Menu

What is Aryabhatta Mathematics Challenge Test

What is Aryabhatta Mathematics Challenge Test 

1.आर्यभट्ट चैलेंज टेस्ट क्या है? का परिचय (Introduction to What is Aryabhatta Mathematics Challenge Test?)- 

What is Aryabhatt  Mathematics Challenge Test ,Aryabhatta Mathematics Bhavan
Aryabhatta Mathematics Bhavan

इस आर्टिकल में बताया गया है कि गणित विषय को ज्यादातर बच्चे पसन्द नहीं करते हैं परन्तु कैरियर के लिहाज से गणित विषय अत्यन्त महत्त्वपूर्ण है। इस हकीकत को पहचानते हुए इस वर्ष CBSE बोर्ड ने  गणित को बढ़ावा देने के लिए आर्यभट्ट गणित चैलेंज एक्जाम आयोजित करेगा।
पिछले दिनों CBSE बोर्ड ने एक महत्त्वपूर्ण निर्णय लिया था कि कि दसवीं बोर्ड में गणित के दो पेपर होंगे बेसिक मेथ और स्टैंडर्ड मेथ। जो विद्यार्थी आगे गणित विषय को ऐच्छिक विषय के रूप में नहीं चुनना चाहते हैं वे बेसिक मेथ का पेपर ले सकते हैं और जो विद्यार्थी आगे गणित विषय को ऐच्छिक विषय के रूप में चुनना चाहते हैं, उनको स्टैंडर्ड मेथ का पेपर चुनना होगा। बेसिक मेथ लेकर उत्तीर्ण करनेवाले विद्यार्थी ऐच्छिक विषय के रूप में गणित का चुनाव नहीं कर सकेंगे। यदि बेसिक मेथ लेकर विद्यार्थी दसवीं कक्षा उत्तीर्ण करता है और बाद में गणित विषय लेना लेना चाहता है तो उसे कम्पार्टमेंट के साथ स्टैंडर्ड गणित का पेपर देना होगा। इस निर्णय के परिणामस्वरूप अधिकांश विद्यार्थियों ने बेसिक मेथ का पेपर लिया था।
अब CBSE बोर्ड ने गणित विषय का केरियर में महत्त्व जानते हुए एक ओर निर्णय लिया है। बोर्ड ने आर्यभट्ट चैलेंज एक्जाम के लिए 8 से 10 कक्षा के विद्यार्थियों हेतु रजिस्ट्रेशन का नोटिफिकेशन जारी किया है। इस टेस्ट को लिए जाने का कारण यह है कि गणित विषय का कैरियर में अहम योगदान होता है इसलिए गणित में रुचि जाग्रत करने व प्रतिभाओं का चयन करके उनको आगे बढ़ाने का मकसद है।
हमारे विचार से इस प्रकार के प्रगतिशील तथा नवीन निर्णय लेकर गणित में रुचि बढ़ाने का कदम स्तुत्य है। दरअसल बेसिक मेथ और स्टैंडर्ड मेथ के दो पेपर करने के कारण अधिकांश विद्यार्थियों ने बेसिक मेथ चयन किया था क्योंकि बेसिक मेथ के पेपर का डिफीकल्टी लेवल स्टैंडर्ड मेथ से कम अर्थात् स्टैंडर्ड मेथ का पेपर कठिन होगा। गणित विषय को लेकर इस प्रकार निर्णय करने से अधिकांश विद्यार्थी गणित से किनारा करने लगेंगे, लेकिन गणित विषय से इस प्रकार पीछा छुड़ाने से गणित से पीछा नहीं छूट सकता है। आज हर जाॅब में गणित का टेस्ट लिया जाता है, ऐसी स्थिति से गणित के महत्त्व का पता चलता है। बेसिक मेथ का चयन करने तथा ऐच्छिक विषय के रूप में गणित को न लेने के कारण बाद में कई विद्यार्थी पश्चाताप करते हैं कि उन्होंने गणित विषय न लेकर कितनी बड़ी भूल कर दी है। यह टेस्ट गणित के प्रति रुचि जाग्रत करने में अहम भूमिका निभाएगा। दूसरा इस टेस्ट का फायदा यह होगा कि गणित की प्रतिभाओं का पता चल सकेगा और उन प्रतिभाओं को आगे बढ़ने के लिए प्रेरित करेगा।
यदि आर्टिकल पसन्द आए तो अपने मित्रों के साथ शेयर और लाईक करें जिससे वे भी लाभ उठाए ।आपकी कोई समस्या हो या कोई सुझाव देना चाहते हैं तो कमेंट करके बताएं। इस आर्टिकल को पूरा पढ़ें। 

2.आर्यभट्ट चैलेंज टेस्ट क्या है? (What is Aryabhatta Challenge Test?)- 

What is Aryabhatta  Mathematics Challenge Test
What is Aryabhatta  Mathematics Challenge Test 

ज्यादातर बच्चे व बड़े गणित विषय को पसंद नहीं करते हैं लेकिन कॅरियर के लिहाज से विषय की जरूरत को ध्यान में रखते हुए सेंट्रल बोर्ड सेकंडरी एजुकेशन (CBSE) ने हाल ही ‘आर्यभट्ट गणित चैलेंज’ का हिस्सा बनने के लिए नोटिफिकेशन जारी कर एंट्रीज मंगवाई हैं।
ज्यादातर बच्चे व बड़े गणित विषय को पसंद नहीं करते हैं लेकिन कॅरियर के लिहाज से विषय की जरूरत को ध्यान में रखते हुए सेंट्रल बोर्ड सेकंडरी एजुकेशन (CBSE) ने हाल ही ‘आर्यभट्ट गणित चैलेंज’ का हिस्सा बनने के लिए नोटिफिकेशन जारी कर एंट्रीज मंगवाई हैं। जानें इससे जुड़ी अन्य जानकारी –
योग्यता की बात करें तो सीबीएसई द्वारा संबद्ध स्कूलों के कक्षा ८वीं से लेकर १०वीं के छात्र-छात्राएं इस चैलेंज में पार्टिसिपेट कर सकते हैं।
टेस्ट के लिए कोई शुल्क नहीं लगेगा। इसके बाद 18-22 नवंबर के बीच रजिस्ट्रेशन कराने वाले स्कूलों को ऑनलाइन लिंक के द्वारा प्रश्न-पत्र भेजा जाएगा। इस टेस्ट में हर स्कूल से तीन स्टूडेंट्स चयन किया जाएगा।
फर्स्ट स्टेज में प्रत्येक रजिस्टर्ड स्कूल से चयनित तीन स्टूडेंट्स को दूसरे चरण में कम्प्यूटर बेस्ड एग्जाम में प्रस्तुत होना होगा। जो कि 29 नवंबर, 2019 को आयोजित होगा। सेकेंड स्टेज में सीबीएसई के हर रीजन से 100 स्टूडेंट्स का चयन किया जाएगा, जिन्हें मेरिट सर्टिफिकेट भी दिया जाएगा।
इस चैलेंज में मैथेमैटिक्स विषय से कई तरह के प्रश्न पूछे जाएंगे। तीन सेक्शन से प्रत्येक में से 20 अंकों के सवाल पूछे जाएंगे। इसमें चेंज एंड रिलेशनशिप्स, क्वांटिटी, अनसर्टेनिटी एंड डाटा, पजल्स, हिस्ट्री ऑफ मैथेमैटिक्स, मैथैमैटिक्स करंट अफेयर्स, मैथेमैटिक्स ऑल अराउंड अस, न्यूमेरिकल एबिलिटी, रीजनिंग और स्पेशियल एबिलिटी विषय शामिल हैं। एक घंटे की समयावधि वाले इस कॉम्पिटीशन में बहुवैकल्पिक प्रश्न आएंगे जो कुल 60 अंकों के होंगे। इसमें नेगेटिव मार्किंग का प्रावधान नहीं है।
अधिक जानकारी के लिए जा सकते हैं वेबसाइट पर : http://cbse.nic.in/newsite/attach/62_Circular_2019.pdf


No. Social Media Url
1. Facebook click here
2. you tube click here
3. Twitter click here
4. Instagram click here
5. Linkedin click here

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *