z35W7z4v9z8w Indian National Mathematics Olympiad( INMO)

Sunday, 6 October 2019

Indian National Mathematics Olympiad( INMO)

Indian National Mathematics Olympiad( INMO)

1.इंडियन नेशनल मैथमैटिक्स ओलंपियाड(Indian National Mathematics Olympiad( INMO)-

प्राचीनकाल में प्रतिभाओं को विकसित करने का सुव्यवस्थित तथा संस्थागत आधार नहीं था। शासक-प्रशासक अथवा जनता द्वारा शास्त्रार्थ का आयोजन किया जाता था जिसके आधार पर प्रतिभाओं के विजेता होने पर उन्हें पुरस्कृत तथा सम्मानित किया जाता था। धीरे-धीरे विद्यार्थियों तथा मनुष्यों की छुपी हुई प्रतिभा जन सामान्य के सामने लाने और उनकी प्रतिभा का उपयोग करने व प्रतिभाओं को विकसित करने के लिए संस्थागत आवश्यकता महसूस हुई। वर्तमान काल में गणित की प्रतिभाओं को विकसित करने एवं उनकी प्रतिभाओं का सदुपयोग करने व छुपी हुई प्रतिभा को पल्लवित करने के लिए यों तो कई फुटकर रूप से संस्थागत रूप से प्रयास होते रहे हैं। परन्तु वृहत रूप में गणित के लिए इंडियन नेशनल मैथेमेटिकल ओलम्पियाड तथा विश्व स्तर पर इंटरनेशनल मैथेमेटिक्स ओलम्पियाड का आयोजन होता है। भारत में इंडियन नेशनल मैथेमेटिकल ओलम्पियाड का आयोजन HBCSE(Homi Bhabha Centre for Science Education )भाभा अटाॅमिक सेन्टर आॅफ ऐजुकेशन द्वारा किया जाता है। सेन्टर द्वारा यह आयोजन छ: चरणों में किया जाता है। इसके द्वारा ली जाने वाली परीक्षाओं का डिफीकल्टी लेवल यों कहने को तो 8वीं से 12वीं के स्तर तक होता है परन्तु वास्तविक रूप में डिफीकल्टी लेवल बहुत उच्च स्तर का होता है जिससे बहुत मेधावी विद्यार्थी तथा उच्च प्रतिभाशाली विद्यार्थी ही पार कर पाते हैं। इस परीक्षा के छ:चरणों को पार करने के लिए कठिन परिश्रम और अभ्यास की आवश्यकता होती है। प्रारम्भ में ही ऐसे विद्यार्थियों की पहचान करके उनको तैयारी शुरू से ही तैयारी करवाई जाती है। इंडियन नेशनल मैथेमेटिकल ओलम्पियाड तथा इंटरनेशनल मैथेमेटिकल ओलम्पियाड द्वारा आयोजित इस परीक्षा को उत्तीर्ण करने के बाद उत्तीर्ण प्रतिभागियों के सामने बहुत सारे अवसर खुल जाते हैं। यदि वे आगे अध्ययन करना चाहते हैं तो उनको स्काॅलरशिप प्राप्त होती है जिसके आधार पर वे अपना अध्ययन जारी रख सकते हैं। इसके अतिरिक्त भी की अवसर होते हैं। 
इस आर्टिकल में उपर्युक्त परीक्षा की चयन प्रक्रिया को विस्तार से बताया गया है। इच्छुक अभ्यर्थी आवेदन करके इसमें भाग ले सकते हैं और अपनी प्रतिभा का विकास करने का एक सुनहरा मौका मिलने पर उनका भाग्योदय हो सकता है और अपनी छुपी हुई प्रतिभा को जाग्रत और विस्तृत करके जनहित में लगा सकता है। ऐसा अवसर कुछ विशिष्ट विद्यार्थियों को ही मिलता है। जिनको यह अवसर मिलता है उन्हें इस अवसर का लाभ सम्पूर्ण मानव जाति व गणित को नई ऊँचाइयों तक ले जाने में करना चाहिए। तात्पर्य यही है कि इस संस्था द्वारा जो अवसर प्रदान किया जाता है उसका लाभ उठाना विद्यार्थियों और हमारे हाथ में है। यदि हम चाहे तो लाभ उठाए और न चाहे तो नहीं उठाए। जैसे प्यासे को कुए के पास जाना ही होगा, कुआं आकर आपसे नहीं कहेगा कि आपको प्यास लग रही है पानी पी लो। इसी प्रकार इन जनहितकारी संस्थाओं का लाभ उठाना चाहते हैं तो हमें पुरुषार्थ करना ही होगा और उसकी क्रियाविधि व नियमों का अनुकरण करना होगा। हम भी इसी उद्देश्य और भावना के साथ इस आर्टिकल को पोस्ट कर रहे हैं कि ज्यादा से ज्यादा विद्यार्थी इसमें भाग लें और लाभ उठाएं। 
यदि यह आर्टिकल पसन्द आए तो अपने मित्रों के साथ शेयर और लाईक करें जिससे अधिक से अधिक विद्यार्थियों और लोगों के पास पहुंचे और इसमें भाग ले। यदि आपकी कोई समस्या हो या कोई सुझाव हो तो कमेंट करके बताएं ।इस आर्टिकल को पूरा पढ़ें। 

2.जानिए इंडियन नेशनल मैथमैटिक्स ओलंपियाड (Indian National Mathematics Olympiad या INMO) की परीक्षाओं के बारे में पूरी जानकारी.

(1.)INMO एमओ सेल द्वारा संचालित किया जाता है जो जनवरी के तीसरे रविवार को देश भर के 30 केंद्रों पर आयोजित किया जाता है। 
(2.)संभावित उम्मीदवारों को पहले अपने संबंधित राज्य या क्षेत्र के क्षेत्रीय गणितीय ओलंपियाड (आरएमओ के रूप में जाना जाता है) लिखने की आवश्यकता होती है, जो आमतौर पर पिछले वर्ष के अक्टूबर के पहले रविवार को आयोजित की जाती है। 
(3.)INMO लिखने के लिए प्रत्येक क्षेत्र से लगभग तीस छात्रों का चयन किया जाता है। RMO (लगभग 900) के सर्वश्रेष्ठ प्रदर्शन करने वाले छात्र दूसरे चरण के INMO के लिए अर्हता प्राप्त करते हैं।
(4)वरिष्ठ वर्ष के छात्रों पर प्रतिबंध.
भारत में बारहवीं कक्षा के छात्रों को नवीनतम दिशानिर्देशों के अनुसार आरएमओ लेने की अनुमति है।
(5.)परीक्षा की संरचना 
INMO परीक्षा के पेपर में चार घंटे के समय में हल करने के लिए छह समस्याएं शामिल हैं। ये समस्याएं बीजगणित, ज्यामिति, संख्या सिद्धांत और दहन विज्ञान के क्षेत्रों में हैं। किसी भी कलन की आवश्यकता नहीं है, हालांकि समस्याओं को हल करने के लिए कलन आधारित दृष्टिकोण की अनुमति है।
(6.)आगे के चरण 
अंतर्राष्ट्रीय गणितीय ओलंपियाड प्रशिक्षण शिविर (IMOTC).
योग्य छात्रों को मुंबई में होमी भाभा सेंटर फॉर साइंस एजुकेशन द्वारा आयोजित एक महीने के गणित शिविर, अंतर्राष्ट्रीय गणितीय ओलंपियाड प्रशिक्षण शिविर (IMOTC) में आमंत्रित किया जाता है। पहली बार प्रतिभागियों के लिए, यह आमतौर पर अप्रैल के अंत से मई के अंत तक फैलता है, जबकि यह वरिष्ठ प्रतिभागियों के लिए लगभग 10-14 दिन बाद शुरू होता है। इस शिविर में छात्रों को ओलंपियाड गणित और कुछ अन्य सामान्य गणित पढ़ाए जाते हैं। इस अवधि के दौरान चार चयन परीक्षण और दो अभ्यास परीक्षण आयोजित किए जाते हैं और चयन परीक्षणों में शीर्ष छह छात्र अंतर्राष्ट्रीय गणित ओलंपियाड में भारत का प्रतिनिधित्व करने के लिए अर्हता प्राप्त करते हैं।
(7.)IMO के लिए पूर्व-प्रस्थान प्रशिक्षण शिविर .
6 छात्रों की चयनित टीम आईएमओ के लिए प्रस्थान करने से पहले लगभग 10 दिनों के लिए प्रशिक्षण और अभिविन्यास के दूसरे दौर से गुजरती है।
(8.)अंतर्राष्ट्रीय गणितीय ओलंपियाड 
IMOTC के अंत में चयनित छह सदस्य दल एक नेता, एक उप-नेता और एक पर्यवेक्षक के साथ IMO में देश का प्रतिनिधित्व करता है, प्रत्येक वर्ष जुलाई में IMO के एक अलग सदस्य देश में आयोजित किया जाता है। मानव संसाधन विकास मंत्रालय (MHRD) टीम, नेता और उप-नेता की अंतर्राष्ट्रीय यात्रा का वित्त-पोषण करता है, जबकि NBHM (DAE) अंतर्राष्ट्रीय भागीदारी और पूरे देश के कार्यक्रम से जुड़े अन्य खर्चों का वित्तपोषण करता है।
बाद के सत्रों के लिए योग्य उम्मीदवारों का पोस्ट-आईएमओटीसी प्रशिक्षण .
जो छात्र INMO को एक बार अर्हता प्राप्त करते हैं और IMO प्रशिक्षण शिविर में भाग लेने के लिए आते हैं, उन्हें जुलाई - दिसंबर की अवधि के दौरान डाक संबंधी समस्याएं भेजी जाती हैं, जिन्हें उन्हें हल करना होगा और वापस भेजना होगा (यदि वे अभी भी स्कूल में हैं)। उनकी प्रतिक्रियाओं के आधार पर, कुछ छात्रों को सीधे अगले वर्ष आईएमओ प्रशिक्षण शिविर में आमंत्रित किया जाता है। दूसरों को फिर से INMO को फिर से लिखना होगा (उन्हें क्षेत्रीय गणित ओलंपियाड लिखना नहीं होगा)।
(9.)योग्यता पर भत्ते 
INMO योग्यता प्राप्त करने वाले छात्र स्वचालित रूप से B.Sc. में प्रवेश के लिए पात्र हैं। (ऑनर्स) चेन्नई गणित संस्थान में गणित पाठ्यक्रम।
2008 के बाद से, भारतीय सांख्यिकी संस्थान के बी। स्टेट या बी। मैथ कोर्स के लिए आवेदन करने वाले INMO को लिखित परीक्षा दिए बिना सीधे साक्षात्कार के लिए बुलाया जाता है।
INMO पुरस्कार प्राप्तकर्ता एक NBHM छात्रवृत्ति के लिए पात्र हैं जो वर्तमान में लगभग रु. में है। 2500 प्रति माह, अगर वे गणित में अपनी पढ़ाई जारी रखते हैं। उन्हें एक चुने हुए संकाय के साथ पत्राचार और आवधिक संपर्क के माध्यम से गणित में प्रशिक्षण के 4 साल के कार्यक्रम की पेशकश की जाती है। यह कार्यक्रम INMO पुरस्कार विजेताओं के लिए भी उपलब्ध है, जो गणित में स्नातक की डिग्री हासिल नहीं करते हैं, लेकिन विषय में विशेष रुचि रखते हैं। उन्हें रु। का वार्षिक नकद पुरस्कार दिया जाता है। कार्यक्रम में संतोषजनक प्रदर्शन के लिए 9,000 विषय।
जो छात्र इसे IMO के लिए बनाते हैं, वे किशोर विज्ञान प्रोत्साहन योजना (KVPY) फैलोशिप के लिए पात्र हैं, बशर्ते वे भारत में विज्ञान विषयों में अपनी पढ़ाई करें। फैलोशिप राशि रु.5000 प्रति माह।
IMO में स्वर्ण, रजत या कांस्य प्राप्त करने वाले भारतीय दल के सदस्यों को रु। के NBHM द्वारा नकद पुरस्कार दिया जाता है। 5,000, रु. 4,000 और रु. क्रमशः 3,000।

IMO प्रशिक्षण शिविर के लिए सभी यात्रा व्यय और IMO के लिए सभी व्यय भारत सरकार के मानव संसाधन विकास मंत्रालय द्वारा वहन किए जाते हैं।

Homi Bhabha Centre for Science Education


3.इंडियन नेशनल मैथमेटिकल ओलंपियाड (Indian National Mathematical Olympiad या INMO) की परीक्षाएं होमी भाभा विज्ञान शिक्षा केन्द्र (Homi Bhabha Centre for Science Education या HBCSE) द्वारा करवायी जाती हैं.

नेशनल बोर्ड ऑफ हायर मैथमेटिक्स मैथमेटिक्स या एनबीएचएम (National Board of Higher Mathematics), डिपार्टमेंट ऑफ एटॉमिक एनर्जी (Department of Atomic Energy) की तरफ से होमी भाभा विज्ञान शिक्षा केन्द्र (HBCSE) ये काम करता है.
राष्ट्रीय स्तर पर गणित ओलिंपियाड एनबीएचएम की एक प्रमुख गतिविधि और प्रयास है. इस गतिविधि का मुख्य उद्देश्य स्कूल के बच्चों में गणित की प्रतिभाओं की पहचान करना है.
National और International Mathematical Olympiad तक पहुंचने के लिए विद्यार्थियों को कई चरणों को पार करना होता है, जिसके बारे में शुरू से लेकर अंत तक पूरी जानकारी हमने इस आर्टिकल में करवाई है.
इसके अतिरिक्त, तीन समूह - केंद्रीय माध्यमिक शिक्षा बोर्ड (सीबीएसई), नवोदय विद्यालय समिति (एनवीएस) और केन्द्रीय विद्यालय संगठन (केवीएस) में हर एक के पास रीजनल कोऑर्डिनेटर है.
पूरे गणितीय ओलंपियाड कार्यक्रम में छह चरण (6 Stages) होते हैं:
पहला चरण (Stage 1): प्री-रीजनल मैथमेटिकल ओलंपियाड
पहला चरण प्री-रीजनल (Pre-regional) लेवल का होता है. इस चरण की परीक्षा में क्वालीफाई विद्यार्थी अगले चरण में जाते हैं (जो रीजनल लेवल पर होता है). इससे जुड़ी महत्वपूर्ण बातें नीचे दी गई है.
योग्यता
2017 में आयोजित पहले चरण की इस परीक्षा के लिए कक्षा 8वीं, 9वीं, 10वीं, और 11वीं के सिर्फ वही विद्यार्थी भाग ले सकते थे जिनका जन्म 1 अगस्त, 1998 के दिन या उसके बाद हुआ हो.
रजिस्ट्रेशन फीस
इसमें अप्लाई करने के लिए केंद्रीय विद्यालयों (KV) के विद्यार्थियों को 100 रुपये फीस देनी होती है वहीं केंद्रीय विद्यालयों के आलावा अन्य विद्यालयों के विद्यार्थियों को 200 रुपये फीस देनी होती है.
एग्जाम की अवधि
ढाई घंटे
किस तरह के प्रश्न पूछें जाते हैं
ऐसे प्रश्न जिनके उत्तर 1 या 2 डिजिट के होते हैं और इनके उत्तर OMR शीट में भरने होते हैं
प्रश्नों की संख्या
इस एग्जाम में एक पेपर होता है जिसमे 30 प्रश्न पूछे जाते हैं.
सिलेबस:
इस आर्टिकल के अंत में दिया गया है.
परीक्षा आयोजित करने वाली संस्था:
इंडियन एसोसिएशन ऑफ फिजिक्स टीचर्स (IAPT). [वेबसाइट - http://www.iapt.org.in]
दूसरा चरण (Stage 2): रीजनल मैथमेटिकल ओलंपियाड
दूसरे चरण के रीजनल मैथमेटिकल ओलंपियाड में 3 घंटे का एग्जाम होता है जिसमे 6 सवाल पूछे जाते हैं. ये पेन और पेपर बेस्ड एग्जाम होता है. इस चरण की परीक्षा क्वालीफाई करने वाले कैंडिडेट्स अगले चरण में पहुंचते हैं.
एग्जाम मध्यम
इंग्लिश एंड हिंदी
एग्जाम की अवधि
3 घंटे
प्रश्नों की संख्या
इस एग्जाम में एक पेपर होता है जिसमे 6 प्रश्न पूछे जाते हैं.
किस तरह के प्रश्न पूछें जाते हैं
वर्णनात्मक (Descriptive)
तीसरा चरण (Stage 3):  इंडियन नेशनल मैथमेटिकल ओलंपियाड (नेशनल लेवल)
रीजनल लेवल (या रीजनल मैथमेटिकल ओलंपियाड) को क्वालीफाई करने वाले विद्यार्थी (करीब 900) नेशनल लेवल मैथमैटिक्स ओलंपियाड तक पहुंचते हैं.  यह परीक्षा सामन्यतः जनवरी महीने के तीसरे रविवार को आयोजित होती है.
इस परीक्षा का आयोजन देश भर के विभिन्न परीक्षा केन्द्रों में होता है. इससे जुड़ी कुछ महत्वपूर्ण जानकारी नीचे दी गयी है.
एग्जाम की अवधि
4 घंटे
किस तरह के प्रश्न पूछें जाते हैं
वर्णनात्मक (Descriptive)
प्रश्नों की संख्या
इस एग्जाम में एक पेपर होता है जिसमे लगभग 6 प्रश्न पूछे जाते हैं.
चौथा चरण (Stage 4):  इंटरनेशनल मैथमेटिकल ओलंपियाड ट्रेनिंग कैंप
लगभग 900 विद्यार्थियों में से मात्र 35 (लगभग) विद्यार्थी इंटरनेशनल मैथमेटिकल ओलंपियाड ट्रेनिंग कैंप तक पहुंचते हैं.
ये ट्रेनिंग कैंप अप्रैल और मई के महीने में HBCSE  द्वारा लगाया जाता है. ट्रेनिंग में विद्यार्थियों को इंटरनेशनल मैथमेटिकल ओलंपियाड (International Mathematical Olympiad) से जुड़ी सभी ख़ास जानकारी दी जाती है विद्यार्थियों की प्रॉब्लम सॉल्विंग स्किल्स को बढ़ाया जाता है.
इस ट्रेनिंग के दौरान कई सिलेक्शन टेस्ट होते है और मात्र 6 विद्यार्थी अगले चरण तक पहुंच पाते हैं.
पांचवां चरण (Stage 5): पूर्व प्रस्थान शिविर (या Pre-Departure Camp)
इंटरनेशनल मैथमेटिकल ओलंपियाड में हिस्सा लेने के लिए 6 विद्यार्थियों की चुनी हुई टीम इस चरण में 8 से 10 दिनों तक की बेहद कठिन ट्रेनिंग से गुजरती है और विद्यार्थियों को हर तरह के प्रश्नों को हल करने के लिए तैयार किया जाता है.
छठा चरण (Stage 6): इंटरनेशनल मैथमेटिकल ओलंपियाड (मुख्य प्रतियोगिता)
आखिरी चरण में सभी चुने हुए विद्यार्थी इंटरनेशनल मैथमेटिकल ओलंपियाड में हिस्सा लेते हैं. इन विद्यार्थियों के साथ 4 शिक्षक (या मेंटर्स) रहते हैं.
सिलेबस (regional, national और international) के ज़्यदातर टॉपिक्स 11वीं और 12वीं कक्षा के है. हालांकि प्रश्नों का स्तर काफी ऊंचा रहता है (सामन्यतः - IMO > INMO > RMO). सिलेबस के टॉपिक्स नीचे दिएगए हैं -

• Number Systems,
• Arithmetic of Integers,
• Geometry,
• Quadratic Equations and Expressions,
• Trigonometry,
• Co-ordinate Geometry,
• Systems of Linear Equations,
• Permutations and Combinations,
• Factorisation of Polynomials,
• Inequalities,
• Elementary Combinatorics,
• Probability Theory,
• Number Theory,
• Infinite Series,
• Complex Numbers and Elementary Graph Theory
,

No comments:

Post a Comment

Please do not enter any spam link in the comment box.