयल ब्लू बॉल प्वाइंट (Royal Blue Ball Point)/जेल(Gel)/फाउंटेन पेन (Fountain pen ) का उपयोग करना चाहिए।ब्लैक पेन की अनुमति केवल उत्तर/शीर्षक/शीर्षक को हाइलाइट करने के लिए है।

उपर्युक्त प्रश्नों के उत्तर द्वारा बोर्ड परीक्षा में उत्तर लिखने के 7 तरीकों(7 ways to write answers in board exam) के बारे में ओर अधिक जानकारी प्राप्त कर सकते हैं।

No.Social MediaUrl
1.Facebookclick here
2.you tubeclick here
3.Twitterclick here
4.Instagramclick here
5.Linkedinclick here
6.Facebook Pageclick here
No Responses

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *